जितनी बड़ी पूंजी, उतना बड़ा स्वार्थ : शीतला सिंह

[caption id="attachment_18138" align="alignleft" width="122"]शीतला सिंहशीतला सिंह[/caption]इंटरव्यू : शीतला सिंह (वरिष्ठ पत्रकार और ‘जनमोर्चा’ के संपादक) : ‘जनमोर्चा’ के पहले संपादक हरगोविंदजी कहते थे- जिसमें जन हित हो उसी को पत्रकारिता का अंतिम सत्य मानो : पत्रकार को हर प्रकार के विचारों को समान रूप से देखना चाहिए : लालकृष्ण आडवाणी ने पत्रकारिता में भारी मात्रा में दक्षिणपंथी विचारधारा के लोगों को घुसाया : पूंजीवादी अखबारों ने पब्लिक सेक्टर को बर्बाद करा दिया :

‘महेंद्र त्रिपाठी के बारे में यह चिट्ठी ही काफी है’

महेंद्र त्रिपाठीयशवंत जी, आदरणीय शीतला सिंह और मेरे खिलाफ जो कई तरह के आरोप प्रेस क्लब अयोध्या-फैजाबाद के अध्यक्ष महेंद्र त्रिपाठी ने लगाए हैं, उनके बारे में बस इतना ही कहना है कि सारी शिकायतें हर स्तर पर निपट गई हैं और ये झूठी पाई गई हैं। महेंद्र त्रिपाठी जिस तरह से मशहूर पत्रकार शीतला सिंह और मेरी मानहानि कर रहे हैं, वह उनकी ओछी सोच और मानसिकता का परिचायक है।

वरिष्ठ पत्रकार शीतला सिंह आरोपों के घेरे में

शीतला सिंह, संपादक, दैनिक जनमोर्चासुमन गुप्ता, पत्रकार, दैनिक जनमोर्चाफैजाबाद से प्रकाशित दैनिक जनमोर्चा के संपादक और प्रेस कौंसिल आफ इंडिया के सदस्य शीतला सिंह और उप संपादक सुमन गुप्ता के खिलाफ यूपी की मुख्यमंत्री मायावती को एक शिकायती पत्र भेजा गया है। इस पत्र को भेजा है प्रेस क्लब, अयोध्या-फैजाबाद के अध्यक्ष महेंद्र त्रिपाठी ने। पत्र में शीतला सिंह और सुमन गुप्ता पर फैजाबाद के सरकारी आवास में पत्रकारिता का फर्जी विद्यालाय चलाने और छात्रों से लाखों रुपये ठगने का आरोप लगाया गया है। पत्र के मुताबिक इन दोनों पत्रकारों के खिलाफ 13 सितंबर 2009 को एक मुकदमा (अपराध संख्या 4530/09) आई.पी.सी की धारा 419, 420 के तहत दर्ज कराया जा चुका है। यह केस मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी के आदेश पर कोतवाली नगर, फैजाबाद में दर्ज किया गया है। इसमें इन दोनों पर छात्रों से पैसा लेकर डिग्री न देने और पैसा खाने का आरोप लगाया गया है। पत्र में प्रेस क्लब अयोध्या-फैजाबाद के अध्यक्ष महेंद्र त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री मायावती से मांग की है कि शीतला सिंह और सुमन गुप्ता से सरकारी आवास खाली कराया जाए, पत्रकार के रूप में राज्य से मिली मान्यता खत्म की जाए और प्रेस कौंसिल आफ इंडिया से तुरंत निकाला जाए।