सहारा का गला फंसा तो पत्रकारों की बल्‍ले-बल्‍ले

: कोई बोतल, चांदी का प्‍याला तो कोई रकम ले भागा : औकात देख कर बांटा गया तोहफों का डग्‍गा : सहारा शहर से निकली गाडि़यों की प्रतीक्षा करते कटी रात : मीडिया-मैनेज के लिए अखबार-चैनलों के दफ्तरों के चक्‍कर : बड़े घरानों के घरेलू झगड़ों में बड़ों का फायदा-नुकसान भले ही कितना होता हो, लेकिन इस झगड़ों में उन सियारों की पौ-बारह हो जाती है जो मौका ताड़े रहते हैं और छुपकर लपक लेते हैं अपना हिस्‍सा।

सहारा से स्वतंत्र मिश्रा और अनिल अब्राहम सस्पेंड

: उपेंद्र राय एंड कंपनी की ताकत बढ़ी : सहारा ग्रुप से दो बड़ी खबरें हैं. स्वतंत्र मिश्रा और अनिल अब्राहम को सस्पेंड कर दिया गया है. स्वतंत्र मिश्रा के बारे में पता चला है कि उन्हें 19 मई को ही सस्पेंड कर दिया गया था. उनके सहारा के किसी भी आफिस में प्रवेश करने पर पाबंदी लगा दी गई है. स्वतंत्र के पास कंपनी का जो कुछ सामान था, सभी ले लिया गया है.

ईटी में रोहिणी ने ”राडिया-राय रैकेट” का राजफाश किया

: दो करोड़ रुपये रिश्वत की पेशकश करने वाला पत्रकार : दी इकोनोमिक टाइम्स की पत्रकार रोहिणी सिंह ने उपेंद्र राय के चेहरे से पर्दा उठा दिया है. ईटी में रोहिणी की बाइलाइन छपी खबर में विस्तार से बताया गया है कि कैसे प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों को रिश्वत का लालच देकर राडिया के अनैतिक काम कराने की कोशिश की गई. और राडिया की तरफ से काम कराने में जुटे ये सज्जन कोई और नहीं बल्कि सहारा मीडिया के सर्वेसर्वा हैं उपेंद्र राय.

लंबी छुट्टी से लौटकर आफिस आ सकेंगे बर्नी साहब?

: क्या कभी लौट पाएंगे अजीज बर्नी के अच्छे दिन : सहारा मीडिया में एक बड़ी तेज चर्चा है. वो ये कि अजीज बर्नी के दिन गए. अब उनके नीके दिन, अच्छे दिन न लौटेंगे. सहारा मीडिया के उर्दू अखबारों-मैग्जीनों के ग्रुप एडिटर के रूप में कार्यरत अजीज बर्नी के बुरे दिन उपेंद्र राय के न्यूज डायरेक्टर बनने के बाद शुरू हुए. ताजी सूचना है कि उन्हें लंबी छुट्टी पर जाने को कह दिया गया है.

भस्मासुरों के भंवरजाल में फंसा सहारा परिवार

[caption id="attachment_18357" align="alignleft" width="77"]सुनील पांडेयसुनील पांडेय[/caption]मैं सहारा परिवार का सदस्य रहा हूं। मई 2003 में जुड़ा। मेहनत-ईमानदारी से काम करते हुए कई जिम्मेदारियां संभाली। क्षेत्रीय चैनल बिहार झारखंड के शुरुआती टीम में बतौर इनपुट हेड काम संभाला। तब बिहार-झारखंड में इस चैनल का क्रेज था। विश्वसनीयता, गंभीरता और खबरों में सबसे पहले का पर्याय बन चुका था सहारा समय बिहार-झारखंड।

सहारा में फिर होगी छंटनी?

टीवी व इंटरनेट के 11 लोग प्रिंट में भेजे गए : सहारा मीडिया में फिर से छंटनी की तैयारी शुरू हो गई है. इसके तहत सहारा के नोएडा स्थित आफिस में टीवी और इंटरनेट सेक्शन में कार्यरत करीब 11 लोगों को प्रिंट सेक्शन में भेज दिया गया है. सूत्रों का कहना है कि प्रबंधन ने सहारा मीडिया के टीवी, प्रिंट व इंटरनेट सेक्शन में करीब तीन सौ से ज्यादा लोगों को ‘फालतू’ कैटगरी के तहत शिनाख्त की है.

सुब्रत राय और सहारा समूह के बारे में टीओआई में प्रकाशित दो पुरानी खबरें

: `I got an HIV test done. I do not have AIDS’ : Was he dead or hiding? That was the big story about tycoon Subrata Roy until TOI found him in Lucknow. And persuaded him to give his first bare-all interview.. Diwakar & Abheek Barman of Times of India have met him and reported on 9-6-05 in Lucknow found him fit and healthy… Obituaries for Subrata Roy — chief of the Rs 50,000-crore Sahara empire — have been premature.

सहारा में बहुत कुछ बदल रहा है

‘हस्तक्षेप’ मंगल की बजाय शनिवार को मिलेगा : टैबलायड परिशिष्ट अब ब्राडशीट शेप में आएंगे : कुछ बंद परिशिष्ट फिर शुरू होंगे : बीबीसी हिंदी से पाणिनी आनंद इस्तीफा देकर सहारा आएंगे : सहारा मीडिया की प्रिंट व टीवी की वेबसाइटों का विलय होगा : संजीव श्रीवास्तव ने बैठने का स्थान बदला : सहारा मीडिया में नए संपादकीय नेतृत्व के आने से बह रही बदलाव की बयार धीरे-धीरे तेज हो रही है.

श्याम सुंदर को सहारा ले आए संजीव श्रीवास्तव

सहारा मीडिया में जमे-जमाए लोगों को किनारे कर अपने लोगों का लाने का काम संजीव श्रीवास्तव ने शुरू कर दिया है. संजीव बीबीसी रेडियो हिंदी से आए हैं, सो उनके पीछे-पीछे बीबीसी रेडियो हिंदी से कुछ लोगों के आने की संभावना शुरू से ही जताई जा रही थी. पता चला है कि बीबीसी के साथ दशक भर से ज्यादा समय तक काम करने वाले श्याम सुंदर ने अपना इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने सहारा समय ज्वाइन करने की तैयारी कर ली है.

संजीव और उपेंद्र ने सहारा मीडिया ज्वाइन किया

[caption id="attachment_16623" align="alignleft"]संजीव श्रीवास्तवसंजीव श्रीवास्तव[/caption]बीबीसी को गुडबाय बोल चुके संजीव श्रीवास्तव ने कल सहारा मीडिया के सीईओ और एडिटर के रूप में कल ज्वाइन कर लिया। रविवार होने के बावजूद संजीव श्रीवास्तव की कल ज्वायनिंग करा दी गई। उनके साथ स्टार न्यूज से इस्तीफा देने वाले उपेंद्र राय ने भी ज्वाइन किया। उपेंद्र न्यूज डायरेक्टर के पद पर आए हैं। प्रबंधन ने इन लोगों को सहारा के वरिष्ठों से इंट्रोड्यूस करा दिया है।