हाई कोर्ट ने कहा ‘सच का सामना’ बेहद अश्‍लील

दिल्ली उच्च न्यायालय ने वर्ष 2009 में प्रसारित टीवी रियलिटी शो ‘सच का सामना’ की दो विवादास्पद कड़ियों के लिए स्टार प्लस चैनल को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की ओर से जारी कारण बताओ नोटिस को शुक्रवार को बरकरार रखा। न्यायमूर्ति एस. मुरलीधर ने स्टार इंडिया प्राइवेट लिमिटेड की याचिका खारिज कर दी और कहा कि कार्यक्रम में दिखाई गई वषय-वस्तु ‘अश्लील, अशोभनीय तथा अच्छी रुचि एवं मर्यादा के विरुद्ध’ थी जो केबल टेलीविजन नेटवर्क के नियमों के तहत वर्णित कार्यक्रम आचार संहिता का उल्लंघन है।

स्टार प्लस, उदय शंकर और 18.72 करोड़ रुपये

मीडिया मुगल के नाम से चर्चित रूपर्ट मर्डोक के भारत में सबसे खास आदमी हैं उदय शंकर. उदय पहले पत्रकार थे. धीरे-धीरे प्रबंधन के हिस्से बन गए. पिछले दिनों वे दिल्ली में थे. स्टार प्लस के बारे में उन्होंने पत्रकारों से बातचीत की. बताया कि स्टार प्लस अब बदल जाएगा. इसके लिए लगभग 19 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं.