सुप्रिय प्रसाद बने आजतक के मैनेजिंग एडिटर

टीवी टुडे ग्रुप के न्यूज चैनल आजतक के हेड सुप्रिय प्रसाद को कंपनी ने प्रमोशन का तोहफा दिया है। सुप्रिय प्रसाद अब आजतक के मैनेजिंग एडिटर बन गए हैं। अब तक सुप्रिय प्रसाद चैनल में एक्जीक्यूटिव एडिटर के पद पर काम कर रहे थे। चैनलों की गलाकाट प्रतियोगिता में आजतक को लगातार नंबर वन बनाए रखने के चलते ही सुप्रिय को टीवी टुडे ग्रुप ने ये इनाम दिया है। सुप्रिय प्रसाद ने आजतक चैनल में पिछले साल सितंबर महीने में एक्जीक्यूटिव एडिटर के तौर पर ज्वाइन किया था।

अनिल सिंह की जमानत 10 सितंबर तक टली

भड़ास4मीडिया के कंटेंट एडिटर अनिल सिंह की जमानत 10 सितंबर तक टल गई है। अनिल को जमानत देने का विरोध करते हुए सरकारी वकील ने दलील दिया कि पुलिस से केस डायरी नहीं मिली है।

जी न्यूज छोड़ने के बाद लाइव इंडिया को हेड करेंगे सतीश के. सिंह

जी न्यूज से एडिटर के पद से इस्तीफा दे चुके वरिष्ठ पत्रकार सतीश के. सिंह ने लाइव इंडिया ज्वाइन कर लिया है। वह चैनल से बतौर एडिटर-इन-चीफ के रूप में जुड़े है। सतीश सिंह ने 1993 में एक अंग्रेजी पत्रिका के साथ अपने पत्रकारिता कॅरियर की शुरुआत की थी। इसके बाद वे नलिनी सिंह के …

अब यूपी औऱ एमपी में भी दिखेगा जन टीवी

राजस्थान की कम्प्यूकॉम सॉफ्टवेयर लिमिटेड कंपनी के दो नये न्यूज चैनल जन टीवी और जन टीवी प्लस अब यूपी और एमपी में भी दिखेंगे। प्रबंधन जल्दी ही इन दोनो प्रदेशों में डिस्टिब्यूशन और कंटेट के लिहाज से रिजनल आफिस खोलने का विचार कर रहा है। चैनल पर उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश की खबरों को ज्यादा प्रमुखता दी जाएगी। दोनों चैनल न्यूज और इंफोटेन्मेन्ट पर फोकस करेंगे।

आईबीएन 7 ने साक्षी जोशी को निकाला

साक्षी जोशी को आईबीएन 7 से निकाल दिया गया है। जोशी आईबीएन 7  में बतौर एंकर नौकरी कर रही थीं। वह इंडिया टीवी के मैनेजिंग एडिटर विनोद कापड़ी की पत्नी हैं। पिछले दिनों भड़ास4मीडिया के संस्थापक यशवंत सिंह पर मुकदमा दर्ज कराने को लेकर वह सुर्खियों में रही थीं। आईबीएन 7 से पहले साक्षी कई अन्य मीडिया संस्थानों से जुड़ी रही हैं।

नहीं हो सकी यशवंत की जमानत, अगली सुनवाई 1 सितंबर को

भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत सिंह को आज (25 अगस्त) को भी जमानत नहीं मिल सकी। यशवंत की जमानत के विरोध में दूसरे पक्ष ने हार्ड डिस्क की जांच करने के लिए वक्त की मांग की है। सरकारी वकील ने कहा कि यशवंत सिंह के हार्ड डिस्क को जांच के लिए नासिक भेजा गया है। अभी उसकी रिपोर्ट नहीं आई है। इसके बाद अदालत ने सुनवाई की अगली तारीख 1 सितंबर को निर्धारित की है।

आजतक से अखिल भल्ला और शाकिब की छुट्टी

आजतक से दो धमाकेदार खबरें हैं। चैनल में एडिटर (आउटपुट) के पद की जिम्मेदारी संभाल रहे अखिल भल्ला ने इस्तीफा दे दिया है। अखिल भल्ला लंबे समय से आजतक से जुड़े हुए थे। वहीं आजतक के डिप्टी एक्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर शाकिब खान ने भी इस्तीफा दे दिया है। शाकिब खान आजतक में पैकेजिंग हेड के पद पर तैनात थे। शाकिब भी आजतक से लंबे समय से जुड़े हुए थे।

न्यूज एक्सप्रेस के संपादक मुकेश कुमार ने दिया इस्तीफा

न्यूज एक्सप्रेस के चैनल हेड व संपादक मुकेश कुमार ने इस्तीफा दे दिया है। सूत्रों के मुताबिक मुकेश कुमार पिछले कुछ दिनों में चैनल में चल रही गतिविधियों से खुश नहीं थे। इसके बाद उन्होंने चैनल को छोड़ना ही मुनासिब समझा।  मुकेश कुमार ने अपने करियर की शुरुआत ‘समय’  नाम के अखबार से किया था। यहां काम करने के बाद वह सागर विश्वविधालय से पत्रकारिता करने चले गए।

सीएनईबी का भोजपुरी म्यूजिक चैनल लांच, खांटी भोजपुरिया म्यूजिक दिखेगा

 कंप्लीट न्यूज़ एंड एंटरटेनमेंट ब्रॉडकास्ट (सीएनईबी) ने लॉन्च पैड के साथ मिलकर नया भोजपुरी म्यूजिक टीवी चैनल, ‘हम्मरा एम’ लांच किया है। हम्मरा एम भारत का पहला अंतरराष्ट्रीय भोजपुरी म्यूजिक चैनल होगा। चैनल मालिकों ने इस नए चैनल को अंतरराष्ट्रीय फील देने का दावा किया है। उनका कहना है कि भोजपुरी संगीत के लिए यह एक श्रद्धांजलि होगी। एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, ‘हम्मरा एम’ ने लांच होने के पहले सप्ताह में ही बिहार और झारखंड में अपनी पकड़ बनानी शुरू कर दी है।

‘हम पत्रकार है, तुम 15 अगस्त की सुबह नही देख पाओगे..’

एक बार फिर पत्रकारिता का चोला ओढ़ कर अपनी रोटी सेकने वालों के चलते चैथा स्तम्भ लज्जित हुआ है। वाकया यूपी के गाजीपुर जिले का हैं, जहां सरकारी कर्मचारी से मारपीट करने वाले आरोपी की पैरवी करने वाले एक तथाकथित पत्रकार ने कुछ ऐसा ही कदम उठाया। दारू पीकर आये दिन हंगामा करने वाले इस तथाकथित मीडियाकर्मी ने उस पीड़ित सरकारी कर्मचारी से मुकदमा वापस लेने के लिए फोन पर अभद्रता करते हुए जान से मारने की धमकी भी दे डाली। इतना ही नही शहर कोतवाल और सीओ सिटी के साथ भी फोन पर अभद्रता की। जिसकी रिकार्डिंग पुलिस अधिकारी ने कर ली और इसी आधार पर 504, 505 का मुकदमा दर्ज कर उसे हवालात में डाल दिया गया है।

नेशनल दुनिया के सात नए सप्लीमेंट लांच

नई दुनिया से बनी ‘नेशनल दुनिया’ बाजार में तेजी से अपने कदम बढ़ाने में जुटी है। एक हालिया फैसले में प्रबंधन ने अपनी प्रस्तुति को लेकर कई फेरबदल किया है। ‘नेशनल दुनिया’ के प्रकाशक एसबी मीडिया ने अखबार का ‘लोगो’ बदल दिया है. अखबार अब एक नए लोगो के साथ सामने आ रहा है। मास्ट हेड को भी दुबारा परिवर्तित कर दिया गया है। प्रबंधन दिल्ली-एनसीआर में भी अपने कदम बढ़ाने की जुगत में जुटा है। यहां ज्यादा से ज्यादा पाठकों तक अपनी पहुंच बनाने के लिए अखबार अब स्थानीय खबरों पर ज्यादा जोड़ दे रहा है।

मध्य प्रदेश और हिमाचल प्रदेश से भी लांच होगा इंडिया न्यूज

आईटीवी नेटवर्क अपने विस्तार की प्रक्रिया में जुट गया है। नेटवर्क जल्दी ही दो और चैनल लांच करने की तैयारी में है। यह मध्य प्रदेश और हिमाचल प्रदेश के लिये होगा। इसे सितंबर के आखिर तक लांच करने की योजना है। अपने नए वेंचर के लिए चैनल स्टूडियो बनाने के काम में जुट गया है। यह  ‘इंफॉर्मेशन टेलीविज़न प्राइवेट लिमिटेड' का छठा चैनल है।

लखनऊ के पत्रकारों को मिलेगा घर, होगा मुफ्त इलाज

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पत्रकारों की चांदी होने वाली है। प्रदेश सरकार ने राजधानी के पत्रकारों के लिए आवासीय योजना शुरू करने की घोषणा की है। पीजीआई में अब पत्रकारों का निशुल्क इलाज भी हो सकेगा। इस मांग को माने जाने के बाद उ.प्र.जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन (उपजा) ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, श्रम मंत्री डॉ. वकार अहमद और समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता विधान परिषद सदस्य राजेन्द्र चौधरी का आभार व्यक्त किया है। उपजा ने श्रम दिवस (एक मई) के मौके पर प्रदेश सरकार को 13 सूत्री मांग पत्र दिया था जिसमें ये दोनों मांगें शामिल थीं।

मैजिक टीवी होगा रिलांच, एबीसी भारत बनेगा

मैजिक टीवी अब नये कलेवर और तेवर में रीलॉन्च होने की तैयारी में है। इसको ABC भारत के नाम से रिलॉन्च किया जा रहा है। नाम बदलने के पीछे चैनल में जुड़ा मैजिक शब्द है, जिसे अब हटा दिया जाएगा। इस प्रक्रिया में चैनल प्रबंधकों ने मैजिक के लोगो के साथ ABC भारत का भी चलाना शुरू कर दिया है। फिलहाल मंत्रालय से मान्यता मिलने की कार्यवाही आखिरी चरण में हैं। इसको इंटरनेट पर भी लाइव कर दिया गया है। इस बदलाव के बारे में मैजिक टीवी के हेड ऑपरेशंस और एक्जीक्यूटिव एडिटर प्रसून शुक्ला ने पुष्टी की है।

सहारा में सनसनी, विजय राय ने चैनल छोड़ा, मनोज मनु मेट्रो एडिटर बने

सहारा समय चैनल के दिग्गज विजय राय सहारा न्यूज से अलग हो गए हैं। विजय राय चैनल में कद्दावर थे और उनके पास सहारा न्यूज के ब्यूरो हेड की जिम्मेदारी थी। सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक विजय राय से इस्तीफा ले लिया गया है। हालांकि अभी तक इसका कारण पता नहीं लग पाया है। सूत्रों का कहना है कि विजय राय का जाना वर्चस्व की लड़ाई का नतीजा है। राय पिछले काफी वक्त से सहारा में सक्रिय थे। एक अन्य खबर में मनोज मनु को मेट्रो एडिटर बना दिया गया है।

सहाराश्री के सचिवालय से चित्रा का इस्तीफा

चित्रा त्रिपाठी ने सहारा ग्रुप को बॉय बोल दिया है। चित्रा सहाराश्री के सचिवालय का हिस्सा थीं, जहां से वह अलग हो गई हैं। चित्रा पहले सहारा टीवी में एंकर थीं। मगर कुछ समय पहले उन्हें मुंबई में स्थित सहाराश्री के सचिवालय में भेज दिया गया था। तब से वह यहीं काम कर रही थी। सचिवालय में मुख्यधारा की मीडिया जैसा काम नहीं होने के कारण चित्रा ने यह निर्णय लिया है।

थी..हूं..रहूंगी के लिए वर्तिका नंदा को ऋतुराज सम्मान

डॉ.वर्तिका नंदा को प्रतिष्ठित परम्परा ऋतुराज सम्मान से सम्मानित किया गया है.  वर्तिका जी को यह सम्मान उनके कविता संग्रह 'थी.. हूं… रहूंगी' के लिए मिला। सम्मान समारोह दिल्ली में हुआ। यह कविता संग्रह महिला अपराध पर आधारित है। इस विषय पर लिखा जाने वाले यह अपने तरह का अनूठा कविता संग्रह है। हर साल यह सम्मान दिया जाता है। वर्तिका नंदा को पुरस्कार देने का निर्णय तीन सदस्यी निर्णायक मंडल ने की। इसमें राजनारायण बिसारिया, डा. अजित कुमार और डॉ. कैलाश वाजपेयी शामिल थे।

पश्चिम भारत में भी पहुंचा सहारा समय

देश के तमाम हिस्सों में अपनी पहुंच बनाने के बाद सहारा समय ने पश्चिम भारत में भी दस्तक दे दी है। सहारा न्यूज़ नेटवर्क ने 15 अगस्त को  महाराष्ट्र और गुजरात से भी चैनल शुरू कर दिया है। सहारा इंडिया परिवार के मुख्य अभिभावक सहाराश्री सुब्रत रॉय सहारा ने राजधानी के एक पांच सितारा होटल में अनेक केन्द्रीय मंत्रियों, पूर्व केंद्रीय मंत्रियों व सैकड़ों अतिथियों की मौजूदगी में चैनल का शुभारंभ किया। इस दौरान, सहाराश्री ने अपनी जिम्मेदारी का ईमानदारी से निर्वहन किये जाने की आवश्यकता पर बल दिया।

हड़ताल के चलते नहीं हुई सुनवाई, अब 25 अगस्त को होगी

भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत सिंह के मामले की सुनवाई 17 अगस्त को नहीं हो सकी. इस दिन वकीलों की हड़ताल के कारण कोर्ट की कार्यवाही नहीं हो सकी. अब इसकी सुनवाई 25 अगस्त को होगी. इससे पहले विनोद कापड़ी और साक्षी जोशी द्वारा लगाए गए आरोपों पर कोर्ट ने यशवंत सिंह को जमानत दे दी है. फिलहाल दैनिक जागरण द्वारा लगाए गए मामले में जमानत होनी बाकी है. जागरण ने भी यशवंत सिंह पर रंगदारी मांगने का आरोप लगाया था.

हरियाणा न्‍यूज के मालिक गोपाल कांडा फरार, तलाश में छापेमारी

 

: अरुणा चड्ढा को पुलिस ने गिरफ्तार किया : नई दिल्ली। एयर होस्टेस गीतिका शर्मा खुदकुशी मामले में हरियाणा के पूर्व मंत्री गोपाल गोयल कांडा पुलिस के शिकंजे में फंसते नजर आ रहे हैं। दिल्ली पुलिस के नोटिस पर कांडा बुधवार को पूछताछ के लिए हाजिर नहीं हुए बल्कि अग्रिम जमानत पाने के लिए रोहिणी की कोर्ट में उनकी अर्जी पहुंच गई। बुधवार शाम पुलिस ने कांडा की गिरफ्तारी के लिए चार टीमें गठित करके उन्हें हरियाणा रवाना कर दिया। कांडा की सहयोगी अरुणा चढ्डा को गिरफ्तार कर लिया गया है।

वरिष्‍ठ फोटो जर्नलिस्‍ट महेंद्र सिंह का निधन

 

जौनपुर। चार दशकों तक जौनपुर समेत पूर्वांचल में छाया पत्रकारिता करने वाला एक सूरज डूब गया। फोटोग्राफर महेन्द्र सिंह ने रविवार की रात ब्रेन हैमरेज के बाद आखिरी सांस ली। उनकी मृत्यु की जानकारी होते ही पत्रकारों में शोक की लहर दौड़ गयी। अलफस्टीनगंज स्थित उनके आवास पर लोगों का तांता लगा हुआ है। महेंद्र सिंह ने 40 वर्षों तक विभिन्न समाचार पत्रों में छाया पत्रकारिता के साथ-साथ संवाददाता के तौर पर काम किया। जिले में उनकी पहचान छाया पत्रकारिता के भीष्म पितामह के तौर पर थी। इंदिरा गांधी और चंद्रशेखर तक उनके खींची फोटो की प्रशंसा की थी। नगर को तबाह करने वाली सन 84 की बाढ़ का कवरेज महेंद्र सिंह की नायाब उपलब्धि रही है।

भूखंड के लिए पीआरओ की चापलूसी पर उतरे पत्रकार

 

श्रीमान, यशवंत सिंह। संपादक, भड़ास4मीडिया। विषय : राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में भूखंडों से वंचित पत्रकारों ने पिछले काफी समय से आंदोलन किया हुआ है, लेकिन कुछ तथाकथित इलेक्ट्रोनिक मीडियाकर्मियों ने अधिकारियों की चापलूसी करनी शुरू कर दी है।

पति की हत्‍या के आरोप में महिला पत्रकार प्रेमी संग गिरफ्तार

 

राजकोट। शहर में रह रही पूर्व पत्रकार नीलम को प्रेमी राज लखवा के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है। नीलम पर आरोप है कि उसने अपने पति जवेरी महेंद्र सिंह वर्मा की उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर में हत्या कर दी थी। पति की हत्या के बाद नीलम राजकोट शहर आकर प्रेमी राज लखवा (मूल निवासी -उज्जैन, मप्र) के साथ पिछले तीन महीनों से यहां रह रही थी। नीलम के माता-पिता भी मीडियाकर्मी हैं।

हिंदुस्‍तान विज्ञापन घोटाला : संस्‍करणों में रजिस्‍ट्रेशन संख्‍या बदलकर-बदलकर छापा गया

 

मुंगेर। विश्व के सनसनीखेज दैनिक हिन्दुस्तान के 200 करोड़ के विज्ञापन फर्जीवाड़ा में पुलिस अधीक्षक पी. कन्नन के निर्देशन में आरक्षी उपाधीक्षक अरूण कुमार पंचालर की समर्पित ‘‘पर्यवेक्षण-टिप्पणी‘‘के पृष्ठ -04 पर इस कांड के वादी मंटू शर्मा ने खुलासा किया है कि मेसर्स हिन्दुस्तान मीडिया वेन्चर्स लिमिटेड ने किस प्रकार भागलपुर और मुंगेर के दैनिक हिन्दुस्तान संस्करणों में बार-बार निबंधन संख्या बदलने, फर्जी तरीके से समाचर-पत्रों के मुद्रण, प्रकाशन और वितरण करने और अवैध संस्करणों में सरकारी विज्ञापन छापकर करोड़ों रुपए का फर्जीवाड़ा किया।

कपूरथला में दैनिक जागरण के पांचवें कार्यालय का चौथा उद्घाटन

 

कपूरथला : हिंदी समाचार दैनिक जागरण कपूरथला उप कार्यालय के पांचवें दफ्तर का चौथा उदघाटन, वरिष्ठ महिला पत्रकार व जागरण प्रदेश प्रभारी मीनाक्षी शर्मा द्वारा मंगलवार को हुआ। लगभग डेढ़ दशक पहले पंजाब में लांच हुय हिंदी समाचार दैनिक जागरण का कपूरथला में 2002 में आगाज़ हुआ था तब कपूरथला जिले की कमान प्रभारी के तौर पर नरोतिया ने संभाली थी, तथा जटपूरा शेत्र में एक छोटी सी दुकान से कार्य प्रारंभ किया गया। 

बंसल न्‍यूज के हालात बिगड़े, कई अलविदा कहने के मूड में

 

सहारा, ईटीवी, जी२४ के कई नामचीन पत्रकारों को तोड़कर करीब डेढ़ साल पहले लोकल स्टाइल में शुरू हुआ मप्र-छग का बंसल न्यूज़ चैनल अब औंधे मुहं गिर रहा है. चैनल की ओपनिंग करने करने वाले सीईओ अचल मेहरा और न्यूज़ हेड तरुण गुप्ता बंसल न्यूज़ से पहले ही कन्नी काट चुके हैं. चैनल के मालिक सुनील बंसल ने बड़ी ही तरुणाई से तरुण की जगह शरद द्विवेदी को रखा. फिर शरद द्विवेदी अपनी दुकान ज़माने में अचल मेहरा को ही लील गए. 

कानपुर के संपादकीय प्रभारी बने राघवेंद्र, कई और बदलाव

 

दैनिक जागरण में कई बदलाव किए गए हैं. कानपुर से खबर है कि इनपुट हेड राघवेंद्र चड्ढा की कार्यक्षमता को देखते हुए कानपुर का संपादकीय प्रभारी बना दिया गया है. राघवेंद्र इसके पहले बनारस के संपादक थे. कानपुर के संपादकीय प्रभारी रहे विनोद शील को स्‍टेट हेड बनाकर पानीपत भेज दिया गया है. हिसार के एनई सुनील झा को नोएडा यूनिट बुला लिया गया है.

शिमला प्रेस क्‍लब का चुनाव 18 अगस्‍त को

शिमला प्रेस क्लब के सालाना चुनाव 18 अगस्त को होंगे। निर्वाचन अधिकारी सुशील कुमार के मुताबिक नामांकन पत्र 8 और 9 अगस्त को प्राप्त किए जा सकते हैं। नामांकन भरने की तारीख 10 अगस्त तय की गई है। 12 अगस्त को उम्मीदवार अपने नाम वापिस ले सकते हैं। शिमला प्रेस क्लब में अध्यक्ष पद को लेकर इस बार मारामारी है। मौजूदा अध्यक्ष धनंजय शर्मा एक बार फिर मैदान में उतरने की तैयारी कर रहे हैं। तीन साल पहले एक साल के लिए उन्हें अध्यक्ष चुना गया था, लेकिन वे कब्जा जमाकर बैठ गए। तीन साल तक उन्होंने चुनाव नहीं कराए, जबकि क्लब के संविधान के मुताबिक हर साल चुनाव कराना लाजिमी है।

उत्‍तराखंड के मुख्‍य सचिव से मिलकर पत्रकारों ने विज्ञापन नीति का किया विरोध

 

देहरादून। प्रदेश के मुख्‍य सचिव ने कहा कि समाचार पत्रों के लिए किसी भी विज्ञापन नीति पर जल्दबाजी पर निर्णय नहीं लिया जायेगा और सभी पत्रकारों की सहमति ली जायेगी। मुख्य सचिव व आलोक कुमार जैन ने यह बात उत्तराखण्ड प्रिन्ट मीडिया विज्ञापन नियमावली 2012 पर विरोध् जताने के लिए उनसे मिलने आये उत्तराखंड संयुक्त पत्रकार संघर्ष समिति के शिष्टमंडल से कही।

दूसरों को नसीहत, खुद मियां फजीहत

 

: भास्कर प्रबंधन पहले कर्मचारियों का गुटका छुड़वाएं : बठिंडा: दूसरो को नसीहत, खुद मियां फजीहत। यह कहावत दैनिक भास्कर पर बिल्कुल सटीक बैठती है। पंजाब भर में गुटका पर रोक लगाने के लिए अभियान चलाने वाले भास्कर प्रबंधन को चाहिए कि वह सबसे पहले भास्कर में काम करने वाले उन कर्मचारियों व अधिकारियों को गुटका खाना बंद करवाए जो गुटका चबाए बिना एक पल भी नहीं रह सकते। 

उत्‍तराखंड में विज्ञापन नियमावली की आड़ में लघु समाचार पत्रों की हत्‍या की कोशिश

 

देहरादून। उत्तराखंड में लोकतंत्र के चौथे स्तंभ यानी मीडिया पर विज्ञापन नियमावली की आड़ में अघोषित आपात लगाने की तैयारी में विजय बहुगुणा की सरकार लग गई है। ऑपरेशन गला घोटू की जिम्मेदारी दी गई है भाजपा के मुख्यमंत्री रहे बीसी खंडूड़ी के खासमखास अधिकारियों में शुमार आईएएस अधिकारी दिलीप जावलकर को।

फोन हैकिंग मामले में एक और पत्रकार गिरफ्तार

 

लंदन : ब्रिटेन में फोन हैकिंग विवाद की जांच के तहत आज सुबह एक पत्रकार और एक पुलिस अधिकारी को गिरफ्तार कर लिया गया। इस विवाद में न्यूज ऑफ द वर्ल्ड टैबलायड शामिल था जिसे गत जुलाई में प्रमुख मीडिया व्यवसायी रूपर्ट मडरेक ने बंद कर दिया था। दोनों गिरफ्तारियां आपरेशन एल्वेडेन के तहत की गई। इस जांच के तहत पत्रकारों की ओर से सूचनाएं प्राप्त करने के लिए सरकारी अधिकारियों को किये गए भुगतानों की जांच की जा रही है ताकि उसका खबरों में इस्तेमाल किया जा सके।

सड़क हादसे में सहारा के दो पत्रकार घायल

 

औरंगाबाद जिले युवा पत्रकार गणेश प्रसाद और संतोष कुमार एक सड़क हादसे में घायल हो गए. यह हादसा उस समय हुआ जब वे कार्यालय से न्‍यूज भेजने के बाद अपनी बाइक से घर वापस लौट रहे थे. उनकी बाइक के सामने अचानक एक पशु आ गया, जिससे टकराने के बाद दोनों लोग गिर गए. उन्‍हें गंभीर चोटें आईं. उन्‍होंने इसकी सूचना अपने परिचितों को दी. दोनों का इलाज औरंगाबाद के सदर अस्‍पताल में कराया गया. 

डेन केबल के आने से डिजी केबल में इस्तीफों का दौर जारी

 

आगरा से जल्द ही एक नए केबल डेन का प्रसारण होने जा रहा है, जिसके कारण डिजी केबल में इस्तीफों का दौर जारी है. अभी हाल में ही यहाँ से तेज तर्रार पत्रकार राहुल ठाकुर, एंकर मीनू व पत्रकार जीतेन्द्र, एंकर आशियाँ खान आदि  ने इस्तीफा दे दिया है.  बताया  गया है कि वह जल्द ही आगरा से प्रारंभ होने जा रहे डेन केबल से अपनी नई पारी प्रारंभ कर सकते हैं.

मुकेश बने संपूर्ण माया के झारखंड ब्‍यूरो प्रमुख

 

राजनाम पोर्टल के संचालक-संपादक मुकेश भारतीय ने अब एक और नई जिम्मेवारी संभाली है। वे नई दिल्ली से प्रकाशित राष्ट्रीय समाचार पत्रिका संपुर्ण माया के झारखंड ब्यूरो प्रमुख ( मुख्य संवाददाता) के रुप में कार्य भार संभाल लिया है। श्री भारतीय को यह जिम्मेदारी पत्रिका के प्रकाशक संदीप मित्रा ने सौंपी है। पत्रिका के प्रिंट लाइन में मुकेश भारतीय को राष्ट्रीय समाचार पत्रिका संपुर्ण माया के झारखंड ब्यूरो प्रमुख ( मुख्य संवाददाता) के नाम उल्लेखित है।

खूबसूरती का बदसूरत “अंत”,आखिर क्यों?

 

गीतिका शर्मा और अनुराधा बाली उर्फ फिज़ा। दोनो ही खूबसूरत, बेबाक। मगर अंत दोनों का ही दर्दनाक। एक ने मौत को गले लगा लिया। दूसरी (फिज़ा) की लाश लावारिश हाल में उसी की देहरी के अंदर मिली। सड़ी-गली हालत में। फिज़ा जीते-जी जिस कदर खूबसूरत थी। संदिग्ध मौत के बाद उनकी लाश उतनी ही डरावनी मिली। लाश को देखकर अच्छे अच्छों की घिग्घी बंध जाये। कमोबेश गीतिका की भी मौत ने सबको हिला दिया। उसकी लाश भी अपनी ही देहरी के भीतर फंदे पर लटकी मिली।

महेश भट्ट ने दी पत्रकार कुलदीप मिश्र को धमकी

 

दैनिक भास्‍कर, चंडीगढ़ के सीनियर जर्नलिस्‍ट कुलदीप मिश्र से फिल्‍मकार महेश भट्ट ने बदतमीजी की, धमकी दी. महेश अपनी फिल्‍म जिस्‍म 2 को लेकर मीडिया से मुखातिब थे. घटना शुक्रवार की है. कुलदीप ने उनसे कुछ सवाल पूछे तो महेश भट्ट उखड़ गए. तू तड़ाक तो किया ही कुलदीप को धमकी भी दी कि तू बाहर मिल तो तेरी नेट सर्फिंग करता हूं सारी. कुलदीप ने इस घटना का विरोध करते हुए अपने ब्‍लॉग पर भी लिखा है. जिसे नीचे प्रकाशित किया जा रहा है.

कश्‍मीर में आतंकियों ने पत्रकारों को दी धमकी

 

कश्मीरी पंडितों को वादी छोड़ने की धमकी देने के चार दिन बाद आतंकियों ने पत्रकारों को फरमान सुनाया है कि वे कश्मीर में आतंकी हिंसा व अलगाववाद के प्रति अपना नजरिया बदलते हुए इसे सकारात्मक ढंग से लोगों को तक पहुंचाएं, अन्यथा गंभीर परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें। आतंकियों ने यह धमकी भरा फरमान किसी पोस्टर के जरिये नहीं, बल्कि वादी में कुछ समाचारपत्र कार्यालयों और पत्रकारों को खत भेजकर किया है।

दैनिक नवज्योति में पत्रकारों के बीच लात-घूंसा चला

 

जयपुर। राजस्थान की राजधानी जयपुर के सबसे प्राचीन समाचार पत्र दैनिक नवज्योति के स्टेशन रोड स्थित कार्यालय में सोमवार को सम्पादकीय कार्यालय में पत्रकारों के बीच लात-घूंसा जंग छिड़ गई। दो पत्रकारों की आपसी तू-तू मैं-मैं की लड़ाई इस कदर बढ़ी कि पूरे सम्पादकीय कार्यालय में जूतम-पैजार का दौर शुरू हो गया। 

पत्रकार सीमा आजाद को हाई कोर्ट से मिली जमानत

 

इलाहाबाद : सामाजिक कार्यकर्ता और पत्रकार सीमा आज़ाद को इलाहाबाद हाइकोर्ट से ज़मानत मिल गई है। देशद्रोह के आरोप में निचली अदालत ने सीमा आजाद को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। सीमा को फरवरी 2010 को दिल्ली से इलाहाबाद पहुंचने पर स्टेशन पर ही गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने सीमा आज़ाद और उनके पति विश्व विजय पर देशद्रोह का मामला बनाया था और उनके पास से बड़ी संख्या में नक्सली साहित्य बरामद होने का दावा किया था। सीमा आजाद की रिहाई के लिए मानवाघिकार संगठनों ने आंदोलन भी चलाया था।

सीरिया में सरकारी टीवी चैनल के इमारत में विस्‍फोट, कई घायल

 

बेरूत : सीरिया की राजधानी दमिश्क में स्थित देश के सरकारी टीवी चैनल की इमारत में बम विस्फोट में कई लोग घायल हो गए। सेना द्वारा राजधानी के बागियों के कब्जे वाले अंतिम इलाके पर कब्जा किए जाने की घोषणा के दो दिन बाद इमारत के तीसरे तल पर विस्फोट की यह सूचना सीरिया के सरकारी टीवी चैनल द्वारा जारी की गई।

गोपाल कांडा : जूतों की दुकान से अरबपति बनने का सफर

 

सिरसा : गोपाल कांडा की सफलता की कहानी भी सपनों सरीखी है। 29 दिसंबर 1965 को जन्मे गोपाल कांडा केवल स्कूल लेवल तक पढ़े हैं। उनके पिता मुरलीधर कांडा एडवोकेट थे तो मां मुन्नी देवी गृहिणी हैं। पिता के देहांत के बाद घर-परिवार की जिम्मेदारी गोपाल कांडा और उनके भाई गोबिंद कांडा के कंधों पर आ गई।

पहले भी विवादों से जुड़े रहे हैं गोपाल कांडा

 

गुड़गांव सिविल लाइन स्थित प्रदेश के गृह राज्य मंत्री और हरियाणा न्‍यूज के मालिक गोपाल कांडा की कोठी पर रविवार सुबह से ही मीडियाकर्मियों का जमावड़ा लगा रहा। दिल्ली की एयर होस्टेस के सूइसाइड के बाद ही यहां पर मीडिया वालों के अलावा लोगों का जुटना शुरू हो गया। हर कोई कांडा का पक्ष जानने को उत्सुक था। बाद में पता चला कि मंत्री अपनी कोठी पर नहीं हैं। इसी बीच दिल्ली पुलिस की टीम के आने की चर्चा हुई। इसी इंतजार में कई घंटों तक मीडिया वाले मंत्री जी की कोठी के सामने डटे रहे। वहां से गुजरने वाले लोगों में भी यह जानने की उत्सुकता हुई कि मंत्री के साथ क्या हुआ? 

गीतिका शर्मा आत्‍महत्‍या मामला : हरियाणा न्‍यूज के मालिक गोपाल कांडा ने दिया मंत्री पद से इस्‍तीफा

 

चंडीगढ़ : हरियाणा के विवादास्पद गृह राज्यमंत्री और हरियाण न्‍यूज चैनल के मालिक गोपाल कांडा ने रविवार शाम नई दिल्ली में मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को अपना इस्तीफा सौंप दिया। एक एयर होस्‍टेस को आत्‍महत्‍या करने के लिए उकसाने के आरोपी बनाए गए कांडा इसके बाद से ही विवादों में आ गए थे। कांडा ने गुड़गांव में संवाददाताओं से कहा कि मैंने कोलकाता से लौटे मुख्यमंत्री को आज शाम अपना इस्तीफा सौंप दिया है।

पत्रकार चंद्रेश की हत्‍या के मामले में पांच आरोपी गिरफ्तार

 

रायसेन : रायसेन जिले की पुलिस को छतरपुर के एक पत्रकार चंद्रेश खरे ओर अमित श्रीवास्तव की हत्या के मामले में पाँच आरोपियों को पकड़ने में सफलता मिली है। आरोपियों में एक सुल्तान एमसीए है तथा उसकी पत्नी अस्पताल में नर्स के पद पर कार्यरत है। जिला पुलिस अधीक्षक श्री आईपी कुलश्रेष्ठ ने बताया कि नूरगंज थाना क्षेत्र में विगत 10 जुलाई 2012 को इस दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया गया था। पुलिस को कोलार मार्ग पर झिरी ग्राम के पास बेतवा पुल के पास एक युवक कि क्षत विक्षत लाश वरामद हुई थी। जांच के दौरान मृतक की पहचान छतरपुर के एक पत्रकार चंद्रेश खरे के रूप में हुई थी। 

दैनिक सवेरा से जुड़े प्रदीप ठाकुर

पंजाब की शक्ति से संबंध खतम होने के बाद प्रदीप ठाकुर ने जालंधर से प्रकाशित दैनिक सवेरा से अपनी नई पारी शुरू की है. प्रदीप को फिलहाल जिला के ब्‍यूरो के कोआर्डिनेशन की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. प्रदीप ठाकुर उस समय विवादों में घिर गए थे जब उनके खिलाफ पंजाब की शक्ति प्रबंधन ने मामला …

भाजपा की बैठक के दौरान आपस में भिड़े पत्रकार

 

आगरा में भाजपा की बैठक के दौरान पत्रकार आपस में ही भिड गए. यह घटना जब घटी जब आगरा में एएनआई के पत्रकार ब्रिजेश सिंह ने डीएलए के फोटोग्राफर को बुरा भला कह दिया. बस इतना कहते ही डीएलए का फोटोग्राफर ब्रिजेश सिंह से भड़क उठा तब इस मामले को वहां पर उपस्थित पत्रकारों ने जैसे तैसे संभाला. इस दौरान बात पुराने दिनों पर आ गयी, जिसमें एएनआई के ब्रिजेश सिंह ने विनोद अग्रवाल से दो टूक कह दिया कि तू अपनी औकात भूल गया बस इस पर जमकर बहस चली. 

झारखंड के युवा पत्रकार अमरनाथ सम्‍मानित

 

झारखण्ड के उग्रवाद प्रभावित राज्य गिरिडीह में आज महुआ न्यूज़ के लिए स्ट्रिंगर का काम करनेवाले युवा पत्रकार अमरनाथ सिन्हा को निर्भीक और बेहतर पत्रकारिता के लिए सम्मानित किया गया है. यह सम्मान सामाजिक सगठन लायस क्लब का २६वां पदस्थपना कार्यक्रम में दिया गया. झारखण्ड सरकार में भू-राजस्व मंत्री मथुरा प्रसाद महतो और क्लब के अंतरराष्‍ट्रीय पदाधिकारियों की उपस्थिति में अमरनाथ को दिया गया. 

फर्जी इंपेक्‍ट व गलत खबरें छाप रहा बठिंडा भास्‍कर

 

दैनिक भास्‍कर की बठिंडा यूनिट के बठिंडा सिटी एडिशन में एक तरफ गलतियों की भरमार है तो दूसरी तरफ अखबार का दम दिखाने के चक्‍कर में फर्जी इंपेक्‍ट लिया जा रहा है। सिटी टीम में पहले ही रिपोर्टरों का टोटा हो रखा है, ऐसे में काम के बोझ से भारी मानसिक दबाव में काम कर रहे पञकारों से खबर लिखने में गलतियां हो रही हैं। 27 जुलाई के अंक में रिपोर्टर गुरप्रेम लहरी के नाम से छपी कारगिल शहीद संदीप सिंह व कैप्‍टन अजय आहूजा की खबर में रिपोर्टर ने अजय आहूजा की पत्‍नी अलका आहूजा को शहीद संदीप सिंह की पत्‍नी बता दिया। 

एचबीसी न्‍यूज के चेयरमैन सतीश कट्टा के ठिकानों पर आईटी का छापा

 

खबर राजस्थान से है.. जहाँ एचबीसी न्यूज़ के चेयरमैन सतीश कट्टा के ठिकानों पर कुछ समय पहले इनकम टैक्स विभाग ने छापा मारा है.. लगभग ५० लोगों की टीम ने छापेमारी की है. विभाग को कट्टा द्वारा टैक्स चोरी किए जाने का पता चला था. सूत्रों के मुताबिक दो दिन तक चली इस कार्रवाई से घबरा कर सतीश कट्टा ने लघभग दस करोड़ की अघोषित आय सरेंडर कर दी.

यूपी संवाददाता समिति के चुनाव में 41 लोग मैदान में

: 5 को स्‍क्रूटनी और 6 को वापसी के बाद 12 को होगा मतदान : कई प्रत्‍याशियों के दामन पर पड़े हैं कई गंभीर विवादों के कीचड़ : लखनऊ: बहुप्रतीक्षित उत्‍तर प्रदेश राज्‍य मुख्‍यालय मान्‍यताप्राप्‍त संवाददाता समिति के चुनाव में अब करीब 15 फीसदी सदस्‍य चुनाव लड़ रहे हैं। समिति की 15 सदस्‍यीय कार्यकारिणी के लिए 41 लोग मैदान में हैं। मजेदार बात तो यह है कि इनमें से कई ने तो एकाधिक पदों के लिए नामांकन कराया है। पांच अगस्‍त को नामांकन पत्रों की स्‍क्रूटनी और नामांकन वापस करने के बाद सीधे 12 तारीख को मतदान होगा। वोटों की गणना के बाद चुनाव का परिणाम उसी दिन घोषित कर दिया जाएगा।

सिटी भास्‍कर छोड़ने वाले आई नेक्‍स्‍ट से जुड़े

 

इंदौर सिटी भास्कर की हालत बुरी तरह ख़राब है, फिर भी प्रबंधन सलोनी अरोरा के खिलाफ कोई उचित करवाई नहीं कर रहा है. यहाँ से एक-एक करके रिपोर्टर नौकरी छोड़ रहे हैं. सिटी भास्कर रिपोर्टर रचना सिंह, मंदीप, गजेन्द्र विशकर्मा, अभिषेक ने सिटी भास्कर को अलविदा कह के जागरण समूह के जल्द शुरू हो रहे टैबलाइड आई नेक्‍स्‍ट से नाता जोड़ लिया है.

राजीव सचान जी, आपने मेरे विचारों की चोरी की है : अरविंद

 

राजीव सचान जी, नमस्कार. मैंने दो दिन पहले आपको संलग्न लेख भेजा था. आपको लेख भेजने के लिए श्री शशांक शेखर त्रिपाठी ने आदेश किया था. जिसे मेरे खुद के ब्लॉग में लिंक http://kanpurianajaria.blogspot.in/2012/08/blog-post.html पर प्रकाशित किया जा चुका है.

डायरिया से पत्रकार भोला का निधन

 

राजपुरा : डायरिया के चलते राजपुरा के एक पत्रकार की मौत हो गई। पत्रकार स्वर्ण सिंह भोला जालंधर से प्रकाशित होने वाले एक पंजाबी दैनिक से जुड़े हुए थे। डायरिया से पीडि़त होने के बाद उन्हें बीती शाम राजपुरा के सिविल अस्पताल में दाखिल कराया गया था। वहां से डाक्टरों ने उन्हें चंडीगढ़ के सेक्टर-32 स्थित अस्पताल में रेफर कर दिया, जहां बीती देर रात उनका निधन हो गया। स्वर्गीय भोला अपने पीछे माता जगीर कौर, धर्मपत्नी अमरजीत कौर, बहन जसविंदर कौर व इकलौते बेटे गुरकीरत सिंह को छोड़ गए हैं। शनिवार को उनका अंतिम संस्‍कार किया गया। इकलौते बेटे गुरकीरत सिंह ने मुखाग्नि दी।

नईदुनिया से छजलानी परिवार बाहर

 

नईदुनिया का पर्याय बन चुका छजलानी परिवार अब अपनी पहचान पूरी तरह खो चुका है २ अगस्त से नईदुनिया कि प्रिंट लाइन से विनय छजलानी का नाम हट गया। इस नाम के हटने के साथ ही हिंदी पत्रकारिता का एक स्वर्णिम अध्याय समाप्त हो गया। करीब ६५ साल से नईदुनिया से जुड़ा छजलानी परिवार अब अखबारी पत्रकारिता से पूरी तरह बाहर हो गया। ५ जून १९४६ को पहली बार प्रकाशित हुए इस अखबार को छजलानी परिवार के बाबू लाभचंद छजलानी ने अपने दो साथियों बसंतीलाल सेठिया और नरेन्द्र तिवारी के साथ निकाला था। 

मशहूर गीतकार सुरेन्द्र नाथ ‘नूतन’का निधन

 

इलाहाबाद। मशहूर गीतकार सुरेंद्र नाथ‘नूतन’का शनिवार की सुबह निधन हो गया। सन 1930 में इलाहाबाद के फूलपुर कस्बे के एक कायस्थ परिवार में जन्मे श्री नूतन ने उच्च शिक्षा इलाहाबाद विश्वविद्यालय से हासिल की और हिन्दी साहित्य सम्मेलन से ‘साहित्य रत्न’की भी उपाधि अर्जित की। वे इलाहाबाद विश्वविद्यालय के वालीबॉल कैप्टन बने और कालान्तर में प्रदेश और देश का भी प्रतिनिधित्व किया। 

नागपंचमी पर इंडिया टीवी ने दिखाई फर्जी खबर

अपनी खबरों को लेकर हमेशा संदिग्‍ध विश्‍वसनीयता में रहने वाले इंडिया टीवी ने एक बार फिर फर्जी और गलत खबर चलाई है. मामला 24 जुलाई का है. इंडिया टीवी ने 24 जुलाई को खून के प्‍यासे गांव नाम से खबर चलाई थी. खबर यूपी के चंदौली जिले का था. इस खबर पर जो फुटेज चलाई गई वो एक साल पुराना था. जबकि इस साल ऐसा कोई आयोजन हुआ ही नहीं. 

हमार-फोकस वेतन विवाद : अब भूख हड़ताल की तैयारी में मीडियाकर्मी

हमार तथा फोकस टीवी में वेतन तथा पीएफ की मांग को लेकर चल रहा आंदोलन चौथे दिन भी जारी है. कर्मचारी हिसाब किताब क्‍लीयर होने तक फ्लोर छोड़ने को तैयार नहीं हैं. पर प्रबंधन के सेहत पर इससे कोई फर्क नहीं पड़ रहा है. प्रबंधन ने 11 अगस्‍त की तिथि मामला सुलझाने के लिए तय की है, उससे पहले वे कर्मचारियों की कोई बात सुनने को तैयार नहीं है. इसके बाद हमार-फोकस के कर्मचारी भूख हड़ताल करने की तैयारी कर रहे हैं. 

अनिल त्रिपाठी चला रहे पत्‍नी के नाम पर करोड़ों का समाचार उद्योग

 

अनिल त्रिपाठी द्वारा अपनी पत्नी के नाम से अनेक समाचार पत्रों का प्रकाशन कर समाचार उद्योग चलाया जा रहा है। अनिल त्रिपाठी द्वारा सालाना लगभग चार से पांच करोड़ रुपया केवल कागजों, स्याही और समाचार पत्रों के संचालन पर व्यय किया जाता है जिसकी पुष्टि भारत सरकार के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय में अनिता त्रिपाठी द्वारा प्रेषित वार्षिक विवरणी से की जा सकती है। 

राणा यशवंत का नाम और बदलाव की चाह ने महुआ न्‍यूजलाइन पहुंचा दिया था

 

नवंबर 2011 में जनसंदेश छोड़कर महुआ न्यूज़लाइन ज्वाइन करने से पहले मैं थोड़ा असमंजस में था। ढाई साल से जनसंदेश में काम कर रहा था, नौकरी सुरक्षित थी और थोड़े ही समय पहले इंक्रीमेंट भी हुआ था। इसके अलावा मीडिया से जुड़े कई शुभचिंतक महुआ को डूबता जहाज बताते हुए यूपी चैनल ना ज्वाइन करने की सलाह दे रहे थे। लेकिन राणा यशवंत जी का नाम और संस्थान बदलने की चाह ने मुझे महुआ न्यूज़लाइन पहुंचा दिया। 

न्‍याय मिलने तक लड़ाई जारी रहेगी : प्रियभांशु

निरूपमा पाठक को आत्महत्या के लिए प्रेरित करने के आरोपी प्रियभांशु ने जेल से बाहर आने के बाद पत्रकारों से कहा कि वह निर्दोष है और निरूपमा को न्याय मिलने तक संघर्ष जारी रखेगा। निरूपमा पाठक का मामला ऑनर किलिंग या आत्महत्या का मामला है, के सवाल पर उसने कहा कि अब मामला न्यायालय में है, इसलिये वह इसपर कुछ नहीं कहना चाहता परन्तु इस मामले में नाहक उसे घसीटा गया है, उसे न्यायालय पर भरोसा है। न्याय जरूर मिलेगा।

दो महीने बाद कोडरमा जेल से रिहा हुआ प्रियभांशु

: निरूपमा पाठक मामले में हाइकोर्ट से तीन दिन पहले मिली थी जमानत : पत्रकार निरूपमा पाठक हत्याकांड में प्रियभांशु रंजन गुरुवार को दो महीने बाद कोडरमा मंडल कारा से रिहा हो गया। झारखंड हाइकोर्ट से गत सोमवार को जमानत मिलने के बावजूद तीन दिन बाद उसकी रिहाई संभव हो पायी। निरूपमा हत्याकांड में पुलिस ने प्रियभांशु को भी अभियुक्त बनाया था। दो साल पुराने और बहुचर्चित निरुपमा पाठक की मौत के मामले में उसके प्रेमी प्रियभांशु रंजन ने 5 जून को स्थानीय अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया था। कोर्ट ने आत्मसमर्पण के बाद उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। 

यशवंत की जमानत याचिका पर नहीं हुई सुनवाई, 8 अगस्‍त की तिथि निर्धारित

भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत सिंह की जमानत याचिका पर शुक्रवार को भी सुनवाई नहीं हो सकी. 3 अगस्‍त को जमानत अर्जी पर सुनवाई तय थी, परन्‍तु वकीलों के हड़ताल की वजह से सुनवाई नहीं हो सकी. अदालत का कामकाज शुरू होने के बाद ही मेरठ में हाई कोर्ट की बेंच की स्‍थापना को लेकर वकीलों ने हड़ताल शुरू कर दी, जिसके बाद जिला जज ने जमानत पर सुनवाई की अगली तिथि 8 अगस्‍त निर्धारित कर दी है. 

जय हिंद टीवी चैनल पर पाबंदी लगाने की मांग

अमृतसर : एसजीपीसी के अध्यक्ष जत्थेदार अवतार सिंह मक्कड़ ने पिछले दिनों 100 वर्षीय प्रसिद्ध सिख धावक फौजा सिंह का कार्टून बनाकर सिखी से भद्दा मजाक करने वाले 'जय हिंद' टीवी चैनल के एंकर सुमित राघवन की निंदा करते हुए इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

वेणु राजमणि बने प्रणव मुखर्जी के प्रेस सचिव

 

राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की नयी मीडिया टीम की आज घोषणा कर दी गई है. भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी वेणु राजमणि उनके नये प्रेस सचिव बनाए गए हैं. राजमणि ने अर्चना दत्त का स्थान लिया है. जिन्हें सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय में भेजा गया है. पेशे से राजनयिक और 1986 के आईएफएस अधिकारी राजमणि संयुक्त सचिव थे तथा वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामले विभाग में अक्टूबर, 2010 से मल्टीलेटरल इंस्टीट्यूशन डिवीजन के प्रमुख थे.

जागरण के अवैध प्रकाशनों को भी मिलता है सरकारी विज्ञापन

जैसे-जैसे आरटीआई से सूचना मिल रही है वैसे-वैसे जागरण के फर्जीवाड़े तथा आर्थिक अपराधों की पोल खुलती जा रही है. आरटीआई से मांगी कई एक सूचना में जानकारी मिली है कि बिहार विज्ञापन प्राधिकृत समिति ने 2008 में दैनिक जागरण के भागलपुर तथा मुजफ्फरपुर के अवैध संस्‍करणों को भी राज्‍य विज्ञापन स्‍वीकृत सूची में शामिल किया है. जाहिर है कि जागरण के इन अवैध संस्‍करणों को पिछले कई सालों में करोड़ों रुपये के सरकारी विज्ञापन मिल चुके हैं. 

इंडिया न्‍यूज के रिसर्च टीम से 11 किए गए बाहर

इंडिया न्‍यूज से खबर है कि प्रबंधन ने रिसर्च टीम को बाहर का रास्‍ता दिखा है. प्रबंधन के इस निर्णय से ग्‍यारह कमर्चारी बेरोजगार हो गए हैं. प्रबंधन बीस हजार से ज्‍यादा सैलरी पाने वालों को भी बाहर का रास्‍ता दिखाने की तैयारी में हैं. सूत्रों का कहना है कि न्‍यूज एक्‍स का अधिग्रहण करने के बाद प्रबंधन को इंडिया न्‍यूज की रिसर्च टीम औचित्‍यहीन लगने लगी थी. जिसके बाद रिसर्च टीम से ग्‍यारह लोगों को बाहर कर दिया गया. अब न्‍यूज एक्‍स की रिसर्च टीम ही ग्रुप के सभी चैनलों को सेवाएं देगी. 

हमार-फोकस वेतन विवाद : तीसरे दिन भी न्‍यूज रूम में डंटे हैं कर्मचारी

मतंग सिंह के फोकस टीवी और हमारा टीवी से खबर है कि कर्मचारी बकाए वेतन, पीएफ की मांग को लेकर तीसरे दिन भी न्‍यूज रूम में जमे हुए हैं. हमार तथा फोकस टीवी के लगभग सौ कर्मचारी धरने पर हैं. प्रबंधन कर्मचारियों के बीच फूट डालकर उनकी एकता को तोड़ना चाह रहा है. खबर है कि कुछ चुनिंदा कर्मचारियों को अकेले में बुलाकर प्रलोभन भी दिया जा रहा है. प्रबंधन पिछली बार हुए आंदोलन में भी यही रणनीति अपना चुका है. इनमें से ज्‍यादातर तब प्रबंधन के साथ खड़े हो गए थे. अब इन्‍हें इसी बात कर डर सता रहा है कि कुछ साथी इनके आंदोलन को धोखा दे सकते हैं. 

दो और मामलों में कोर्ट में हाजिर हुए पीके तिवारी

 

: जेल में हुई भुप्‍पी की सामान्‍य प्रक्रिया पर समूह प्रमुख से भेंट : नोएडा : महुआ समूह के मुखिया पीके तिवारी को दो और मामलों में कोर्ट में हाजिर करा दिया गया है। यह मामले मौजूदा उस मामले से अलग है, जिसमें उन्‍हें पहले से सीबीआई की तरह से जेल भेजा जा चुका है। उधर खबर है कि महुआ के सलाहकार भूपेंद्र नारायण सिंह उर्फ भुप्‍पी ने आज तिहाड़ में बंद पीके तिवारी से भेंट की। हालांकि इस भेंट का ब्‍योरा अब तक पता नहीं चला है। लेकिन इतना तो बताया जाता है कि इस बातचीत का मकसद महुआ में आये ताजा संकट के लेकर ही हुआ। कहा गया है कि समूह में तोपची-चूहे के तौर पर मशहूर बैडमैन की विवादित सितारगंज चुनावी यात्रा और उसमें उनके संगी-साथी रहे लोगों के साथ ही लखनऊ में उनकी एक करीबी की करतूतों पर लम्‍बी से चर्चा हुई। वैसे एक और खबरों के मुताबिक महुआ समूह के पुराने कर्मचारियों की एक बैठक समूह के प्रबंधन के साथ अगले 20 तारीख को होनी है और उसके तहत अब यह समूह अपने लोगों को एकजुट करना चाहता है। जाहिर है कि प्रबंधन का मकसद महुआ समूह को अब बंदी की ओर बढ़ाना नहीं है।

कुमार्ग के राह पर रांची सन्मार्ग, तीन माह का वेतन बकाया

 

सन्मार्ग, रांची के कर्मियों का वेतन बकाया फिर तीन माह का हो गया है. जुलाई में अप्रैल माह का भुगतान करते वक़्त डाइरेक्टर प्रेम ने एक सप्ताह के अन्दर एक माह का और भुगतान करने का आश्वासन दिया था लेकिन फिर इसकी कोई सुगबुगाहट नहीं हुई. काफी मान-मंनौवल के बाद पुनर्वापसी के कारण सम्पादक बैजनाथ मिश्र प्रबंधन के प्रति कटु वचन बोलने में संकोच नहीं कर रहे और वेतन रोकने की प्रवृति की खुलेआम निंदा कर रहे हैं, लेकिन इस मुद्दे पर प्रेम से सीधे दो टूक बात करने से हिचक रहे हैं. 

रांची में न्‍यू इस्‍पात मेल का कार्यालय खुला

  रांची से खबर है कि जल्‍द ही न्‍यू इस्‍पात मेल का प्रकाशन होने जा रहा है. गुरुवार को रांची में अखबार के कार्यालय का उद्घाटन हुआ. न्‍यू इस्‍पात मेल का प्रकाशन झारखंड के जमेशदपुर से होता है. खबर है कि झारखंड के वरिष्‍ठ पत्रकार संजय समर को रांची में अखबार लांचिंग की जिम्‍मेदारी सौंपी …

अजमद सलीम ने आई नेक्‍स्‍ट के पेड न्‍यूज की शिकायत की

 

पेड न्‍यूज के लिए बदनाम दैनिक जागरण समूह के अखबार आई नेक्‍स्‍ट की शिकायत प्रेस काउंसिल के अध्‍यक्ष जस्टिस मार्कंडेय काटजू से की गई है. बरेली में जागरण कांग्रेस से मेयर पद के प्रत्‍याशी रहे अमजद सलीम एडवोकेट ने यह शिकायत की है. अजमद सलीम ने अपने पत्र लिखा है कि आई नेक्‍स्‍ट के लोगों ने उनसे छह लाख रुपये की मांग की. पैसे देने पर असमर्थता जताने पर पचास लाख रुपये लेकर दूसरे प्रत्‍याशी आईएस तोमर के पक्ष में बैठने को कहा गया. 

ईटीवी, आगरा से मुकेश कुमार का इस्‍तीफा

  आगरा में ईटीवी को बड़ा झटका लगा है. यहाँ के तेज तर्रार संवाददाता मुकेश कुमार ने ईटीवी से इस्तीफ़ा दे दिया है. छह साल से मुकेश कुमार ने ईटीवी को तमाम बड़ी ख़बरों में आगे रखा. माया सरकार के समय एमजी रोड पर दंगे की लाइव तस्‍वीरें हो या फिर आगरा में बम धमाके …

खबर चोर दैनिक प्रभात?

 

गाजियाबाद : गाजियाबाद के नवयुग मार्केट इलाके से प्रकाशित दैनिक प्रभात ने पत्रकारिता की तमाम मर्यादाओं को तारतार कर दिया है। दैनिक प्रभात ने गाजियाबाद से प्रकाशित स्थानीय सांध्य अखबारों की बासी व झूठन खबरों को अपने यहां हू-ब-हू छापना शुरू कर दिया है, यहां तक कि अखबार के करामाती सम्पादक चुराई गई खबर का शीर्षक बदलना भी उचित नहीं समझते। 

मीडियाकर्मियों पर हमले की सुनवाई शुरू

  इटानगर : अरुणाचल प्रदेश में मीडियाकर्मियों पर हमले के मामले की सुनवाई शुरू हो गई है। इसके लिए विशेष तौर पर प्रथम श्रेणी के दंडाधिकारी तालो पोटोम को नियुक्त किया गया है। मुख्यमंत्री नबाम तुकी ने मीडियाकर्मियों को आश्वासन दिया था कि उनपर हुए हमले की निष्पक्ष सुनवाई की जाएगी। 15 अप्रैल को अरुणाचल …

आपके धंधे का क्‍या हालचाल है मिस्‍टर न्‍यूजमैन?

 

नोएडा : तोतले से करा दिया विजय बहुगुणा का इंटरव्‍यू। भड़के बहुगुणा ने सुना दीं खरी-खरी। भागे न्‍यूजमैन सितारगंज में अपने के चेले के साथ। भाजपा की गाड़ी में मौज लिया, दर्जनों इंटरव्‍यू किया, गांधीछाप लाल नोटों वाली गड्डियां समेटीं और फर्जी फोनो स्‍टूडियो से दिया। तो यह सचाई है इस बड़े चैनल के बैड-मैन की, जिसके चलते ही इस चैनल का बंटाधार हो गया। और दिलचस्‍प बात यह है कि यही बैड-मैन अब खुद को न्‍यूजमैन बताते हुए पत्रकारिता और पत्रकारों का हितैषी बनने का डंका बजाता है। बहरहाल, सवाल तो अब उठेंगे ही कि आखिर इस चैनल को किसन तोड़ने की साजिशें कीं और डेढ़ सैकड़ा कर्मचारियों का खून किसने बहाया। 

महुआ : ये जीत के जश्न का नहीं…सोचने का वक़्त है

गरदन इज़्ज़त पर दिए फिरो..तब मज़ा यहां जीने का है/ तनकर बिजली का वार सहे..यह गर्व नए सीने का है। अगर…महुआ न्यूज़लाइन के पत्रकारों की टीम की सोच इन पंक्तियों जैसी नहीं होती… तो फिर जो नतीजे सामने आए वो कभी नहीं आते। अगर ये टीम कलम की धार से जनता के हक की आवाज बुलंद करने वाले तेवर की नहीं होती…स्वाभिमान से लबरेज न होती…हर जिम्मेदारी को प्राण-प्रण से पूरी करने वाली नहीं होती तो वो अपने अधिकारों की आवाज़ कभी नहीं उठा पाती। इस आंदोलन में किसकी जीत हुई किसकी हार..अब ये तय करना बड़ा मसला नहीं। मसला ये है कि क्या वाकई अब कोई मीडिया घराना ऐसा करने की हिम्मत नहीं करेगा? जवाब निराशाजनक ही मिलेगा…ऐसे में मुद्दा ये है कि क्या आगे भी पत्रकार अपने हक की आवाज को अपने दम पर उठाएंगे? इस बात की परवाह किए बिना क्या वे मिलकर लड़ेंगे ..कि कोई साथ आए न आए हम जीतकर रहेंगे। वो भी अपने दम पर?

12 अगस्‍त को होगा यूपी मान्‍यता प्राप्‍त संवाददाता समिति का चुनाव

 

: चुनाव कार्यक्रम घोषित : पिछले काफी समय से विवाद के चलते टल रहे उत्‍तर प्रदेश राज्‍य मुख्‍यालय मान्‍यता प्राप्‍त संवाददाता समिति का चुनाव कार्यक्रम घोषित कर दिया गया है. 2से 4 अगस्‍त तक नामांकन होगा. 5 अगस्‍त को नामांकन पत्रों की जांच होगी तथा 6 अगस्‍त को नामांकन पत्रों की वापसी होगी. मतदान तथा मतगणना 12 अगस्‍त को होगा. चुनाव किशोर निगम, दीपक गिडवाणी और राजकुमार सिंह की देखरेख में होंगे. नीचे चुनाव कार्यक्रम की कॉपी. 

ईमानदारी और सच्‍चाई के साथ अपनी भूमिका निभाई : राणा यशवंत

 

महुआ न्‍यूजलाइन को बंद करने की घोषणा के बाद उठा विवाद प्रबंधन के लचीले रुख के बाद लगभग समाप्‍त हो गया है. संस्‍थान ने कर्मचारियों को दो माह की बकाया सैलरी और एक महीने का कंपनसेशन चेक सौंप दिया है. शायद यह टीवी इंडस्ट्री का पहला चैनल है, जहां पर बकाया वेतन और कंपनशेसन दोनों दिया गया और पूरा मामला स्‍मूथली निपटा लिया गया. इस मसले पर महुआ के समूह संपादक राणा यशवंत की भूमिका भी काफी सराहनीय रही है. भड़ास4मीडिया ने राणा यशवंत से बातचीत की. पेश है बातचीत के प्रमुख अंश :

अवैध भारतीय चैनलों को यथाशीघ्र बंद किया जाए

 

इस्लामाबाद : पाकिस्तान के रक्षा प्रतिष्ठान ने सरकार ने मांग की है कि वह ‘पाकिस्तान के खिलाफ भारत के शत्रुतापूर्ण एजेंडे’को नियंत्रित करने के लिए अवैध भारतीय चैनलों को यथाशीघ्र बंद करे। मीडिया में आयी खबरों के मुताबिक, रक्षा प्रतिष्ठान ने ‘भारतीय दुष्प्रचार के हमले’ पर ‘पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया नियामक प्राधिकार’और सूचना मंत्रालय से लगातार ‘गंभीर चिंता’जाहिर की है, विशेष तौर पर उन कार्यक्रमों पर जो युवा पीढ़ी, पाकिस्तानी संस्कृति और राष्ट्रवाद को निशाना बनाते हैं।

कौन सुनेगा महुआ के स्ट्रिंगरों का दर्द?

यह पढ़ कर अच्छा लगा कि महुआ प्रबंधन ने नॉएडा में आंदोलनरत कर्मचारियों की मांगें मान ली है और वे उन्हें लंबित भुगतान करने को तैयार है. लेकिन इस खबर ने एक दर्द को भी महसूस कराया. हम सब स्ट्रिंगर्स का दर्द. वही स्ट्रिंगर्स जिनके दम पर महुआ न्यूज़ लाइन ने अपनी पहचान बनाई, लेकिन जब बारी आई इनसे सम्बंधित दिक्कतों की तो पहले तो किसी ने न सुनी, दबाव ज्यादा बढ़ा तो किसी को एक चेक दो हजार, किसी को चार हज़ार का थमा आगे जल्द ही पेमेंट मिलने की बात कही गई. 

प्रदेश टुडे ने उड़ाई भास्‍कर की खिल्‍ली

 

भोपाल से प्रकाशित प्रदेश टूडे ने दैनिक भास्कर को आईना दिखाया है. इससे पहले यह खबर भड़ास पर भी प्रकाशित हो चुकी है. दैनिक भास्कर की एक ही खबर को अलग अलग एडिशनों में अलग जानकारी के प्रकाशन की प्रदेश टुडे ने खिल्‍ली उड़ाई है. सूत्रों से पता चला है कि भास्कर प्रबंधन इस मामले में कोई भी कार्रवाई नहीं कर रहा है. क्योंकि हरदा जिले में बीते कुछ समय से भास्कर को एक अदद ब्यूरो की तलाश खत्म नहीं हो रही है. फिलहाल इटारसी के शैलेश
जैन ब्यूरो का काम देख रहे हैं.  

हिंदुस्‍तान, बरेली को लेकर प्रबंधन असमंजस में, सर्कुलेशन पर प्रभाव

 

बरेली हिंदुस्‍तान प्रबंधन के लिए मुश्किलों का सबब बन गया है. चर्चाओं तथा अफवाहों से जूझ रहे इस यूनिट की हालत लगातार बिगड़ती जा रही है. प्रबंधन इस तरह की डाइलेमा की स्थिति में है कि उसे समझ नहीं आ रहा है कि क्‍या किया जाए. पुख्‍ता खबर है कि स्‍थानीय संपादक आशीष व्‍यास जा चुके हैं. इसके बाद भी प्रबंधन इस महत्‍वपूर्ण यूनिट में किसी संपादक की नियुक्ति नहीं कर सकता है. रोज नए नए नाम के संपादक की चर्चा बरेली में हो रही है. ऐसी खबरों का असर अखबार के सर्कुलेशन के साथ टीम पर भी पड़ रहा है. 

यशवंत-जेल : गिरफ्तारी के विरोध में फरीदाबाद में पत्रकारों ने धरना दिया

: डरपोक हैं बड़े संस्‍थानों के पत्रकार – कुमार मधुकर : फरीदाबाद : पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत आज भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत की गिरफ़्तारी के विरोध में दर्जनों पत्रकारों ने जिला मुख्यालय के सामने धरना दिया. कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे भांडा फोड़ इंडिया के ग्रुप एडिटर कुमार मधुकर ने खेद प्रकट करते हुए कहा बड़े संस्‍थानों में काम करने वाले पत्रकार नम्बर वन डरपोक हैं. तभी वे इस आन्दोलन में खुलकर सामने नहीं आ रहे. 

राणा-भूप्‍पी के चलते ही डेढ़ सौ पत्रकार हुए बेरोजगार

 

नोएडा : लगातार दो रात-दिन तक महुआ समूह के सैकड़ों कर्मचारी नोएडा मुख्‍यालय में जमे रहे। भूखे-प्‍यासे। आशंकाओं के बीच झूलते। लेकिन महुआ मालिकों के साथ राणा-भुप्‍पी की जुगलबंदी चलती रही। और अब राणा-भुप्‍पी की इस जुगलबंदी ने एक नया राग छेड़ दिया है कि वे न्‍यूजमैन हैं और चाहे कुछ भी हो जाए, हमेशा पत्रकारों के साथ ही रहेंगे।

अरिदमन सिंह के घर चोरी : आगरा की पत्रकारिता में उभरा जातिवाद

 

आगरा उत्तर प्रदेश के परिवहन मंत्री अरिदमन सिंह के यहाँ की चोरी अब जातिवाद के रूप में उभर कर सामने आने लगी है, जिसमें आगरा के एसएसपी सुनील चन्द्र वाजपेयी व उनके बीच वर्चस्व की जंग छिड गयी है. वैसे भारतीय संविधान के अनुसार देश से राजा महाराजाओं का अस्तित्व बहुत पहले ही समाप्त हो गया है, लेकिन इक्कीसवीं शताब्दी में भी अखिलेश सरकार के कुछ ऐसे मंत्री हैं जो कि राजशाही ठाठ आज भी बरकरार रखे हुए हैं. 

बीएस लाली के खिलाफ क्‍लोजर रिपोर्ट दाखिल

 

नई दिल्‍ली : सीबीआई ने प्रसार भारती के पूर्व सीईओ बीएस लाली से संबंधित एक मामले में एक कोर्ट में क्लोजर रिपोर्ट दाखिल की है। सीबीआई ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि उसे लाली के खिलाफ धोखाधड़ी और कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए प्रसारण अधिकार देने में साजिश संबंधी कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले है। एजेंसी ने सीबीआई के विशेष जज तलवंत सिंह की कोर्ट में क्लोजर रिपोर्ट दाखिल की। इस रिपोर्ट पर 4 अगस्त को विचार किया जाएगा। सीबीआई ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि उसे लाली और दिल्ली स्थित जूम कम्युनिकेशन के एमडी वसीम देहलवी के खिलाफ पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं। देहलवी ब्रिटेन स्थित सिस लाइव के रेजीडेंट डायरेक्टर भी है।

कीमती विदेशी संपत्तियों पर सहारा की नजर

 

वैश्विक हॉस्पिटैलिटी उद्योग को कारोबार के प्रति अपनी गंभीरता का एहसास कराने के लिए सहारा समूह को महज दो सौदे करने पड़े। करीब 130 करोड़ डॉलर में दुनिया की दो प्रतिष्ठित होटल परिसंपत्तियां खरीदकर समूह ने हाई ऐंड हॉस्पिटैलिटी कारोबार में काफी हद तक व्यवस्थित दिख रहा है। लंदन में ग्रोजवेनर हाउस और न्यूयॉर्क में प्लाजा खरीद चुके सहारा समूह की नजर अब फ्रांस में महल परिसंपत्ति की तलाश में जुटा है। माना जा रहा है कि सुब्रत राय की अगुआई वाला सहारा समूह ब्रिटेन में मैरियट होटल का पोर्टफोलियो खरीदने के लिए भी बात कर रहा है। हालांकि इस बारे में भेजे गए सवालों का सहारा समूह ने कोई जवाब नहीं दिया।

सहारा खरीदेगा न्‍यूयार्क के प्‍लाजा होटल में मालिकाना हिस्‍सेदारी

 

सहारा ग्रुप न्यूयार्क के प्रतिष्ठित प्लाजा होटल में मालिकाना हिस्सेदारी 57 करोड़ डॉलर में खरीदने पर राजी हो गया है। इजरायल की अचल संपत्ति क्षेत्र की कंपनी एलाद प्रापर्टीज के मुताबिक प्लाजा होटल 105 साल पुराना लक्जरी होटल है और यह न्यूयार्क के सेन्ट्रल पार्क के पास है। होटल का मालिकाना हक फिलहाल एलाद प्रापर्टीज और सउदी कंपनी किंगड़ा होल्डिंग्स कंपनी के पास संयुक्त रुप से है। एलाद पर इजरायल के कारोबार यितझाक शुवा का नियंत्रण है।