मुरादाबाद में खनन माफिया के गुंडों ने प्रेस फोटोग्राफरों को बुरी तरह पीटा

मुरादाबाद। रेत खनन माफिया का दुस्साहस दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है. बेखौफ खनन माफिया जहां दिन के उजाले में शहर के भीतरी हिस्सों व घनी आबादी में रामगंगा का तट खंगालने में भी संकोच नहीं कर रहे हैं, वहीं रोकथाम की कोशिश करने वाली सरकारी टीमों व कवरेज करती मीडिया टीमों पर हमलावर तेवर अपना रहे हैं. शनिवार दोपहर बेलगाम खनन माफिया ने अपना निशाना बनाया प्रेस फोटोग्राफरों को. महानगर के कटघर इलाके में पुल के नीचे खुलेआम रेत खनन का पता चलने पर नगर आयुक्त के निगम की छापामार टीम के साथ वहां पहुंचने की जानकारी मिली. इस सूचना पर कई मीडिया फोटोग्राफर मौके पर पहुंच गए.

मुलायम सिंह जी ने यूपी के मुसलमानों को किस गलती कि सज़ा दी है!

Mohammad Anas : ना हरगिज़ नहीं, इस्तीफ़ा और गिरफ़्तारी से शहीद ज़िया उल हक़ नहीं वापिस आयेंगे.. ना… हमें नहीं मंज़ूर तुम्हारी ये सारी दलीले. हम हैं ही कहां, गिनती के दस बीस पचास ही बन पाते हैं ज़िया के जैसे, बाकियों को तुम जब मर्जी स्टेशन और घरों की दिवारों के पीछे से जेलों की सलाखो के पीछे डाल देते हो! राजा भैय्या या उसके जैसे मुख्तार और शहाबऊद्दीनो ने जाने कितने को मारा होगा, क्या उन सबको वापिस ला पाओगे, शायद नही ..तो फ़िर क्यों करते हो ऐसा काम, क्यों जगह दी थी मंत्रीमंडल में… क्यों एक निर्दलीय को जो खुद जेल के भीतर रहता है, उसे जेल मंत्री बना देते हो…

प्रतापगढ़ में राजा भैय्या के तिलिस्म और गुंडा राज के सबसे प्रबल विरोधी वहां के मुसलमान रहे हैं

Mohammad Anas : हथिगवां एसओ मनोज शुक्ला और कुंडा के कोतवाल सर्वेश मिश्र ने सीओ ज़िया उल हक़ से कहा था कि आप जाइये गांव के भीतर… जब आक्रोशित भीड़ उन्हें घेर कर मारने लगी तो पुलिस के ये वीर सिपाही भाग कर शौचालय और पशुबाड़े में छिप जाते हैं… कल से फ़ेसबुक पर इस तरह की कहानी तैर रही है कि सर्वेश मिश्र भी शहीद हुए हैं, ऐसे भगोड़े वर्दी धारियों के लिये सीओ कि बीवी सिर्फ़ इतना कह पा रही है कि ये सब चाह लेते तो मेरा फ़रिश्ता बच जाता, वो कुंडा पीएचसी के बाहर जब रोती हैं तो आस पास खड़े सारे लोग रोने लगते थे, अभी उम्र ही कितनी है सिर्फ़ 27 साल!

दिल्ली की 35 महिला पत्रकारों को ”इंद्रप्रस्थ मीडिया रत्न पुरस्कार” मिला, ये है नामों की लिस्ट…

नयी दिल्ली : राजधानी की 35 महिला पत्रकारों को आज यहां इंद्रप्रस्थ मीडिया रत्न पुरस्कार 2013 से सम्मानित किया गया। राजधानी के कंस्टीट्यूशन क्लब में ‘इंद्रप्रस्थ प्रेस क्लब ऑफ इंडिया’ संस्था द्वारा आयोजित समारोह में इन पत्रकारों को यह सम्मान प्रदान किया गया। संस्था के अध्यक्ष नरेंद्र भंडारी और महासचिव अंजलि भाटिया ने इस मौके पर कहा कि दिल्ली में चर्चित सामूहिक बलात्कार की घटना के बाद उनकी संस्था ने आगामी अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (आठ मार्च) को ध्यान रखने में रखकर महिला पत्रकारों को सम्मानित करने का फैसला किया।

टोटल टीवी से इस्तीफा देकर न्यूज एक्सप्रेस में चैनल में एंकर-प्रोड्यूसर बने रोहित पुनेठा

टोटल टीवी के प्रमुख एंकर और प्रोड्यूसर रोहित पुनेठा ने अपनी नई पारी न्यूज एक्सप्रेस चैनल के साथ शुरू की है। न्यूज एक्सप्रेस में भी उन्‍हें एंकर / प्रोड्यूसर बनाया गया है।  रोहित पुनेठा ने सितंबर 2012 में ही साधना न्यूज से इस्तीफा दे कर टोटल टीवी ज्वाइन किया था। टोटल टीवी से पहले रोहित साधना न्यूज और टीवी 100 में कार्यरत रहे हैं। रोहित पुनेठा की गिनती मीडिया के उभरते और प्रतिभाशाली एंकरों में की जाती है।

जागरण कार्यालय में मंत्रियों के आने पर छापा पड़ने की अफवाह उड़ी

दैनिक जागरण के बदायूं कार्यालय में मंत्री लोग ब्यूरो चीफ के बुलावे पर आए तो शहर में चर्चा फैल गई कि जागरण पर छापा पड़ा है. हुआ यह कि कल बदायूं में उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री अबधेश कुमार और अरुण कुमार कोरी विभिन्न योजनाओं के चेक वितरित करने आये थे. ये लोग जागरण के ब्यूरो चीफ के पूर्व परिचित भी बताये जाते हैं. कार्यक्रम में ही जागरण के ब्यूरो चीफ ने उनसे मुलाक़ात कर कार्यालय आने का आग्रह कर लिया, तो कार्यक्रम के बाद दोनों मंत्री भारी पुलिस फ़ोर्स के साथ जागरण कार्यालय पहुँच गये.

एक झटके में ही आडवाणी हुए रेस से बाहर!

भाजपा के तीन दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन का आज समापन होने जा रहा है। शुक्रवार को कार्यकारिणी की बैठक हुई थी। इसमें भी पूरे समय गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की वाहवाही, बाकी सभी मुद्दों पर भरी पड़ी। पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने भी पहले दिन से ही मोदी महिमा के बखान से शुरुआत की। इसके बाद तो यह सिलसिला लगातार बढ़ता ही रहा। कल से दो दिवसीय राष्ट्रीय परिषद की बैठक शुरू हुई है। इसमें भी मोदी ही छाए रहे।

सेबी ने फिर सहारा के खिलाफ जारी की एडवाइजरी, अबकी बैंकों को किया एलर्ट

पूंजी बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने अब बैंकों, वित्तीय संस्थानों और सरकारी विभागों को भी सहारा समूह की दो कंपनियों और उनके वरिष्ठ अधिकारियों से लेन-देन में सावधानी बरतने की सलाह दी है. इससे पहले सेबी ने सहारा से कारोबार को लेकर आम लोगों को चेताया था. सेबी ने सहारा की इन कंपनियों की संपत्तियां जब्त करने का आदेश जारी कर चुका है.

सीओ के मौत पर इतना हल्ला, प्रधान और उसके भाई की मौत पर चर्चा नहीं!

Harishankar Shahi : प्रतापगढ़ के बालीपुर विवाद के बारे में खूब स्यापा पढ़ने में आ रहा है. इसमें पुलिस के एक अधिकारी जो मुस्लिम भी थे, उनकी मौत हो गई. पूरे घटनाक्रम की शुरुआत में बालीपुर ग्राम प्रधान की हत्या हुई थी और उसके बाद पुलिस फायरिंग में उसके भाई की मौत हो गई थी. लेकिन स्यापा के रंग देखिये. सारा जोश जूनून केवल साहब के मरने पर है. इन दो और आम लोगों के मरने पर किसी ने शब्द भी खर्च नहीं किये. साहब मुसलमान थे और पांच वक्त के नमाज़ी व देशभक्त थे, यह बातें खूब फेस्बूकियाई जा रही है. लेकिन उन दो अन्य मरने वालों का नाम लेना फेसबुक एक्टिविज्म और पत्रकारिता के लिए पाप होता जा रहा है.

जानवरों से भी बदतर है मेनका गांधी के स्‍कूल के शिक्षकों की दशा

पशु पक्षियों के संरक्षण के लिए अभियान चलाने वाली मेनका गाँधी के विद्यालय के अध्यापको की दशा जानवरों से भी बदतर है । शोषण अन्याय के खिलाफ अध्यापक आन्दोलन की राह पर है । अध्यापकों ने महंगाई की मार से बचाने के लिए वेतन बढ़ाने की मांग की तो उन्हें निष्कासित कर दिया गया । मनरेगा मजदूरों की मजदूरी से कम वेतन पाने वाले एम० एड० तथा बी० एड० की डिग्री लेकर बच्चों को पढ़ने वाले अध्यापक ताला बंद हड़ताल पर बैठ गये है ।

राहुल शर्मा ने न्यूज11 से इस्तीफा देकर आर्यन टीवी ज्वाइन किया

पटना से सूचना है कि राहुल शर्मा ने आर्यन टीवी में बतौर एंकर कम प्रोड्यूसर के रूप में कल ज्वाइन कर लिया. राहुल अभी तक न्यूज11 में काम कर रहे थे. वहां से उन्होंने इस्तीफा देकर आर्यन का दामन थामा है. वे न्यूज11 में भी एंकर के रूप में कार्यरत थे. राहुल रफ्तार टीवी, दूरदर्शन, जी न्यूज, आल इंडिया रेडियो में ट्रेनी जर्नलिस्ट के रूप में काम कर चुके हैं. 

कहानी उस पत्रकार की इस प्रकार है…

सेवा में, प्रधान संपादक (यशवन्त जी), सादर प्रणाम! मेरे एक मित्र ने बताया कि आप पत्रकारों की खबर भी छापते हैं। जो पत्रकार अनियमितता करता हो उसका पोल खोलते हैं। लेकिन मुझे दुःख के साथ कहना पड़ रहा है कि एक पत्रकार जो तस्कर है अखबारों से निकाला जा चुका है उसका संरक्षण आप दे रहे हैं तथा उसकी लिखी खबर भी लगा रहे हैं। इसके पहले भी मैं आपको एक मेल भड़ास4मीडिया पर किया था। आपने कुछ उत्तर नहीं दिया। कहानी उस पत्रकार की इस प्रकार है-

रोमिंग फ्री फोन का वादा कहां गया?

संचार मंत्री कपिल सिब्बल ने पिछले साल कहा था कि नए साल में सेल फोन रोमिंग फ्री हो जाएंगे। पिछले महीने उन्होंने कहा कि फरवरी में रोमिंग फ्री हो जाएगा। फरवरी का महीना बीत गया। कहीं रोमिंग फ्री होने की सुगबुगाहट तक नहीं है। क्या केंद्रीय मंत्री सिब्बल भूलने लगे हैं। यह एक महत्वपूर्ण वादा है। देश भर के लोग रोमिंग फ्री घोषणा का इंतजार कर रहे हैं। देश के विभिन्न समाचार पत्रों को इसकी याद दिलानी चाहिए। इलेक्ट्रानिक मीडिया को इसकी याद दिलानी चाहिए।

तकनीकी चूक से एनडीटीवी ने खुद खोल ली अपनी पोल (देखें वीडियो)

तकनीक बड़ी मायावी होती है। आपको छिपा भी सकती है और आपका पर्दाफाश भी बड़ी आसानी से कर सकती है- जैसे स्वामी अग्निवेश का हुआ। अभी ताज़ा मामला NDTV का है। परसों के बड़ी बहस का मामला है। बहस के शुरुआत में भाजपा के राष्ट्रिय कार्यकारिणी की बैठक के अलोक में प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद का बयान चल रहा था।

उपेंद्र राय फिर हुए ताकतवर, मुख्यधारा में वापस लौटे

एक बड़ी और चौंकाने वाली खबर सहारा से आ रही है। हाल के दिनों में साइडलाइन कर दिए गए उपेंद्र राय पर सहारा समूह के चेयरमैन सुब्रत रॉय ने फिर से भरोसा जताया है। उपेंद्र राय को सहारा को संकट से निकालने का जिम्मा दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक इसके लिए सहारा में एक आंतरिक मेल भी जारी किया गया है। सहारा के सभी विभागों के प्रमुखों को जारी मेल में कहा गया है कि वो उपेंद्र राय को पूरा सहयोग करें। यही नहीं उपेंद्र राय को मीडिया में दखल देने का भी पूरा अधिकार दिया गया है। यानी सहारा के लिए संकटमोचक की भूमिका में आ गए हैं उपेंद्र राय।

उनके लिए जिन्हें मनीषा पांडेय के बोलने से मिर्ची लगती है….

Shahnawaz Malik : जिन लोगों को मनीषा पांडेय के बोलने से मिर्ची लग रही है, ये दरअसल वही लोग और वही मानसिकता है, जिसके खिलाफ उसकी लड़ाई है। और ये लड़ाई भी सिर्फ मनीषा की नहीं, बल्कि किसी भी पढ़े-लिखे, समझदार और संवेदनशील व्‍यक्ति की है। और अगर नहीं है तो होनी चाहिए। कुंठित लोगों के पास जब कुछ और नहीं बचता तो निजी टीका-टिप्‍पणियों पर उतर आते हैं। मैं पूछता हूं कि आप लोग उसे जानते कितना हैं? उसकी पढ़ाई, उसके काम, उसके लिखने से कितना वाकिफ हैं? पत्‍नी को "नौकरानी" कहने पर इतनी तकलीफ क्‍यों हो रही है आपको? आपको लगता है कि नौकरानी के लिए कुछ महान शब्‍द ईजाद कर देने से वास्‍तविकता बदल जाएगी। क्‍या आप वो भोले इंसान हैं जो सचमुच "यत्र नार्यस्‍तु पूज्‍यंते" टाइप स्‍लोगन को सच माने बैठा है।

इलाहाबाद में गोली मारकर प्रधान पति की हत्‍या

इलाहाबाद। गंगापार के नवाबगंज में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है। कछार के अकबरपुर उर्फ गंगागंज में दो मार्च को दिनदहाड़े ताबडतोड़ गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया गया। कत्ल के पीछे पुरानी चुनावी रंजिश बताई जा रही है। मृतक के भाई नौशाद ने थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। इसमें उसी गांव के ही तीन लोगों को नामजद कराया गया है। पुलिस अफसरों ने मौके पर पहुंचकर लोगों से पूछताछ की। देर शाम तक किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है।

ट्रैफिक कुप्रबंधन से नाराज नागाओं ने पुलिस जीप पर किया कब्जा

काशी में यातायात की समस्या काफी पुरानी है और उसका निराकरण शून्य प्रतीत होता रहा है। इस समस्या से काशीवासी भले ही रोजाना दोचार होने के बावजूद शान्त पडे रहते हों किन्तु आज नागा साधूओं ने अपने निराले अंदाज में इसका जमकर विरोध प्रदर्शित किया। वाराणसी के सबसे व्यस्त इलाके कबीर चौरा के पास उस समय सबकी निगाहे पुलिस की एक जीप पर ठहर गयी जब नगर में

अखबारों ने अपनाया जो मिले लूट लो का फार्मूला

: लोगों को खुद लुटवाने में लगे अखबार : यशवंत, जी हद हो गई एक तरफ अखबार चलाने वाले लोगों को इंसाफ दिलाने का दम भरते हैं वहीं दूसरी तरफ खुद अखबार ही जनता को लुटवाने में लगे हुए हैं। तमाम अखबारों में विज्ञापन को लेकर इस कदर होड़ मची रहती है कि वो ये तक नहीं देखते की जनता तक जो मैसेज पहुंचाया जा रहा है उसमें कितनी सच्चाई है। इसका उदाहरण मैं इस तरह से देना चाहूंगा। अमर उजाला में क्लासीफाइड पेज आता है। उस पर दुनियाभर के अनगिनत विज्ञापन छोटे छोटे कोलम में दिए होते हैं।

बांग्लादेश के हालात पर भारतीय मीडिया की खामोशी

बांग्लादेश में हो रहे जन जागरण आन्दोलन को भारत की मीडिया नजरअंदाज कर रही है। जबकि नेपाल के जनयुद्ध, श्रीलंका का तमिल आन्दोलन, पाकिस्तान का आतंकी अभियान तथा वर्मा का सैन्यीकरण को भारतीय मीडिया ने महत्वपूर्ण स्थान दिया था। आस-पास की गतिविधियों को गौर किये बगैर हम अपनी विदेश नीति तय नहीं सकते हैं। बावजूद भारतीय मीडिया बांग्लादेश की परिघटनाओं से अछूता है।

फैक्‍ट्री मालिकों की शह पर मजदूरों को प्रताडि़त कर रही है नोएडा पुलिस

नोएडा। बिगुल मज़दूर दस्ता सहित कई जनसंगठनों ने नोएडा पुलिस द्वारा मज़दूर नेता तपीश मैन्दोला तथा 6 आम नागरिकों को अवैध रूप से हिरासत में रखने की कड़ी निन्दा की है। अवैध हिरासत के विरुद्ध आज इलाहाबाद उच्च न्यायालय में याचिका भी दायर की जा रही है। दिल्ली मेट्रो कामगार यूनियन के अजय स्वामी ने बताया कि 27 फरवरी की शाम नोएडा पुलिस के 10-12 लोग दो बोलेरो गाडि़यों में भरकर गाजियाबाद में नवीन प्रकाश के डीटीपी सेंटर में आए और उन्हें व उनके कर्मचारी राजू को जोर-जबर्दस्ती अपने साथ ले गए।

नवीन गुप्‍ता का दैनिक सवेरा से इस्‍तीफा, अमर उजाला ज्‍वाइन करेंगे

जालंधर से खबर है कि नवीन गुप्‍ता ने दैनिक सवेरा से इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर थे. वे अपनी नई पारी मेरठ में अमर उजाला के साथ शुरू करने जा रहे हैं. उन्‍हें यहां पर एनई बनाया जा रहा है. संभावना है कि अमर उजाला का माई सिटी एडिशन की जिम्‍मेदारी नवीन को सौंपी जाएगी. नवीन गुप्‍ता इसके पहले भी अमर उजाला के साथ काम कर चुके हैं. इसे उनकी घर वापसी मानी जा रही है.

भ्रष्‍ट पत्रकारिता (14) : नाम का रोजगार, पर करोड़पति शरद प्रधान!

मन मैला, तन ऊजरा, भाषण लच्छेदार,
ऊपर सत्याचार है, भीतर भ्रष्टाचार।
झूठों के घर पंडित बांचें, कथा सत्य भगवान की,
जय बोलो बेईमान की!

बठिंडा भास्‍कर वालों ने भाई-बहन को बना दिया पति-पत्‍नी

दैनिक भास्‍कर, बठिंडा यूनिट में फिर एक गड़बड़ी हो गई है। यूनिट के अंदर आने वाले मोगा भास्‍कर में मोगा उपचुनाव के दौरान मतदान के दिन की एक फोटो में भास्‍कर ने सगे भाई-बहन को पति-पत्‍नी यानी दंपति बना डाला। गैरजिम्‍मेदाराना तरीके से किए इस घिनौने कार्य की पोलपट़टी खुली तो बेशर्म भास्‍कर वालों ने तुरंत अगले दिन भूल सुधार छाप दिया।

समाचार प्‍लस में सीनियर प्रोड्यूसर बने मयंक सक्‍सेना

युवा व प्रतिभाशाली पत्रकार मयंक सक्सेना ने अपनी नई पारी समाचार प्‍लस चैनल के साथ शुरू की है. उन्‍हें चैनल में सीनियर प्रोड्यूसर बनाया गया है. वे आउटपुट में अपनी सेवाएं देंगे. मयंक ने कुछ महीने पहले न्यूज24 चैनल से इस्तीफा दे दिया था. मयंक न्‍यूज24 से पहले जी न्यूज, सीएनईबी, सी वोटर समेत कई चैनलों में कार्यरत रहे हैं. मयंक पत्रकारिता में दिल की सुनने वाले पत्रकार माने जाते हैं इसलिए जब जी किया नौकरी की जब मन नहीं रमा तो अपनी मर्जी से इस्तीफा देकर यायावरी करने निकल पड़े.

‘समाचार प्‍लस राजस्‍थान’ 14 अप्रैल को होगा लांच

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में अपनी अलग पहचान बनाने के बाद, अब 'समाचार प्लस' चैनल का विस्तार राजस्‍थान में भी होने जा रहा है. इस नेटवर्क का दूसरा चैनल 'समाचार प्लस-राजस्थान' 14 अप्रैलको लॉन्च होने जा रहा है. इसके लिए सभी तैयारियां लगभग पूरी की जा चुकी हैं. लुक एंड फील तैयार हो चुका है, न्यूज़रूम, स्टूडियो, पीसीआर-एमसीआर भी बनकर तैयार हो चुका है. चैनल को ऑन एयर करने वाली सारी मशीनें तैयार हो चुकी हैं.

जींद में ब्राह्मणों ने पंजाब केसरी की होली जलाई (देखें तस्‍वीरें)

जींद में पंजाब केसरी की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं. परशुराम पर खबर लिखना अखबार के ब्‍यूरोचीफ जसमेर मलिक के गले की हड्डी बन गया है. जींद का ब्राह्मण समाज अखबार के खिलाफ लगातार प्रदर्शन कर रहा है. अखबार का विरोध करते हुए ब्राह्मणों ने पंजाब केसरी की प्रतियां जलाईं. इन लोगों राज्‍यपाल को पत्र लिखकर अखबार, संपादक तथा ब्‍यूरोचीफ के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है. 

बजट से मारा, अब पेट्रोल से जलाया, और डीजल अभी बाकी है मेरे दोस्त

महंगाई पता नहीं हमें कहां ले जाएगी। आमदनी घट रही है। महंगी बढ़ रही है। सरकार कह रही है कि हर एक को आधार कार्ड जरूरी है। लेकिन हालात देखकर अपना मानना है कि आधार नहीं उधार कार्ड जरूरी है। आप जब तक यह पढ़ रहे होंगे, महंगाई और बढ़ चुकी होगी। सरकार ने अपने लुभावने लगनेवाले बजट के घाटे को कम करने का इंतजाम कर दिया है। पहले बजट से तेल निकाला। अब वह तेल से कमाई निकालेगी। दो दिन पहले बजट में जो महंगाई बढ़ाई गई थी, उससे भी ज्यादा महंगाई पेट्रोल के भाव बढ़ाकर बढ़ाई है। 

जनसंदेश टाइम्‍स के संवाददाता को चार साल की कैद

जनसंदेश टाइम्‍स, बनारस में ऐसे लोगों के हाथों में हैं. जिससे इस अखबार और पत्रकारिता दोनों का भला होना मुश्किल है. बनारस यूनिट से जुड़े चंदौली जिले से खबर है कि जनसंदेश टाइम्‍स ने एक ऐसे व्‍यक्ति को अखबार प्रतिनिधि बना रखा था, जिस जान लेवा हमला करने का आरोप था. इस मामले में सुनवाई करते हुए कोर्ट ने जनसंदेश टाइम्‍स के इस संवाददाता को चार साल कैद की सजा सुनाई है. इसके बाद यह बहस फिर तेज हो गया है कि जनसंदेश टाइम्‍स जैसे अखबार अपराध करने वालों को पाल पोस कर पत्रकारिता कर रहे हैं. 

इन 12 लाख 60 हजार बाल मजदूरों को मुक्ति कौन दिलाएगा?

राजस्थान राज्य की 12 प्रतिशत जनसंख्या 6 साल से कम तथा 36 प्रतिशत जनसंख्या 7 से 18 साल तक के बच्चों की हैं। सरकार योजनाएं एवं नीतियां राजनीतिक हितों को ध्यान में रखकर तैयार करती है। बच्चे क्योंकि राजनीतिक हितों की पूर्ति में कहीं पर भी सहायक नहीं हैं अतः वे सरकार की प्राथमिकताओं में भी नहीं हैं। यदि वर्ष 2008-09 के राज्य बजट को देखें तो बच्चों की सुरक्षा पर मात्र 0.02 प्रतिशत ही व्यय किया गया है। यानी बाल सुरक्षा सरकार की प्राथमिकता में बहुत नीचे है। 2005-06 से 2010-11 तक वार्षिक बजट व्यय का विश्लेषण देखें तो राजस्थान सरकार ने बच्चों के पोषण, विकास, स्वास्थ्य व सुरक्षा जैसे अति महत्वपूर्ण मदों पर अत्यंत सीमित राशि ही व्यय की है। अत्यंत सीमित बजट प्रावधानों का ही परिणाम है कि राज्य में हर दूसरा बच्चा कुपोषित, हर पांचवां बच्चा शिक्षा से वंचित, हर चौथा बच्चा बाल श्रमिक है।

नए एफएम चैनल के जरिए होगा रेडियो उद्योग का विस्तार

वित्त वर्ष 2013-14 के आम बजट में नए एफएम रेडियो स्टेशन खोलने के प्रावधान का मीडिया कंपनियों ने स्वागत किया है। उनका कहना है कि इससे रोजगार तो बढ़ेगा ही, लोगों को न्यूज, नेटवॢकंग, करंट अफेयर्स और खेल आदि से जुड़े नए और बेहतरीन प्रोग्राम भी सुनने को मिल सकेंगे। बजट के अनुसार वर्ष 2014 में 839 एफएम रेडियो लाइसेंस की नीलामी की जाएगी। ये 294 ऐसे शहरों में होंगे जिनकी आबादी एक लाख है।

ब्लैक लिस्टेड 125 स्कूलों के परीक्षा केंद्र कैंसिल

इलाहाबाद। यूपी बोर्ड ने हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए बनाए गए एक सौ पच्चीस केंद्रों को निरस्त कर दिया है। परीक्षा केंद्र चाहने वाले स्कूल प्रबंधकों के बीच हड़कंप मच गया है। यह सभी केंद्र गड़बड़ियों की वजह से पहले से ही काफी कुख्यात हो चुके थे। इनके नाम काली सूची में डाले गए थे। समझा जा रहा है कि केंद्र निरस्त करने की यह कार्रवाई हाइकोर्ट के सख्त रूख को देखते हुए की गई है।

आप तो अपने रन कुर्बान कर देते पर एक महान सम्पादक उस रात कुर्बान हो गया था सचिन

आस्ट्रेलिया के साथ दूसरा टेस्ट खेलने हैदराबाद पहुंची टीम इंडिया के सबसे उम्रदराज खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर यहां इसी टीम के खिलाफ पांच नवम्बर २००९ को खेले गए एक दिनी मैच में अपनी १७५ रन की पारी और टीम की तीन रन से सनसनीखेज पराजय को याद कर भावुक हो उठे. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए गुरुवार की शाम कहा, " मै उस मुकाबले में अपनी टीम की जीत के लिए अपने १७५ रन कुर्बान कर देता".

डॉ.कविता वाचक्नवी को ‘आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी पत्रकारिता सम्मान’

हैदराबाद : भारतीय जीवन मूल्यों के प्रसार की अंतरराष्ट्रीय संस्था ‘विश्वम्भरा’ की संस्थापक महासचिव डॉ. कविता वाचक्नवी को लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग द्वारा विश्व हिंदी दिवस के अवसर पर दिया जाने वाला ‘आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी पत्रकारिता सम्मान’ प्रदान किए जाने की घोषणा की गई है. यह पुरस्कार उन्हें इंटरनेट और वेब पत्रिकाओं के माध्यम से ब्रिटेन में हिंदी के उत्कृष्ट प्रचार-प्रसार के लिए प्रदान किया जा रहा है.

नवदुनिया में एनई बने रवींद्र कैलासिया, देवकी नंदन ने कार्यभार संभाला

दैनिक भास्‍कर के बीटीवी से इस्‍तीफा देने वाले रवींद्र कैलासिया ने भोपाल में जागरण समूह का अखबार नवदुनिया से जुड़ गए हैं. उन्‍होंने न्‍यूज एडिटर के पद पर ज्‍वाइन किया है. रवींद्र कैलासिया ने 1 मार्च को अपनी नई जिम्‍मेदारी संभाली. रवींद्र कैलासिया मध्‍य प्रदेश के तेजतर्रार तथा जानेमाने पत्रकार हैं. वे तीन दशकों से पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय हैं. इन्‍होंने अपने करियर की शुरुआत 84 में नईदुनिया के साथ की थी. नवदुनिया के साथ ये घर वापसी कर रहे हैं. इसके अलावा इन्‍होंने चौथा संसार, नवभारत, दैनिक भास्‍कर, पत्रिका को भी लंबे समय तक अपनी सेवाएं दी हैं.

तेज से इस्‍तीफा देकर जी न्‍यूज पहुंचे प्रखर, आई नेक्‍स्‍ट से सुधांशु का इस्‍तीफा

आजतक समूह के चैनल तेज से खबर है कि प्रखर श्रीवास्‍तव ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर सीनियर प्रोड्यूसर थे. प्रखर अपनी नई पारी जी न्‍यूज के साथ शुरू करने जा रहे हैं. उन्‍हें यहां पर डिप्‍टी एक्‍जीक्‍यूटिव प्रोड्यूसर बनाया जा रहा है. प्रखर की गिनती टीवी के तेजतर्रार पत्रकारों में की जाती है. वे लंबे समय से आजतक समूह के साथ जुड़े हुए थे. वे कई अन्‍य संस्‍थानों को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

हिंदुस्‍तान, बरेली में संजीव गंभीर बर्खास्‍त, नवीन का इस्‍तीफा

हिंदुस्‍तान, बरेली से खबर है कि सीनियर रिपोर्टर संजीव गंभीर को बर्खास्‍त कर दिया गया है. संजीव पर आरोप है कि वे लंबे समय से छुट्टी पर चल रहे थे. वे हिंदुस्‍तान की बरेली में लांचिंग के समय से जुड़े हुए थे. इसके पहले वे अमर उजाला को अपनी सेवाएं दे रहे थे. इनके पहले डीएनई बृजेंद्र निर्मल को भी अनुशासनहीनता के आरोप में बर्खास्‍त कर दिया गया था.

बजट में चिदंबरम ने ‘संतुलन’ साधने की कर दी है सर्कस!

वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने 2013-14 के प्रस्तुत किए गए बजट में काफी चतुराई दिखाने की कोशिश की है। उन्होंने तमाम बजट पूर्वानुमानों को खासे झटके दिए हैं। सत्तारूढ़ कांग्रेस के हलकों में पक्के तौर पर उम्मीद की जा रही थी कि वित्तमंत्री इनकम टैक्स में कर छूट का दायरा जरूर बढ़ाएंगे। ताकि चुनावी वर्ष में पार्टी की राजनीति को ज्यादा चमकदार बनाया जा सके। लेकिन वित्तमंत्री ने इन उम्मीदों पर पूरी तरह से पानी फेर दिया। इनकम टैक्स के स्लैब में भी कोई बदलाव नहीं किया गया। इतना जरूर हुआ कि उन्होंने एक करोड़ रुपए से अधिक की आय वाले अमीरों पर दस प्रतिशत का सरचार्ज ठोंक दिया है। मध्यवर्ग को वित्तमंत्री ने कोई राहत तो नहीं दी। यदि यह वर्ग चाहे, तो अमीरों पर ज्यादा टैक्स लगने से अपने मन को कुछ तसल्ली दे ले।

जागरण में राजेश यादव का गोरखपुर एवं निर्भय सिंह का बनारस तबादला

दैनिक जागरण, बनारस से खबर है कि सर्कुलेशन मैनेजर राजेश यादव का तबादला गोरखपुर कर दिया गया है. राजेश यादव लगभग डेढ़ दशक से दैनिक जागरण से जुड़े हुए हैं. अभी उन्‍होंने गोरखपुर ज्‍वाइन नहीं किया है. उनकी जगह गोरखपुर में तैनात सर्कुलेशन मैनेजर निर्भय सिंह का तबादला बनारस के लिए कर दिया गया है. खबर है कि निर्भय सिंह ने अपनी जिम्‍मेदारी संभाल ली है. राजेश यादव के गोरखपुर ज्‍वाइन करने की संभावनाओं को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं.

पत्रकार बताकर अवैध वसूली करने वाला अरेस्‍ट

बल्लभगढ़ : अपने को पत्रकार बता नगर निगम से रेहड़ी लगाने की सहमति दिलाने के नाम पर रेहड़ी वालों से अवैध धन वसूली करने के आरोप में पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया है। श्याम कालोनी निवासी अवधेश बस स्टैंड पर केले की रेहड़ी लगाता है। 22 जनवरी को नगर निगम के तोड़फोड़ दस्ते ने सभी रेहड़ियों को हटा दिया, तभी उनके पास गांव साहुपुरा का रहने वाला धर्मेद्र नाम का एक युवक आया, उसने अपने को पत्रकार बताया तथा  रेहड़ी वालों से कहा कि वह उनकी रेहड़ियों को लगवाने के लिए निगम से सहमति ले लेगा। इसके लिए उसे प्रत्‍येक रेहड़ी वालों को 200 रुपये देने होंगे।

वो कैमरा ही नहीं, नौकरी भी देने को तैयार, पर ये कथित पीड़ित महोदय कहां हो गए फरार!

