‘महेंद्र त्रिपाठी के बारे में यह चिट्ठी ही काफी है’

महेंद्र त्रिपाठीयशवंत जी, आदरणीय शीतला सिंह और मेरे खिलाफ जो कई तरह के आरोप प्रेस क्लब अयोध्या-फैजाबाद के अध्यक्ष महेंद्र त्रिपाठी ने लगाए हैं, उनके बारे में बस इतना ही कहना है कि सारी शिकायतें हर स्तर पर निपट गई हैं और ये झूठी पाई गई हैं। महेंद्र त्रिपाठी जिस तरह से मशहूर पत्रकार शीतला सिंह और मेरी मानहानि कर रहे हैं, वह उनकी ओछी सोच और मानसिकता का परिचायक है।

ऐसे लोगों के बारे में मुझे ज्यादा कुछ नहीं कहना है। आपको फैजाबाद के एसपी सिटी रहे राजेंद्र सिंह की एक चिट्ठी भेज रही हूं। यह चिट्ठी एसपी सिटी ने फैजाबाद के सहायक सूचना निदेशक को लिखा वर्ष 2002 में लिखा। इस पत्र को एक बार पढ़ लीजिए। महेंद्र त्रिपाठी का चरित्र और व्यक्तित्व क्या है, यह खुद ब खुद पता लग जाएगा।

सुमन गुप्ता

फैजाबाद

sumangupta1964@yahoo.com


कार्यालय पुलिस अधीक्षक नगर फैजाबाद

पत्रांक: एसटी/नगर-5-11/2002        

दि0: नवम्बर 21, 2002

सेवा में,

सहायक सूचना निदेशक

फैजाबाद।

कृपया अवगत कराना है कि श्री महेन्द्र त्रिपाठी पुत्र श्री उपेन्द्रनाथ त्रिपाठी निवासी – 670 रायगंज थाना को0 अयोध्या फैजाबाद ‘भारतीय लहर’ नामक हिन्दी साप्ताहिक समाचार पत्र के सम्पादक हैं तथा सिटी न्यूज चैनल ‘शहर की बात’ फैजाबाद के स्थानीय सम्पादक व मान्यता प्राप्त पत्रकार हैं। श्री महेन्द्र त्रिपाठी उपरोक्त के संबंध में अवगत कराना है कि उनके विरूद्व पत्नी की प्रताड़ना एवं धमकी देने के संबंध में थाना को. अयोध्या फैजाबाद में मु.अ.सं. 766/2002 धारा 495/498ए/506 भादवि का अभियोग दिनांक 10.10.02 को पंजीकृत होकर विवेचनाधीन है। महेन्द्र त्रिपाठी की समाज में औरतों के प्रति गतिविधियां अच्छी नहीं प्रतीत हो रही हैं। इनके द्वारा पत्रकारिता की आड़ में शहर की भोली-भाली लड़कियों को अपने चंगुल में फंसाकर उनके अश्लील फोटो लेना एवं उनसे अश्लील हरकतें करवाने की बात प्रकाश में आयी है। किन्तु इनके विरूद्व किसी महिला आदि द्वारा किसी भी अधिकारी के समक्ष शिकायत करने का साहस नहीं होता है। इसके द्वारा अवैध रूप से धनोपार्जन के लिए चरित्रहनन विषयक आरोप लगाकर लोगों को ब्लैकमेलिंग करने में लिप्त होने की बात प्रकाश में आई है। इसके द्वारा पत्रकारिता एवं उच्च संपर्कों की बातों को बढ़ा-चढ़ा कर जिन्दगी बना देने के हसीन सपनें दिखाकर अपनी पत्नी एवं साथी सहित अन्य अनेक महिलाओं को अनैतिक देह व्यापार के प्रति प्रेरित करने की गम्भीर शिकायतें प्राप्त हुई हैं।

महेन्द्र त्रिपाठी उक्त वर्तमान में उपरोक्त मुकदमें में जेल में निरूद्व हैं।

अत: अनुरोध है कि कृपया पत्रकारिता जैसे पुनीत पेशे का दुरूपयोग कर रहे श्री महेन्द्र त्रिपाठी उपरोक्त की उक्त समाचार पत्र से मान्यता समाप्त कराने की कार्यवाही कराने का कष्ट करें तथा मान्यता कार्ड भी जमा कराने की कार्यवाही कराने का कष्ट करें। मैं अनुग्रहीत होऊंगा यदि कृत कार्यवाही से मुझे भी अवगत कराने का कष्ट करें।

हस्ताक्षर

(राजेन्द्र सिंह)

पुलिस अधीक्षक नगर

फैजाबाद।

प्रतिलिपि:- जिलाधिकारी फैजाबाद को सादर सूचनार्थ एवं यथोचित आदेश हेतु सेवा में प्रेषित।

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *