आज तक वालों को 10 प्रतिशत इनसेंटिव मिलेगा

लीजिए। एक और खुशखबरी। मंदी को आज तक भी ने बाय बोला। देश के इस नंबर वन न्यूज चैनल के प्रबंधन ने अपने मीडियाकर्मियों को तोहफा देने का ऐलान कर दिया है। कंपनी के निदेशक मंडल की हुई बैठक में इस बाबत प्रस्ताव पारित कर दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक आज तक के सभी मीडियाकर्मियों को 10 प्रतिशत का इंसेंटिव दिया जाएगा।

अंग्रेजी दैनिक डीएनए ने भी मंदी को बॉय बोला

भास्कर और जी ग्रुप के मुंबई बेस्ड अंग्रेजी अखबार डेली न्यूज एंड एनालिसिस (डीएनए) ने भी मंदी को बाय-बाय बोलते हुए मीडियाकर्मियों की सेलरी कटौती धीरे-धीरे खत्म करने की घोषणा की है। पहले चरण में एक नवंबर से पचास फीसदी सेलरी कटौती खत्म की गई है। शेष पचास फीसदी की कटौती खत्म करने के लिए दिसंबर महीने में समीक्षा बैठक की जाएगी। कंपनी के सीईओ केयू राव ने एक आंतरिक मेल जारी कर इस रोलबैक की सूचना विभागीय प्रभारियों को दी है।

गिफ्ट में तौलिया, स्टाफ बोला- आंसू पोछेंगे

दिवाली के मौके पर अखबारों में अपने स्टाफ को कुछ न कुछ देने का चलन रहा है। बोनस तो देते ही हैं, उपहार के रूप में भी अलग से कोई सामान मीडियाकर्मियों को सप्रेम पकड़ाया जाता है। इस बार दिवाली के मौके पर दैनिक भास्कर, दिल्ली में स्टाफ को तौलिए का फेमिली पैक, नमकीन, मिठाई आदि के पैकेट दिए गए। सूत्रों के मुताबिक भास्कर के दिल्ली आफिस में पहले दिन बच्चों के इस्तेमाल में आने वाले तौलिए को स्टाफ के बीच वितरित किया गया। इसे देख कई लोगों ने कमेंट किया कि संभवतः यह आंसू पोछने के लिए दिया गया है, क्योंकि इस छोटे तौलिए का और कोई इस्तेमा तो हो नहीं सकता। ज्ञात हो कि भास्कर वालों को इस साल मार्च महीने में जो एनुवल इनक्रीमेंट मिलना था, वह मंदी के नाम पर नहीं दिया गया। इससे मीडियाकर्मियों में निराशा है।

आज समाज : प्रबंधन खुश, स्टाफ मायूस

दिवाली के दिन भी स्टाफ से काम कराया पर हाथ में मिठाई का एक डिब्बा तक नहीं पकड़ाया : चंडीगढ़ और दिल्ली में लाखों घरों तक पहुंचा ‘आज समाज’ : प्रिंट मीडिया के पत्रकारों के बारे में कहा जाता है कि उन्हें सामूहिक छुट्टियां गिनी-चुनी ही मिलती हैं। न्यूज चैनल वाले तो इस मामले में और भी अभागे हैं। उन्हें बिलकुल कोई छुट्टी नहीं मिलती क्योंकि उनका चैनल कभी बंद नहीं होता। प्रिंट वालों को जिन दिनों में छुट्टियां मिलती हैं, उनमें होली-दिवाली भी शामिल है। इस बार दिल्ली में जहां सभी अखबार दिवाली के दिन बंद रहे तो सिर्फ एक अखबार रोज की तरह खुला रहा। इस अखबार का नाम है ‘आज समाज’। इसके पत्रकार दिवाली के दिन शाम छह बजे तक बुझे दिल से ड्यूटी पर जमे रहे।

डीएनए कर्मियों को 50 फीसदी तक इनक्रीमेंट

समाचार संपादक अनिल भारद्वाज, समूह संपादक देशपाल सिंह पंवार, प्रबंध संपादक डा. निशीथ राय और संपादक अरविंद चतुर्वेदी

डेली न्यूज़ ऐक्टिविस्ट ने रखा तीसरे साल में कदम : दर्जनों पत्रकारों को तरक्की : उत्तर प्रदेश की पत्रकारिता में दो साल पहले धमाकेदार मौजूदगी दर्ज कराने वाला राजधानी लखनऊ से प्रकाशित राष्ट्रीय हिंदी दैनिक डेली न्यूज ऐक्टिविस्ट इसी 13 अक्टूबर को तीसरे साल में प्रवेश कर गया। सच्चाई के लिए संघर्ष करने वाली हिंदी पत्रकारिता की गौरवशाली परम्परा से प्रेरित इस अखबार ने बिना किसी लम्बे-चौडे़ तामझाम के, जन सरोकारों से अपने को संजीदगी से जोड़कर बहुत थोड़े ही समय में जो पहचान और पाठकों में पैठ बनाई है, वह खुद में आज एक मिसाल है। इस अखबार ने साबित किया है कि अगर निहित स्वार्थ और बाजारूपन की चालबाजियों के समानांतर जन समस्याओं को लगातार समाधानकर्ताओं के सामने लाया जाए, भ्रष्टाचार को निर्भीकता पूर्वक उजागर किया जाए तो पाठकों का विश्वास और लोकप्रियता दोनों हासिल किए जा सकते हैं।

साधना न्यूज ने कर्मियों को दिया बंपर दिवाली बोनस

साधना न्यूज ने दिवाली के मौके पर अपने सभी मीडियाकर्मियों को तोहफा दिया है। कंपनी की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार पांच हजार रुपये से लेकर पचास हजार रुपये तक बोनस के रूप में दिए जा रहे हैं। इसके अलावा जो लोग बेहद जूनियर पदों पर व काम तनख्वाह में काम कर रहे हैं, उन्हें बोनस के अलावा सेलरी में इनक्रीमेंट भी दिया जा रहा है। सितंबर महीने तक जिन लोगों के साधना न्यूज ज्वाइन किया है, वे सभी बोनस के दायरे में रखे गए हैं।

नभाटा, एनसीआर की टीम के कई लोग प्रमोट

नवभारत टाइम्स, एनसीआर की टीम के कई लोगों को भी प्रमोट किए जाने की खबर मिली है। सोनिया वर्मा, ललित वर्मा और अमित कुमार राय को कापी एडिटर से प्रमोट करके सीनियर कापी एडिटर बना दिया गया है। सीनियर कापी एडिटर संयम श्रीवास्तव और सुदेश रंजन को चीफ कापी एडिटर का तमगा मिल गया है। एनसीआर की रिपोर्टिंग टीम की बात करें तो नोएडा के ब्यूरो चीफ विनोद शर्मा को अब प्रिंसिपल करेस्पांडेंट बना दिया गया है।

नभाटा और सांध्य टाइम्स में प्रमोशनों का सिलसिला जारी

नवभारत टाइम्स और सांध्य टाइम्स में दिवाली के मौके पर प्रमोशन का सिलसिला जारी है। सांध्य टाइम्स में कार्यरत सीनियर रिपोर्टर वीरेंद्र वर्मा को प्रोन्नत कर प्रिंसिपल करेस्पांडेंट बना दिया गया है। वीरेंद्र वर्मा सांध्य टाइम्स में दिल्ली गवर्नमेंट की बीट देखते हैं। वे चीफ रिपोर्टर आदित्य अवस्थी का काम देख रहे हैं जिनका पिछले दिनों रांची के लिए तबादला कर दिया गया था लेकिन उन्होंने तबादला स्वीकारने के बजाय वीआरएस लेना उचित समझा। वीरेंद्र इससे पहले दैनिक जागरण और अमर उजाला के लिए दिल्ली में लंबे समय तक रिपोर्टिंग कर चुके हैं। नभाटा में बिजनेस मंत्र पेज देखने वाले प्रमोद राय को प्रमोट कर चीफ सब एडिटर बना दिया गया है।

हमार, फोकस, एचवाई टीवी में 30 फीसदी तक इनक्रीमेंट

[caption id="attachment_15963" align="alignleft"]एनई टीवी ग्रुप के चेयरमैन मतंग सिंहएनई टीवी ग्रुप के चेयरमैन मतंग सिंह[/caption]हमार, फोकस और एचवाई टीवी के सभी कर्मियों की तनख्वाह में दस से लेकर 30 प्रतिशत की बढ़ोतरी किए जाने की खबर मिली है। सूत्रों के मुताबिक एक साल में तीन-तीन चैनल लांच करने वाले एनईटीवी ग्रुप के चेयरमैन मतंग सिंह ने एनई टीवी के कर्मियों के वार्षिक इनक्रीमेंट के मौके पर हमार, फोकस और एचवाई टीवी के कर्मियों को भी इनक्रीमेंट देने के निर्देश दिए। इससे छह महीने पहले लांच हुए इन तीनों चैनलों के कर्मियों में हर्ष का माहौल है।

नभाटा में प्रमोशन, जी में सेलरी कटौती खत्म

दीपावली के ठीक पहले कई संस्थानों में अपने कर्मियों को तोहफे देने की शुरुआत हो गई है। नवभारत टाइम्स, दिल्ली में कई लोगों के प्रमोशन किए गए हैं तो जी न्यूज में मंदी के दिनों में की गई सेलरी कटौती को वापस ले लिया गया है। शुरुआत नभाटा से। सूत्रों के मुताबिक नभाटा, दिल्ली में प्रिंसिपल करेस्पांडेंट पद पर कार्यरत गुलशन राय खत्री को प्रमोशन देकर स्पेशल करेस्पांडेंट बना दिया गया है।

मंदी के दैत्य को टीओआई ग्रुप ने मार भगाया!

टाइम्स आफ इंडिया ग्रुप, जिसे बेनेट कोलमैन एंड कंपनी लिमिटेड (बीसीसीएल) के नाम से जाना जाता है, ने ऐलान कर दिया है कि वह मंदी के दौर से बाहर निकल आया है। यह ऐलान साफ-साफ और स्पष्ठ शब्दों में तो नहीं किया गया है लेकिन कंपनी के सीईओ रवि धारीवाल ने जो आंतरिक मेल कंपनी के कर्मियों को जारी किया है उसे पढ़कर यही कहा जा सकता है कि टीओआई ने जिस तरह मंदी के खतरे को भांपते हुए अपने कर्मियों को चेताया था और कई तरह के निरोधात्मक उपाय किए थे, उसी अंदाज में मंदी से बच निकलने के बाद कंपनी के उज्जवल भविष्य के बारे में सभी को आश्वस्त कर उत्सव के इस सीजन में पाकेट में अतिरिक्त पैसे डालने की व्यवस्था कर दी है। इस मेल में बताया गया है कि रेवेन्यू की चुनौती तो अभी कायम है लेकिन खर्चें जहां तक कम किए जाने थे, वहां तक कम किए जा चुके हैं। रवि धारीवाल ने ‘टाइम्स आफ इंडिया क्रेस्ट’ के मुंबई और दिल्ली में लांच किए जाने और ईटी नाऊ की आशातीत सफलता का उल्लेख किया है।