किन्हीं राकेश बंसल उर्फ स्वतंत्र फोटोग्राफर ने पिछले दिनों आरोप लगाया कि उनका कैमरा दीपक चौरसिया व उनके लोगों ने छीन लिया, गायब कर दिया, और मांगने पर दे नहीं रहे. राकेश बंसल के इस आरोप को आम आदमी पार्टी के लोगों ने तूल दे दिया. न्यू मीडिया और सोशल मीडिया पर इसे बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया गया. लेकिन इसके पीछे की सच्चाई अब पता चली है. मामला ये है कि शुरू से ही दीपक चौरसिया ने राकेश बंसल को न सिर्फ कैमरा देने की बात कही, बल्कि नौकरी भी देने का प्रस्ताव रखा. पर राकेश बंसल गायब हो गए.

डॉ. ज़ाकिर हुसैन ट्रस्ट पीआईएल लखनऊ से इलाहाबाद बेंच स्थानांतरित

इलाहाबाद हाई कोर्ट, लखनऊ बेंच में केन्द्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद के डॉ. ज़ाकिर हुसैन मेमोरियल ट्रस्ट की कथित अनियमितताओं के सम्बन्ध में सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. नूतन ठाकुर द्वारा दायर रिट याचिका इलाहाबाद बेंच स्थानांतरित कर दिया गया है. यह आदेश चीफ जस्टिस शिव कीर्ति सिंह ने ट्रस्ट के राज्य कोर्डिनेटर लखनऊ स्थित मोहम्मद कौनैन हुसैन द्वारा दिये आवेदन कर किया. इस आवेदन पत्र में कहा गया था कि ट्रस्ट के खिलाफ पत्रकार राजू पारुलेकर द्वारा एक दूसरी जनहित याचिका इलाहाबाद बेंच में दायर है. अतः लखनऊ बेंच में ठाकुर द्वारा दायर याचिका भी सुनवाई के लिए इलाहाबाद स्थानांतरित कर दी जाए.

तांत्रिक ने सप्‍ताह भर दो नाबालिगों के साथ किया बलात्‍कार

: पहले भी हत्या के मामले में जा चुका हैं जेल : बाड़मेर। राजस्थान के बाड़मेर जिले में एक रूह कंपाने सरीखा मामला सामने आया है। बाड़मेर के गुडामालानी कस्बे में एक तांत्रिक ने चौदह और पन्द्रह साल की दो बहनों का अपहरण करके उनका सात दिनों तक लगातार बलात्कार किया। यह तांत्रिक पूर्व में भी ऐसे ही नाबालिग का अपहरण, बलात्कार और हत्या के मामले में आरोपी रह चुका है। लेकिन सबसे गम्भीर बात यह हैं कि इस बार जिन दो नाबालिग लड़कियों का इसने बलात्कार किया वो इसके नजदीकी रिश्तेदार की पुत्रियां थी।

‘जनवाणी’ अखबार वाले पैसा नहीं दे रहे, लेखिका ने अपनी पीड़ा सार्वजनिक की

: KIND ATTENTION – DAINIK JANWANI TEAM : LEGAL COMPLAINT TO BE INITIATED FOR NOT RECEIVING RENUMERATION FOR MY ARTICLES PUBLISHED IN MAY & JUNE 2012 IN DAINIK JANWANI : This is to bring to your kind attention that I have not received the remuneration for my two articles published in your magazine 'Dainik Janwani' during May & June 2012. I was assured by the Editor Mr. Sachin Srivastava to whom I had submitted the articles that by July I will receive my honorarium. However after that there has been no correspondance or update on this matter from your magazine.

कुदरत का अजूबा – पेड़ के उपर पेड़

कुदरत का अजूबा… गाजीपुर के दिलदारनगर क्षेत्र पेड़ों के उपर पेड़ लोगों के लिए बना हैरत का कारण। क्षेत्र में पकड़ी और पीपल के कई विशाल वृक्षों पर 20 से 30 फिट उंचे ताड़ के पेड़ कुदरत के अजूबे को दिखला रहे हैं। पचासों सालों से खड़े ये पेड़ बरबस ही लोगों को अपनी ओर …

अंग्रेजी पुलिस जैसे निरंकुश बन गए थे वर्दीधारी (देखें तस्‍वीरें)

सुलतानपुर। सोमवार को पुलिस अधीक्षक दफ्तर जलियांवाला बाग से कम नहीं नजर आया। अंग्रेजी हुकूमत की तर्ज पर वर्दीधारी ज्ञापन देने गए लोगों की जान लेने पर उतारू थे। स्थिति को भड़काने में सत्ता पक्ष के माननीय की भूमिका अहम बताई जा रही है। हालॉकि यह दृश्य देख प्रत्यक्षदर्शियों के रोंगटे खड़े हो गए। बहरहाल माना जा रहा है कि पुलिस ने लाठी चार्ज न किया होता तो यह प्रदर्शन जिले के लिए इतिहास बन जाता। कानून को हाथ लेने वाले वर्दीधारियों की खबर लेने की तैयारी चल रही है। उधर, देररात एसआई गणेश शुक्ला व सिपाही रामसमुझ को एसपी ने छायाकार से अभद्रता मामले में निलंबित कर दिया।

बिलासपुर में वरिष्‍ठ रिपोर्टर ने की महिला सहकर्मी से छेड़खानी, प्रबंधन बचाने में जुटा

: कानाफूसी : बिलासपुर शहर में कलेक्टर बीट देखने वाले एक बड़े अखबार के रिपोर्टर ने अपनी करतूत से यहां की पत्रकारिता को शर्मनाक स्थिति में ला दिया है. कुछ दिन पहले इस अधेड़ रिपोर्टर ने अपने बगल में बैठने वाली रिपोर्टर, जो उसकी बेटी की आयु की है, के साथ लगातार छेड़खानी करता रहा. एक दिन तो उसने उसका हाथ ही पकड़ लिया. तमतमाई रिपोर्टर ने अपने घर के लोगों को फोन मिलाना शुरू किया. उपस्थित प्रेस के लोगों ने उसे मनाकर रोका और उसको कार्रवाई का आशवासन दिया.

संपादक से अभद्रता करने वाले डीएनई बृजेंद्र निर्मल बर्खास्‍त

हिंदुस्‍तान, बरेली से खबर है कि संपादक कुमार अभिमन्‍यु से अभद्रता करने की गाज डीएनई बृजेंद्र निर्मल पर गिरी है. प्रधान संपादक शशि शेखर के निर्देश पर डीएनई बृजेंद्र निर्मल को बर्खास्‍त कर दिया गया है. इस कार्रवाई से एक मैसेज गया है कि प्रबंधन ने बरेली को सुधारने के लिए फ्री हैंड देकर भेजा है. बरेली में माहौल काफी समय से खराब चल रहा है. आशीष व्‍यास जैसा सुलझा हुआ संपादक भी यहां की रानजीति के आगे टिक नहीं सका.

विजन वर्ल्‍ड से आलोक दीक्षित समेत कई ने शुरू की नई पारी

विजन वर्ल्‍ड न्‍यूज चैनल से खबर है कि कई लोगों ने चैनल के साथ अपनी नई पारी शुरू की है. सी न्‍यूज और ईटीवी को अपनी सेवाएं दे चुके आलोक कृष्‍ण दीक्षित ने विजन वर्ल्‍ड के साथ अपनी नई पारी शुरू की है. उन्‍हें चैनल का आउटपुट हेड बनाया गया है. आलोक के अलावा पूनम पाल, रुबी विराठी, नीरज सेठी, गजेंद्र कुमार, अमित गर्ग, ऋषभ सक्‍सेना, हिमात्री, ऋषि कुमार ने आउटपुट में ज्‍वाइन किया है.

नेटवर्क10 से विदा हुए 11 पत्रकारों की लिस्‍ट

ख़ुशी आने पर भी थी और जाने पर भी है। कल अकेले थे आज टीम हो गयी। पत्रकरिता जीवन का एक और पड़ाव पार हो गया। उत्तराखंड से प्रसारित पहले 24×7 चैनल की लॉंचिंग टीम ने आखिरकार एक साल के सफर के बाद चैनल को अलविदा कह दिया। ये शायद पहला मौका होगा कि चैनल को अलविदा कहने वाले कर्मचारियों ने चैनल हेड को बकायदा पुष्प गुच्छ देकर उन्हें इस बात के लिए धन्यवाद दिया कि उन्होंने अपने सानिध्य में हमें काम करने का मौका दिया।

हिंदुस्‍तान, बरेली में संपादक एवं डीएनई के बीच गाली-ग्‍लौज

हिंदुस्‍तान, बरेली में स्थितियां सुधर नहीं रही हैं. खबर है कि गुरुवार की शाम वेतन के मामले को लेकर संपादक तथा डीएनई के बीच सरेआम गरमा-गरमी हुई. बात अपशब्‍दों से होते हुए हाथापाई की नौबत तक पहुंच गई, परन्‍तु एनई ने बीच बचाव कर मामले को सलटा लिया. इस मामले की जानकारी प्रधान संपादक शशि शेखर तक पहुंच गई है. बताया जा रहा है कि उनके निर्देश पर अनुशासनात्‍मक कार्रवाई की तैयारी की जा रही है.

सीबीआई ने कोयला घोटाले में छापेमारी के लीक होने की जांच शुरू की

सीबीआई ने कोयला घोटाले में 04 सितम्बर 2012 को ग्यारह शहरों में तीस स्थानों पर मारे गए छापों की जानकारी छापों के पूर्व लीक होने के आरोपों के सम्बन्ध में कार्रवाई शुरू कर दी है. इन छापों के तुरंत बाद आम आदमी पार्टी के कन्वेनर अरविन्द केजरीवाल ने यह आरोप लगाया था कि सीबीआई के ये छापे मात्र दिखावा हैं और उन्हें छापे मारे गए एक कंपनी के एक अधिकारी ने ईमेल से जानकारी दी थी कि उन्हें दो दिन पहले ही इनकी सूचना मिल गयी थी. यही बात इंडिया अगेंस्ट करप्शन ने भी अपनी प्रेस रिलीज में कहा था और यह भी कहा था कि सम्बंधित अधिकारी को किसी भी परेशानी से बचाने के लिए वे उनका नाम सार्वजनिक नहीं कर रहे हैं.

सैलरी क्राइसिस के चलते नेटवर्क10 से कई का इस्‍तीफा

: अपडेट : देहरादून से संचालित नेटवर्क10 से खबर है कि यहां सैलरी को लेकर हंगामा काफी तेज हो गया है. प्रबंधन से नाराज लगभग एक दर्जन पत्रकारों ने चैनल को अलविदा कह दिया है. अब चैनल दोयम दर्जे के पत्रकारों के सहारे संचालित किया जा रहा है. इस्‍तीफा देने वाले सभी पत्रकारों को पोस्‍ट डेटेड चेक दिए गए हैं. चैनल को सबसे बड़ा झटका प्राइम टाइम एंकर आशीष तिवारी के इस्‍तीफा देने से लगा है. आशीष प्राइम टाइम एंकर होने के साथ आउटपुट हेड की जिम्‍मेदारी भी संभाल रहे थे.

गुवाहाटी में हिंदी अखबारों ने बढ़ाए अपने दाम

गुवाहाटी। बजट के दिन आज असम के हिंदी अखबारों के पाठकों के लिए दोहरी मार पड़ी। पहली मार वित्त मंत्री ने महंगाई को रोकने के लिए कोई कड़े कदम न उठा कर मारी तो दूसरी पिटाई हिंदी अखबारों ने कर दी। गुवाहाटी के महंगे हिंदी अखबारों ने आज अपने मूल्‍य में एक रुपए की बढ़ोत्तरी कर दी। यानी गुवाहाटी में अब 6 रुपए की जगह अखबार 7 रुपए में मिलेंगे। कर्मचारियों के लिए दो जुन की रोटी के लिए ठीक से पैसे न देने वाले इन अखबारों ने महंगाई का हवाला देते हुए पाठकों से 12 पेज के अखबारों के लिए 7 रुपया देने की अपील की है।

अशोक पांडेय ने किया नेटवर्क10 का बेड़ा गर्क

कहावत है कि पूत के पांव पालने में ही दिख जाते हैं। नेटवर्क 10 की लांचिंग से पहले ही आसार दिखने लगे थे कि आने वाले वक्त में इसकी हालात खस्ता होने वाली है। चैनल प्रबंधन ने मालिकों को शुरुआत में बड़े बड़े सपने दिखाए, उन सपनों के आगोश में आकर ही चैनल मालिकों ने नेटवर्क 10 को खड़ा करने के लिए जमकर पैसे लुटाए। शिमला बाईपास पर एक नई बिल्डिंग में चैनल का आफिस खोला गया। न्यूज़ रूम से लेकर, पीसीआर, आईटी और तमाम आफिस शानदार तरीके बनाए गए। 

जिंदगी में कभी न रहें उदास : श्री श्री रविशंकर

विराटनगर (नेपाल) : नेपाल के पूर्वांचल दौरे में रहे आर्ट आफ लीविंग का संस्थापक श्री श्री रविशंकर गुरुवार को विराटनगर के ऐतिहासिक शहीद रंगशाला मैदान में हजारों श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कहा कि इश्वर सर्वत्र है, हमारी जो भी इच्छा है उसे पूरा करता है। जीवन को सरस बनाये नीरस नहीं। अपने चेहरे पर उदासी आने न दें। अध्यात्म को अपनायें और सुखी खुशी रहें। उन्होंने कहा कि जिंदगी में कभी उदास नहीं रहना चाहिए। उदासी किसी समस्या का समाधान नहीं बल्कि रोग बीमारी का लक्षण है।

हिंदुस्‍तान ने आयोजित किया महराजगंज में किसान मेला

 

महराजगंज में हिन्दुस्तान अखबार ने अंबेडकर पार्क में वृहस्पतिवार को किसान मेले का आयोजन किया। जिसमें खेती से संबन्धित सुझाव एवं वैज्ञानिक ढंग से खेती करने की जानकारी दी गई। कम लागत में अधिक पैदावार एवं जैविक खादों के उपयोग पर विशेष ध्यान केन्द्रित किया गया। मेले का उद्घाटन जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने किया। कृषि वैज्ञानिक एवं उप कृषि निदेशक अविनाश चन्द्र और राष्ट्रीय खाद्य मिशन के जिला सलाहकार ताहिर अली ने प्रगतिशील किसानों को उत्तम खेती के लिये पुरस्कृत भी किया। 

वर्धा यूनिवर्सिटी में अध्‍यापक ने की छात्रा से छेड़छाड़, प्रबंधन मामला दबाने में जुटा

 

: कानाफूसी : हमेशा विवादों में रहनेवाले महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा में आजकल एक अध्यापक द्वारा एक छात्रा के यौन-उत्पीड़न का मामला दबे मुंह चर्चा में है। साहित्य विभाग के एक युवा असिस्टेंट प्रोफेसर ने स्त्री अध्ययन विभाग की एक छात्रा को पढ़ाने के बहाने अपने घर बुलाकर उसके साथ कई बार शारीरिक छेड़छाड़ की और चुप रहने की धमकी भी दी। यहीं नहीं इस अध्यापक ने अपने प्रभावों का इस्तेमाल करके उस लड़की को एम.ए. कोर्स में फेल भी करा दिया। 

दबंग दुनिया से अरविंद तिवारी का इस्‍तीफा, कीर्ति राणा को अतिरिक्‍त जिम्‍मेदारी

इंदौर से खबर है कि दबंग दुनिया से वरिष्‍ठ पत्रकार अरविंद तिवारी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे एडिटर कोआर्डिनेटर के पद पर कार्यरत थे. वे फिलहाल नोटिस पीरियड पर चल रहे हैं तथा 31 मार्च के बाद से संस्‍थान के हिस्‍सा नहीं रहेंगे. अरविंद तिवारी टाइम्‍स ऑफ इंडिया से इस्‍तीफा देकर दबंग दुनिया से जुड़े हुए थे. इसके पहले वे दैनिक भास्‍कर तथा पत्रिका में वरिष्‍ठ पदों पर कार्यरत रह चुके हैं. उनकी राजनीति एवं प्रशासनिक हलकों में अच्‍छी पकड़ मानी जाती है. अरविंद तिवारी का दबंग दुनिया से जाना बड़ा झटका माना जा रहा है. वे इंदौर प्रेस क्‍लब मे महासचिव भी हैं. 

दीपक धीमान बने सीपीएच2 के एडिटर, कई और बदलाव

दैनिक भास्‍कर के नार्थ रीजन में व्‍यापक परिवर्तन होने जा रहा है. चंडीगढ़ के स्‍थानीय संपादक दीपक धीमान को प्रमोट करके सीपीएच2 (चंडीगढ़-पंजाब-हरियाणा-हिमाचल) का संपादक बना दिया गया है. पहले इस पद पर कमलेश सिंह को जिम्‍मेदारी दी गई थी, जिनका कुछ महीने पहले भोपाल तबादला कर दिया गया था. इसके बाद से ही यह पद खाली चल रहा था, जिस पर दीपक धीमान को नियुक्‍त कर दिया गया है. 

मीनाक्षी लेखी ने कहा – ओपन ट्रायल फेयर ट्रायल होता है

बीते साल 16 दिसंबर को दिल्‍ली में हुए गैंग रेप मामले में ट्रायल कोर्ट की सुनवाई ओपन कोर्ट में किए जाने की याचिका पर हाई कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है। इस दौरान याचिकाकर्ता ने दलील दी कि इस मामले की सुनवाई के दौरान मीडिया को अदालत में जाने और इस केस को कवर करने की इजाजत मिलनी चाहिए। मीडियाकर्मियों की ओर से पेश एडवोकेट मीनाक्षी लेखी ने पत्रकारों का पक्ष रखते हुए कहा कि ओपन ट्रायल फेयर ट्रायल होता है और यह आरोपियों का भी अधिकार है। हम पब्लिक को सच्चाई बताने से डर क्यों रहे हैं। 

मतगणना के दौरान प्रशासन ने देवरिया के पत्रकारों के साथ की बदसलूकी

 

: मीडियाकर्मियों ने किया बहिष्‍कार : देवरिया में भाटपाररानी विधान सभा उपचुनाव की मतगणना का कवरेज करने गए मीडिया कर्मियों को पास होने के बावजूद सुरक्षा कर्मियों ने मतगणना स्थल से बाहर खदेड़ दिया। एक प्रशासनिक अधिकारी ने भी पत्रकारों से अभद्रता की, जिसको लेकर मीडियाकर्मियों से उसकी तीखी नोंकझोंक हुई। पत्रकारों ने मौके पर फोन से चुनाव आयुक्त को शिकायत दर्ज कराई तथा प्रशासनिक व्‍यवस्‍था का बहिष्कार करते हुए बाहर सड़क से ही सूचनाएं जुटाईं।

भीड़ ने महिला पत्रकार सुधा जैन को गिराकर पीटा

 

मेरठ : चकला घर का विरोध करने एसएसपी दफ्तर आई महिलाओं का गुस्सा उस वक्त फूट पड़ा जब पुलिस आफिस में खड़ी एक महिला पत्रकार ने आरोपी महिला के पक्ष में बयानबाजी कर दी। इस पर प्रदर्शनकारी महिलाओं ने महिला पत्रकार को गिरा-गिराकर पीटा।