कई न्यूज चैनलों में है मुकेश अंबानी का पैसा

आलोक तोमररजत शर्मा और राजीव शुक्ला की कंपनियों में भी लगा है पैसा : सबसे पहले एक भूल सुधार। नई दुनिया के छजलानियों ने जो चैनल खरीद कर जी टीवी को बेचा है उसका नाम न्यूज एक्स है, नाइन एक्स नहीं। इसके मालिक भी पीटर मुखर्जी थे, भास्कर घोष नहीं। लेकिन कहानी सनसनीखेज होती जा रही है। नई दुनिया के छजलानी की औकात नहीं कि घाटे में चल रहा एक टीवी चैनल खरीद कर चला सके।

उनका अखबार और उनकी वेबसाइट भी पिट रही हैं। चैनल वे क्या चलाएंगे? नई दुनिया में मुकेश अंबानी का पैसा लगा है। विनय छजलानी और जहांगीर पोचा ने आईएनएक्स मीडिया यानी न्यूज एक्स को पचास करोड़ रुपए में खरीदा बताया गया है। अभय छजलानी के पुत्र विनय छजलानी सुवी इन्फो मैनेजमेंट नाम की कंपनी चलाते हैं और बाबू लाभ चंद्र छजलानी द्वारा स्थापित अखबार नई दुनिया, नई दुनिया न्यूज एंड नेटवर्क प्राइवेट लिमिटेड के नाम से इसी कंपनी की संपत्ति हो गई है। सुवी इंफो मैनेजमेंट इंदौर प्राइवेट लिमिटेड (रजिस्ट्रेशन नंबर 18339) के दो ही डायरेक्टर हैं। विनय छजलानी और उनकी पत्नी सुनीता छजलानी। बैंलेस शीट के अनुसार सुवी प्राइवेट लिमिटेड के पास नई दुनिया न्यूज नेटवर्क एंड प्राइवेट लिमिटेड के 387245300 यानी 38 करोड़ रुपए के शेयर हैं जिनका दाम 57 रुपए 50 पैसे प्रति शेयर के हिसाब से रखा गया है।

इस कंपनी को ये 38 करोड़ रुपए मुकेश अंबानी की एक अनजान कंपनी आर्थिक कॉमर्शियल प्राइवेट लिमिटेड की तरफ से दिए हैं। सुवी की 2006- 2007 की बैंलेस शीट में इसे कर्ज बताया गया है मगर आर्थिक कॉमर्शिलय, 307 पारिक मार्केट, तीसरी मंजिल, जगन्नाथ शंकर रोड की बैंलेस शीट में बहुत सारी कंपनियां दिखाई गई हैं जिन्होंने छजलानी की नई दुनिया में निवेश किया है। ये जानकारी रिलायंस के निवेशकों की किसी साधारण सभा में नहीं बताई गई और यह पूरा सौदा नीरा राडिया ने करवाया है।

मुकेश अंबानी ने रजत शर्मा के इंडिया टीवी में भी पैसा लगाया है। इंडिया टीवी को चलाने वाली मिया बीबी रजत शर्मा और रितु धवन की कंपनी इंडिपेंडेंट न्यूज सर्विस में रिलायंस केमिकल्स प्राइवेट लिमिटेड की ओर से और रिलायंस वेंचर्स प्राइवेट लिमिटेड की ओर से और लिमिका कॉमर्शियल की ओर से कुल मिला कर 145 करोड़ रुपए श्याम इक्विटिज प्राइवेट लिमिटेड में भेजे गए। फिर टैली सॉल्यूशंस कंपनी सामने आई जिसके मालिक मुकेश अंबानी और भरत गोयनका हैं और आनंद जैन और मनोज मोदी इसके डायरेक्टर हैं। श्याम इक्विटी के पास टैली सॉल्यूशंस के सारे शेयर्स हैं।

टैली सॉल्यूशंस तो सिर्फ एक लाख अस्सी हजार रुपए में शुरू हुई थी। श्याम इक्विटिज के पास रजत शर्मा की इंडिपेंडेंट न्यूज सर्विसेज के तेइस प्रतिशत शेयर्स हैं। 2007-2008 की टैली सॉल्यूशंस की बैलेंस शीट नंबर 12483 बताती है कि कंपनी के बोर्ड में भरत गोयनका, उनकी पत्नी शीला गोयनका, आनंद जैन और मनोज मोदी डायरेक्टर है। श्याम इक्विटिज ने इसमें पैसा लगाया हैं। मगर इस बैंलेस शीट में यह भी लिखा है कि डीजी विजन, डीटीएच सर्विस, लिमका कॉमर्शियल, रिलायंस केमिकल्स और रिलायंस वेंचर्स ने मिल कर 1,64,028,000 रुपए इस कंपनी में लगाए हैं जिसने इंडिया टीवी में निवेश किया हैं। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की मासिक रिपोर्ट 2007-2008 के पेज पर लिखा है कि रिलायंस वेंचर्स लिमिटेड कंपनी की ही एक शाखा हैं। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में भी 3 अक्टूबर 2008 को इसका पत्र भेजा गया हैं।

लिमका का पता 84 ए मित्तल कोड, नरीमन प्वाइंट, मुंबई लिखा है जो रिलायंस की गुमनाम कंपनियों का पता है। इसी पते से जेटी कॉमर्शियल और टियरा कॉमट्रेड ने राजीव शुक्ला और अनुराधा प्रसाद की बीएजी फिल्मस में पैसा लगाया है। श्याम इक्विटिज की बैंलेस शीट में कहा गया है कि उसने रजत शर्मा की कपंनी के 70,25,765 शेयर्स 42 रुपए के प्रीमियम पर खरीदे है।

अब आइए मुकेश अंबानी के बीएजी फिल्मस कनेक्शन पर। कुल 76 करोड़ रुपए मुकेश अंबानी ने अलग अलग कंपनियों के जरिए बीएजी के कंपनियों में निवेश किए हैं और वे बीएजी फिल्मस एंड मीडिया लिमिटेड के बारह प्रतिशत मालिक हैं। बीएजी न्यूज लाइन के पंद्रह प्रतिशत मालिक हैं और बीएजी ग्लैमर के भी पंद्रह प्रतिशत मालिक हैं। जिन कंपनियों की ओर से हाई ग्रोथ डिस्ट्रीब्यूटर के नाम से यह निवेश किया गया है वे सब रिलायंस की कंपनियां है। इनमें रिलायंस कॉमर्शिलय होल्डिंग, रिलायंस इन्वेस्टमेंट, रिलायंस एक्सप्लोरेशन, कुदरत सौम्या फाइनेंस, आर्नियो ट्रैडर्स, जैंटी, टियरा, और लीगल आउटसोर्सिंग शामिल है। 26 करोड़ 15 लाख के तो इक्विटी शेयर खरीदे गए हैं और बीएजी ग्लैमर और बीएजी एयर लाइन में 24 करोड़ 71 लाख के शेयर खरीदे गए हैं। बीएजी फिल्मस और बीएजी ग्लैमर 31 नवंबर 2008 को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज को बताया है कि हाई ग्रोथ डिस्ट्रीब्यूटर ने 130,78,000 शेयर खरीदे हैं। बीएजी ग्लैमर प्राइवेट लिमिटेड में इसी कंपनी ने 257,14,28 शेयर खरीदे हैं। मुकेश अंबानी बगैर कोई चैनल खोले सारे महत्वपूर्ण टीवी चैनलों पर अपना हाथ रखना चाहते हैं।

मुकेश अंबानी ने सबसे बड़ा सौदा तो इनाडू समूह और ईटीवी नेटवर्क के साथ किया है। ईटीवी ढेर सारे प्रांतों में निचले स्तर पर आम जन के बीच बहुत लोकप्रिय है और मुकेश अंबानी ने ईटीवी चलाने वाली कपंनी उषोदय एंटरप्राइजेज में कुल मिला कर 1500 करोड़ रुपए लगाए हैं। ब्लैक स्टोन समूह ने उषोदय में 27 करोड़ 50 लाख पाउंड का निवेश किया है। इस निवेश के स्वर्गीय मुख्यमंत्री राजशेखर रेड्डी बहुत खिलाफ थे और उन्होंने पाबंदी लगा दी थी कि इसका इस्तेमाल रामोजी राव अपनी मार्गदर्शी फाइनेंसर्स में नहीं करेंगे। ब्लैक स्टोन को निवेश वापस लेना पड़ा और तब जेएन फाउडेंशन के मालिक निमेष कंपानी ने मुकेश अंबानी की ओर से निवेश किया। निमेष कंपानी खुद जालसाजी के मामले में फंसा हुआ है और दुबई में छिपा बताया जाता हैं।

लेखक आलोक तोमर वरिष्ठ पत्रकार हैं.

Comments on “कई न्यूज चैनलों में है मुकेश अंबानी का पैसा

  • SANJAY SINGH says:

    इनाडू ग्रुप में मुकेश अम्बानी का 1500 करोड़ रुपये लगा होने के बाद भी ये ग्रुप अपने स्टाफ की सैलरी नहीं बड़ा रहा है | कंही न कंही ईनाडु ग्रुप भी फर्जी कार्य कर रहा है | इसका पता लगाया जाना चाहिए क्योंकि ये लोग सरकार को भी बेवकूफ बना रहे है | आयकर के रुँपये की भी चोरी इनाडू द्वारा की जा रही है | तीन साल पहले आन्ध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री स्वर्गीय Y .S .REDDY के विरोध के कारण ही ईनाडु ग्रुप ने अपने कर्मचारियों का वेतन बढाया था,वो भी 20 प्रतिशत | जो की 50 प्रतिशत बढाया जाना था लेकिन इस ग्रुप ने प्रदेश सरकार और अपने कर्मचारियों को धोखा दिया है | 50 प्रतिशत का बचा हुआ वेतन इस ग्रुप को बढाया जाना था लेकिन तीन साल से ऊपर हो रहा है ईनाडु अपने कर्मचारियों का वेतन नहीं बढाया है | ईनाडु ग्रुप का स्टाफ स्वर्गीय Y .S .REDDY का बहुत ही शुक्रगुजार है जिनके कारण सैलरी में कुछ इजाफा हुआ | आज अगर श्री रेड्डी जिन्दा होते तो शायद ईनाडु ग्रुप के कर्मचारियो का बचा हुआ वेतन भी वो दिलवा देते |

    Reply
  • kishore Topiwala says:

    Ab samjha….. kyon reliance ke khilaf south ke sakshi tv me ek khabar aane se dilli ke saare bade tv patrakar baukhla gaye the….. Jai ho ambani ki

    Reply
  • :(>:(;D:D;):)8):o:P:-*:'([url][/url][s][/s][s][/s][u][/u][i][/i][b][/b][quote][/quote][img][/img][url][/url][s][/s]

    Reply
  • Dhananjay Jha says:

    Alok sir… Nira Radiya, kiskai through Mukesh Ambani ka paisa media mai invest karwaye, yeh to aap bataye hi nai? Nira Radiya kai kisi se bahut ache relation hai, log to yanha tak kahte hai ki wo Girl friend hai, thora iss par bhi likh dijiya.
    rgds–

    Reply
  • Atul Chaurasia says:

    नई दुनिया में मुकेश का पैसा होने की बात तो तभी साबित हो गई थी नई दुनिया के राष्ट्रीय संस्करण दिल्ली से लॉंच होने के कुछ महीने की भीतर ही नई दुनिया ने एक पूर्व नियोजित योजना के तहत लगातार चार पांच दिनों तक अनिल अंबानी के खिलाफ मुखपत्र पर खबरों का अभियान छेड़ा था.ये अलग बात है कि हुआ कुछ नहीं. पर एक बात साबित हो गई कि नई दुनिया पूर्वाग्रह के वशीभूत ये अभियान चला रहा था और इसके तार सीधे-सीधे मुकेश से जुड़ते थे. पर इतनी शर्म हया हमारे मीडिया में अब बची कहां है.

