तो ये है पत्रकारिता में टैलेंट संकट का राज!

शेष नारायण सिंहदूरदर्शन में भर्ती किये गए 25 पत्रकारों को नौकरी देने में पक्षपात के सबूत मिलने के बाद केंद्रीय प्रशासनिक पंचाट ने उनकी नौकरी रद्द कर दी है. जिन लोगों की नौकरी ख़त्म हुई है उसमें दिल्ली की एक कांग्रेसी नेता की बेटी भी है. यह नेता जी आजकल केंद्र सरकार में मंत्री हैं. चलता किए गए लोगों में एक अन्य मंत्री के रिश्तेदार भी हैं.

यह लड़की आज़मगढ़ की है

[caption id="attachment_17841" align="alignleft" width="241"]सीमा आजमीसीमा आजमी[/caption]: सीमा आजमी- भारतीय सिनेमा की नयी आजमी : मुंबई में शाहिद अनवर के नाटक, सारा शगुफ्ता का मंचन होना था. थोड़ा विवाद भी हो गया तो लगा कि अब ज़रूर देख लेना चाहिए. बान्द्रा के किसी हाल में था. हाल में बैठ गए. सम्पादक साथ थे तो थोडा शेखी भी बनाकर रखनी थी कि गोया नाटक की विधा के खासे जानकार हैं. सारा को मैंने दिल्ली के हौज़ ख़ास में २५ साल से भी पहले अमृता प्रीतम के घर में देखा था. बाजू में प्रीतम सिंह का मकान था, वहीं पता लगा कि पाकिस्तानी शायरा, सारा शगुफ्ता आई हुई हैं तो स्व. प्यारा सिंह सहराई की अचकन पकड़ कर चले गए.  इस हवाले से सारा शगुफ्ता से मैं अपने को बहुत करीब मानता था. लेकिन एक बार की, एक घंटे की मुलाकात में जितने करीब आ सकते थे, थे उतने ही क़रीब.

पगला गए हैं वीएन राय, इलाज कराओ

: वाचिक बलात्कार के अपराधी को सज़ा दो : बीएसएफ के पूर्व अधिकारी और वर्धा के महात्मा गाँधी विश्वविद्यालय के कुलपति, विभूति नारायण राय ने महिला लेखकों के बारे में जिस तरह की बात कही है, वह असंभव लगती है. लेकिन बात उनके बहुत करीबी साहित्यकार की निगरानी में छपी पत्रिका में कही गयी है, इसलिए गलत होने का कोई सवाल ही नहीं है.

संघियों के दिमाग ठिकाने लगाने की जरूरत

[caption id="attachment_17725" align="alignleft" width="85"]शेषजीशेषजी[/caption]: आजतक वाले सक्षम हैं यह काम करने में : संघियों से पूछें कुछ कठिन सवाल : याद रखें, फासिस्ट ही करते हैं मीडिया पर हमला : आजतक के नयी दिल्ली दफ्तर में आरएसएस के कुछ कार्यकर्ता आये और तोड़फोड़ की. आरएसएस की राजनीतिक शाखा, बीजेपी के प्रवक्ता ने कहा कि इससे टीवी चैनलों को अनुशासन में रहने की तमीज आ जायेगी यानी हमला एक अच्छे मकसद से किया गया था, उम्मीद की जानी चाहिए कि आगे से लोग अनुशासन में रहें तो यह नौबत की नहीं आयेगी.

अरनब गोस्वामी और चिल्लाहट मास्टर

शेष नारायण सिंह: बीजेपी और कांग्रेस वालों को नाथ कर रखा अरनब ने : टाइम्स नाउ कॉर्पोरेट चैनल है, संभव है उसे राजनीतिक ताक़त से समझौता करना पड़ सकता है : बाकी मीडिया संगठन भी चौकन्ना रहें तो राजनीतिक भ्रष्टाचार का लगाम संभव :  कर्नाटक में खनिज सम्पदा की लूट जारी है. यह लूट कई वर्षों से चल रही है. इस बार मामला थोडा अलग है.