लैपटाप पाने से वंचित उपसंपादकों ने बनाया संगठन

असम सरकार द्वारा बांटे गए लैपटाप से वंचित उपसंपादकों ने एक संगठन बनाया है। ताकि संगठन के माध्यम से डेस्क पर काम करने वाले उपसंपादकों की मांगों को सरकार के सामने उठाया जा सके। प्रदेश के करीब 30 अखबारों के उपसंपादकों ने गुवाहाटी प्रेस क्लब में एक बैठक कर संगठन बनाने का फैसला किया। आनन-फानन में असम वर्किंग जर्नलिस्ट (उपसंपादक) नाम से एक संगठन भी बना लिया गया। विभाग भी बांट दिए गए।

कई मीडिया हाउसों ने लैपटाप लेने से मना किया

: असम के मुख्यमंत्री आज बांटेंगे लैपटाप : चुनाव की आहट सुनने के  बाद से आम जनता के बीच कम्बल और चावल बांटने में लगे असम के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई आज यानी 24 फरवरी को पत्रकारों के बीच लैपटाप बांटेंगे। तमाम विरोध के बावजूद चुनाव के ऐन मौके पर मुख्यमंत्री ने पत्रकारों के बीच रेविड़यां बांटने की ठान ली है। मुख्यमंत्री कार्यालय के सूत्रों के अनुसार 24 फरवरी को कलाक्षेत्र सांस्कृतिक प्रेक्षागृह में एक भव्य समारोह आयोजित कर लैपटाप का वितरण होगा।

असम में पत्रकारों को लैपटाप दिए जाने के मामले पर बवाल

असम के मुख्यमंत्री तरूण गोगोई द्वारा विधानसभा चुनाव से ऐन पहले पत्रकारों को लैपटाप दिए जाने की घोषणा को लेकर राजनीतिक बवाल शुरू हो गया है। पहले तो पत्रकारों के बीच इसको लेकर घमासान मची थी, अब भारतीय जनता पार्टी ने लैपटाप बांटने की घोषणा को चुनावी मुनाफे से जोड़ दिया है।