मनोज, श्रुति, नीलाभ, मनोरंजन, आशीष, कृष्‍णकांत और फरहत के बारे में नई जानकारी

हिंदुस्‍तान, कोलकाता ब्‍यूरो बंद होने के बाद बेरोजगार हुए मनोज सिंह ने अपनी नई पारी शुरू कर दी है. उन्‍होंने राजस्‍थान पत्रिका ज्‍वाइन ज्‍वाइन कर लिया है. मनोज काफी समय तक हिंदुस्‍तान कोलकाता के ब्‍यूरोचीफ रहे हैं. इसके पहले भी इन्‍होंने कई अखबारों में काम किया है.

हिंदुस्‍तान, कोलकाता में काम कर चुकी श्रुति जायसवाल ने भी पत्रिका ज्‍वाइन किया है. उन्‍हें यहां रिपोर्टिंग की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. श्रुति ने जनवरी में ही हिंदुस्‍तान से इस्‍तीफा दे दिया था.

हिंदुस्‍तान में ही काम करने वाले नीलाभ और मनोरंजन ने भी ताजा चैनल के साथ अपनी नई पारी शुरू कर दी है. इसके अलावा ये लोग इसी ग्रुप के अखबार भारत मित्र को भी अपनी सेवाएं दे रहे हैं.

दैनिक जागरण, धनबाद से अशीष झा का तबादला रांची के लिए कर दिया गया है. ये डेस्‍क पर अपनी सेवाएं दे रहे थे. आशीष दैनिक भास्‍कर, धनबाद के आरई बसंत झा के भाई हैं, इसलिए माना जा रहा है कि उनका तबादला धनबाद के लिए कर दिया गया है.

अमर उजाला, प्रतापगढ़ का नया ब्‍यूरोचीफ कृष्‍णकांत त्रिपाठी को बनाया गया है. ये अभी तक इलाहाबाद यूनिट में अंचल प्रभारी के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे थे. अब तक प्रतापगढ़ की जिम्‍मेदारी दिनेश सिंह संभाल रहे थे. दिनेश को वहीं रखा गया है वे अब केके को रिपोर्ट करेंगे.

हिंदुस्‍तान, इलाहाबाद से फरहत खान ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर सीनियर रिपोर्टर थे. इन्‍होंने अपनी नई पारी की शुरुआत अमर उजाला, इलाहाबाद से की है. यहां भी इन्‍होंने सीनियर रिपोर्टर के पद पर ही ज्‍वाइन किया है. फरहद हिंदुस्‍तान जाने से पहले अमर उजाला के साथ ही जुड़े हुए थे.

फरहत अपने करियर की शुरुआत 11 साल पहले आज से की थी. फिर जागरण जमशेदपुर से जुड़ गए. खड़गपुर में भी रहे. फिर जागरण इलाहाबाद से जुड़ गए. यहां से अमर उजाला पहुंचे. यहां से इस्‍तीफा देने के बाद हिंदुस्‍तान से जुड़ गए थे.

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “मनोज, श्रुति, नीलाभ, मनोरंजन, आशीष, कृष्‍णकांत और फरहत के बारे में नई जानकारी

  • yashwant ji khabro ko puri taftish karke likha kijiye. manoj singh muskil se 4 mahina baurea chief rahe hai iske alawa unki jindagi stringari me bit gayi. doosri taraf unke chela nilav ht me 7500 aur manoranjan 2500 kamate the lekin ab nilav taja tv me 3000 aur manoranjan 2500 me bharat mitra me sewa de rahe hai ……..y ji taftish kara liya kijiye

    Reply
  • navin.. kol says:

    यशवंत जी खबरों को पूरी तफ्तीश करके लिखा कीजिये ये सभी लोग दलाली करते है और इनका गुरु है मनोज पाण्डेय न्यूज़ 24 स्त्रिन्गरी कर था है और मनोज सिंह मुस्किल से 4 महिना kiya iske अलावा उनकी जिंदगी स्त्रिन्गरी में बीत गयी . दूसरी तरफ उनके चेला नीलव हट में 7500 और मनोरंजन 2500 कमाते थे लेकिन अब नीलव तजा tv में 3000 और मनोरंजन 2500 में भारत मित्र में सेवा दे रहे है ……..

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *