भड़ास4मीडिया के प्रदेश-देश-विदेश की खबरों के नए पोर्टल का ट्रायल शुरू

कठिन मेहनत व पक्के इरादे के साथ दूरदृष्टि जरूरी है. सो, मंजिल पाने के लिए समय संग बदलते रहना और अपग्रेड होते रहना चाहिए. इसी कारण कभी सिर्फ पांच हजार रुपये में साल भर के लिए शुरू हुए bhadas4media.com ने बहुत पाया और बदला है. एक और बदलाव सामने है. यह है भड़ास4मीडिया का देश-प्रदेश-विदेश की खबरों का नया पोर्टल. इसे ट्रायल के लिए आज से आनलाइन कर दिया गया है.

नाम www.news.bhadas4media.com है. भड़ास की यात्रा बहुत पुरानी नहीं है. करीब चार वर्षों में ही भड़ास काफी बड़ा हो गया. पहले यह सिर्फ भड़ास ब्लाग www.bhadas.blogspot.com के रूप में शुरू हुआ. आज यह ब्लाग दुनिया का सबसे बड़ा हिंदी कम्युनिटी ब्लाग है. इस भड़ास ब्लाग में करीब 900 लोगों को बिना किसी के संपादन के डायरेक्ट अपनी रचना-सूचना को पोस्ट करने का अधिकार है. भड़ास ब्लाग जब शुरू हुआ तो बहुत सारे उतार-चढ़ाव आए. आरोप-प्रत्यारोप का दौर चला. मनमुटाव और खेमेबंदी हुई. ये खट्टे-मीठे अनुभव बड़े काम के साबित हुए. इन अनुभवों के सकारात्मक पक्ष को ग्रहण कर व्यवस्थित रूप से मीडिया केंद्रित खबरों का पोर्टल bhadas4media.com शुरू किया गया. लेखों-विश्लेषणों की अत्यधिक आवक को देखते हुए अलग पोर्टल www.vichar.bhadas4media.com नाम से लांच किया गया. आडियो-वीडियो फाइलों के आने और उन्हें अपलोड करने की जरूरत व मजबूरी ने आडियो-वीडियो के लिए अलग पोर्टल www.mediamusic.bhadas4media.com नाम से शुरू करने को प्रेरित किया. इस सबके बाद अब लगने लगा कि मेनस्ट्रीम न्यूज का एक पोर्टल होना चाहिए. तब जनरल न्यूज के लिए एक पोर्टल शुरू करने का इरादा किया गया और अब इसे मूर्त रूप दिया जा रहा है. इस नए पोर्टल तक पहुंचने के लिए www.news.bhadas4media.com पर क्लिक कर सकते हैं.

इस नए पोर्टल में देश-प्रदेश और विदेश की खबरें होंगी. वे खबरें जो अखबारों में अगले दिन प्रकाशित होती हैं. कोशिश होगी कि इस पोर्टल में ऐसी खबरें दी जाएं जो बेहद महत्वपूर्ण हों. मीडिया से संबंधित खबरों के पोर्टल www.bhadas4media.com पर मीडिया से संबंधित खबरें ही रहें, इसलिए भी जनरल न्यूज के लिए अलग पोर्टल की जरूरत महसूस हुई. भड़ास से लोगों की बढ़ती उम्मीदों ने भी जनरल न्यूज के पोर्टल को लांच करने की सीख दी. इसी कारण अबसे ऐसी खबरें जो जिला-प्रदेश-देश-विदेश के महत्व की हैं, भड़ास4मीडिया के न्यूज पोर्टल www.news.bhadas4media.com पर प्रकाशित की जाएंगी.

इस न्यूज पोर्टल पर प्रकाशित खबरों के शीर्षक www.bhadas4media.com के होम पेज पर उसी तरह दिखाई देने लगे हैं जैसे www.vichar.bhadas4media.com पर प्रकाशित आलेखों-विश्लेषणों-रचनाओं के शीर्षक और www.mediamusic.bhadas4media.com पर अपलोड वीडियो के शीर्षक मुख्य पोर्टल भड़ास4मीडिया के होम पेज पर दिखाई देते हैं. जनरल न्यूज पोर्टल के शुरू हो जाने से भड़ास के पाठकों को अपनी पसंद की खबरों, आलेखों, म्यूजिक, वीडियो को देखने पढ़ने में आसानी होगी. जो पाठक जिस तरह की खबर पढ़ना चाहेगा, उसे अपनी प्रियारिटी की खबरें ढूंढने में मदद मिलेगी. साथ ही इस नए पोर्टल के जरिए हम देश-विदेश की मेनस्ट्रीम न्यूज को भी नेट के पाठकों तक पहुंचा सकेंगे.

इस पोर्टल को बनाने-सजाने और संवारने में भड़ास4मीडिया के तकनीकी हेड राकेश डुमरा का अमूल्य योगदान है. उनकी कोशिशों के चलते ही यह पोर्टल जूमला के लैटेस्ट अविष्कार से लैस है और ढेर सारे नए फीचर्स से युक्त है जिसका समय आने पर इस्तेमाल किया जाएगा. यह नेशनल-इंटरनेशनल न्यूज पोर्टल अभी ट्रायल के दौर में है. इसमें टेस्ट के बतौर डाली गईं और प्रकाशित की गईं खबरें अभी दूसरे न्यूज पोर्टलों व न्यूज एजेंसियों से चुराई हुई हैं. जल्द ही भड़ास के तेवर के अनुरूप इसमें ओरीजनल कंटेंट और खबरें दिखाई देंगी. इस पोर्टल को समृद्ध बनाने के लिए आपके सुझावों का जरूरत है.

जल्द ही भड़ास टीवी भी लांच करेंगे हम लोग. तब भड़ास के गुलदस्ते में मीडिया न्यूज पोर्टल, नेशनल-इंटरनेशनल न्यूज पोर्टल, विश्लेषण व विचार पोर्टल और आडियो-वीडियो पोर्टल के अलावा आनलाइन टीवी का चैनल भी होगा. इसके बाद देश भर में जिले स्तर पर भड़ास संवाददाताओं की नियुक्ति की प्रक्रिया प्रारंभ की जाएगी जो भड़ास के मीडिया न्यूज, लोकल न्यूज, स्टेट न्यूज, नेशनल न्यूज, आडियो, वीडियो और टीवी न्यूज के लिए एक साथ काम करेंगे. और यह नियुक्ति भी नये प्रकार की होगी जिसमें कोई किसी का नौकर नहीं होगा बल्कि सहकारिता (कोआपरेटिव) दर्शन के आधार पर हर जिले का भड़ास से जुड़ा पत्रकार या ब्यूरो चीफ अपने जिले के लिए भड़ास का डायरेक्टर / मालिक होगा और उस जिले की खबरों के लिए अलग से बनाए गए भड़ास लोकल न्यूज पोर्टल का संचालक होगा. ऐसे होनहार, प्रतिभावान और उद्यमी प्रकृति के पत्रकारों की बहुत जल्द भड़ास को जरूरत होगी. तब देश भर में भड़ास ब्रांड का डंका बजेगा और वेब मीडिया में भड़ास सबसे बड़ा ब्रांड बनेगा.

भड़ास की इस यात्रा में मुश्किलें बहुत आई हैं और अभी भी आ रही है. पर इससे हम लोगों के इरादे पर कोई असर नहीं है. किसी भी नए काम की शुरुआत में खून-पसीना बहुत जलता है, कई बार मन निराश होता है, कई बार अभाव आत्मा को तोड़ते हुए से लगते हैं, लेकिन अंततः नैराश्व पर जीतने व जीने की जिजीविषा भारी पड़ती है.

नेताओं-नौकरशाहों और कारपोरेट घरानों के हाथों बिक चुके बड़े मीडिया हाउसों के समानांतर जनता का मीडिया हाउस खड़ा करने की हम लोगों की जिद आज भी उतनी ही जवान है जितनी भड़ास ब्लाग के शुरुवात के वक्त थी. आर्थिक थपेड़ों से जूझते हुए, संसाधनों की कमी से जूझते हुए, चरम-परम बाजारू माहौल में लोभों-प्रलोभनों से बचते हुए हम लोगों का निरंतर बढ़ते जाना इस देश के करोड़ों जनों और हजारों ईमानदार पत्रकारों के लिए एक आंख खोलने वाली परिघटना है. उम्मीद है इस नए प्रयोग और बुलंद इरादों का आप लोग हमेशा की तरह स्वागत करेंगे और अपने सुझावों-संदेशों से हम लोगों को समृद्ध करेंगे.

यशवंत

संपादक
भड़ास4मीडिया
yashwant@bhadas4media.com

Comments on “भड़ास4मीडिया के प्रदेश-देश-विदेश की खबरों के नए पोर्टल का ट्रायल शुरू

  • मदन कुमार तिवारी says:

    बहुत – बहुत बधाइ हो । बहुत अच्छा लगा नया पोर्टल ।

    Reply
  • घनश्याम क्रष्ण पोरवाल says:

    कौन कहता है कि आसमान में छेद नहीं हो सकता एक पत्थर तो दिल से उछालो यारो ।

    Reply
  • कल खून जलने की बात कहकर कभी अचानक दुकान समेट लेने की बातें कह रहे थे और अब यह घोषणा ! चक्कर क्या है?

    Reply
  • शरद तिवारी says:

    बहुत – बहुत बधाईया आपको भाई-साहब

    Reply
  • SHARAD TIWARI says:

    बहुत-बहुत बधाईयां और ढेरो शुभकामनाये भाई साहब आपको

    Reply
  • कुमार सौवीर, लखनऊ says:

    टेस्टिंग के लिए दूसरे अखबारों या समाचार माध्‍यमों से ली गयी सामग्री को चोरी का माल नहीं कहा जाता है।
    यह ठीक वैसा ही है जैसे अभी कुछ ही साल पहले गांव में बच्‍चा होने पर उसके लिए लंगोटी बनाने के वास्‍ते घरवाले ही नहीं, आसपास-पड़ोसियों तक से उनकी पुरानी घिसी धोती या बनियाइन मांग ली जाती थी।
    और वे राजीखुशी उसे देते भी थे।
    हां, तब डाइपर का जमाना नहीं था।
    तो भैया डाइपर पहनकर कोई भी संस्‍थान मारूति स्विफ्ट के पुराने माडल जैसा ही लगेगा जिसका पिछवाड़ा खासा बाहर निकला होता है। आज तो कई बडे समाचार संस्‍थान सारे संसाधनों के बावजूद ऐसे ही डाइपरवाले दिखायी पड़ते हैं। कई बड़े नामी पत्रकार तक अपना पिछवाड़ा उचका कर चलते कहीं भी दिख जाएंगे, आंखें तो खोल कर देखिये।
    जाहिर है कि हम ऐसा नहीं बनना चाहते।
    हर्गिज नहीं।
    तो भैया, मेरी घिसी धोती और बनियाइन इस नये पोर्टल का पोतड़ा बन सके तो मुझे बेहद खुशी होगी। ऐसे पोतड़ों या लंगोटों को ऐसे घर की अलगनी पर टंगा देखकर बहुत खुशी होती है हर शख्‍स को। मुझे भी होगी।
    कुमार सौवीर, लखनऊ

    Reply
  • deepak khokhar says:

    BADHAI HO YASWANT BAHI. AAP NE MERI KHABAR PRAKASHIT KARNE TO BANDH KAR DI. I DON’T KNOW WHY. ISKE BAAD BHI BADHAI. DPK KHOKHAR, PTC, AIR ROHTAK-9991680040, 9619833140

    Reply
  • raj kaushik says:

    beadab hai tu hamaari hi tarah, isliye to ham adab karte rahe… ye haqiqat hai ki pahunche ak-do, chand ke charche to sab karte rahe… bahut-bahut badhai aur shubhkamnayen.
    -Raj Kaushik
    resident editor DLA, ghaziabad

    Reply
  • निरतंर आगे बढ़ते रहिए…हम आपके साथ है…जय भड़ास

    Reply
  • कमल शर्मा says:

    बधाई यशवंत जी। बेहद आनंददायक खबर है।

    Reply
  • sanjay pathak, dehradun. says:

    Yashwant, Sunder hi nahi ati sunder khabar hai yeh. Bhagwan in sapno ko sakar karen. Vaqt-bevaqt apan bhi is yaghy mai ahuti dete rahenge.
    Sanjay Pathak, Dehradun 08881888082

    Reply
  • nadimakthar says:

    बहुत – बहुत बधाइ हो. रास्ते बहुत कठिन है. संभल संभल कर पैर रखिएगा.

    Reply
  • sudhir singh says:

    thank you
    yashwant bhaiya,bahut-bahut badhayi.
    sudhir singh Corresspondent P.T.I.-BHASHA and INDIA TODAY AZAMGARH U.P. 09454337444,09336078943

    Reply
  • om prakash srivastava says:

    Ajj ke jamane me kalam ghishane walon ke bare me jankari dekar Bhadash ne patrakaron ko aur kuchh bhale na diya ho, lekin atmik sukh awasya pahunchaya hai.

    for example -Thik ushi tarah se jaise kisi byakti ki aankhon par x-ray wala wah chasma pahna diya jaye jishashe dusre byakti ke kapade ke bhitar ki sari chijen nangi dikhayi dene lagati hain.

    Gair patrakar bhi Bhadash padhkar press aur akhbaron ke bare me bahut kuchch jan lete hai.
    Ek tarah se Bhadash logon ke bhitar oxigan ka kam kar hai.
    Bataur ek patrakar mera yah kahna hai ki Bhadash ne meel ka Pathar Sthapit kiya hia.

    Ishki jitni bhee prasansa kiya jay wah kam hai.
    Bhadash ka naya portal ajj ke Naino Yug me nai kranti layega.
    Aab khabaron ke liye patrkaron ko wa gair patrakaron ko kahin bhatakana nahi padega.
    Jo dekha ya mahsoosh kiya usko shabadon me dhalkar Bhadash par dal diya. Jise sari duniya ne jan liya.

    Yashwant Bhai shaheb,
    itni badi jimmeddaari uthane ke liye app bhadhai ke patra hai.
    Hamse jo kuch bhi ban padega hum bhi karne ke liye taiyar hain.

    Apka hi-
    o.p. srivastava
    patrkar
    p t i
    deoria (u.p.)
    mob. 9494918198

    Reply
  • sampurna nand dubey says:

    यशवंत जी आपका यह काम बहुत अच्छा है मैं भी अपने जिले से जुड़ने के लिए तैयार हूँ. क्योंकि दिलेर लोगों के साथ ही मज़ा आता है.
    sampurna nand dubey mau u.p.
    9415795000

    Reply
  • सुधांशु चौहान says:

    सफलता की नई बुलंदियों को छूने के लिए हार्दिक शुभकामनाएं…

    Reply
  • naveen kumar tiwari says:

    [sada age badhate rahenge chahe kitni bhi musibat aaye aag se khelate rahna aajadee ki mashal jalaye rakhene ke liye apni bhadhas nikalna jarui hai ….badhai…..

    Reply
  • shadab husain says:

    jyalant muddo par bebak tippade karna vartaman me bade sahas ka kam hai jise aap bakhubi nibha rahe hai.[shadab husain journalist bahraich]

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *