नाबालिग लड़की को भगाने का आरोपी भी बना दिया गया सरकारी वकील

: पश्चिम बंगाल में दर्ज है मुकदमा : गड़बडिय़ों पर समाज कल्याण मंत्री ने भी लिखा था पत्र : लखनऊ। आरोप नाबलिग लड़की भगाने का। मुकदमा चल रहा है कि दूसरे राज्य में। पश्चिम बंगाल के थाना रानीगंज में दर्ज है एफआईआर। यह शख्स हैं मिर्जापुर के मोहनलाल दुबे जिनकी नियुक्ति जिला शासकीय अधिवक्ता (फौजदारी) के पद पर की गई है। मुकदमा पश्चिम बंगाल में और अरेस्ट स्टे करवाया इलाहाबाद हाईकोर्ट से।

बाबू सिंह कुशवाहा खबर प्रकरण : डीएनए ने अपने अंदाज में जटा को दिया जवाब

: जनसंदेश टाइम्स अखबार को पाखंड याद दिलाया : खबरों के तात्कालिक व दीर्घकालिक सच को समझाया : लखनऊ में इन दिनों दो अखबार आपस में भिड़े हुए हैं. बसपा के बाबू सिंह कुशवाहा पर एक्सक्लूसिव खबर डेली न्यूज एक्टिविस्ट (डीएनए) अखबार में प्रकाशित हुई. समाजवादी तेवर वाले इस अखबार की खबर के आधार पर जब न्यूज चैनलों ने बाबू सिंह कुशवाहा को मायावती द्वारा निपटा दिए जाने की खबर चलाई तो बसपा और सरकार में हड़कंप मच गया.

यूपी में बाबू सिंह कुशवाहा की खबर पर बसपा-सपा के अखबार आमने-सामने

उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी के नेता बाबू सिंह कुशवाहा को पार्टी महासचिव पद से हटाए जाने और मुख्यमंत्री आवास व पार्टी कार्यालय जाने पर प्रतिबंध लगाए जाने संबंधी एक खबर का प्रकाशन लखनऊ व इलाहाबाद से प्रकाशित डेली न्यूज एक्टिविस्ट अखबार ने किया. राजेंद्र कुमार बाइलाइन खबर के छपने के बाद यही समाचार जी न्यूज और न्यूज24 समेत कई न्यूज चैनलों पर प्रसारित किया गया.

शांति भूषण और प्रशांत भूषण ने एक लाख में ले ली 20 करोड़ रुपये की संपत्ति

: लखनऊ और इलाहाबाद से प्रकाशित डेली न्यूज एक्टिविस्ट ने किया खुलासा : पिता-पुत्र ने किया स्टाम्प शुल्क कानून के प्रावधानों का उल्लंघन : इलाहाबाद। क्या आप विश्वास करेंगे कि कोई व्यक्ति 20 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य की सम्पत्ति अपने किरायेदार को मात्र एक लाख रुपये में ‘एग्रीमेंट टू सेल’ कर देगा। नहीं न, लेकिन यह एक चौंकाने वाली हकीकत है।

अनुकूलित मानसिकता के पत्रकार न थे आलोक

[caption id="attachment_20039" align="alignnone" width="505"]आलोक तोमर जी की तस्वीर पर फूल अर्पित करतीं उनकी पत्नी सुप्रिया रॉयआलोक तोमर जी की तस्वीर पर फूल अर्पित करतीं उनकी पत्नी सुप्रिया रॉय[/caption]

: इसीलिए उनकी कलम शीत-ताप नियंत्रित भाषा नहीं लिखती थी :

राहुल गांधी ने चार अंग्रेजों के साथ मिल अपने पार्टी कार्यकर्ता की कन्या से रेप किया?

लखनऊ और इलाहाबाद से प्रकाशित हिंदी दैनिक डेली न्यूज एक्टिविस्ट में एक सनसनीखेज खबर प्रकाशित हुई है. खबर कोर्ट से संबंधित है लेकिन प्रकरण बहुत बड़ा है. खबर के मुताबिक इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर राहुल गांधी को नोटिस जारी किया है. इस याचिका में कहा गया है कि वर्ष 2006 में राहुल गांधी ने अपने इतालवी व अंग्रेज मित्रों के साथ अपनी पार्टी के कार्यकर्ता की बेटी के साथ बलात्कार किया.

बहन जी की बड़ी तैयारी… डीएनए के मुकाबिल होगा जनसंदेश टाइम्स!

लखनऊ से बसपा का अखबार निकलने जा रहा है. जनसंदेश टाइम्स. पहले जनसंदेश नाम से चैनल खुला. अब जनसंदेश टाइम्स नाम से अखबार खुलने जा रहा है. लखनऊ के कयासबाज मान रहे हैं कि ये बहिन जी की बड़ी तैयारी का हिस्सा है. जिस तरह लखनऊ व इलाहाबाद से प्रकाशित डेली न्यूज एक्टिविस्ट उर्फ समाजवादी पार्टी का परचम लहराते हुए बहिन जी और उनके कारिंदों के कान काटने में लगा रहता है, उसी तरह बहिन जी चाहती हैं कि अगर किसी भी गलती से उनकी सरकार फिर सत्ता में न आ पाए तो दूसरी सत्तासीन पार्टियों के कान काटने का काम जनसंदेश टाइम्स करे.

जनपक्षधर पत्रकारिता का अग्रणी है डीएनए

बी पी दुर्भाग्य है या सौभाग्य नहीं पता, पर पत्रकारिता में मेरा कोई गुरू नहीं है। शायद, इसीलिए हर समय सीखने की प्रक्रिया में ही लगा रहता हूं। खैर, मन में न कोई आदर्श था और न किसी के जैसा बनने की कल्पना थी, लेकिन मन ही मन इतनी प्रतिज्ञा जरुर कर ली थी कि गुणवत्तापरक पत्रकारिता का अग्रणी नेता न बनूं, तो न सही, पर कम से कम ह्लास करने वालों की सूची में भी नाम दर्ज न हो।

डीएनए की चौथी सालगिरह पर यशवंत का लेख

लखनऊ और इलाहाबाद से प्रकाशित हिंदी अखबार डेली न्यूज एक्टिविस्ट के चार साल पूरे होने पर भड़ास4मीडिया के एडिटर यशवंत सिंह ने अखबार के चेयरमैन प्रो. निशीथ राय को बधाई दी. इस मौके पर यशवंत सिंह द्वारा भेजे गए एक लेख को डेली न्यूज एक्टिविस्ट (डीएनए) में प्रकाशित किया गया. प्रकाशित लेख इस प्रकार है-

justice for मां : डीएनए, लखनऊ ने फिर साबित की अपनी जनपक्षधरता, मां को समर्थन

[caption id="attachment_18317" align="alignleft" width="207"]डीएनए, लखनऊ में प्रकाशित खबरडीएनए, लखनऊ में प्रकाशित खबर[/caption]: पत्रकार की मां व परिजनों को बंधक बनाए जाने की खबर पहले पेज पर प्रमुखता से प्रकाशित की : गाजीपुर के पुलिस अधीक्षक का बयान प्रकाशित कर रवि कुमार लोकू के झूठ की खोली पोल : लखनऊ और इलाहाबाद से प्रकाशित अखबार डेली न्यूज एक्टिविस्ट ने अपनी जनपक्षधरता को फिर साबित किया है. परेशान, उत्पीड़ित और सरकार व सिस्टम से त्रस्त लोगों की आवाज जोरशोर से व बिना डरे उठाने वाले इस अखबार ने आज के अपने संस्करण में पहले पन्ने पर पत्रकार यशवंत सिंह के परिजनों के साथ हुए बुरे व्यवहार की खबर समग्रता के साथ छापी है. ऐसे मामले में जिसमें पुलिस उत्पीड़न की तस्वीरें व वीडियो जैसे प्रमाण मौजूद हैं, गाजीपुर के पुलिस अधीक्षक का यह बयान देना कि उन्हें इस प्रकरण के बारे में पता ही नहीं, यह दर्शाता है कि गाजीपुर पुलिस की मंशा ठीक नहीं है.

अखबार पैसा कमाने के लिए नहीं : निशीथ

[caption id="attachment_18287" align="alignleft" width="278"]प्रो. निशीथ राय का स्वागत करते अरविंद चतुर्वेदी, सबसे बाएं हैं एनई अनिल भारद्वाज.प्रो. निशीथ राय का स्वागत करते अरविंद चतुर्वेदी, सबसे बाएं हैं एनई अनिल भारद्वाज.[/caption]: डेली न्यूज़ ऐक्टिविस्ट पहुंचा प्रकाशन के चौथे सोपान पर : लखनऊ। जन सापेक्ष अखबार निकालना बुद्धि-विवेक ही नहीं, हिम्मत व जुनून का भी काम है। हमें अपने मिशन में बेहतर सफलता मिली है। भगवान भी उन्हें ही जिम्मेदारी देता है, जो उसे निभाने में समर्थ होते हैं। यह उदगार डेली न्यूज़ ऐक्टिविस्ट के चैयरमैन व प्रबंध संपादक डॉ. निशीथ राय ने अखबार के चौथे स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित एक समारोह में व्यक्त किए। डा. राय ने कहा कि उन्होंने जिस मिशन व विजन को लेकर मीडिया हाउस शुरू किया था, वह सफल रहा और अखबार की तीन वर्षों की उपलब्धियों से वे पूर्ण संतुष्ट हैं।

ग्रुप एडिटर पद से पंवार बर्खास्त

लखनऊ से खबर है कि हिंदी दैनिक डेली न्यूज एक्टिविस्ट (डीएनए) के ग्रुप एडिटर देशपाल सिंह पंवार को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त कर दिया गया है. प्रबंधन ने यह फैसला लेने के बाद बर्खास्तगी से संबंधित एक छोटी खबर भी अखबार में प्रकाशित करा दिया है. इस खबर में कहा गया है- ”गंभीर आर्थिक और चारित्रिक शिकायतों के कारण डेली न्यूज एक्टिविस्ट प्रबंधन ने देशपाल सिंह पंवार को तत्काल प्रभाव से समूह संपादक पद से बर्खास्त कर दिया है.” पंवार के खिलाफ किस तरह की शिकायतें थीं, इसका पता नहीं चल सका है. पंवार ने पिछले साल अगस्त महीने में डेली न्यूज एक्टिविस्ट ज्वाइन किया.