रुड़की के चार पत्रकारों के खिलाफ लूट और मारपीट का मुकदमा दर्ज

: पत्रकारों ने भी दर्ज कराया मामला : रुड़की जिले के चार टीवी पत्रकारों के खिलाफ एक व्‍यक्ति ने भगवानपुर थाने में लूट, मारपीट, ब्‍लैकमेलिंग समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है. इन पत्रकारों पर धौंस देकर पैसे वसूलने का आरोप था. पत्रकारों ने भी उक्‍त व्‍यक्ति के खिलाफ मारपीट का मुकदमा दर्ज कराया है. पुलिस मामला दर्ज कर पूरे प्रकरण की जांच कर रही है.

जानकारी के अनुसार टीवी100 के लिए रिपोर्टिंग करने वाले जुबेर काजमी, जैन टीवी से जुड़े शकील अनवर, टीवी 99 से जुड़े वीरेंद्र चौधरी एवं चढ़दीकला टाइम टीवी से जुड़े अरशद हुसैन रुड़की में आयोजित कांग्रेस की रैली कवर करने गए थे. ये लोग रैली को छोड़कर भगवानपुर थाना क्षेत्र के ग्राम अनंतपुर ननेडा पहुंचे. आरोपों के अनुसार वहां एक चक्‍की पर पहुंचकर कहने लगे कि तुम राशन की गेहूं का आटा पीस रहे हो. वहां चक्‍की पर बैठकर पैसे गिन रहे मालिक के लड़के ने कहा कि यहां ऐसा कोई काम नहीं होता है, आप चाहे तो तलाशी ले लो. इस पर इन लोगों ने कहा कि हमें पचास हजार रुपये दे दो नहीं तो तेरे यहां छापा मरवाकर तुम्‍हारी चक्‍की सील करवा देंगे.

इतना सुनकर लड़का घबरा गया. उसको घबराया देखकर वो जो पैसे गिन रहा था (आरोपों के अनुसार लगभग बारह हजार) इन लोगों ने छीन लिए. इतने में चक्‍की का मालिक आ गया. लड़के ने सारी बात उसे बता दी. चक्‍की मालिक ने और लोगों को बुला और इन लोगों की धुनाई शुरू कर दी. ये चारो लोग किसी तरह जान बचाकर वहां गन्‍ने की खेतों की तरफ भागे. गन्‍ने के खेत में छुपकर पुलिस को फोन किया. मौके पर पहुंची पुलिस इन लोगों को खेतों में से तलाश कर थाने ले आई. इन लोगों पर इसके पहले भी लोगों से ब्‍लैकमेलिंग कर पैसे वसूलने का आरोप लग चुका है.

चक्‍की मालिक की तहरीर पर पुलिस ने इन लोगों के खिलाफ आईपीसी की कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया. इसके बाद पत्रकारों ने भी चक्‍की मालिक और अन्‍य लोगों के खिलाफ मारपीट, धमकी आदि का मुकदमा दर्ज कराया. पुलिस इस पूरे प्रकरण की जांच कर रही है. प्रभारी एसओ ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है.

Comments on “रुड़की के चार पत्रकारों के खिलाफ लूट और मारपीट का मुकदमा दर्ज

  • Sushant Kumar says:

    इन जैसे पत्रकारों का यही हाल होना चाहिये। इन लोगों की हरकतों की वजह से पूरा पत्रकार जगत बदनाम हो रहा है। वैसे इनके उपर कई बडे चैनल के पत्रकारों की भी हाथ है। जैसे आज तक न्यूज चैनल की आई डी भी अक्सर ये लोग लेकर घूमते रहते हैं और खबरों पर भी वह आई डी लगायी जाती है। अब आप ही बाताओ कि फ़िर अधिकारी भी क्यों – कैसे इन लोगों के खिलाफ़ कार्यवाही करने के लिये हिम्मत जुटायेगें।

    Reply
  • yeh sab likhne wala shayad rashan mafiya ka dalal hoga kyon ki usne es bat ko chhupaya he ki yeh patarkar us ganw me s.m.i.gaudam se chale atal khadyyan yojna ke rashan ki cavrage karne gaye the aur uske futege bhi dikhaye gaye the shyad yeh khabar dene wala esi mafiya ka pitthu he agar kalam ke sipahiyon ko yu hi badnam kiya jata raha to shayad hi koi patarkar aage esa honsla kare

    Reply
  • हे भगवान में भी रूडकी की एक पत्रकार हूँ वेसे अब मुझे अपने आपको रूडकी की पत्रकार कहते हुए शर्म आ रही है ये बात सच है की हमरे यहाँ के पत्रकार खबरों पर कम ध्यान देते है और इधर उधर जादा समझ नहीं आता की लोग इनको पैसे कैसे दे देते है रूडकी के पत्रकारों को मेने खुद 100 , 100 रूपये के पीछे खबरों को रुकवाते हुए देखा है जिनका नाम आ रहा है 100 न्यूज़ चैनल और या आजतक मेने यहाँ सिर्फ एक ही को यहाँ देखा है काजमी जी को ये सच है की रूडकी में पत्रकारों ने हद कर राखी है खेर इन पत्रकारों के खिलाफ मामला तो दर्ज हो गया पर ये नहीं पता है की ये कब सुधरेंगे ,जिन लोगो ने इन पत्रकारों के खिलाफ आवाज निकली है उनलोगों की दाद देती हूँ

    Reply
  • zubair kazmi to pakka blackmailer hai ise to jail honi chahiye isne rudki me kai logo ki nak me dam kar rakha tha unse paise ainthta tha or jhut bolne me to mahir hai ye zubair, ise to kisi channel ka patrkar hi nahi hona chahiye ye to dalal hai

    Reply
  • DEV GOSWAMI says:

    [b]इसमें पत्रकारों की कोई गलती नहीं है ये

    पत्रकार एक स्पेशल स्टोरी बना रहे था राशन माफियाओ के खिलाफ और वही पर उस माफिया ने इनहे धोखे से फसIया है पत्रकारों को –DEV GOSWAMI -NEWS POINT AGENCY -HARIDWAR [/b]

    Reply
  • Prem Arora 9012043100 says:

    यह मामला पहले भी मेरे सामने आया था रूडकी की मेरे मित्रों ने कहा था कि यह सब हो रहा है….अपने है कह कर मैंने हस्तक्षेप नहीं किया…उसके बाद बिजनोर जिले के ऐसे ही रिपोर्टर का मामला मेरे सामने आया तो में वहां गया था जाँच करने के लिए…एक सच था टी वी चैनेल की आई डी से ब्लैक मेल करने का काम धड्ले से चल रहा है…..जब मैंने उसे कहा कि यह सही नहीं तो मुझे धमकी देने लगा….जब मैंने हिंदी में समझाया तो एक दम दम दबा कर भाग गया रात को मैंने टी वी चैनल के मालिक को पूछा ……..तो उसने बतया कि यू पी की फ्रंचिसी ५ लाख में दी है …ऐसे जो भी लोग सामने आयें हमें खुद ही पत्रकारिता से बहार कर देना चाहिए ऐसे लोगों को ………

    Reply
  • tousif malik says:

    yae hamla keval in char patrakaro par nahi balaki sub patrakaro par howa he ab hame ek dusre par kichad uchalne ki jagha sath sath kandhe se kandh mila kar chalna hoga …..????????

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *