राजेंद्र जोशी नहीं दे रहे हैं सेलरी के चौंतीस हजार रुपये

: नए लोग मीडिया में आएं तो हरामियों से निपटना भी सीखकर आएं : सेवा में, संपादक जी, bhadas4media, महोदय, चार महीनो से मैं डिप्रेशन में आ चुका हूँ. मुझे लगता है कि जब तक मैं अपनी पूरी भड़ास न निकाल लूँ, मुझे सुकून नहीं मिलेगा. इसलिए मैं आज अपनी आपबीती आपके पोर्टल के जरिये सबको बताना चाहता हूँ ताकि मेरे साथ साथ मेरे दूसरे साथी भी इस खबर को पढ़ कर हकीकत जान सकें.

यशवंत जी, मेरा नाम मानव सिंह रावत है. मैं जैन टीवी, उत्तराखंड में काम करता था. यहां के प्रभारी राजेन्द्र जोशी थे. उनकी निशंक जी से अच्छी खासी सांठगाँठ थी. इसके चलते उन्होंने जैन टीवी को उनकी एम्बुलेंस चलाने का ठेका उत्तराखण्ड में दिलवा दिया. साथ ही बदले में उत्तराखंड में जैन टीवी का एक स्लाट ले लिया. इसमें उनको स्टाफ की जरूरत पड़ी. तब हमको भी बुलाया गया. बड़ी-बड़ी बातें की गईं. बड़े-बड़े आश्वासन देकर हमें जैन टीवी के उत्तराखंड वाले स्लाट में काम करने को कहा गया क्योंकि उत्तराखंड में स्लाटों की कई दुकाने हैं जहां सेलरी देने में कई बार ना नुकर होती है. तब मैंने राजेन्द्र जोशी जी से कहा कि ऐसा हमारे साथ ना हो तो जोशी जी ने कहा- चिंता मत करो, मैं हूं ना, मुझ पर भरोसा नहीं है क्या.

उनके इस झूठे आश्वासन पर मैंने काम करना शुरू कर दिया. चार महीनों तक काम करने के बाद जब मेरी कुल सेलरी 34000 रुपये नहीं आई तो मजबूरन नौकरी छोड़नी पड़ी. अब मैं मुबई में एक प्रोडक्शन हाउस में काम कर रहा हूं. मगर मेरी आर्थिक स्थिति बड़ी खराब है. मैंने जोशी जी को भी कहा मगर वो हमेशा झूठ बोलकर टाल देते हैं. अभी मुख्यमंत्री निशंक बदले तो जोशी जी भी उत्तराखंड से हट गए. जब मैं उनसे अपनी सेलरी मांगने के लिए फोन करता हूं तो वो फोन नहीं उठाते. दिल्ली के लोग भी हमारी सेलरी नहीं दे रहे हैं. बार बार मिन्नत करके मैं थक गया हूं. नौकरी छोड़ते वक्त मैंने सेलरी मांगी तो मिल जाएगी कहकर बात टाल दी. तब से लेकर अब तक मैं लगातार अपनी मेहनत की कमाई मांग रहा हूं मगर मुझे बार बार गुमराह कर ये लोग बेवकूफ बना रहे हैं.

जोशी जी कहते हैं कि दिल्ली में संतोष से बात करो. संतोष से कहता है कि दिलीप से बात करो. दिलीप कहता है कि राजेन्द्र जोशी जी के अकाउंट में डाल दी है, जोशी जी से बात करो. जोशी जी कहते हैं कि मेरे अकाउंट में कोई पैसा नहीं आया है वापस सन्तोष को फोन करो. तो इस तरह से सबने घुमा कर रख दिया है. अब आपके माध्यम से सभी जिम्मेदार लोगों से गुजारिश करना चाहता हूं कि हमारी सेलरी दिलवा दो. हमारी मेहनत को यूं बर्बाद ना होने दो. अब हमारे दिल से हर रोज बददुआऐं निकल रही हैं. किसी दिन लग गई तो बाद में उसका हमें भी दुख होगा. मेरी तरह मेरे और साथी भी चाहते हैं कि उनकी मेहनत की कमाई उनको मिले. मीडिया में आने वाले लोगों से निवेदन है कि इस लाइन में आने की ना सोचें और आएं तो हरामियों से निपटना भी सीखकर आएं.

Manavendra Singh Rawat (Manav)

bipinravat@gmail.com

Comments on “राजेंद्र जोशी नहीं दे रहे हैं सेलरी के चौंतीस हजार रुपये

  • Ye saala Rajender joshi hai hi chor, delhi walo se slot sponcert karaya aur yanha se saara paisa vigyapan ka kha gaya FRAUD

    Reply
  • Abhinav Goel says:

    dost sahi kaha ,ye yaha ke media ka durbhgaya hai jo channel aise hatho mein hai jo sirf apni jebein bharna jante hai …..jadatar channel ki lagbhag yahi kahani hai ki apni haq ki salry ke liye bheek ki tarha maangna padta hai…mai tumhare saath hon…..

    Reply
  • koi baat nhi dost,,,umeed krta hun tumhari bhadas nikal gyi hogi..ab dil dimaag ko shant kro…tumhari badddua jald lage…

    Reply
  • Sanjay Rawat says:

    dehradun ke pure staff ka paisa jaintv walon ne de diya hai. koi unse to puche esmai rajendra joshi ka kya lena dena, agar rajendra joshi ka koi matlab hota to unko bhi paisa nahi milta, jaintv walon ne sabko delhi bulakar ek-ek paise ka hisab kiya, rajendra joshi ka bhi to paisa jain walon ne mara hai,lekin usne aapne sabhi karmchariyon ka paisa dilwaya hai,jahan tak manav ka sawal hai wo kaam kahi aur karta tha paisa jain wale kyon den ye samajh se pare hai , ye ek sadyantra hai jo rajendra joshi sir ko badnam karne ki koshis hai, robin,pradeep,zuberi,suhel,aadi ko pucha jaye ki unka paisa mila ya nahi ….aapko jawab khud hi mil jayega …

    Reply
  • Sanjay Rawat Who r u?????????
    Mai Joshi sir ko galat nhi kah raha hn. bt Ye unki jimmedari hai.
    or mai kis baat ki sellery mang raha hn ye Joshi sir se pooch lena, jain TV me jab koi editor kaam karne k liye taiyar nhi tha tab maine 4 month tak without sellery kaam kiya tha, uske baad majbooran mujhe chodna pada.
    or jab in sab logon ko sellery mili to meri kyon nhi di gayi…………..

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *