न्यूज24 को झटके का क्रम जारी, विवेक प्रकाश भी गए महुआ

: कहीं एक डूबते जहाज से दूसरे डूबते जहाज में तो नहीं चढ़ रहे हैं ये पत्रकार? : यशवंत राणा ने लगता है कि न्यूज24 को निपटाने की तैयारी कर ली है. आजतक से इस्तीफा देकर न्यूज24 लांच कराने वाले सुप्रिय प्रसाद के न्यूज24 से इस्तीफा देने के बाद आज तक से महुआ पहुंचे यशवंत राणा ने आजतक से न्यूज24 गए बाकी लोगों का इस्तीफा दिलवाना शुरू किया है. आरसी शुक्ला, विकास मिश्र के बाद अब एक और महत्वपूर्ण विकेट न्यूज24 से गिरा है. इनका नाम है विवेक प्रकाश.

विवेक को महुआ में एसाइनमेंट हेड बनाया गया है. विवेक बैग फिल्म्स के साथ लंबे समय से थे. सनसनी और रेड एलर्ट जैसे शो में अच्छा काम किया. अफगानिस्तान में भी रिपोर्टिंग की. सूत्रों के मुताबिक सुनील झा के हवाले न्यूज24 कर दिए जाने के बाद से चैनल के लिए ठीकठाक काम करने वाले खुद को परेशान महसूस कर रहे थे. इसी चलते इस्तीफों का क्रम शुरू हुआ. हालांकि लोग यह भी सवाल उठा रहे हैं कि कहीं एक डूबते जहाज न्यूज24 से भागकर दूसरे डूबते जहाज महुआ की सवारी करने वाले ये पत्रकार निकट भविष्य में कहीं महुआ से किसी दूसरे जगह पलायन करते न दिखने लगे.

सूत्रों के मुताबिक महुआ प्रबंधन में कई मुद्दों पर विवाद होने, आर्थिक अनियमितताओं में महुआ के कुछ मालिकों के फंसे होने, करोड़ों के कर्जे में महुआ ग्रुप के होने और मालिकों के अनप्रोफेशनल व्यवहार के कारण महुआ में किसी की भी पारी लंबी नहीं चली है. जहां तक यूपी और उत्तराखंड में चैनल लांच होने का जो लालीपाप दिया जा रहा है, वह पूरी तरह भ्रमित करने वाला है. पिछले कई वर्षों से यूपी का चैनल लांच करने के नाम पर कई पत्रकारों को बरगलाया गया है. सूत्रों के मुताबिक महुआ प्रबंधन यशवंत राणा और भूपेंद्र सिंह भुप्पी को महुआ में शीर्ष पदों पर लाकर चैनल से इतर भी कई काम कराने के मूड में है. आजकल वैसे भी शीर्ष पदों पर बैठे लोगों को चैनल का कम, ग्रुप के काम ज्यादा देखने होते हैं. अगर ये लोग महुआ को बचा ले गए तो बल्ले-बल्ले और इच्छित काम न कर पाए तो जल्द ही सभी को एक-एक कर यहां से अलविदा होना पड़ेगा.

Comments on “न्यूज24 को झटके का क्रम जारी, विवेक प्रकाश भी गए महुआ

  • ek becahra says:

    महुआ न्यूज़ में आज कल कुछ ठीक नहीं चल रहा है. खास कार के स्ट्रिंगरो के साथ उनका सोसन किया जा रहा है , बिहार हो या झारखण्ड उत्तर परदेश कंही के भी स्ट्रिन्गेर का स्टोरी अप्रोव नहीं हो रहा है ,सभी बुल्लेतिन में फ़ोनों और लाइव हो रहा है , अच्छी अच्छी स्टोरी नहीं ली जा रही है . महुआ के अस्सिंग्मेंट के इस रव्वेया से सभी स्ट्रिन्गेर परेशान और हैरान है . सबसे बड़ी की बात की उन्हें पता ही नहीं चलता की उनकी कौन सी स्टोरी चली है कौन सी नहीं . उनका पैसा भी जल्दी नहीं मिल रहा है . झारखण्ड के स्ट्रिंगर एक दम आहत है उनका काम में मन नहीं लग रहा है उनका डे प्लान ही अप्रोव नहीं होता है , वे एक दम से परेशान है उन्हें समझ में नहीं आ रहा है की वे क्या करे . महुआ न्यूज़ में यह सब पिछले दो महीनो से चल रहा है कोई कुछ भी स्ट्रिंगर को बता नहीं रहा है , सिर्फ अच्छी स्टोरी के लिए बोला जाता है .

    Reply
  • ravi kant pandey... kolkata says:

    को कर बुलंद इतना, की खुदा बन्दे से आ कर पूछे की तेरी रजा क्या है। विवेक प्रकाश सर जी ने इस कहावत को सच कर दिखाया है। सफलता के पीछे नहीं काबिलियत के पीछे भागो, सफलता खुद तुम्हारे पीछे भागेगी। तो विवेक प्रकाश जी ने भी अपने आप को इतना काबिल बना लिया है, अपने काम में इतनी महारथ हासिल कर ली है कि अब कामियाबी उनके पीछे भाग रही है। विवेक प्रकाश जी मीडिया में अपने काम का लोहा मनवा चुके हैं। वो पहले भी अपने काम को सम्मान देते थे और आज भी अपने काम को सम्मान देते है। उनको उनकी नए पद के लिए शुभकामनाएं और हम ये उम्मीद करते है कि वो भविष्य में भी अपने इसी जज्बे से पत्रकारिता क्षेत्र मे काम करते रहेंगे और हम सबका मार्गदर्शन करते रहेंगे।
    रवि कान्त पाण्डेय
    कोलकाता

    Reply
  • anurag singh says:

    anshuman tripathi bhi kabhi apne aap ko sehanshan maan chuke the…mahuaa koi media house nahi balki aiyaashi ka adda hai….kiske peechwade par tiwari kab laat marega no body knows…lata bahnoi kee tarah hai or laat marta kutte kee tarah hai

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *