सेबी ने वाकई पीएसीएल के कई ठिकानों पर छापेमारी की या आजसमाज में फर्जी खबर छपी?

इन दिनों पीएसीएल चर्चा में है. यह पर्ल्स ग्रुप की मदर कंपनी है. पी7न्यूज चैनल, बिंदिया मैग्जीन, मनी मंत्रा मैग्जीन, शुक्रवार मैग्जीन यही ग्रुप निकालता है. मध्य प्रदेश में राज्य सरकार ने बिल्डरों और चिटफंडियों के खिलाफ अभियान चला रखा है. इसकी शुरुआत खासकर तब हुई जब कई बिल्डरों और चिटफंडियों ने राज्य सरकार को अपने मीडिया माध्यमों से ब्लैकमेल करना शुरू किया. जब ब्लैकमेलिंग की हद हो गई तो राज्य सरकार ने इन्हें सबक सिखाने के लिए इनकी मूल कंपनियों की चूले हिला दीं.

आजकल किधर हैं श्रीकांत त्रिपाठी

पर्ल ग्रुप में श्रीकांत त्रिपाठी इन दिनों क्या कर रहे हैं? ये सवाल एक वरिष्ठ पत्रकार ने एक जूनियर लेकिन कयासबाज पत्रकार से पूछा. कानाफूसी करने वाले इस कयासबाज के मुंह से अचानक निकला- अरे हां, बहुत दिनों से श्रीकांत त्रिपाठी की कोई न्यूज नहीं है, वे तो पर्ल ग्रुप का अखबार निकालने वाले थे, क्या हुआ उस प्रोजेक्ट का? वरिष्ठ पत्रकार हंसे और बोल पड़े- सवाल मैंने पूछा था.

ज्योति नारायण के जिम्मे एक और कंपनी

ज्योति नारायण के बारे में सूचना मिली है कि उन्हें पर्ल इनफ्रास्ट्रक्चर का भी काम सौंप दिया गया है. अभी तक वे पर्ल मीडिया की तीन कंपनियों के अलावा पीएसीएल, टूरिज्म से जुड़ी कंपनियों का काम देख रहे हैं. अब उन्हें पर्ल इनफ्रास्ट्रक्चर का भी जिम्मा दे दिया गया है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक ज्योति नारायण को पिछले दिनों पर्ल निदेशक मंडल की हुई एक बैठक में पर्ल इनफ्रास्ट्रक्चर का काम सौंपा गया. नई जिम्मेदारी के कारण ज्योति नारायण पर्ल मीडिया के प्रतिदिन के रुटीन  वाले काम नहीं देखेंगे. वे पर्ल मीडिया के नीतिगत फैसलों में पहले की तरह सक्रिय रहेंगे.

सुधीर सुधाकर ने पी7न्यूज छोड़ा

: ज्योति नरायण को लेकर अफवाह : श्रीकांत त्रिपाठी न बन सके ग्रुप एडिटर : वाहिद के भी जाने की चर्चा : केटीएन, रांची से एक का इस्तीफा : पर्ल ग्रुप के न्यूज चैनल पी7न्यूज से सूचना है कि यहां वरिष्ठ पद पर कार्यरत सुधीर सुधाकर का आज संस्थान के साथ आखिरी दिन है. वे काफी समय से नोटिस पीरियड पर चल रहे थे. सुधीर कहां जा रहे हैं, यह पता नहीं चल पाया है. उधर, पी7न्यूज के मुंबई ब्यूरो चीफ वाहिद को लेकर भी चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है. सूत्रों के अनुसार वाहिद भी अगले कुछ महीनों में पी7न्यूज का साथ छोड़ सकते हैं.

पर्ल ग्रुप के मीडियाकर्मियों को इनक्रीमेंट का तोहफा

: लेकिन कम पैसे बढ़ने से नाराज हैं कई लोग : पर्ल ग्रुप से सूचना है कि पी7न्यूज चैनल, शुक्रवार मैग्जीन, मनी मंत्रा मैग्जीन समेत मीडिया के समस्त कर्मियों की सेलरी में इंक्रीमेंट किया गया है. यह इंक्रीमेंट पांच से 20 फीसदी के बीच है. बताया जा रहा है कि पांच महीने की देरी के बाद हुए इनक्रीमेंट को लेकर कई लोगों में रोष है.