बेसिर-पैर की अफवाह : ज्योति नारायण

मीडिया इंडस्ट्री में एक अफवाह तेजी से फैल रही है. वो यह कि ज्योति नारायण, जो पी7न्यूज चैनल के डायरेक्टर हैं, चैनल छोड़कर जा रहे हैं. कुछ लोगों ने सूचना दी कि ज्योति नारायण के वित्तीय अधिकार सीज कर दिए गए हैं, कुछ लोगों का कहना है कि ज्योति नारायण का कद घटा दिया गया है. इन सब अफवाहों के बारे में भड़ास4मीडिया ने जब पी7न्यूज के निदेशक ज्योति नारायण से संपर्क किया तो उन्होंने आश्चर्य जताया.

उन्होंने कहा कि संभव है कुछ लोग, जो पी7न्यूज को तेज गति से बढ़ते हुए नहीं देखना चाहते हों, इस प्रकार की अफवाहों को फैला रहे हों ताकि चैनल की गति पर ब्रेक लगा सकें. ज्योति के मुताबिक पी7न्यूज उनका बच्चा है और हमेशा रहेगा. वे आज भी पी7न्यूज में उसी तरह से निदेशक हैं, जैसे पहले थे. पी7न्यूज के साथ उनका रिश्ता पहले जैसा ही है. वे सिर्फ पी7न्यूज में ही नहीं बल्कि ग्रुप की पांच कंपनियों में डायरेक्टर हैं.

ज्योति नारायण ने जानकारी दी कि वे इस वक्त मुंबई में चैनल से संबंधित एक शीर्ष स्तरीय मीटिंग में शिरकत करने आए हुए हैं. उधर, सूत्रों का कहना है कि पी7न्यूज के संबंध में लिए जाने वाले नीतिगत फैसलों, पालिसी मैटर्स को बोर्ड आफ डायरेक्टर्स के समक्ष लाया जाएगा, ऐसा एक सरकुलर कल पी7न्यूज के कुछ एचओडीज के पास हस्ताक्षर के लिए भेजा गया. इसी सूचना को दूसरे रूप में पी7न्यूज के बाहर प्रसारित करा दिया गया.

सूत्रों के मुताबिक पी7न्यूज का काम ज्यादा बढ़ जाने और नए प्रोजेक्ट्स में ज्योति नारायण की व्यस्तता को देखते हुए पी7न्यूज के बड़े फैसलों को बोर्ड आफ डायरेक्टर्स के संज्ञान में लाना अनिवार्य कर दिया गया है ताकि निदेशकों की व्यस्तता का किसी लेवल पर कोई अन्य व्यक्ति दुरुपयोग न कर सके. अफवाहों पर आश्चर्य जताते हुए ज्योति नारायण ने बताया कि मीडिया के पढ़े-लिखे लोगों के बीच इस तरह की बिना आधार की बातें इरादन फैलाई जाती है, और लोग बिना छानबीन किए उस पर यकीन करने लगते हैं, यह जान-सुनकर दुख हुआ.

उन्होंने कहा निश्चित रूप से इन अफवाहों के पीछे वे लोग हैं जो अपनी मनमानी नहीं कर पाए या फिर वे इस इंतजार में हैं कि कब उन्हें मनमानी करने का मौका मिल जाए. ज्योति नारायण ने कहा कि अफवाह किसने फैलाई और कहां से इसकी शुरुआत हुई, इसके बारे में पता लगाने के निर्देश दे दिए गए हैं.

Comments on “बेसिर-पैर की अफवाह : ज्योति नारायण

  • viplava awasthi says:

    Pata nahin kyon longon ki …..mein kitna ….hai….are ek insaan achha kaam ker raha hai to karne do bhai…P7 ki suruwat achhi hue hai…logon ko pach nahin raha…mujhe bhi kai reporters ne Sri Narayan ji ke baare mein bataya…achhe insan hone ke saath wo apne employee ka ji-jaan se dhayan rakhtein hai…Pls jo bhi ho…agar kisi ko jana hoga to chala hi jayega…lekin bakwas ki baatein na karke Narayan Ji ka sahsh barane ki koshishe ki jani chahiye….

    Reply
  • ज्योति जी बेहद सुलझे व अच्छे इंसान हैं…गलत को गलत और सही को सही कहना उन्हें आता है…..ये जरूर है कि पी 7 में उच्च पदो पर कुछ लोग गलतियां कर रहे हैं…. जिनके चलते ही तमाम दिक्कतें पैदा हुयी हैं….

    Reply
  • kajal patel says:

    maine kai bar p7 news par khabre dekhi hai or muje baki che.. lo se is par dikhai jane vali khabro ko dekhna accha laga hai magar jab bhi koi accha kam karta hai us ko nicha dikhane ke liye esi afvaaho ka felna suru ho jata hai.. joki bohot galat hai ise rokna mushkil hai magar rokna jaruri hai nahito sabhi accha kaam karne vale logo ke khilaf sajish karne vale logo kaa hoshla badhjayega…

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *