क्या गुलाब कोठारी ने भूमाफिया से सम्‍मान करवाया!

[caption id="attachment_18899" align="alignleft" width="74"]गुलाब कोठारीगुलाब कोठारी[/caption]कुछ दिन पहले तक जिसे भूमाफिया बताकर खबरें छापी, आज उसी से सम्‍मान, उसी की संस्‍थान में प्रोग्राम और उसी संघवी समूह से लाखों का विज्ञापन. वाह कोठारी जी. इंदौर में भूमाफिया के खिलाफ अभियान चलाने का तमगा लेकर घूमने वाले पत्रिका का नया कारनामा है यह. पत्रिका समूह के प्रधान संपादक और संस्‍कार की दुहाई देने वाले गुलाब कोठारी ने 14 दिसम्‍बर को इंदौर में स्‍कूली बच्‍चों के लिए दिशा बोध कार्यक्रम आयोजित किया था.

गीतेश व विजय को प्रमोशन, अशोक व सुनील का काम बदला

पत्रिका, इंदौर में इन दिनों काफी फेरबदल किया गया है। पत्रिका, इंदौर में लांचिग से ही कई ब्रेकिंग बड़ी खबरें देने वाले गीतेश द्विवेदी को प्रमोट कर  विशेष संवाददाता बनाया गया है. गीतेश पहले यहां चीफ रिपोर्टर थे. गीतेश के नेतृत्व में पत्रिका ने कई समाचार अभियान का अंजाम दिया, सरकार को हिला देने वाला अभियान ‘जमीन का दर्द’ की सफलता में गीतेश की रिपोर्टिग महत्वपूर्ण रही.

मैनेजर विनय झा का पत्रिका, इंदौर से इस्तीफा

पत्रिका, इंदौर से विनय झा ने इस्‍तीफा दे दिया है. विनय पत्रिका में मैनेजर के पद पर कार्यरत थे. उन्‍होंने अपनी नई पारी की शुरुआत भास्‍कर टीवी, जयपुर के साथ सीनियर मैनेजर के रूप में की है.

अखबार के बंडल छीन नाले में बहाते रहे नेता और अपराधी

इंदौर में जंग (4) : घोटालेबाज चाहते हैं मीडिया का गला घोटना : इंदौर में करोड़ों के जमीन घोटाले में लोकायुक्त जांच व अन्य घपलों का खुलासा होने के बाद से तिलमिलाए उद्योगमंत्री कैलाश विजयवर्गीय व विधायक रमेश मेंदोला मीडिया की आवाज घोंटने पर उतारू हो गए हैं। घोटालेबाज नेताओं और भ्रष्ट भूमाफिया के खिलाफ जनता व इंसाफ की जंग लड़ रहे “पत्रिका समूह” की आवाज को दबाने और अखबार को जनता तक पहुंचने से रोकने के लिए गुरुवार सुबह कैलाश और मेंदोला के करीब सौ-सवा सौ गुंडों ने सड़कों पर जमकर तांडव मचाया। कई जगह अखबार की प्रतियां छीनीं, फाड़ दीं, जलाने की कोशिश की और नाले में फेंक दी। गुंडों ने हॉकरों को जान से मारने की धमकी भी दी। कुलकर्णी भट्टा पर पत्रिका की गाड़ी पर हमला करने, मारपीट करने व प्रतियां लूटने के मामले में पुलिस ने डकैती के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया है। वारदात में शामिल लोगों को पहचान लिया गया है। इंदौर शहर के नागरिकों, बुद्धिजीवियों और मीडिया से जुड़े लोगों ने कड़ी निंदा करते हुए सरकार की भूमिका पर सवाल खड़ा किया है।

पत्रिका पर हमले का मामला संसद में गूंजा

इंदौर में जंग (3) : मध्य प्रदेश के इंदौर में लोकप्रिय हिंदी दैनिक पत्रिका पर हमले का मामला आज लोकसभा में गरमाया रहा। करोड़ों के जमीन घोटाले व अन्य घपलों में राज्य के उद्योग मंत्री कैलाश विजयवर्गीय व विधायक रमेश मेंदोला द्वारा गुरूवार को इंदौर में की गई गुंडागर्दी पर कांग्रेस, राजद समेत कई विपक्षी पार्टियों ने राज्य की भाजपा सरकार को आड़े हाथों लिया और लगे हाथ लोकसभा में भाजपा को भी घेरा।

 

तो ये है इंदौर में मीडिया के खिलाफ गुंडई का आलम

इंदौर में जंग (2) : मध्य प्रदेश के उद्योग मंत्री कैलाश विजयवर्गीय और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला किस तरह इंदौर में ‘पत्रिका’ अखबार को कुचलने पर आमादा हैं, इसकी गवाह है ये खबर और तस्वीरें. घोटाले-घपलों में नाम उजागर होने से तिलमिलाए मंत्री और विधायक ने अब गुंडई का सहारा लिया है.

इंदौर में अखबारवालों-नेताओं के बीच जंग

इंदौर में जंग (1) : ‘पत्रिका’ अखबार की होली जलाई : अखबार बांटने वाले हाकरों की पिटाई : मीडियाकर्मियों पर हमले की तैयारी : भ्रष्टाचार की खबरें छपने से खफा हैं कैलाश विजयवर्गीय और रमेश मेंदोला : इंदौर जंग का अखाड़ा बना हुआ है. जंग अखबारों के बीच नहीं बल्कि अखबारों और दो नेताओं के बीच हो रही है. मध्य प्रदेश सरकार के उद्योग मंत्री कैलाश विजयवर्गीय और बीजेपी नेता रमेश मेंदोला ने राजस्थान पत्रिका समूह के ‘पत्रिका’ अखबार को शहर में बंटवाने से रोकना शुरू कर दिया है. पिछले दिनों से रात में जो भी हाकर अखबार लेकर जाते हुए मिले, उनकी पिटाई की गई और अखबार छीन कर डंप करा दिया गया. पता चला है कि आज दिन में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने पत्रिका अखबार को जलाकर अपना विरोध प्रदर्शन किया. यह मामला महीने भर से चल रहा है. कैलाश विजय वर्गीय और रमेश मेंदोला से संबंधित भ्रष्टाचार की खबरें जब अखबारों में छपने लगी तो कैलाश विजय वर्गीय ने अखबारों के प्रति अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया. कहा कि अखबारों की तो कोई औकात नहीं और ये अब पोंछने के भी काम नहीं आते. और भी ढेर सारी भद्दी बातें कहीं.