अखबारों का रियेलिटी शो- झूठ का सामना

उदय चंद्र सिंहअखबार के इस झूठ गढ़ने वाले रिपोर्टर का क्या बिगाड़ लेंगे आप? बीते दिनों दिल्ली के कुछ अखबारों में छपी एक खबर को पाठकों ने खूब चटकारे लेकर पढ़ा। खबर ग्रेटर नोएडा के शख्स की थी। खबर में बताया गया था कि एक टीवी चैनल पर आने वाले शो ‘सच का सामना’ देखने वाला एक शख्स अपनी लाइफ के सच का सामना नहीं कर सका और सदमे में फांसी लगाकर जान दे दी। प्रोग्राम देखकर एक्साइटमंट में उसने पत्नी से अपने सच का खुलासा करने को कहा, लेकिन सच को वह सहन नहीं कर सका। खबर में कासना पुलिस का भी हवाला दिया गया था। खबर में बताया गया था कि एक मॉल में काम करने वाला शख्स अपनी पत्नी के साथ टीवी पर आने वाला रियेलिटी शो ‘सच का सामना’ रेगुलर देखा करता था।।शो के तर्ज पर उस शख्स ने  अपनी पत्नी को सच का सामना करने के लिए कहा। पत्नी ने पहले इससे इनकार किया।

लाइव इंडिया को बाय बोल उदय हमार टीवी में

[caption id="attachment_14908" align="alignleft"]उदय चंद्र सिंहउदय चंद्र सिंह[/caption]लाइव इंडिया न्यूज चैनल का एक बड़ा विकेट गिरा है। एक्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर (आउटपुट) उदय चंद्र सिंह ने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने नई पारी हमार टीवी के साथ शुरू की है। उन्होंने इस चैनल में भी एक्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर (आउटपुट) के पद पर ज्वाइन किया है। उदय लाइव इंडिया में डेढ़ वर्षों से थे। एनडीटीवी ग्रुप संग 13 साल तक जुड़े रहे उदय चंद्र एनडीटीवी इंडिया की लांचिंग कोर टीम के सदस्य रहे हैं। उन्होंने एनडीटीवी इंडिया से आउटपुट एडिटर पद से इस्तीफा देकर लाइव इंडिया ज्वाइन किया था। उदय ने करियर की शुरुआत राष्ट्रीय सहारा से की थी।

ब्रेकिंग न्यूज के जरिए खबरें ब्रेक हो रही हैं

Uday Chandra Singhगुसलखाने में नहाने को घुसा ही था कि चार साल के बेटे की तुतलाती आवाज गूंज उठी- ‘पापा,  बेकिंग न्यूज! बेकिंग न्यूज!!’ तौलिया लपेटकर जल्दी से बाहर निकला तो टीवी स्क्रीन पर ब्रेकिंग न्यूज की पट्टी सचमुच दौड़ रही थी- ‘दादरी में सोनिया की किसान रैली आज।’ माथा चकरा गया। समझ न आया कि मेरे बेटे में सरस्वती का वास अचानक कैसे हो गया। पत्नी की लाख कोशिशों के बावजूद जो ’ और ‘पहचानने से साफ इंकार कर देता हो, उसने ब्रेकिंग न्यूज कैसे पढ़ लिया 

”तेलंगाना माने तेल लगाना, नोएडा को बंदर खा गया”

uday chandra singhटीवी की दुनिया में खूब अजब-गजब होता है। कुछ वैसे ही जैसे खबरिया चैनलों पर चौबीसों घंटे अजब-गजब की खबरें दिखती रहती हैं। कभी नोएडा को बंदर खा जाता है तो कभी तेल लगाने के मुद्दे पर तेलंगाना राष्ट्र समिति नेता चंद्रशेखर राव यूपीए से कुट्टी कर लेते हैं। गजब तो तब हो गया जब जब हीथ्रो हवाई अड्डे पर जहाज ने पायलट को ही कुचल दिया। खूब माथा-पच्ची करने पर भी समझ न आया कि पायलट ने खुदकुशी की या फिर रनवे पर दौड़ लगाते जहाज से ही कूद गया।