    Reply
  • Atul Chaurasia says:

    नई दुनिया में मुकेश का पैसा होने की बात तो तभी साबित हो गई थी नई दुनिया के राष्ट्रीय संस्करण दिल्ली से लॉंच होने के कुछ महीने की भीतर ही नई दुनिया ने एक पूर्व नियोजित योजना के तहत लगातार चार पांच दिनों तक अनिल अंबानी के खिलाफ मुखपत्र पर खबरों का अभियान छेड़ा था.ये अलग बात है कि हुआ कुछ नहीं. पर एक बात साबित हो गई कि नई दुनिया पूर्वाग्रह के वशीभूत ये अभियान चला रहा था और इसके तार सीधे-सीधे मुकेश से जुड़ते थे. पर इतनी शर्म हया हमारे मीडिया में अब बची कहां है.

    Reply
  • किस्मत खराब है... says:

    फ़िल्म गुरू चल रही है, बल्कि उससे भी अधिक सन्सनीखेज..

    Reply
  • Pankaj Dixit says:

    आलोक जी,
    ये गठजोड़ और अन्दर तक है खोजते रहिये कोयले की खदान की तरह अन्दर मिलता रहेगा कुछ न कुछ. ये सही में ‘कर लो दुनिया मुट्ठी में’ स्लोगन है मगर इशारा आम आदमी के लिए नहीं अपने बेटों के लिए किया था धीरुभाई अम्बानी ने. अब समझ में आया की आम आदमी की जेब से पैसा निकल बेटा कर लो दुनिया मुट्ठी में. रही राजीव शुक्ल की बात, तो शायद वो भूल गए या भूल जाना चाहते हैं की कानपुर की गलिओं में घूम रहे एक नौजवान जो कभी बड़ी बड़ी बाते करता था, अब बड़ी जगह बैठ वो बाते भूल कर कहीं खो गया है.
    Pankaj Dixit
    JNI NEWS
    http://jnilive.com

    Reply
  • Pankaj Dixit says:

    आलोक जी,
    ये गठजोड़ और अन्दर तक है खोजते रहिये कोयले की खदान की तरह अन्दर मिलता रहेगा कुछ न कुछ. ये सही में ‘कर लो दुनिया मुट्ठी में’ स्लोगन है मगर इशारा आम आदमी के लिए नहीं अपने बेटों के लिए किया था धीरुभाई अम्बानी ने. अब समझ में आया की आम आदमी की जेब से पैसा निकल बेटा कर लो दुनिया मुट्ठी में. रही राजीव शुक्ल की बात, तो शायद वो भूल गए या भूल जाना चाहते हैं की कानपुर की गलिओं में घूम रहे एक नौजवान जो कभी बड़ी बड़ी बाते करता था, अब बड़ी जगह बैठ वो बाते भूल कर कहीं खो गया है.
    Pankaj Dixit
    JNI News
    http://jnilive.com

    Reply
  • CHANDUKHANE SE says:

    Parh parh kar afsos ke siwa aap aur kya kijieyga.Nai dunia ka to pehle se hi pata tha,unhi ke ek afsar ne jo anil ambani ki co.se aye the , bataya tha ki is co. me mukesh ambani ne funding ki hai.Tabhi 2 crore launching ke advt per kharch hua tha. Aam admi per media ka rob ghalib hai aur hum khud namcheenon ke hathon ki kath putliya hain.IPL ghotale ki news sunate waqt Pankaj Pachori mukesh ambani ka naam lene ki himmat nahi kar pa rahe the.
    Rajeev Shukla jo kabhi apne saptahik akhbar ke liye vigyapan mangte the, aaj NEWS 24 chala rahe hain.
    Bhaiyon har taraf setting ka bolbala hai.Dilli ke diggaj patrkaron ke COFFEE HOUSE ke bill nami corporate hastiyan chukati hain.

    Reply
  • dhanish sharma says:

    to ya baat hai mukash amani ji ko ya channal vala kyo baar baar dikhata hain.bhai jub mukash ji na invest kiya hai to channal par to dikh hi sakta hain.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *