रियाज हाशमी और मृदुल त्यागी जागरण में वापस

दैनिक जागरण से इस्तीफा देने के बावजूद ये दोनों जागरण से दूर न रह सके. वापस लौट आए. मृदुल त्यागी आई-नेक्स्ट, मेरठ में हुआ करते थे. इस्तीफे से पहले उन्हें प्रस्ताव दिया गया कि वे दैनिक जागरण में काम कर लें, अगर आई-नेक्स्ट में दिल नहीं लग रहा है तो. पर वे अड़े रहे और इस्तीफा देकर घर बैठ गए. दिन महीने गुजरे और फिर बातचीत शुरू हो गई. आखिरकार वे जागरण, मेरठ में लौट ही आए.

इसी तरह रियाज हाशमी के साथ भी लगातार घटनाएं हो रही हैं. वे मेरठ से नोएडा भेजे गए. नोएडा से वापस मेरठ. और मेरठ में दैनिक जागरण से इस्तीफा देकर जनवाणी संग जाने का ऐलान कर दिया. लेकिन अब पता चल रहा है कि रियाज भी जागरण वापस लौट रहे हैं और उन्हें दैनिक जागरण, देहरादून का स्टेट ब्यूरो चीफ बनाया जा रहा है. उधर, मृदुल त्यागी को दैनिक जागरण में स्टेट डेस्क का हेड बनाया गया है.

Comments on “रियाज हाशमी और मृदुल त्यागी जागरण में वापस

  • Gaurav Mishra says:

    रियाज़ भाई आपका निर्णय बिल्कुल सही है जागरण में वापसी का… बधाई हो स्टेट ब्यूरॊ बनने की….आपने ही लिखा है कि, काग़ज़-काग़ज़ हरफ़ सजाया करता है, तन्हाई में शहर बसाया करता है। कैसा पागल शख़्स है सारी-सारी रात दीवारों को दर्द सुनाया करता है।
    गौरव मिश्रा

    Reply
  • arvind sharma says:

    riyaj sir or mradul bhai ko bdhaie wapasi kea liye. aap dono ki lakhni sea har koi wakif hia. mujhy bhi riyaj sir kea under mea kam karny ka moka mila hia, unky chand sbad puri repot khea deati hia. yadi mei galat nhi hu to sayad riyaj sir. yaspal singh bhai, vikas misra sir and mridul bhai ki takkar ka koie west up mea lakhak nhi hoga. aap logo nea gagar mea sager bharny ka kam kiya hia. asy achy lakhak kam logo ko hi naseb hoty hia. jinki har ek pakti or sabdh bhut kuch khaty ho…

    Reply
  • Good Shot Riyaz Bhai.
    Isay kehte hai chha jaana.
    Really you proved your personality. Nobody can releave the good person.
    Regards
    Sachin

    Reply
  • M FAISAL KHAN says:

    riyaz bhai allah pak apke fainsle ko mazbooti de apne sahi kiya hai jagran ke sath rehne ka .allah pak apko khoob taraqqi de(ameen)mai akela hi chala tha janibe manzil magar.log aate gaye karwan banta gaya.faisal khan.saharanpur

    Reply
  • riyaz aur mridul ke istifa dene se jagran baudhik sankarman ka lagbhag shikar ho gya tha. in dono ki vapsi Jagran ki sehat ke liye achhe sanket hai

    Reply
  • shanker singh says:

    रियाज भाई एक डायनमिक जर्नलिस्ट हैं और उनके जैसे तेज तर्रार रिपोर्टर बहुत कम देखने को मिलते हैं। सहारनपुर में स्ट्रिंगर से लेकर उत्तराखंड स्टेट ब्यूरो चीफ तक का सफर इस शक्स के लंबे संघर्ष की गाथा है। रियाज भाई को इस उपलब्धि पर हार्दिक बधाई…जय हो।
    – शंकर सिंह, एनबीटी नई दिल्ली

    Reply
  • Deepak Agrawal, Hindustan, agra says:

    Good Luck
    Mredul Tyagi & Riyaz.
    I think its good decission for you and for your well wishers.
    Jai Hind

    Reply
  • pradeep tyagi says:

    dear mridul,
    tumahree joining se bada harsh hua. tumahrey direction main jagran ki din duni aur raat chow guni tarrakkee karega. good luck to u and jagran parivar

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *