दुनिया का नंबर वन मीडिया हाउस बनेगा भास्कर!

: बहुत तेज स्पीड में दौड़ रहा भास्कर समूह : कई एडिशन लांच करने की घोषणा : भटिंडा संस्करण लांच : नागौर व इटारसी एडिशन लांच होंगे : कई लोगों ने ज्वाइन किया : पुरस्कारों,  सेमिनारों व बड़े आयोजनों के जरिए भास्कर ब्रांड को अति-लोकप्रिय बनाने की मुहिम : गैर-मीडिया उद्यमों में भी फहरा रहा है कमाई का झंडा : जागरण समेत सभी मीडिया हाउसों को मात देने का इरादा : दुनिया का नंबर वन मीडिया हाउस बनने का सपना :

भास्कर समूह वाकई दिन दुनी रात चौगुनी गति से आगे बढ़ रहा है. बाजार के खेल में पारंगत हो चुका यह समूह कंटेंट, मार्केटिंग, बिजनेस, सरकुलेशन, अन्य उद्यमों के क्षेत्र में रोज कुछ न कुछ नया व बड़ा काम कर रहा है. बानगी के तौर पर आपको यहां कुछ खबरें दी जा रही हैं जो बीते हफ्ते में घटित हुई और अगले हफ्तों में घटित होगी.

दैनिक भास्कर का पिछले दिनों भटिंडा एडिशन लांच हो गया. शारदा चेतन इस यूनिट को देख रहे हैं. अनिल भारद्वाज, पुरुषोत्तम, बरिंदर, अमन, दुर्गेश, अखिलेश, अंकुर, कुमार आदि लोग इस यूनिट के हिस्से हैं. कई लोगों का लुधियाना एडिशन से तबादला किया गया है. स्टेट हेड कमलेश सिंह की देखरेख में संस्करण की लांचिंग हुई. यह संस्करण फरीदपुर, फिरोजपुर, मोंगा, संगरूर, बरनाला, भटिंडा, मुक्तसर आदि इलाकों को कवर करेगा.

भास्कर ने इसे अपना 50वां एडिशन बताया है. भास्कर प्रबंधन जमशेदपुर, धनबाद से भी एडिशन शुरू करने जा रहा है. भास्कर ग्रुप का दावा है कि अगले साल के अंत तक भास्कर के 60 संस्करण हो जाएंगे. तब दैनिक भास्कर विश्व में सबसे ज्यादा संस्करणों वाला अखबार समूह बन जाएगा.

उधर खबर आई है कि भास्कर का नागौर संस्करण 18 सितंबर को लांच होने जा रहा है. निदेशक सुधीर अग्रवाल ने एक समारोह में यह घोषणा की. नागौर एडिशन की तैयारी कर ली गई है. नई भर्तियां हो गई हैं. काम शुरू हो गया है. भास्‍कर, जोधपुर के मोहन मोटमानी को यहां का इंचार्ज बनाया गया है. केकड़ी के पत्रकार कमलेश केसोट ने भी दैनिक भास्‍कर ज्‍वाइन कर लिया है. कमलेश नागौर में बतौर रिपोर्टर काम करेंगे. कमलेश इससे पहले पत्रिका में भी रह चुके हैं और हाल फिलहाल इंडिया टुडे समूह के लिए उदयपुर में काम कर रहे थे.

एक अन्य जानकारी के अनुसार दैनिक भास्कर का इटारसी संस्करण 19 सितंबर को लांच किया जाएगा. इसके जरिए इटारसी, होशंगाबाद, हरदा और बेतूल इलाके कवर होंगे. इटारसी भास्कर के यूनिट हेड शैलेंद्र दीक्षित को बनाया गया है. एडिटर अतुल गुप्ता होंगे. सरकुलेशन हेड के रूप में संदीप सिंह और प्रोडक्शन हेड प्रताप सिंह बनाए गए हैं. एकाउंड विभाग का काम राकेश शर्मा के जिम्मे होगा.

उधर, सूचना है कि भेल को दैनिक भास्कर पॉवर लिमिटेड के मुख्य प्लांट पैकेज के लिए छत्तीसगढ़ के जंजगिर जिले के बारादरहा में 600-600 मेगावाट वाले कोयला आधारित दो ऊर्जा संयंत्रों की आपूर्ति व स्थापित करने का 2,665 करोड़ रुपये का ठेका मिला है. कंपनी द्वारा जारी बयान के मुताबिक इस लोकेशन पर भेल को बॉयलर, भाप टर्बाइन व टर्बो जनरेटर के लिए डिजाइन, इंजीनियरिंग, एमएफआर, सप्लाई, इरेक्शन समेत इस संयंत्र को अत्याधुनिक सुविधाओं युक्त बनाने की जिम्मेदारी संभालनी है.

नई दिल्ली के त्रिवेणी सभागार में पिछले दिनों दैनिक भास्कर व भास्कर फाउंडेशन की ओर से हिंदी दिवस के मौके पर सेमिनार का आयोजन किया गया.  सेमिनार का विषय था- अंग्रेजी का बढ़ता प्रभाव और हिंदी प्रिंट मीडिया की भूमिका. सेमिनार भाषणों के बदले जीवंत संवाद की शैली में चला और वक्ता और श्रोता इसमें भागीदार थे. इसमें भास्कर समूह के चेयरमैन रमेशचंद्र अग्रवाल, दैनिक भास्कर के समूह संपादक श्रवण गर्ग,  केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अंबिका सोनी, प्रख्यात आलोचक नामवर सिंह, आईबीएन-18 नेटवर्क के प्रधान संपादक राजदीप सरदेसाई, संस्कृत व स्पैनिश के विद्वान ऑस्कर पुजोल, यूपीएससी के सदस्य व लेखक-आलोचक पुरुषोत्तम अग्रवाल कवि और दिल्ली हिंदी अकादमी के उपाध्यक्ष अशोक चक्रधर ने भाषण दिया. भास्कर फाउंडेशन के संजय गंजू ने धन्यवाद ज्ञापन किया. इस प्रकार भास्कर समूह ने हिंदी दिवस पर एक बड़े कार्यक्रम का आयोजन कर ब्रांडिंग के लिहाज से और आम हिंदी पाठकों में अपने प्रभाव को बढ़ाने सफलता हासिल की.

दैनिक भास्कर समूह ने इंडिया प्राइड अवार्डस शुरू कर दिया है. इस एवार्ड के जरिए भास्कर ग्रुप एक तीर से कई निशाने साध रहा है. विज्ञापन देने वाली बड़ी बड़ी कंपनियों, समूहों, बैंकों, व्यक्तियों को ओबलाइज करने के साथ-साथ उनके काम को रिकागनाइज करने का प्रयास किया है भास्कर ग्रुप ने. इस तरह भास्कर ब्रांड की सर्वोच्च स्तर पर सर्वाधिक स्वीकार्यता के लिए ग्रुप ने नायाब कदम उठाया है. इस वर्ष इंडिया प्राइड अवार्ड्स के लिए केंद्र सरकार के पीएसयू के साथ-साथ राज्य सरकार के पीएसयू भी चुने गए. वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने पुरस्कार बांटे. वित्त मंत्री ने देश की अर्थव्यवस्था में अहम् योगदान देने वाली पीएसयू कंपनियों के सम्मान के लिए पिछले साल शुरू किए गए इंडिया प्राइड अवार्डस के लिए दैनिक भास्कर समूह की सराहना की, उन्होंने विभिन्न वर्गो और श्रेणियों में विजेता रही कंपनियों और अधिकारियों को भी बधाई दी. दैनिक भास्कर समूह के चेयरमैन रमेशचंद्र अग्रवाल, दैनिक भास्कर समूह के प्रबंध संपादक यतीश राजावत ने पुरस्कार समारोह को संबोधित किया. इस बार स्टेट बैंक के चेयरमैन ओपी भट्ट को लाइफ टाइम अचीवमेंट पुरस्कार प्रदान किया गया है. केंद्रीय पीएसयू को कंज्यूमर इंडस्ट्री, नान फाइनेंसियल, बैंकिंग, एनर्जी एंड पावर, हैवी इंडस्ट्रीज, मेटल एंड मिनरल्स, आयल एंड गैस, परिवहन, इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट, कारपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी और इंडिया इमेज इनहांसमेंट श्रेणी के तहत पुरस्कार दिए गए. राज्यों की पीएसयू को कृषि, इलेक्ट्रिसिटी एंड पावर, इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट और कारपोरेट सोशल रिस्पांसबिलिटी श्रेणी के तहत अवार्डस दिए गए. इनके अलावा कुछ विशेष पुरस्कार भी दिए गए. इनकी श्रेणी थी बेस्ट सर्विस ब्रांड, बिजनेस भास्कर ग्रोथ लीडर, एडिटर्स स्पेशल अवार्ड फोर इंक्लूसिव ग्रोथ, बेस्ट कंज्यूमर कनेक्ट -आईटी, इमर्जिग पीएसयू और चेयरमैन अवार्ड फॉर फाइनेंसियल कैटलिस्ट ऑफ द ईयर.

ये तो वे खबरें, सूचनाएं, जानकारियां हैं जो आम हो चुकी हैं. पर बहुत कुछ ऐसा भी है जिसे भास्कर ग्रुप ने उदघाटित नहीं किया है. अंदर ही अंदर तैयारियां चल रही हैं. भास्कर समूह की जो तीव्र गति है, तेज स्पीड है, उससे पता चलता है कि वह सभी मीडिया हाउसों को मात देने की तैयारी में है. जागरण समूह के सामने वाकई बहुत बड़ा सवाल पैदा हो चुका है कि आखिर इतनी तेज गति से चल रहे भास्कर समूह से कैसे वह नंबर वन की गद्दी बचा पाएगा.

भड़ास4मीडिया के एडिटर यशवंत सिंह की रिपोर्ट

Comments on “दुनिया का नंबर वन मीडिया हाउस बनेगा भास्कर!

  • BHASKAR AKHBAR SAMOOH NE JIS TEJ GATI SE PRAGATI KI HAI WAH USKE DOORDARSHITA,TEAM WORK AUR HIGHERE MANAGEMNET KI SAHI STRATIGI KI WAJAH SE HAI.
    HALANKI KAYI JAGAHO ME ABHI BHI KAPHI KAAM BAKI HAI.BHOPLA ME BHI RAJ EXPRESS ACHCHI TAKKAR DE RAHA HAI WAHI PATRIKA KI DHAMAKE DAR LAUNCHING BHOPLA ME HUI HAI.
    AKHBAR SAMOOH AAGE BADE ,SHUBHKAMNAYE HAI PARANTU SAATH ME PRAKASHAN ME KARYARAT PATRAKARO AUR KARMACHARIYON KE HITA KA BHI DHYAN MANAGEMENT RAKHE.
    BIJAY SINGH
    JAMSHEDPUR

    Reply
  • bhaskar news paper bahut achcha hai, lekin meri ek ray hai ki is paper ko meerut % ghaziabad bhi lane ki jarurat hai, ho sake to mangment ko is pager ko up ki aur laya jaye, aapka subhchintak

    Reply
  • Brajesh Sharma says:

    बंधुवर आप शायद जानकारी नहीं रखते की राज एक्सप्रेस और पत्रिका दोनों भास्कर की तुलना में कही नहीं आते,
    हां कमियों की तरफ भास्कर हमेश ध्यान देता हे और उन्हें दूर करने का प्रयास करता हे

    Reply
  • new news paper ki launching se fresher ko apni prthibha dekhane ka moka milta. Yadi new paper launch nahi hoge to kuch manmani per utar jayege.

    Reply
  • Jin jagahon se naye sanskaranon Ki bat ki hai wahan se sansakran pahale bhi nikalate the, wohan se printing nahi hota tha, Ab printing Bhi hoga. Yeh Bhaskar ke her_fer ka naya namuna hai.

    Reply
  • Dinesh Bhopal says:

    दो नंबर की कमाई करेंगे तो दिन दुगुनी क्या दिन आठ गुणी तरक्की करेंगे | कोई बता सकता हे कि यदि सच्ची और सामाजिक पत्रीकारिता की होती तो क्या इतने तरह के धंधे शुरू कर सकते थे | माफ किजीयेगा इसे तरक्की नही भ्रष्टाचार कहते हे | पत्रिका और प्रभात खबर जैसे अखबार इस मामले मे एक मिसाल हें | ये रस्ता अंत कि ओर जाता हें क्योकी गरीब जनता के विश्वास और पैसे पर डाका डालकर ज्यादा लंबा नाही चल सकते|

    Reply
  • chaliye aapne kabhi bhaskar ke liye thik to likha, waise bhaskar hia hi aisa akhbar ki wo duniya ka sabse bada media house ban jayega .

    Reply
  • surinder singh says:

    dainik bahskar ki nayi nayi launching aur nai nai jagah pase lagana wakaiye kabiley tarif hai india pride award suru karne par bhaskar parivar ko badhai nit naye naye station ki launching is baat ka saboot hai ki o din dor nahi jab bhaskar vishwa ka no. 1 akhbar ban jayega jinke itne sanskarn ho unki kamyabi ko koi nahi rok sakta hai bas main bhaskar ki management se ye vinamra vinti karta hoon hi yahan par hind samachar patra walon ka bahoot rootba hai ek samey tha jab inke malik kaha karte thei ki agar unki akhbar kutte ke gale mein bhi baand di jaye to bhi wo bik jayegi ye hai punjab kesri aur punjabi akhbar jag bani ka hai main ish mail ke jariye bhaskar management se anurodh karta hoon ki jis parkar gujrat mein saurastra or divya bhaskar chapti hai usi prakar punjab mein bhi punjabi edition chaloo kare taki inki akarpan door ho ye meri personal feling hai agar aap kisi co. se survey kara kar yahan ke logo se puch sakte hai ki ve kitne tang hai hawker’s bhi is akhbar se bahoot dukhi hai kyonki ye akhbar subhah 7 baje se pehle nahi aate hai baki ki akhbar 5 baje tak aa jati hai agar aap ish aur dhyan de to poora north aapko duwaein dega kyonki punjab j.k rajastan haryana h.p aur delhi mein punjabi readers hai

    Reply
  • dinesh jee ne kaha “do number ki kamai”, ab kripya iska byaora de sakte hain aap. jis house ka gungan kar rahe hain kya jante hain aap ki wahan kitna gutbaji hai. pura ka pura house do guto me bata hua hai. yadi p.k aapke nazar me ek misal hai to kyun chhor rahe hain us house ke adhikari aur kyun jaa rahe hain bhaskar?????

    Reply
  • sudhir agarwal ji se kabhi mulakat karo bhaskar ki progress kese hoti hai pata cal jayaga great sudhir ji ko sirf kam pasand hai

    Reply
  • bharat ka sabse tej dorta dhavak hai bhaskar great sudhir ji go ahead jamana apke kam ko pasand karta hai akhabar bole to bhaskar

    Reply
  • एक पत्रिका कर्मी की रिपोर्ट says:

    भास्कर की इटारसी लॉंचिंग फ्लॉप
    दैनिक भास्कर का इटारसी संस्करण फ्लॉप हो गया है। एमडी सुधीर अग्रवाल द्वारा पूर्व में घोषणा की गयी थी कि इटारसी एडीशन १९ सितम्बर को लॉंच होगा। जिस समय एमडी ने यह घोषणा की थी, उस समय तक व्यवस्थायें शून्य थी, घोषणा के बाद पूरा प्रशासनिक अमला हरकत में आया और कार्य ने गति पकड़ी लेकिन इन्दौर की प्रोडक्शन टीम और भोपाल की प्रोडक्शन टीम में तालमेल न होने की बजह से मशीन की ट्रायल नहीं हो पायी, साथ ही सैटेलाइट एडीशन के सम्पदकीय प्रभारी श्री शिव कुमार विवेक द्वारा सम्पादकीय टीम भी समय से गठित नहीं कर पाने से पूरे एडीशन में अव्यवस्था फैल गयी और स्थिति यह रही कि लॉंचिग वाले अखबार में तीन तीन पेज रिपीट हो गये, अव्यवस्थाओं का आलम यह रहा कि होशंगाबाद, इटारसी, हरदा में अखबार सुबह ९.३० तक नही पहुंच पाया। एजेन्ट / वितरक बार-बार फोन करते रहे लेकिन वहां कोई जिम्मेदार व्यक्ति फोन पर बात करने को तैयार नहीं था। सुबह १० बजे के बाद बाजार में कुछ प्रतियां भेजी गयी, जिसे देखकर पाठकों ने सिर पकड़ लिया। वहीं दूसरी ओर पत्रिका खेमे में जबरदस्त उत्साह दिखायी दिया। पत्रिका के लोगों ने अपनी तैयारियां पूरी कर ली थी। सभी सेन्टरों पर उनकी सम्पादकीय टीम द्वारा जबरदस्त काम किया गया, एडीटर विनोद पुरोहित, प्रभारी धनन्जय प्रताप सिंह तथा रीजनल हेड चक्रेश महोविया द्वारा जिस तरह की स्टोरी ब्रेक कराई गयी है, उससे भास्कर खेमे में हड़कम्प मच गया है। भास्कर के स्टेड हेड अभिलाष खांडेकर, होशंगाबाद पहुंच गये हैं।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *