आलोक श्रीवास्‍तव को ‘साहित्य-पत्रकारिता सम्‍मान’

आलोक श्रीवास्तवमेरठ : उत्‍तर प्रदेश महिला मंच ने अपने संस्‍थापक स्‍व. वेद अग्रवाल की 75वीं जयंती पर ‘साहित्य-पत्रकारिता सम्‍मान 2010’ साहित्‍यकार एवं पत्रकार आलोक श्रीवास्‍तव को देने की घोषणा की है। ये सम्‍मान उनकी कृति ‘आमीन’ के लिए दिया जा रहा है। मंच के 25वें स्‍थापना दिवस समारोह में यह सम्‍मान दिया जाएगा। मूर्धन्‍य पत्रकार और लेखक रहे स्‍व. वेद अग्रवाल की स्‍मृति में दिया जाने वाला ये सम्‍मान इससे पूर्व नवाज देवबंदी, महावीर रवांल्‍टा और डा. नवीन चंद लोहनी आदि को दिया जा चुका है। आलोक श्रीवास्तव 30 दिसंबर 1971 शाजापुर (म.प्र) में जन्मे। वे सुपरिचित ग़ज़लकार, कथा-लेखक, समीक्षक और टीवी पत्रकार हैं।

आलोक के जीवन का बड़ा हिस्सा मध्य प्रदेश के सांस्कृतिक नगर विदिशा में गुज़रा है और वहीं से उन्होंने हिंदी में स्नातकोत्तर तक शिक्षा ग्रहण की है। ‘रिश्तों का कवि’ कहे जाने वाले आलोक की रचनाएं लगभग दो दशक से देश की प्रतिष्ठित साहित्यिक पत्रिकाओं में प्रकाशित हो रही हैं। वर्ष 2007 में ‘राजकमल प्रकाशन दिल्ली’ से प्रकाशित आलोक का पहला ग़ज़ल-संग्रह ‘आमीन’ सर्वाधिक चर्चित पुस्तकों में रहा और कई पुरस्कारों से नवाज़ा गया।

आलोक ने उर्दू के प्रतिष्ठित शायरों की काव्य-पुस्तकों का हिंदी में महत्वपूर्ण संपादन-कार्य किया है साथ ही वे अक्षर पर्व मासिक की साहित्य वार्षिकी (2000 और 2002) के अतिथि संपादक भी रहे हैं। दैनिक भास्कर ‘रसरंग’ की संपादकीय टीम से जुड़ कर आलोक ने भास्कर के संपादकीय पृष्ठ पर हिंदी और उर्दू-साहित्य के प्रख्यात रचनाकारों पर कॉलम ‘प्रकाश-स्तंभ’ और भास्कर की ही पारिवारिक-पत्रिका ‘मधुरिमा’ में कविता और कैलीग्राफ़ी के कॉलम्स दिए जो ख़ासे लोकप्रिय हुए।

देश-विदेश के प्रतिष्ठित कवि-सम्मेलनों और मुशायरों में अपने संजीदा और प्रभावपूर्ण ग़ज़ल-पाठ से एक अलग पहचान स्थापित करने वाले आलोक ने टीवी सीरियल्स और फ़िल्मों के लिए भी लेखन किया है। ग़ज़ल गायक जगजीत सिंह, अहमद हुसैन-मो.हुसैन और प्रख्यात शास्त्रीय गायिका शुभा मुदगल सहित पार्श्व गायक सुरेश वाडकर, कविता कृष्णमूर्ति, उदित नारायण, अलका याज्ञिक, सुखविंदर और शान जैसे कई ख्यातनाम फ़नकारों ने आलोक के गीत और ग़ज़लों को अपनी आवाज़ दी है। पेशे से टीवी पत्रकार आलोक इन दिनों दिल्ली में न्यूज़ चैनल ‘आजतक’ में प्रोड्यूसर हैं।

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “आलोक श्रीवास्‍तव को ‘साहित्य-पत्रकारिता सम्‍मान’

  • ALOK RANJAN says:

    हमनाम को ढेरों बधाईयां… ईश्वर आपको और उंचाईयों पर पहुंचाए…

    Reply
  • वाह आलोक जी…झड़ी लगी हुई है। आगे बरकरार रहे..रहेगी..आप पर भरोसा है. आप छा गए। दिल्ली बहुत बहुत बाद आए और छा गए। दूसरो के लिए नजीर बन गए हो…चुपके चुपके कर देती तुरपाई अम्मा की तर्ज पर चुपके चुपके छा गए माइकल…बधाईयां…बस आपको भूलने की आदत है, उन्हें जिन्होंने आपको तब जगह दी जब आप छटपटा रहे थे..सफलता का एक मंत्र ये भी है…

    Reply
  • dipesh jain says:

    alok ji yadi aap padh rahe ho to, bahut badhai, “mere man ka aadha sahas aadha dar the babuji…..” indore me kislay ji ki pustak vimochan par aapse 5 min ki mulakat hui thi.. halanki aapko padhne ka mouka zarur mila…is samman par dheron badhai. contect no . 09912904041

    Reply
  • sanjay srivastava says:

    सर बधाई हो, ऐसे ही झंडा बुलंद किए रहिए…पुरस्कार मिले ना मिले लेकिन अपनी लेखनी की धार बहाते रहिए….आपको कुछ मिले ना मिले लेकिन आपसे लोगों को कुछ जरूर मिलता रहे…उम्मीद और आशा के साथ….आपको ढेर सारी शुभकामनाएं….

    Reply
  • Sushil Srivastava Chief Editor Roshani Darshan says:

    Chitragupt Samman (Roshani Darshan)Se Sammanit Bhai Aalok Srivastava. Aapko Tahe Dil Se Hardik Badhai sahitay samman hetu. (sushil srivastava,Sushil Srivastava Chief Editor Roshani Darshan,National Secretary Akhil Bhartiya Kaystha Mahasabha) Mob-09555690108,09868037225

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.