पत्रकार समझ लें, अफसर किसी के सगे नहीं होते

चैतन्‍य जबलपुर में ‘डीबी स्टार’ के युवा छायाकार की निर्मम हत्या के बाद जबलपुर के जिला और पुलिस प्रशासन ने जिस संवेदनहीनता का परिचय दिया उससे यह बात साफ हो गई है कि शहर में आने वाले इन आयातित अफसरों का किसी भी शहर और उसके रहवासियों से से कोई रिश्‍ता नहीं होता.

ग्वालियर में हाकर नहीं उठा रहे हैं भास्कर

बिना कमीशन  ‘डीबी स्टार’ बांटने से इनकार : ग्वालियर से आ रही एक खबर के मुताबिक हाकरों ने दैनिक भास्कर अखबार उठाने और बांटने से इनकार कर दिया है. ऐसा लफड़ा कमीशन के चक्कर में हुआ है. पिछले दिनों भास्कर समूह ने ग्वालियर में डीबी स्टार नामक टैबलायड लांच किया और इसे अपने पाठकों को फ्री देने का ऐलान किया. हाकर का कहना है कि यह टैबलायड डीबी स्टार एक नया अखबार है और इसे बांटने के लिए उन्हें कमीशन चाहिए. सूत्रों के मुताबिक भास्कर प्रबंधन दैनिक भास्कर के साथ डीबी स्टार बांटने पर भोपाल में प्रति कापी तीन पैसे और जबलपुर व इंदौर में प्रति कापी 16 पैसे हाकरों को देता है. पर वह ग्वालियर में हाकरों को एक पैसा भी कमीशन देने को इच्छुक नहीं है.

ग्वालियर में डीबी स्टार लांच कराएंगे रवि प्रकाश

ग्वालियर में भास्कर और पत्रिका भिड़ने वाले हैं. पत्रिका समूह ग्वालियर से अपना एडिशन शुरू करने जा रहा है. जवाब में भास्कर ग्रुप भी अपना टैबलायड अखबार डीबी स्टार ग्वालियर से प्रकाशित करने की रणनीति बना चुका है.