विजय वर्धन तथा भक्‍त दर्शन को युवा पत्रकारिता पुरस्‍कार

: उमेश डोभाल स्‍मृति समारोह आयोजित : उत्तराखंड में जनपक्षीय पत्रकारिता की धारा को आगे बढ़ाने के संकल्प के साथ 21वां उमेश डोभाल स्मृति समारोह सम्पन्न हुआ। उमेश डोभाल स्मृति ट्रस्ट के तत्वावधान में आयोजित समारोह में युवा पत्रकारिता पुरस्कार इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के लिए विजयवर्धन उप्रेती व प्रिंट मीडिया के लिए भक्तदर्शन पांडे को दिया गया, जबकि उमेश डोभाल स्मृति सम्मान डॉ. शेर सिंह पांगती को दिया गया।

अब मैं मार दिया जाउंगा

उमेश डोभालउत्‍तराखंड के पत्रकार एवं कवि उमेश डोभाल की शहादत के 23 साल पूरे हो गए हैं. 17 फरवरी 1952 में पैदा हुए उमेश डोभाल की 25 मार्च 1988 में शराब माफियाओं ने हत्‍या करा दी थी. उनके शहादत दिवस पर उनकी लिखी कुछ कविताओं को उत्‍तराखंड के पत्रकार दीपक आजाद ने उन्‍हें श्रद्धांजलि के रूप में भेजा है. जिसमें एक कविता उमेश डोभाल ने अपनी मौत से कुछ दिन पहले ही लिखी थी. नीचे प्रस्‍तुत हैं उनकी तीन कविताएं.

उमेश डोभाल स्मृति एवं पत्रकार सम्मान समारोह 25 को रुद्रपुर में

रुद्रपुर। पत्रकार उमेश डोभाल की शहादत की स्मृति में आयोजित किया जाने वाला 21वां पत्रकार उमेश डोभाल स्मृति एवं पत्रकार सम्मान समारोह इस बार रुद्रपुर (जिला ऊधम सिंह नगर, उत्तराखंड) में 25 मार्च को आयोजित किया गया है। दूर के पत्रकार, लेखक, सामाजिक कार्यकर्ता और रंगकर्मी आदि 24 मार्च सायंकाल तक पहुंचेंगे, जिनके रात्रि विश्राम की व्यवस्था की गई है।

उमेश डोभाल को याद करने 25 को पौड़ी पहुंचें

बीसवां उमेश डोभाल स्मृति समारोह 25 मार्च को पौड़ी में आयोजित किया जा रहा है. पत्रकार उमेश डोभाल की 25 मार्च 1988 को पौड़ी शहर में शराब माफिया ने हत्या कर दी थी. शुरू में उनकी हत्या की बात गुमशुदगी में टाल दी गई थी, लेकिन बाद में पत्रकारों के तीव्र विरोध और आन्दोलन के बाद मामला सीबीआई के हवाले हुआ और हत्यारे कानून के शिकंजे में फंस सके.