लखनऊ में अरविंद केजरीवाल पर चप्पल फेंकने वाला युवक जालौन निवासी जितेंद्र पाठक है

फिर हुआ टीम-अण्‍णा पर हमला। प्रशांत भूषण के बाद अब अरविंद केजरीवाल पर हमला हो गया है। लखनऊ के झूलेलाल पार्क में चल रही एक जनसभा में उन पर चप्‍पल से हमला हुआ। हमलावर जालौन का निवासी जितेंद्र पाठक है। हमलावर जितेंद्र पाठक को पकड़कर लोगों ने धुना और पुलिस के हवाले कर दिया। अरविंद केजरीवाल लखनऊ में देर शाम एक जनसभा में आये थे।

इस सभा का आयोजन इंडिया अगेंस्‍ट करप्‍शन की ओर से आयोजित किया गया था।  अरविंद केजरीवाल अभी बोलने के लिए खड़े ही हुए कि भीड़ में शांति से बैठे एक युवक ने उनकी ओर चप्‍पल खींच कर दे मारी। मंच समेत पूरे सभास्‍थल पर भगदड़ सी मच गयी। इसके पहले कि वहां मौजूद पुलिसवाले कुछ समझ पाते, एक झुंड उस युवक की ओर बढ़ा और जमीन पर पटक कर उस युवक को रौंदना शुरू कर दिया।

लात-घूंसों से उसकी पिटाई हुई और उसके कपड़े भी फाड़ दिये गये। बाद में पुलिस ने हस्‍तक्षेप करके उसे बचाया और अपनी हिरासत में ले लिया। इस घटना से पूरे सभास्‍थल का माहौल तनावग्रस्‍त हो गया। पुलिस हमलावर युवक को थाने ले जाकर पूछताछ कर रही है। भाजपा, सपा और कांग्रेस समेत कई दलों ने इस घटना को दुर्भाग्‍यपूर्ण बताते हुए इसकी कड़ी निन्‍दा की है। राजद के अध्‍यक्ष लालू प्रसाद ने इस हादसे को डिस-एप्रूव करते हुए कहा है कि टीम-अण्‍णा को भी अपनी जुबान पर लगाम देनी चाहिए।

लखनऊ से वरिष्ठ पत्रकार कुमार सौवीर की इस रिपोर्ट के लिए भड़ास4मीडिया टीम आभारी है.

Comments on “लखनऊ में अरविंद केजरीवाल पर चप्पल फेंकने वाला युवक जालौन निवासी जितेंद्र पाठक है

  • anand pratap says:

    congress ne bhonkne k liye ek PAGAL kutta UP me chhod rakha hai. jo muslim voton ko hathiyne ki kabayed ko anjaam dene k liye unko bahkane or bargalane, unke saamne jab-tab jeebh nikal kr DUM hilate hue TV news pr nazar aa jata hai. Usi sreni me chote prakaar ke ek or pagal kutte ko congress ne arvind kegriwal ko katne k liye bheja tha. Isme kisi ko koi hairaani nahi honi chahiye kyonki PAGAL ho chuke KUTTON ka kaam hi hai be-bajah kaatna or bhokna.

    Reply
  • Such events are condemneable. No one fm civil society (Sabhya Samaj) would tolerate it. We can xpress N share our views but nobody is bound to follow, then why such act.

    This is not a good signal for public figures. Elements involved in such activities should be punished.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *