प्रेम प्रसंग के विरोध में ले ली पत्रकार पुत्र की जान

बोकारो : प्रेम प्रसंग में रोड़ा बनने के कारण पत्रकार राजकुमार स्वर्णकार के पुत्र सुमित कुमार की हत्या हो गयी। हत्यारा सुमित का दोस्त टिंकू नायक ही निकला। इसने अपने एक अन्य सहयोगी विजेन्द्र गंझू के साथ तीन दिसंबर को ही सुमित की गला दबाकर हत्या कर दी। शव को पूर्व योजना के अनुसार दोनों ने तेनुघाट गेस्ट हाउस के पास एक गड्ढे में गाड़ दिया। पुलिस को भरमाने के लिए मृतक के मोबाइल से ही उसके पत्रकार पिता को फिरौती के लिए फोन किया जाने लगा। यह खुलासा एसपी साकेत कुमार सिंह ने अपने आवासीय कार्यालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में किया।

एसपी ने बताया कि गोमिया बस्ती निवासी सोलह वर्षीय पत्रकार पुत्र सुमित के मुहल्ले का ही टिंकू नायक रहने वाला है। टिंकू और सुमित क्रमश: संजू व पूजा नामक युवतियों से प्रेम करते थे। दोनों लड़कियां आपस में चचेरी बहनें है। टिंकू और संजू के बीच चल रहे प्रेम प्रसंग को सुमित लड़की के घर वालों को बता दिया करता था। टिंकू अपनी प्रेमिका को एक मोबाइल भी बातचीत करने के लिए दिया था। सुमित के कहने पर टिंकू की प्रेमिका संजू के घर वालों ने उससे मोबाइल छीन लिया था। युवती के घर वालों ने टिंकू के साथ मारपीट भी की थी और सामाजिक स्तर पर उसके घर वालों पर दबाव भी बनाया था। जिसके कारण टिंकू को छह माह तक अपने एक रिश्तेदार के यहां कोलकाता जाना पड़ा।

यहीं पर टिंकू का दोस्त गरमजरूआ बस्ती गोमिया निवासी विजेन्द्र गंझू भी उससे मिलने गया। कोलकाता में ही टिंकू ने विजेन्द्र से कहा कि कि सुमित के कारण उसकी बदनामी हुई है और उसे घर से बाहर रहना पड़ रहा है। टिंकू को विजेंन्द्र ने मदद का भरोसा दिया। जब वह गोमिया वापस लौटा तो अपने दोस्त के साथ मिलकर सुमित के हत्या की योजना बनायी। योजना के अनुसार दोनों गैंता और कुदाल लेकर तेनुघाट गेस्ट हाउस के नजदीक गये और शव को गाड़ने के लिए 25 नवंबर को ही एक गड्ढा खोदे। योजना के अनुसार तीन दिसंबर को टिंकू और विजेन्द्र सुमित को फोन कर गोमिया ट्रेकर स्टैड बुलाये। यहां से तीनों तेनुघाट चले गये। सुमित को बताया गया कि तेनुघाट में उसका कोई इंतजार कर रहा है। यहां ले जाकर दोनों ने सुमित की गला दबाकर हत्या कर दी और शव को पूर्व में खोदे गये गड्ढे में डालकर ढंक दिया। सुमित के मोबाइल से ही टिंकू के कहे अनुसार उसके दोस्त ने पत्रकार को फोन कर फिरौती की मांग की। ऐसा करने के पीछे पुलिस और परिजनों को भरमाना था। पुलिस ने मृतक सुमित के मोबाइल और एक गैंता जब्त किया है।

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *