सुप्रिय प्रसाद का न्यूज 24 से इस्तीफा

सुप्रिय प्रसाद
सुप्रिय प्रसाद
एक बड़ी खबर न्यूज24 से आ रही है. इस चैनल के न्यूज डायरेक्टर सुप्रिय प्रसाद ने इस्तीफा दे दिया है. सुप्रिय इन दिनों करीब करीब चैनल हेड की हैसियत में न्यूज24 का काम देख रहे थे. सुप्रिय न्यूज24 के साथ इस चैनल की लांचिंग से जुड़े हुए थे. इस्तीफे के कारणों का पता नहीं चल पा रहा है.

सूत्रों के अनुसार आज दिन में सुप्रिय प्रसाद ने न्यूज24 के अपने साथियों को अपने रूम में बुलाकर सूचित किया कि वे इस्तीफा दे चुके हैं और चैनल को अलविदा कह रहे हैं. इतना सुनते ही सभी लोग हक्के-बक्के रह गए. कुछ लोगों ने नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर बताया कि सुप्रिय प्रसाद ने मजबूरन इस्तीफा दिया है क्योंकि चैनल में काम करने की स्थितियां नहीं रह गई थीं. सुप्रिय कहां जा रहे हैं, यह पता नहीं चल पाया है. लेकिन लोग आजतक वापस लौटने के कयास लगा रहे हैं. सुप्रिय आजतक से ही न्यूज24 आए थे.

सूत्रों का कहना है कि सुप्रिय के इस्तीफे के बाद न्यूज24 में अफरातफरी का आलम है. लोग कई तरह के कयास लगा रहे हैं. इस न्यूज चैनल की लांचिंग के वक्त आजतक से आए ढेर सारे लोग जुड़े थे लेकिन तरक्की न मिलने और इनक्रीमेंट न होने के कारण एक-एक कर ज्यादातर लोग यहां से इस्तीफा देकर चलते बने. इनमें से कई लोग तो वापस आजतक उसी पद व पैकेज में लौट गए जिस पर छोड़कर न्यूज24 गए थे. चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर अजीत अंजुम के बाद नंबर दो की हैसियत में सुप्रिय प्रसाद थे. बाद में प्रबंधन ने कामकाज को बंटवारा कर दिया. सुप्रिय प्रसाद के हवाले न्यूज24 किया गया और अजीत अंजुम को न्यूज24 के अलावा बाकी सारे काम, प्रोडक्शन हाउस समेत पूरी कंपनी का काम सौंपा गया. इस तरह न्यूज24 चैनल चलाने की पूरी जिम्मेदारी सुप्रिय प्रसाद के कंधों पर आ गई.

सुप्रिय ने सीमित संसाधनों व डिस्ट्रीव्यूशन के अभाव के बावजूद पूरी ऊर्जा और मेहनत के साथ काम किया लेकिन चैनल टीआरपी की दौड़ में वहां पहुंच नहीं पाया जहां प्रबंधन चाहता था. सुप्रिय प्रसाद को टीआरपी मास्टर माना जाता है. पर न्यूज24 में उनका जलवा नहीं चल पाया. इसके लिए कुछ लोग चैनल प्रबंधन को जिम्मेदार मानते हैं क्योंकि प्रबंधन ने डिस्ट्रीव्यूशन पर इनवेस्टमेंट नहीं किया.  वहीं, कुछ का यह भी कहना है कि सुप्रिय ने प्रबंधन से जो वादा किया था, वो पूरा न हो सका. सुप्रिय आईआईएमसी के पढ़े हैं. आजतक न्यूज चैनल से करियर शुरू किया और वहीं पर धीरे-धीरे अपनी मेहनत से शीर्ष पद तक पहुंचे. बाद में न्यूज डायरेक्टर के रूप में न्यूज24 ज्वाइन किया.

सुप्रिय के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए इन शीर्षकों पर क्लिक कर सकते हैं….

काटे नहीं कट रही थी वो काली रात : सुप्रिय प्रसाद

टीआरपी पर विधवा विलाप ठीक नहीं : सुप्रिय

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “सुप्रिय प्रसाद का न्यूज 24 से इस्तीफा

  • न्यूज़ 24 की सच्चाई ये है की पिछले एक साल से राजस्थान में स्ट्रिंगरों का पैसा नहीं दिया जा रहा है ! रही बात इस चैनल की तो ये तो होना ही था, बीएजी की टीम ने स्टार को शेर बनाया और जब खुद की बारी आई तो दिन में भी तारे नजर आ गए ! आखिर ऐसा क्यों हुआ, इसकी वजह है ये है की इस संस्थान ने स्टार को धुरंधर बनाने वाले सारे स्टाफ को बाहर का रस्ता दिखा दिया और तो और ऐसे लोगों को अन्दर कर दिया जिन्हें तमीज तक नहीं है ! मसलन कई बार एसाइनमेंट के तुर्रम को स्ट्रिंगरों ने मुहफट गालियाँ दी और ये तक कहा की साले तू है कौन ? और ये 100 % सच्चाई है, हो सकता है कई लोग इस बात से सहमत ना हो लेकिन ये बात सही है की बीएजी ने मुनाफे के टाइम अनुभवी लोगों को और साथ में कंपनी की धुरी रही स्ट्रिंगरों को बेवकूफ समझकर उन्हें बाहर कर दिया ! एक बात ये भी बताना जरुरी है की जब आज तक और स्टार में मारकाट का जमाना था तब बीएजी के स्ट्रिंगरों ने स्टार के ही स्टाफ को पानी पिलाया और साथ ही आज तक को और ज्यादा भागने को मजबूर कर दिया फिर भी बीएजी ने प्रतिस्पर्धा में आज तक को पछाड़े रखा ये बीएजी के स्ट्रिंगरों का ही कमाल था !अब बात मुद्दे की, अगर आज भी बीएजी शाम को भुलाकर सुबह घर को आ जाए तो कोई बड़ी बात नहीं की बीएजी फिर से एक मजबूत संस्थान बनकर बाकी चैनलों को पत्रकारिता की नई सीख देने की स्थिति में आ जाये ! नहीं तो फिर एक दिन न्यूज़ 24 लोगों की जुबान और जेहन से भी गायब हो जाए तो कोई बड़ी बात नहीं होगी……>>>>>>>>>>>>>

    Reply
  • all the very best to you supriya sir………..it was shocking to heard the news early this morning……well wish u a success journey ahead…..

    Reply
  • जो होता है अच्छा होता है। आखिर कब तक यही रहते। बेवजह का दवाब था। ना तो कोई इंक्रीमेंट और ना ही सुकून। सुप्रीय सर घबराने की जरूरत नहीं। ये एक नई शुरुआत है। लेकिन सवाल ये कि अब किसका नंबर है। पहले सीईओ की छुट्टी हुई। फिर आप भी चले गए लेकिन अब तीसरा नंबर किसका है?

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *