कल्पेश नेशनल एडिटर और यतीश मैनेजिंग एडिटर बने

श्रवण गर्ग ग्रुप एडिटर पद पर बने रहेंगे : नवनीत गुर्जर राजस्थान के नए स्टेट हेड : लोकसभा चुनाव बीतने के तुरंत बाद भास्कर प्रबंधन ने कंटेंट व ब्रांड को और बेहतर करने की कवायद के तहत कई बड़े बदलावों को अंजाम दिया है। कल्पेश याज्ञनिक जो अब तक दैनिक भास्कर, राजस्थान के स्टेट हेड हुआ करते थे, उन्हें भास्कर समूह का नेशनल एडिटर बना दिया गया है। भास्कर समूह के हिंदी बिजनेस अखबार ‘बिजनेस भास्कर’ के संपादक यतीश राजावत को प्रमोट कर भास्कर समूह का मैनेजिंग एडिटर बना दिया गया है। श्रवण गर्ग बतौर ग्रुप एडिटर पहले की तरह ही पूरे ग्रुप के लीडर बने रहेंगे पर अब वे रुटीन के कामकाज की बजाय नीतिगत व अन्य महत्वपूर्ण कार्यों को मुकाम तक पहुंचाने में जुटेंगे। कंटेंट संबंधी रूटीन के सभी कार्यों को कल्पेश और यतीश के बीच बांट दिया गया है। 

दैनिक भास्कर, राजस्थान का नया स्टेट हेड जयपुर संस्करण के स्थानीय संपादक नवनीत गुर्जर को बनाया गया है। नए आरई की नियुक्ति तक नवनीत स्टेट हेड का दायित्व निभाने के साथ-साथ जयपुर संस्करण भी देखते रहेंगे। यतीश राजावत भी नई जिम्मेदारी के साथ-साथ बिजनेस भास्कर के सर्वेसर्वा बने रहेंगे। ज्ञात हो कि पिछले कई माह से नए ग्रुप एडिटर के बतौर यतीश राजावत और कल्पेश याज्ञनिक का नाम उछाला जा रहा था और श्रवण गर्ग के इस्तीफे की अफवाहें भी फैलाई जा रही थी। इन बहुप्रतीक्षित बदलावों के बाद अब सभी तरह के अफवाहों पर विराम लग गया है।

प्रबंधन ने युवा व प्रतिभावान टीम लीडरों को आगे बढ़ाने की अपनी पुरानी नीति के तहत ही यतीश राजावत और कल्पेश याज्ञनिक को नई और बड़ी जिम्मेदारियां दी हैं। यतीश और कल्पेश, दोनों ही लोग अब भास्कर समूह के मुख्यालय भोपाल में बैठने लगे हैं। यतीश ने तीन दिन पहले तो कल्पेश ने कल भोपाल में नए कार्यभार को संभाल लिया। बताया जा रहा है कि कंटेंट संबंधी जितने भी (प्लानिंग, एक्जीक्यूशन, स्पेशल पेज…आदि) काम हैं, वे सब कल्पेश याज्ञनिक देखेंगे। भास्कर समूह के भोपाल स्थित एडिटोरियल कारपोरेट हेडक्वार्टर को भी कल्पेश याज्ञनिक के अधीन कर दिया गया है। यतीश राजावत के कार्य के बारे में अभी कुछ स्पष्ट तौर पर पता नहीं चल पाया है लेकिन सूत्रों का कहना है कि भास्कर समूह के मैनेजिंग डायरेक्टर सुधीर अग्रवाल के कई कार्यों को यतीश राजावत को सौंप दिया गया है। यतीश एमडी के कार्यों में हाथ बंटाने के अलावा एमडी द्वारा सौंपे गए विशेष मामलों को देखेंगे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *