सतीश जैकब ने पी7न्यूज से आठ लोगों को निकाला!

पिछले ढाई साल में पी7न्यूज ने स्टाफ की मेहनत से जो मुकाम हासिल किया, उसे अनदेखी कर पी7न्यूज के पुराने लोगों को बाहर का रास्ता अंदरूनी राजनीति के कारण दिखाया जा रहा है. दो महीने पहले बीबीसी के वरिष्ठ पत्रकार सतीश जैकब के पी7न्यूज में वरिष्ठ पद पर आने के बाद से यह कयास लगाया जा रहा था कि जल्द ही चैनल में बड़ा फेरबदल होगा. और अब उस फेरबदल का दौर शुरू हो गया है.

कुछ दिन पहले मैनेजमेंट ने इनपुट हेड राकेश शुक्ल को बाहर का रास्ता दिखाया था. आज एचआर की तरफ से चैनल की लांचिंग से जुड़े रहे 8 पुराने लोगों को अचानक से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया. गौरतलब है कि इसी महीने सभी लोगों का इन्क्रीमेंट होना था लेकिन सब के सब मैनेजमेंट के शिकार बन गए. एचआर ने लोगों को बहार निकाले जाने का कारण मैनेजमेंट का फैसला बताया है. एचआर के मुताबिक मैनेजमेंट इनके काम से संतुष्ट नहीं था इसलिए इनको बहार किया जा रहा है. सूत्रों की मानें तो यह सब सतीश जैकब के इशारे पर हुआ है और इनमें सब ऐसे लोग हैं जिनकी काबिलियत को पी7न्यूज मैनेजमेंट खुद जानता है. इन लोगों ने चैनल के लिए अपना दिन रात एक कर दिया था. लेकिन एकबारगी इन सभी लोगों को एक साथ बाहर किया जाना किसी के गले नहीं उतर रहा है.

इस बड़ी छंटनी के बाद पूरे चैनल में सबके चेहरों के रंग उड़ गए हैं. सब सोच रहे हैं कि आखिर अब और कितने लोग मैनेजमेंट के निशाने पर होंगे. माना यह जा रहा है कि सतीश जैकब अब अपने लोगों की टीम को इस चैनल में लाकर अपनी सेना को मैदान में खड़ा करना चाहते हैं. सूत्रों की माने तो अभी बीस और लोगों के नाम सतीश जैकब की लिस्ट में है जिनको बाहर का रास्ता दिखाया जाना है. पूरे चैनल के कर्मचारी डरे हुए हैं कि अब किसकी बारी है. ज्योति नारायण के जाने के बाद से पी7न्यूज में अंदरूनी राजनीति चरम पर है. इसका शिकार कर्मचारियों को बनना पड़ रहा है.

Comments on “सतीश जैकब ने पी7न्यूज से आठ लोगों को निकाला!

  • Ameture Journalist says:

    Akhir wahi hua jiska dar tha , P7 News bhi Sahara ki rah par chal pada .

    Is channel ko agar kisine khada kiya aur chalay to wo sirf Jyotinarayan the, satish ji bhi apni team khari karenge aur 2 saal baad chalte banenge , Aakhir unki team mein hoga bhi to kaun X- India News employee…

    Ab is channel ka kuch nahin ho sakta ..

    Reply
  • raju reporter says:

    kitne dukh ki bat hai jo patrakar duniya ki awaj buland karta hai wo khud apne soshan k khilaf ek awaj bhi nahi utha pata.p7 me patrakaro ko thok k bhav se nikale jane ka ye na to pehla mamla hai na akhri.aane wale dino me aur na jane kitne hi patrakaro ko dihari k majduro ki tarah bahar ka rasta dikhaya jayega…….is pure mamle me sirf jacab akela doshi nahi hai.jacab to khali jagah par apne admi bhar raha hai…..ye pura khel to hr khel raha hai….p7 me hr inta takatwar hai ki kabhi bhi kisi ko bula kar istifa le leta hai…..pure mamle k do aur khalnayak……raman pandey aur keshar singh bhi hai…..raman pandey aur keshar aur hr in tino ne milkar 40-50 logo ko bhahar kar cost cutting ki plannning aj se 3 mahine pehle hi kar rakhi thi……usi list k aadhar par logo ko nikala ja raha hai…aane wale 15-20 me ek khep aur nikali jayegi…..patrakar bhaiyo apne soshan k khilaf awaj uthana sikho nahi to aise hi log ap k bhawisya k sath khelte rahenge…inko sabak sikhao ya apna sosan karwao phaisla apko karna hai…….jai hind

    Reply
  • sachha patrkar says:

    kya kaha jaye….
    pattrakarita ki naukari me ab stabilty nahi he…
    Ek yuva pattrkar agar ya article padh lega to shayad patrkarita me aane ka khwab hi chor de, Koi p7 me kaam kar raha hogo to shayad agle kuch dino me darkar hi mar jaye…
    kis ne kya kiya kya nahi…
    Sawal ye nahi he…
    Sawal ye he, ke abhi 3 mahine pehle ek employee jiska promotion huya tha,… use achannak laat maar kar nikal diya jata he
    Aakhir 3 mahine me uska kaam itna kharab ho gaya….
    kyunki HR ne koi reason to Diya nahi he

    Reply
  • kya kaha jaye….
    pattrakarita ki naukari me ab stabilty nahi he…
    Ek yuva pattrkar agar ya article padh lega to shayad patrkarita me aane ka khwab hi chor de, Koi p7 me kaam kar raha hogo to shayad agle kuch dino me darkar hi mar jaye…
    kis ne kya kiya kya nahi…
    Sawal ye nahi he…
    Sawal ye he, ke abhi 3 mahine pehle ek employee jiska promotion huya tha,… use achannak laat maar kar nikal diya jata he
    Aakhir 3 mahine me uska kaam itna kharab ho gaya….
    kyunki HR ne koi reason to Diya nahi he

    Reply
  • sumit sharma says:

    ये जो खबर आप लिख रहे है उस पर मुझे यकिन नहीं है…मैं सतीश सर के साथ इंडिया न्यूज़ में काम कर चुका हूं…वो ऐसे नहीं है जैसा आपने बताया है…हां ये बात जरूर है कि जब भी कोई बड़ा नाम किसी चैनल के साथ जुड़ता है….और कुछ लोगों को मैनेजमेंट निकालता है…या फिर खुद छोड़कर चले जाते है…तो लोग यहीं करते है कि इसके आने से ये सब हुआ…एक बार आप उनकी जगह अपने आप को लाकर देखिए…फिर आप कभी किसी पर ऐसे आरोप ना लगाए…वैसे भी सर तो नौकरी बचाने वाले है…जैसा मैंने इंडिया नयूज़ में देखा..तो मैं तो ये बात नहीं मान सकता…
    सुमित शर्मा,9871765687

    Reply
  • amar kumar says:

    agar p7 mai ye haal hai to kesar sing kya kar rahe hai.vo to chenal sudharne aaya tha.ye saara khel raman pandey ka hai.kewal un logo ko nikala ja raha hai,jinse vo nafrat karta hai.kya kesar singh ko itne din mai ye samjh mai nahi aaya ki asal beemari ki jar raman pandy hi hai.agar kesar ji raman ko laat mar de to ye chenal apne rang mai fir laut aayega.satish jecob ko to 2 mah hua hai.ye unko badnam karne ki sazish hai aur ye kam khud ram aur uske 2 bagalbache mil kar kar rahe hai.is muhim mai is chenal ke chandigrah ka 1 reportar bhi shamil hai

    Reply
  • media_sushil says:

    raman pandey ji yani rawan pandey bhagwan se daro us ki lathi beawaj hoti hai.aj jaise ap ko jin logo ki shakal pasand nahi hai un logo ko ap kesar singh aur HR walo k sath milkar nikalwa rahe ho dekhna kal ap k pet par bhi lat na lag jaye.ye thik hai ki p7 se ap ne lakho kama liye hai lekin ye lakho ki rakam kab tak chalegi..sudhar jao ye khel kal ko ap k sath khela jayega tab shayad ap samjenge.kesar singh ka kya hai p7 se wo karodo kama chuka hai uski 7 pusthey beth k kha sakti hai.p7 janta se ugahe jaye paiso se chal raha hai aur raman kesar usi paiso se mauj kar rahe hai….agar raman kesar gang nahi sudharta hai to p7 se nikale jane wale sathio inhe khujli wale kutte ki tarah sadak par dauda dauda kar peeto tabhi ye rawan pandey sudhrega.jacab sahab ap ko umar k akhri padav par apni kundi me rajyog se jo kursi mili hai uska durupyog mat karo.jindi me jitne din bache hai unme bhgwan ka bhajan karo kyo baddua lekar apna parlok kharab kar rahe ho.

    Reply
  • pramod yadav_sr producer,Azad news says:

    Bhai sumit thume p 7 me job lena hai to tum satish ka hari bhajan karoge hi,un logo ki socho jinhe nikala gaya hai.
    Pramod yadav
    Azad news
    09990915900

    Reply
  • पंकज says:

    ये सारा खेल उस पुरबिये रमन पांडे का है .. जो पीठ में छुरा मारता है … सुधर जा बे … नहीं तो किसी दिन टपका दिया जाएगा … अपनी औकात समझ साले …. पुरबिये … टीन टप्पर बांधकर अपने परिवार के साथ दिल्ली आ गया …. जब नौकरी की ज़रूरत थी तो मालिकों के तलवे चाटे … अपनी पैठ बना लेने के बाद बाकी लोगों को निकालने लगा … साले सामंती सोच के कुत्ते … कितनों की नौकरी खाएगा … ईश्वर करे सभी की बद्दुआ तुझे और तेरे पूरे परिवार को लगे … तुझे कुत्ते की मौत आ जाए …

    Reply
  • shashi kumar says:

    पी7 न्यूज़ चैनल से एकसाथ इतने सारे लोगों को निकालने को लेकर मीडिया जगत में तरह तरह की अटकलें हैं अच्छा काम करने वालो को भी बाहर निकाल दिया गया है…सच्चाई ये है भाइयों कि इसके लिए मैनेजमेंट ने उस वक्त के इनपुट हैड राकेश शुकला और आऊटपुट हैड रमण पांडे से छटनी के लिए नाम की लिस्ट मांगी … लिस्ट मागने के बाद मैनेजमेंट ने बहुत चालाकी के साथ उसे अपने पास रखा और कोई एक्शन नहीं लिया और सतीश जैकब के आते ही…राकेश शुकला को ही सबसे पहले हटा दिया….. लोग ये समझे कि सतीश जैकब ने आते ही अपना काम शुरू कर दिया… उसके कुछ दिनो के बाद मैनेजमेंट ने उस लिस्ट पर कारवाई करनी शुरू कर दी …उसके बाद लोगो को यकिन हो गया कि ये सतीश जेकब का ही काम है …..मगर सच्चाई कुछ और ही है… मैनेजमेंट ने सतीश जेकब को एडिटर इन चीफ की कुर्सी तो ज़रूर दे दी मगर उस कुर्सी की पावर नहीं दी….. वो न किसी को निकाल ही सकते हैं और न रख ही सकते हैं …इस के पीछे भी बहुत बड़ा खेल है…..सोचने वाली बात ये है…जिस शख्स ने 27 साल बीबीसी अंग्रेजी में काम करने के बाद दो किताबे लिखी “द अमृतसर – द लास्ट बैटल ऑफ इंदिरा गांधी”..और “द वार इन इराक़”……. यही नहीं ये शख्स तीन साल तक प्रेस क्लब का अध्य़क्ष रहा और एडिटर गिल्ड का मेम्बर भी ….सरकार ने भी उसकी काबलियत को देखते हुए लांग एंड डिस्टिन्ग्विश सर्विसेस का कार्ड दिया …जो भारत में सिर्फ नौ लोगों के पास है …… जो बीबीसी में पहला भारतीय इंटरनेशनल कॉरेस्पोंडेट था बीबीसी से रिटायरर्मेट के बाद इतने काबिल और तजुर्बेकार व्यक्ति के साथ काम करना सब के लिए सम्मान की बात है……उन लोगो को सच्चाई जानने की ज़रूरत है…जो अफवाह फैला रहे है ….क्योंकि शायद वो भी पत्रकार है……और एक पत्रकार को अक्सर परदे के पीछे का खेल देखना चाहिए ……न कि वो जो दिखाया जा रहा है …….

    Reply
  • shashi kumar says:

    पी7 से इतने लोग निकाले जाने के पिछे रमण पांडे है…ये बहुत बड़ा पांडू है अपनी नौकरी बचाने और कामचोरी छुपाने के लिए इतने सारे लोगो की नौकरी खा चुका है…शायद ये भूल गया है..जब ये पी7 से अपनी टीम लेकर टीवी9 मुबंई पहुचा था तो वक्त रहते टीवी9 के लोगो ने इसे पहचान लिया और पूरी टीम को बैरंग वापिस कर दिया था…दोबारा आकर पी7 में गिरा….मगर लोगो से कहता है…कि पी7 ने वापिस बुलाया है…अगर बुलाया होता तो उसी सैलरी पर क्यो ज्वाइन किया और जब इक्रिमेंट हुआ तो इन लोगो का सबसे कम हुआ था…पांडू न्यूज़ रूम में लोगो को बोलता है…मैं इंडिया टीवी और ज़ी टीवी में ऐसे करता था वैसे करता था …मगर सब जानते है…कि ये एसाइंमेंट पर था…आज भी एक स्टोरी नही लिख सकता है…इस अपने को ज्ञानी मानने वाले रमण पांडू की उसी दिन छुट्टी हो जाती जब इसने बिना पता किये मुकेश अंबानी के खिलाफ स्टोरी चला दी थी …इस ख़बर के बाद बहुत सारे चैनल के खिलाफ शो कॉज़ नोटिस जारी हो गया …कई दिन तक गधे की तरह मुह लटका कर कुत्ते की तरह न्यूज़ रूम में ख़ामोश रहकर दुम हिलाता घूमता रहता था…शुक्र मनाए पी7 की टीआरपी का जो इसको बचा लिया…अपने आपको बहुत बडा आऊटपुट एडिटर बनता है…आज तक चैनल की टीआरपी दो से उपर नही पहुचा सका जब भी मीटिंग में बात होती है तो रिपोर्टरो पर डाल देता है….मगर इसका अब वक्त आगया है…घबरा मत पांडू …तूने दूसरों की विकेट गिराई …कया पता ऊपरवाला कब तेरी विकेट गिरा दे ….इतनी बद्दुआ लेकर कहा बचेगा …..आज तकतेरे बचने की वजह ये है…कि तू केसर सिंह के पैरो में लेटा रहता है…मगर केसर सिंह भी इसकी सच्चाई जान जाएगा …कि तू चैनल के लिए दीमक है….बहुत जल्दी सीवी लेकर चैनल-2 भटकने वाला है…..मगर नौकरी नही मिलेगी पांडू इतने लोगो की नौकरी खाने का पाप तेरे साथ है…अपने सीवी में ये भी लिख ले कि तू कितना मतलबी और कितना बड़ा हरामी है …और दूसरों की नौकरी खाकर खुद को बचाने का एक्सपर्ट भी ……….कितने परिवारों को तूने टेंशन दी है… लोगों के छोटे छोटे बच्चों का भी नहीं सोचा हरामी …..दूसरों की नौकरी खाकर अपना घर बनाएगा साले …..इंतज़ार कर ……

    Reply
  • anjaani..... asha. says:

    P7 me Raman pandey ka sikka chal raha hai. sab uske ishhare pe naach rahe hai. ab waha kaam krne waale bhi samajh gaye hai ki unke saath kabhi bhi kuch bhi ho sakta hai. haal he main waha se aise employee ko nikala gaya jiski umeed kisi ko bhi nahi thi. ab waha sab dar gye. HR kaam nahi dekh raha , aankh moond kr faisley kr raha hai. raman pandey apne jaise kamchoro ki team bana kr channel ko duba kr hi dum lega . P7 ab “ANDHER NAGRI CHAUPUT RAJA ” ban gaya hai jaha kaam krna koi maayne nahi rakhta.:D:o:o

    Reply
  • anjaani..... asha. says:

    abhi to raman pandey ki kismat buland hai iseliye p7 managment bhi usake ishare par nach raha hain. jo adami ass producer banane ke kabil nahi vo output head bana hua hai. channel barbadi ki kagar par khara hai, phir bhi raman khud kam karane ki jagah politics me hi laga hua hai. etv ho ya sahara ncr is adami ne har jagah siyasat ki hai, vo meetha zahar hai. jab tak managment usake bare me samajhata hai, wo naya thikana dhudh leta hai. lekin shayad ab daal nahin galegi. lekin tab tak p7 ko barbad kar chuka hoga raman.

    Reply
  • p7 main imandari se kam karne walo ki kadar nahi sirf teen logo ke sahare per chal raha hain marketing dipp HR hed anubhavi logo ko rakhne main darta hain yeh p7 ek ummid nahi naummid karta hain ,

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *