मराठी में अखबार निकालेगा भास्कर समूह

मुंबई स्टाक एक्सचेंज को आज डीबी कार्प लिमिटेड ने दो लाइन की सूचना दी कि कंपनी अब मराठी भाषा में महाराष्ट्र में विस्तार करते हुए अखबार के प्रकाशन की तैयारी कर रही है. इस एनाउंसमेंट के बाद माना जा रहा है कि भास्कर प्रबंधन जल्द ही महाराष्ट्र में पांव पसारने वाला है. डीबी कार्प की तरफ से हिंदी में दैनिक भास्कर अखबार कई हिंदीभाषी प्रदेशों से प्रकाशित किया जाता है. इसके अलावा गुजराती में दिव्य भास्कर गुजरात के कई शहरों से प्रकाशित किया जा रहा है.

वहीं अंग्रेजी में मुंबई व कई अन्य शहरों में डीएनए नामक अखबार जी ग्रुप की साझीदारी में प्रकाशित किया जा रहा है. मराठी भाषा में अखबार प्रकाशित करने के बाद डीबी कार्प इस मामले में कई अन्य हिंदी अखबारों की कंपनियों से आगे निकल जाएगा कि वह एक साथ चार भाषाओं में अखबार निकाल रहा है. प्रसार के मामले में देश के नंबर वन अखबार दैनिक जागरण को प्रकाशित करने वाली कंपनी जागरण प्रकाशन लिमिटेड अभी हिंदी के अलावा अन्य भाषाओं में पांव नहीं पसार पाई है.

उर्दू अखबार इंकलाब के टेकओवर के बाद उर्दू हिंदी के अलावा उर्दू का भी प्रवेश इस ग्रुप में हो गया है. अंग्रेजी में छिटपुट किस्म के प्रोडक्ट निकाले जाते हैं, कोई बड़े पैमाने पर प्रसारित अंग्रेजी अखबार जागरण समूह के पास नहीं है. इसके अलावा गुजराती व मराठी में भी यह समूह नहीं है. फिलहाल डीबी कार्प ने अपने तेवर व विस्तार के जरिए दूसरे मीडिया समूहों में हड़कंप मचा रखा है. डीबी कार्प ने कंटेंट पर बहुत जोर दिया है और इसी के कारण कुछ दिनों पहले दैनिक भास्कर के लेआउट, कंटेंट आदि को काफी मजबूत किया गया है.

संडे के दिन खासतौर पर दैनिक भास्कर अलग तरह का कंटेंट अपने पाठकों को देता है जो दूसरे अखबार फिलहाल दे पाने में सफल नहीं है. कह सकते हैं कि कंटेंट के मामले में भास्कर ने दूसरे अखबारों को पीछे कर रखा है. तमाम तरह के विवादों, आरोपों के बावजूद डीबी कार्प के कर्ताधर्ता देश का नंबर वन मीडिया हाउस बनने के अपने मिशन की ओर लगातार व तेजी से अग्रसर हैं. ऐसे में दूसरे मीडिया प्लेयरों में बेचैनी स्वाभाविक है. महाराष्ट्र जैसे महत्वपूर्ण प्रदेश जहां देश की आर्थिक राजधानी मुंबई है, में मराठी में अखबार निकालकर डीबी कार्प उस तबको पर पकड़ बनाना चाहता है जो आर्थिक रूप से काफी समृद्ध और निर्णायक है. बीएसई में डीबी कार्प की तरफ से दायर की गई सूचना इस प्रकार है….

Comments on “मराठी में अखबार निकालेगा भास्कर समूह

  • Rakesh Nigam says:

    I look it at the counter strategy of Bhaskar to keep Lokmat focussed in Maharastra only,which has announced that it will get into Madhya Pradesh post IPO, The second reason could be that maharastra market is very fregmented wherein no newspaper can claim as No.1 in totality. e.g. Mumbai driven by Loksatta/Maharastra Times, Pune by Sakaal, Nagpur by Lokmat, Kolhapur by Pudhari etc. so to get intos such markets where no clear market leader is. Bhaskar can be settled soon once it spreads its wings in complete Maharastra. Third reason could be that most of the markets in Maharastra are monopolised. viz Nasik, Aurangabad, Kolhapur , Nagpur etc.Bhaskar has always delivered good in breaking the monopoly. Comptetion always increases the market and enhances the value to its readers.
    C
    My Best wishes to Bhaskar group.

    Reply
  • surinder singh says:

    mujhe sunkar bahoot khushi ho rahi hai ki bhaskar parivar marathi mein bhi akhbar launch kar rahen mein apne diloon jaan se bhaskar management ko subkamnayen deta hoon aur ye vinti karta hoon ki jis tarah marathi mein akhbar chhapne ke soch rahe hai saath hi saath aap punjab ki tarf bhi thoda dhayan de yahan do local punjabi paper ne gadar machaya hua hai unki paith bani hui hai jagran wale bhi yahan apne paaon pasarne ke liye jor laga rahey waise jo bhi pehle yahan punjabi akhbar launch karta hai ushe bahoot faida hoga islye bhaskar management ko haath jor kar vinti hai marathi ke saath saath punjabi akhbar launching ki bhi soche
    ek baar meri aur se bhaskar parivar ko marathi akhbar launching ki souch ke liye unhe adv mein bhadaiyan
    ap ka subchintak ek pathak

    Reply
  • divya marathi ka historical city Aurangabad me swagat hai.i m also read your gujrati daily divya bhashkar i like.if any copretion reqvierd pl give me a chance.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *