पत्रकारिता के नटवरलाल (एक) : सुमेश दोषी

पर्ल ग्रुप की मैग्जीन 'शुक्रवार' के पत्रकार नरेंद्र कुमार वर्मा की एक किताब आई है. नाम है- 'पत्रकारिता के नटवरलाल'. इसमें दर्जनों पत्रकारों की सच्ची कहानियों को मिलते-जुलते नामों के साथ पेश किया गया है. कहानी का शीर्षक संबंधित पत्रकार के मिलते-जुलते नाम पर ही है. लिखने का अंदाज सरल, सहज और बातचीत वाला. पढ़ेंगे तो पढ़ते जाएंगे. ईमानदार और संवेदनशील लोग अगर इन कहानियों को पढ़ेंगे तो पढ़ते-पढ़ते उन्हें उबकाई आने लगेगी. संभव है पूरी पत्रकारिता और सारे पत्रकारों से घृणा होने लगे.

अमर उजाला से सौरभ का इस्तीफा और बिपिन का ट्रांसफर, फारवर्ड प्रेस से सोहन व जतिन्‍द्र जुड़े

अमर उजाला, गाजियाबाद से खबर है कि सौरभ पांडेय ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर जूनियर रिपोर्टर के पद पर कार्यरत थे. सौरभ ने अपनी नई पारी गाजियाबाद में ही हिंदुस्‍तान के साथ शुरू की है. उन्‍हें यहां क्राइम रिपोर्टिंग की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. हाल के दिनों में सौरभ सातवें मीडियाकर्मी हैं, जिन्‍होंने अमर उजाला से इस्‍तीफा दिया है. वे करीब ढाई सालों से अमर उजाला को अपनी सेवाएं दे रहे थे. बताया जा रहा है कि सौरभ प्रमोशन ना होने से नाराज थे. विनीत सक्‍सेना के संपादक बनकर आने के बाद से अमर उजाला, गाजियाबाद का यह नौवां विकेट गिरा है. इसके पहले पांच लोग ए‍क साथ अमर उजाला छोड़कर हिंदुस्‍तान चले गए थे.  

‘Because chastity is very important for Indian women’

बचपन में मेरी जिन आदतों और हरकतों से दादी की जान जलती थी, उनमें से एक था मेरा घुमक्‍कड़ी स्‍वभाव। घर में मेरे पैर कभी टिके नहीं। मुझे हर समय घूमने को चाहिए। अब जितना मौका था, उतना ही घूमती थी। ऐसा तो नहीं कि मुंह उठाया और इलाहाबाद से बनारस पहुंच गई, बनारस से मुंह उठाया और लखीमपुर खीरी पहुंच गई। एक मुहल्‍ले से दूसरे मुहल्‍ले में ही तो जाती थी। फिर भी इतनी तकलीफ। दादी समेत तकरीबन सभी पारंपरिक परिवारों को इतिहास, मनुस्‍मृति और धर्मग्रंथों से मिला ज्ञान ये कहता है, जिसे वह पैदा होने के साथ ही पोलियो के टीके की तरह अपनी लड़कियों के खून में इंजेक्‍ट कर देते हैं कि-

दैनिक ‘हिकीज गजेट’ और ‘संवाद प्रभाकर’ के स्मारिका का लोकार्पण किया राष्ट्रपति ने

: तथ्यों की पवित्रता को बनाए रखे प्रेस- प्रणब : कोलकाता : राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि प्रेस को तथ्यों की पवित्रता बनाए रखना चाहिए और पत्रकारों को सच्चाई तथा विश्वसनीयता के उसूलों पर टिकना चाहिए। मुखर्जी ने भारतीय पत्रकार संघ (आईजेए) के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, ‘पत्रकारिता के बहुत से दिग्गज इन उसूलों पर सख्ती से टिके हैं कि मैं अपने विचार देने के लिए आजाद हूं लेकिन मैं तथ्यों के साथ स्वच्छंदता नहीं बरत सकता। तथ्यों को उसी रूप में फिर से पेश किया जाना चाहिए जिस रूप में वे हैं।’

फोटोग्राफर जगदीश माली सड़क पर मिले, बेटी अंतरा माली ने मुंह फेरा, सलमान खान ने की मदद

नई दिल्ली : बीते जमाने के जाने-माने फोटोग्राफर जगदीश माली सड़क पर पाए गए। इसकी सूचना जब उनकी बेटी और एक्ट्रेस अंतरा माली को दी गई तो उसने पिता की मदद करने व खबर लेने से इनकार कर दिया। ऐसे में सलमान खान ने जगदीश माली की पूरी मदद की। बॉलीवुड के 1980-1990 के दशक के मशहूर फोटोग्राफर जगदीश माली ने कई एक्ट्रेसेस की खूबसूरती की बेहतरीन तस्वीरों को कैद किया है। जगदीश माली को हाल में ही में मुंबई की सड़कों पर पाया गया।

अन्ना, केजरीवाल, रामदेव समेत देश के 56 समूहों का महा गठबंधन मार्च में : गोविन्दाचार्य

: गोविंदाचार्य ने काशी में भरी हुंकार… : देंगे देश को नया राजनीतिक विकल्प  : सोनिया प्रकरण पर पूर्व राष्ट्रपति देश को सच बताएं : अब्दुल कलाम साहब का लेखन अनैतिक :  धूर्त नौकरशाहों ने राहुल की राह आसान की : न्यायिक सुधार के लिए 7 हजार करोड़ नहीं, ड्रीम लाइनर के लिए हैं ३० हजार करोड़ :  केन्द्रीय बजट का ७ प्रतिशत पंचायतों को मिले : सत्ता नहीं, व्यवस्था परिवर्तन है समाधान : पाकिस्तान शत्रु देश घोषित हो : सभी नीतियां माँ गंगा के परिप्रेक्ष्य में बने :

‘उत्तराखंड लॉयन्स’ गोल्फ टीम ने डेरिन क्लॉर्क को खरीदा

देश में गोल्फ को नई उंचाइंयों तक पहुंचाने के मकसद से शुरू हो रहे गोल्फ प्रीमियर लीग 2013 में ‘उत्तराखंड लॉयन्स’ ने झंडे गाड़ दिए हैं। 9 टीमों वाले अंतर्राष्ट्रीय स्तर के इस टूर्नामेंट में ‘उत्तराखंड लॉयन्स’ ने सबसे महंगे खिलाड़ी डेरिन क्लार्क को रेकॉर्ड 55 हज़ार अमेरिकी डॉलर में खरीद लिया है। डेरिन क्लार्क दुनिया के शानदार गोल्फरों में से एक हैं और मौजूदा ब्रिटिश ओपन चैंपियन भी हैं। इंटरनेशनल सर्किट में क्लार्क ने वर्ल्ड नंबर वन रहे टाइगर वुड्स को भी हराया था।

विष्णु खरे की धारणाएं कुंठित व्यक्ति के तर्कहीन और अविश्वसनीय विचार लगते हैं

वरिष्ठ कवि-आलोचक विष्णु खरे ने कवि चंद्रकांत देवताले को अकादेमी पुरस्कार मिलने पर एक टिप्पणी लिखी थी. उस टिप्पणी में उन्होंने कहा कि लीलाधर जगूड़ी, राजेश जोशी, मंगलेश डबराल, वीरेन डंगवाल और अरुण कमल को 'निर्लज्ज षड्‌यंत्रों' से अकादमी पुरस्कार दिया गया जिसे उन्होंने 'मैचिंग बेशर्मी' से स्वीकार कर लिया और यह 'अक्षम्य' है. इसका प्रतिवाद वरिष्ठ कवियों लीलाधर जगूड़ी, राजेश जोशी, वीरेन डंगवाल, मंगलेश डबराल के हस्ताक्षर से जारी किया गया है, जो इस प्रकार है-

मयंक गुप्ता साधना न्‍यूज के ग्रुप मैनेजिंग एडिटर नियुक्त

साधना न्यूज के सभी चैनलों की कमान अब चेयरमैन दिनश गुप्ता के पुत्र मयंक गुप्ता को सौंप दी गई है. मयंक को ग्रुप मैनेजिंग एडिटर बना दिया गया है. हिंदी पट्टी के छह राज्य मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़, बिहार-झारखण्ड और उत्तर प्रदेश–उत्तराखण्ड में चैनल संचालन के बाद प्रभातम ग्रुप साधना न्यूज का विस्तार राजस्थान में करने जा रहा है.

जनसंदेश टाइम्स, गोरखपुर के सिटी चीफ राजीव हिंदी दिवस पर कनाडा में होंगे सम्मानित

कनाडा की साहित्यिक संस्था ‘हमारी हिन्दी’ ने जनसंदेश टाइम्स, गोरखपुर के सिटी चीफ राजीव रंजन तिवारी को सम्मानित करने का निर्णय लिया है। उन्हें संस्था का यह सम्मान 14 सितंबर को हिन्दी दिवस के अवसर पर कनाडा में दिया जाएगा। राजीव रंजन तिवारी लंबे समय तक दैनिक जागरण मेरठ और देहरादून यूनिट से संबद्ध कार्यालयों में कार्यरत रहे हैं।

शुभ और कौशलेंद्र की वजह से डिबेट में माखनलाल नंबर वन

भोपाल। गोविंद वल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय पंतनगर में आयोजित वाद-विवाद प्रतियोगिता में लगातार दूसरी बार माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के छात्रों ने प्रथम स्थान प्राप्त किया है। विश्वविद्यालय के शुभ तिवारी और कौशलेंद्र सिंह की टीम को पुरस्कार स्वरूप एक ट्रॉफी प्राप्त हुई है। इस प्रतियोगिता में व्यक्तिगत कौशल के लिए कौशलेंद्र सिंह को तृतीय पुरस्कार प्राप्त हुआ है।

भास्‍कर बठिंडा से विजय अरोड़ा का इस्‍तीफा, अखिलेश पाठक अमर उजाला में बने रिपोर्टर

दैनिक भास्‍कर, बठिंडा में पिछले 5 वर्ष से कार्यरत विजय अरोड़ा ने इस्तीफा दे दिया है. बताया जा रहा है कि इसके पीछे वजह आफिस की अंदरुनी राजनीति है. भास्‍कर में चेतन शारदा के संपादक रहते विजय की खूब तूती बोलती थी. विजय को सिटी इंचार्ज नरिंदर शर्मा का काफी नजदीकी माना जाता है. चेतन शारदा के भास्‍कर छोड़ने के बाद आफिस के अंदर हालात कुछ ऐसे हुए कि विजय को इस्तीफा देना पड़ा.

अमरेंद्र ‘फारवर्ड प्रेस’ के हरियाणा ब्यूरो चीफ बने, शरद शंखधर का अमर उजाला जम्‍मू तबादला

अमरेन्द्र कुमार आर्य ने लोकमत समाचार से इस्तीफा देकर फारवर्ड प्रेस ज्वाइन कर लिया है. अमरेन्द्र कुमार आर्य पहले लोकमत समाचार के जलगांव संस्करण में सब एडिटर के तौर पर नियुक्त थे. अब वे फारवर्ड प्रेस के हरियाणा ब्यूरो प्रमुख के रूप में नियुक्त हुए हैं. फारवर्ड प्रेस ने हरियाणा के हिसार में ब्यूरो कार्यालय शूरू किया है. इससे पहले अमरेन्द्र कुमार आर्य राष्ट्रीय सहारा, प्रभात खबर, जागृति टाइम्स और दैनिक हिन्दूस्तान में रिपोर्टर के तौर पर कार्य कर चुके हैं.

साधना न्‍यूज से इस्‍तीफा देकर चैनल वन में पॉलिटिकल एडिटर बनीं अग्निमा

साधना न्‍यूज से अग्निमा का संबंध खत्म हो गया है. वे यहां पर पॉलिटिकल एडिटर थीं. अग्निमा ने अपनी नई पारी चैनल वन के साथ शुरू की है. उन्‍हें यहां भी पॉलिटिकल एडिटर बनाया गया है. अग्निमा पिछले दो सालों से साधना न्‍यूज के साथ जुड़ी हुई थीं. उन्‍होंने लखनऊ में भी साधना न्‍यूज की जिम्‍मेदारी संभाली. अग्निमा पिछले दो दशक से पत्रकारिता में सक्रिय हैं. वे लगभग डेढ़ दशक तक दिल्‍ली में दैनिक भास्‍कर को अपनी सेवाएं दे चुकी हैं.

एसएनबी भंग, अनिल राय कारपोरेट रिलेशन में भेजे गए, मनोज मनु के भी पर कतरे

सहारा समूह से खबर है कि एसएनबी को तात्‍कालिक तौर पर भंग कर दिया गया है. अब तक इसकी जिम्‍मेदारी अनिल राय के जिम्‍मे थी. बताया जा रहा है कि उपेंद्र राय के नजदीकी माने जाने वाले अनिल राय से यह जिम्‍मेदारी ले ली गई है. उन्‍हें एसएनबी से हटाकर कारपोरेट रिलेशन में भेज दिया गया है. हालांकि इस बारे में जब अनिल राय से बात की गई तो उन्‍होंने बताया कि न तो एसएनबी को भंग किया गया है और ना ही वे अपने पद से हटे हैं.

आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर के प्रेस वार्ता पर रोक

आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर के एसपी गोंडा कार्यकाल (2003-2004) में एक शस्त्र जांच प्रकरण में कुछ पुलिस अधिकारियों द्वारा उन्हें फर्जी तरीके से गंभीर आपराधिक मुकदमे में फंसाने के लिए एक जांच आख्या उत्तर प्रदेश शासन को भेजी गयी थी. जांचकर्ता अधिकारी ने बिना साक्ष्य के स्वतः यह निष्कर्ष निकाल लिया था कि ठाकुर की सीधे-सीधे शस्त्र रैकेट में संलिप्तता है. यह जांच आख्या कई समाचार पत्रों में भी प्रकाशित हुई.

नियुक्ति विभाग ने शशांक शेखर सिंह के खिलाफ जांच शुरू की

नियुक्ति विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार ने सामाजिक कार्यकर्ता नूतन ठाकुर द्वारा पूर्व कैबिनेट सचिव शशांक शेखर सिंह के सेवा अभिलेख सम्बंधित मामले में की गयी शिकायत को संज्ञान में लेते हुए नागरिक उड्डयन विभाग को अग्रेतर कार्रवाई करने के निर्देश दिये हैं. शिकायत में ठाकुर ने शशांक शेखर सिंह की जन्मतिथि, शैक्षिक योग्यताओं, तकनीकी योग्यताओं तथा उनकी प्रथम नियुक्ति से अंत तक की चरित्र पंजिका जैसी कई जानकारियों के सम्बन्ध में कोई शासकीय अभिलेख नहीं होने के बावजूद पूरी नौकरी करने की जांच कराने की मांग की थी.

वरिष्‍ठ पत्रकार रजत अमरनाथ की राष्ट्रपति पर किताब- ‘पोल्‍टू टू प्रेसिडेंट : प्रणब मुखर्जी’

सीनियर जर्नलिस्‍ट एवं न्‍यूज एक्‍सप्रेस चैनल में कार्यरत रजत अमरनाथ ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी पर किताब लिख दिया है. रजत ने राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बचपन से लेकर राष्‍ट्रपति बनने तक की कहानी को अपनी किताब में समेटा है. 'पोल्‍टू टू प्रेसिडेंट : प्रणब मुखर्जी' नामक इस किताब में प्रणब मुखर्जी से जुड़े कई छुए-अनछुए पहलुओं की जानकारी है. इस किताब का प्रकाशन मानस पब्लिकेशन ने किया है. किताब का मूल्‍य 695 रुपये है.

पंकज मुकाती पर क्‍यों नाराज हुए ‘दबंग दुनिया’ के क्रिएटिव हेड दीपक बुड़ाना?

: कानाफूसी : गुटका किंग कहे जाने वाले इंदौर के व्यापारी किशोर वाधवानी के अखबार दबंग दुनिया में आजकल हलचल बहुत तेज है. आतंरिक विवादों के बीच कीर्ति राणा ने इस्‍तीफा दे दिया. अब खबर है कि लेआउट को लेकर भी बवाल हुआ. इस पर क्रिएटिव हेड दीपक बुड़ाना के नाराजगी की बात भी सामने आ रही है, पर उन्‍होंने इस तरह की किसी बात से इनकार किया है. सूत्रों का कहना है कि 17 जनवरी को प्रधान संपादक पंकज मुकाती ने अखबार का लेआउट चेंज करवा दिया. यह सारा काम क्रिएटिव हेड दीपक बुड़ाना की जानकारी के बिना किया गया, जबकि क्रिएटिव हेड होने के कारण इस तरह का कोई बदलाव उनके निर्देशन में ही होना चाहिए था.

‘न्यूज प्लस’ के हेड बनाए गए इरफान शेख, आफिस नोएडा सेक्टर 110 में

'न्यूज प्लस' नामक चैनल नोएडा के सेक्टर 110 से संचालित होगा. यहां आफिस खोल दिया गया है. चैनल का हेड इरफान शेख को बनाया गया है. यह चैनल ब्रजेश कुमार राय नामक एक रीयल इस्टेट उद्यमी लांच करा रहे हैं. इनका रीयल इस्टेट का कारोबार पुणे में है. इस नेशनल चैनल को मार्च तक लांच कर दिए जाने की संभावना है. उसके बाद तीन रीजनल चैनल शुरू करने की योजना है. नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है.

ब्राह्मणवादी गुलामी में सिसकती आधी आबादी और मल्टीनेशनल नौटंकी

कल एक कार्यक्रम में महिलाओं को समझने का अवसर मिला। स्थानीय एएन सिन्हा सामाजिक अध्ययन शोध संस्थान में एक मल्टीनेशनल एनजीओ के सहयोग से एक मल्टीनेशनल संगठन ने कार्यक्रम का आयोजन किया था। चूंकि कार्यक्रम महिलाओं पर केंद्रित था और इसे बिहार के नजरिए से देखने की बात कही गयी थी। इसलिए मेरी दिलचस्पी अधिक थी। चूंकि सारा मामला मल्टीनेशनल था तो सब कुछ मल्टीनेशनल के जैसा ही था। दिल्ली से पत्रकारों की टीम किराये पर लायी गयी थी। ठीक वैसे ही जैसे शादी-विवाह में भाड़े पर लोग लाये जाते हैं।

‘प्रिंटलाइन’ बनाम रद्दी बेचने का कारोबार

: ‘‘प्रिंट लाइन के भीतर के लोग प्रिंट लाइन का संयम तोड़कर बाहर आ गये हैं। उसके बाहर ढेर सारे अपनों के बीच यह पहचानना मुश्किल हो गया है कि कौन मीडिया से है और कौन नहीं’’ : जाहिर है कि वह जमाना अब चला गया जब ‘प्रिंट लाइन’ के भीतर के लोग प्रिंटलाइन की मर्यादा को न केवल समझते थे बल्कि इसका सम्मान करते हुए कभी भी ‘लक्ष्मण-रेखा’ को लांघने की कोशिश नहीं करते थे। अब तो लोग ‘प्रिंट लाइन’ के भीतर दाखिल ही इसलिये होते हैं कि उन्हें ‘प्रिंट लाइन’ के बाहर आने का कोई बढ़िया-सा अवसर हासिल हो सके। पिछले लगभग चार दशकों में हिंदी पत्रकारिता के उतार (चढ़ाव तो शायद ही हो! ) की पूरी कथा परितोष चक्रवर्ती के नवीनतम उपन्यास प्रिंट लाइन’ में पढ़ी जा सकती है, जिसे हाल ही में ‘ज्ञानपीठ’ ने प्रकाशित किया है।

मक़बूल उन पत्रकारों में हैं जिन्हें अपना काम करने पर जेल भेजा गया

श्रीनगर : साहिल मक़बूल अपनी स्नेही मुस्कान के साथ झिझकते हैं, ऐसी अतिसंवेदनशीलता उन लोगों में खासकर देखी जा सकती है, जिन्होंने या तो बहुत ज्यादा सार्वजनिक अपमान सहा हो अथवा निजी त्रासदी। उन्होंने दोनों को बर्दाश्त किया है। 44 वर्षीय कश्मीरी पत्रकार और कवि कहते हैं कि उन्हें उन लोगों ने धोखा दिया, जिन पर यकीन किया, उन्हें 16 सितंबर 2004 को गिरफ्तार किया गया, जेल में डाला गया और उनके मुताबिक, भयंकर यंत्रणा दी गई। श्री मक़बूल भारत के अशांत कश्मीर क्षेत्र में खोजी पत्रकार के तौर पर जीवन निर्वाह कर रहे थे।

कल अशोक वाजपेयी 72 वर्ष के हो गए

Om Thanvi : कल अशोक वाजपेयी 72 वर्ष के हो गए। उम्र के साथ उनकी सक्रियता भी बढ़ती जाती है। उनकी चार किताबों का कल दिल्ली में एक समारोह में लोकार्पण हुआ। इनके अलावा एक किताब उनके नाम निकट के लोगों के 28 लिखे-अनलिखे 'पत्रों' की भी थी, जिनमें कुछ पत्र शरारती किस्म के हैं; मेरा भी! अशोक जी को इस गुप-चुप संकलन के साथ चौंकाने की यह बुनियादी 'शरारत' मेरे मित्र मनीष पुष्कले की रही।

97 साल के इन बाबाजी ने कहा- एक तीर्थ बाकी है, चंद्रशेखर आजाद के शहादत स्थल का दर्शन करा दो

Markandey Pandey : ये बाबा जी 97 साल के हैं, मुझसे निवेदन किये कि एक तीर्थ बाकी है मेरा, जहां चंद्रशेखर आजाद शहीद हुए थे, उस तीर्थ का दर्शन करा दो। वे बोलते गए… मैं जेल में था तो अंग्रेजों ने काफी मारा-पीटा, गाली दिया जब देश आजाद हुआ तो मैं जेल से निकल कर घर नहीं गया, साधु बन गया। मैने पूछा- पेंशन मिलती है फ्रीडम फाईटर वाली, तो बोले- मैं नहीं लेता।

अयोध्या लौट कर आए भगवान राम के प्रेस कांफ्रेंस में पूछे गए कुछ सवाल

aman namra : भगवान राम जब अयोध्या लौट कर आये थे, यदि उस समय हमारी मीडिया रही होती तो प्रेस कांफ्रेंस में कैसे कैसे सवाल करती….. 1- आपके टीम के श्री हनुमान को लंका सन्देश देने भेजा था पर उन्होंने वहाँ आग लगा दी…. क्या आपकी टीम में अंदरूनी तौर पर वैचारिक मतभेद है? 2- क्या हनुमान के ऊपर अशोक वाटिका उजाड़ने के आरोप में वन विभाग द्वारा मुकदमा नहीं चलाया जाना चाहिए? 3- आपके सहयोगी श्री सुग्रीव पर अपने भाई का राज्य हड़पने का आरोप है| क्या आपने इसकी जांच करवाई ? 4- क्या ये सच है कि सुग्रीव की राज्य हड़पने की साजिश के मास्टर माइंड आप है?

कीर्ति राणा को पहले वाधवानी अब मुकाती करने लगे थे अपमानित

: ये है कीर्ति राणा के दबंग दुनिया छोडऩे की कहानी : दंबग दुनिया में आने के तीन महीने बाद से ही किशोर वाधवानी के हाथों लगातार अपमानित हो रहे वरिष्ठ पत्रकार कीर्ति राणा ने दबंग दुनिया छोडऩे का फैसला दो कारणों से लिया है। वाधवानी राणा को लगातार अपमानित करने के साथ ही उनके खिलाफ षडयंत्र रचते ही रहते थे, लेकिन अब उनके द्वारा समूह संपादक व डायरेक्टर के रूप में लाये गये पंकज मुकाती ने भी कीर्ति राणा का अपमान शुरू कर दिया था। राणा द्वारा दबंग छोडऩे का ताजा कारण भी मुकाती व उनके बीच इलाहबाद कुंभ के कवरेज के मुद्दे पर टकराहट होना बताया जा रहा है।

साक्षी टीवी के मालिक जगन रेड्डी को अब 31 जनवरी तक रहना होगा जेल

हैदराबाद से खबर है कि विशेष सीबीआई अदालत ने आय से अधिक सम्‍पत्ति मामले में गुरुवार को साक्षी टीवी के मालिक एवं वाईएसआर कांग्रेस के अध्‍यक्ष वाईएस जगनमोहन रेड्डी और अन्‍य आरोपियों की न्‍यायिक हिरासत 31 जनवरी तक के लिए बढ़ा दी. जगन को पूर्व मंत्री एम वेंकट रमन राव, बिजनेसमैन एन प्रसाद एवं वरिष्‍ठ अधिकारी केवी ब्रह्मानंद रेड्डी समेत अन्‍य आरोपियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अदालत के समक्ष पेश किया गया.

एनबीएसए का निर्देश : डिबेट में भाग लेने वालों की जानकारी सार्वजनिक करे टाइम्‍स नाऊ

नई दिल्ली। द न्यूज ब्रॉडकास्टिंग स्टेंडर्ड्स अथॉरिटी (एनबीएसए) ने अपने एक फैसले में न्यूज चैनल टाइम्स नाऊ को निर्देश दिया कि वह चैनल पर चर्चाओं में भाग लेने वाले मेहमानों की संबंधित जानकारी आम लोगों के लिए सार्वजनिक करे। मुंबई के शरद शाह की शिकायत पर टाइम्स नाऊ चैनल के प्रोग्राम न्यूज अवर के विभिन्न एपिसोड्स में टाट्रा ट्रक डील से जुडी बहसों में सामरिक रक्षा विशेषज्ञ मारूफ रजा की मौजूदगी को लेकर यह फैसला दिया गया है।

इंडिया न्‍यूज के पुराने एंकरों को हटाया जाएगा!

बड़े लोगों के इंडिया न्‍यूज ज्‍वाइन करने के बाद अब इसका चेहरा भी बदलने की कवायद शुरू हो चुकी है. पुराने कर्मचारियों को अब नए तरीके और सलीके के बारे में जानकारी दी जाने वाली है. साथ ही पुराने एंकरों की डीवीडी मंगाकर उनका एंकरिंग इतिहास खंगाला जा रहा है. सूत्रों का कहना है कि पुराने एंकरों के प्रजेंटेशन को देखने के साथ ही स्‍क्रीन फ्रेंडली चेहरों को ही वरीयता दी जाएगी. कई लोगों को एंकरिंग से हटाया भी जाएगा. इसके साथ ही अब तक नेशनल चैनल पर एंकरिंग कर रहे महिला-पुरुष एंकरों को रीजनल चैनलों में भेज दिया जाएगा.

कवरेज कर रहे मीडियाकर्मियों पर भाजपा विधायक के भाइयों ने हमला किया

उधमसिंह नगर जनपद के रुद्रपुर कोतवाली क्षेत्र से बुधवार की शाम करीब आठ बजे अपने घर से बाहर खेल रहे चार साल के एक बच्‍चे को दो बाइक सवार बदमाश अगवा कर ले गए. बच्‍चे का अपहरण होते देख उसके बड़े भाई ने इसकी सूचना अपने परिवार वालों को दी. इसी बीच बच्‍चा मिल गया. इसके बाद क्रेडिट लेने के लिए रुद्रपुर व्‍यापार मंडल के दो गुट आपस में भिड़ गए. इस मामले की कवरेज करने पहुंचे मीडियाकर्मियों की टीम पर भाजपा विधायक राजकुमार ठुकराल के दो भाइयों ने अपने कार्यकर्ताओं के साथ हमला बोल दिया.

दो पार्ट में क्‍यों दी जा रही है श्री न्‍यूज में सैलरी?

मीडिया जगत में यह एक आम प्रवृत्ति हो चुकी है कि जो लोग किसी संस्‍थान में बड़े पदों पर जाते हैं अपने लोगों को सेट करने की कोशिश करते हैं. इस कड़ी में वे पुराने लोगों को तरह तरह से परेशान करने लगते हैं. इसी तरह के हालात अब श्री मीडिया समूह के चैनल श्री न्‍यूज में देखने को मिलने लगा है. यहां पर ग्रुप एडिटर के रूप में अजय उपाध्‍याय ने ज्‍वाइन किया. उसके बाद वे चैनल में कंसल्टिंग एडिटर के पद पर प्रभात शुंगलू को लेकर आए.

लखनऊ के दैनिक जागरण और हिंदुस्‍तान के लिए यह कोई खबर नहीं थी!

मुख्‍यधारा की मीडिया सरकार के भोंपू बनते जा रहे हैं. ये बात एक बार फिर साबित हुई पत्रकार संजय शर्मा द्वारा प्रमुख सचिव नियुक्ति के खिलाफ दाखिल की गई याचिका की खबर में इन अखबारों की भूमिका को देखकर. वीकएंड टाइम्‍स के पत्रकार संजय शर्मा की याचिका पर हाई कोर्ट ने राज्‍य सरकार को नोटिस जारी करके एक सप्‍ताह में जवाब देने का आदेश दिया है. हाई कोर्ट का यह आदेश कम से कम सिंगल कॉलम में ही सही यह खबर तो बनती ही थी, लेकिन आश्‍चर्य है कि लखनऊ में दैनिक जागरण और हिंदुस्‍तान के लिए यह कोई खबर नहीं है.

नेटवर्क10 के हेड अशोक पांडेय को मैंने गाली नहीं दी : अनुराग बाजपेयी

उन्‍नाव से खबर है कि समाचार प्‍लस चैनल के संवाददाता अनुराग बाजपेयी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे अपने ऊपर नेटवर्क10 के हेड अशोक पाण्‍डेय को गाली दिए जाने के आरोप लगाए जाने से नाराज थे. अनुराग का कहना है कि उन्‍होंने ऐसा कोई काम नहीं किया, उन्‍होंने किसी को गाली नहीं दी. चैनल के सीईओ को भेजे गए अपने इस्‍तीफे में अनुराग ने इस बात का जिक्र किया है कि गलत सूचनाओं के आधार पर उनकी खबरें रोक दी गईं तो वे इस तरह के संस्‍थान में काम करने के इच्‍छुक नहीं है. नीचे अनुराग द्वारा सीईओ को भेजा गया इस्‍तीफा.

पत्रकारों पर भड़के देवरिया के कोतवाल, देख लेने की धमकी दी

देवरिया। जिले के कोतवाली थाने के कोतवाल सूरज पाल सिंह को मीडिया के लोगों से इस बात की शिकायत है कि कोतवाली थाने में आए किसी भी शिकायतकर्ता अथवा फरियादी से मीडिया के लोग बिना कोतवाल की अनुमति के ही सीधे बात करने लगते हैं तथा चैनल वाले उसकी रिकार्डिंग करने लगते हैं। शुक्रवार को दोपहर बाद करीब तीन बजे इसी बात पर कोतवाल तथा पत्रकारों के बीच जमकर वाद विवाद हो गया। पत्रकारों एवं कोतवाल ने एक दूसरे को देख लेने धमकी दी है।

पुण्‍य प्रसून को कार्तिक शर्मा ने न्‍यूज एक्‍स का ऑफिस दिखाया, तान्‍या इंडिया न्‍यूज पहुंचीं

खबर आ रही है कि पुण्‍य प्रूसन बाजपेयी भी जल्‍द ही चैनल ज्‍वाइन कर सकते हैं. सूत्रों ने बताया कि गुरुवार को पुण्‍य एमडी कार्तिक शर्मा के साथ नोएडा के सेक्‍टर तीन स्थित न्‍यूज एक्‍स के कार्यालय पहुंचे थे. कार्तिक ने पुण्‍य को न्‍यूज एक्‍स का कार्यालय दिखाने के अलावा स्‍टूडियो भी दिखाया. इसलिए संभावना जताई जा रही है कि वे जल्‍द ही इंडिया न्‍यूज समूह के साथ जुड़ सकते हैं. लंबे समय से उनके ज्‍वाइनिंग की चर्चाएं चल रही हैं.

चैनल पर फिल्‍म दिखाने के लिए लेना होगा अलग प्रमाण पत्र

सिनेमाघरों में रिलीज हो रही फिल्म को टीवी पर भी प्रसारित करने के लिए जल्द ही सेंसर बोर्ड से नयी श्रेणियों के तहत एक अलग प्रमाण-पत्र लेना हो सकता है. अभी के नियम-कायदों के मुताबिक सेंसर बोर्ड सिनेमाघरों में रिलीज होने से पहले फिल्मों को चार श्रेणियों- यू,यूए,ए और एस के तहत प्रमाण-पत्र देता है. लेकिन यदि नए नियम लागू किए गए तो टीवी पर फिल्म प्रसारित करने के लिए नए वर्गीकरण के तहत प्रमाण-पत्र लेना होगा.

महिला नागा साधु की तस्वीर : a rare click… blind click…

फेसबुक पर ललिता पांडेय ने एक तस्वीर अपलोड की है. इसमें एक महिला नागा संन्यासिन दिख रही हैं, जैसा कि ललिता का दावा है. उन्होंने इस दृश्य को कैमरे में कैद कर लिया. वे बता रही हैं कि इस महिला नागा साधु की उम्र 12 से 14 वर्ष के बीच रही होगी. पर किसी ने सवाल किया है कि उसके बाल वैसे नहीं हैं जैसे नागाओं के होते हैं. इस पर ललिता का कहना है कि संभव है यह बच्चा अभी नागा साधु बनने की प्रक्रिया में हो. नीचे तस्वीर और ललिता पांडेय का स्टेटस व उस पर आई प्रतिक्रियाओं का प्रकाशन किया जा रहा है…

उपेक्षा से नाराज शहीद बाबूलाल के परिजन भूख हड़ताल पर बैठे

इलाहाबाद। झारखंड में नक्सलियों की गोलियों से शहीद हुए बाबूलाल पटेल के परिजनों की सरकार से पांच दिनों से की जाने वाली मांग ने गुरुवार को आंदोलन का रूख अख्तियार कर लिया है। जिलाधिकारी को मांग से सम्बन्धित ज्ञापन सौंपने के बाद शाम को शहीद के पिता मुन्नी लाल पटेल, पत्नी रेखा और माता गुजराती देवी के साथ स्थानीय ग्रामीणों ने गांव के सामने स्थित लखनऊ-इलाहाबाद राजमार्ग के किनारे धरना देने के साथ ही भूख हड़ताल भी शुरू कर दी है।

चिन्मयानन्द को खुला लाभ पहुंचाने वाले अरुण पाराशरी को ही अमर उजाला ने माना बेस्ट!

अमर उजाला के स्थापना दिवस के अवसर पर बरेली में आयोजित समारोह में शाहजहांपुर को बेस्ट ब्यूरो का खिताब देने से मेरे साथ हजारों लोग स्तब्ध हैं, क्योंकि शाहजहांपुर के ब्यूरो चीफ अरुण पाराशरी से ज्यादा विवादित और इतने गंभीर आरोपों से घिरा ब्यूरो चीफ शायद ही कोई हो। अन्य तमाम आरोपों को नज़र अंदाज़ कर भी दिया जाए, तो इस बात का प्रमाण है कि अरुण पाराशरी गंभीर आरोपों से घिरे चिन्मयानंद के लॉ कॉलेज की प्रबंध समिति में पदाधिकारी हैं।

आज समाज और दी हैपनिंग्स आफ इंडिया में पत्रकारों की जरूरत, आवेदन करें

आज समाज अखबार और द हैपनिंग्स आफ इंडिया अखबार में कई सारी वैकेंसीज हैं. आज समाज को अंबाला – चंडीगढ़ के लिए पत्रकारों की जरूरत है जबकि द हैपनिंग्स आफ इंडिया का प्रकाशन मुंबई से होने वाला है और यहां हर तरह के लोग चाहिए. इन दोनों ने विज्ञापन प्रकाशित किया है, जिसे नीचे दिया जा रहा है. इच्छुक लोग आवेदन करें.

जागरण के संपादक आशुतोष को गुस्सा क्यों आया?

बनारस में पिछले दिनों दलाई लामा की प्रेस कांफ्रेंस चल रही था. इसमें बनारस के तमाम अखबार एवं चैनलों के पत्रकार मौजूद थे. दलाई लामा पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे.  पर इस बीच कुछ ऐसा हो गया कि दलाई लामा भी भौचक्‍क रह गए. दलाई लामा पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे और यह लगातार लंबा होता चला जा रहा था. उब रहे दलाई लामा ने कहा कि प्‍लीज लास्‍ट क्‍यूश्‍चन.

मैं पत्रकारिता करने आया था अपनी डाक्टरी छोड़कर, नौकरी करने नहीं

मेरे आलोचक कहते हैं कि यह बंदा किसी भी अख़बार में एक साल पूरा नहीं कर सका। मुझे तो यह कोई कमी नहीं लगती। सच कह रहा हूँ कि यदि परिवार के पालन की जिम्मेवारी न हो तो शायद ही कोई आदमी आजकल के अख़बारों में काम करे। धन्ना सेठों के ये बड़े-बड़े अख़बार विचारों के मुर्दाघाट हैं। पत्रकार नहीं हैं आज के अख़बारों में, रोटी के लिए संघर्ष कर रहे ऐसे लोग हैं जो कदम -कदम पर अपनी खुद्दारी से समझौता कर रहे हैं।

मुंबई के पत्रकार वाहिद को ‘आन्तरप्रिनर ऑफ दि इयर’ एवार्ड

मुंबई : कई चैनलों में विभिन्न पदों पर काम कर चुके और इन दिनों सहाना ग्रुप के उभरते मराठी चैनल जय महाराष्ट्रा में कंसल्टिंग एडिटोरियल डायरेक्टर के पद पर कार्यरत वाहिद अली खान को मुंबई में एक समारोह में ‘आन्तरप्रिनर ऑफ दि इयर’एवार्ड से नवाजा गया. उन्हें यह एवार्ड कई चैनलों और कई कंपनियों को स्थापित करने में उनके योगदान और खुद का अपना बिजनेस खड़ा करने के लिए दिया गया. यह एवार्ड मुंबई में लायन्स इंटरनेशनल की तरफ से दिया गया. 

अर्नब गोस्‍वामी और टाइम्‍स नाऊ युद्ध के लिए पूरी तरह तैयार हैं!

 

Anand Pradhan : आजकल न्यूज मीडिया खासकर चैनलों पर छाए अंध-राष्ट्रवादी युद्धोन्माद को भड़काने में सबसे बड़ी भूमिका ‘टाइम्स नाऊ’ की है जिसपर हर रात प्राइम टाइम में एंकर-संपादक अर्नब गोस्वामी के साथ भारतीय सेना के कुछ रिटायर्ड जनरल और रक्षा विशेषज्ञ पाकिस्तान को सबक सिखाने की हुंकार भरते रहते हैं. उनकी बातचीत से ऐसा लगता है कि जैसे युद्ध के अलावा और कोई विकल्प नहीं है.

फिर नाम का चक्कर, 26 को भी नहीं लांच हो पाएगा नेशन टुडे!

 

अल्‍फा समूह के चैनल नेशन टुडे की लांचिंग को लेकर लम्‍बे समय से कयासों का दौर चल रहा है. अभी तक सूचना थी कि यह चैनल 26 जनवरी को लांच होने वाला है. पर अब खबर आ रही है कि यह 26 जनवरी को भी लांच नहीं हो पाएगा. सूत्रों का कहना है कि प्रबंधन को चैनल का नाम नेशन टुडे जम नहीं रहा है. यह अलग फील नहीं दे पा रहा है. इसी के चलते इसकी लांचिंग में देरी हो रही है. हालांकि चैनल को लांच करने की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं. इसका ड्राई रन भी चलने लगा है, पर नाम ने मामले को अटका रखा है.

पी7 न्‍यूज को मिला बेस्‍ट पॉपुलर चैनल का अवार्ड

 

पर्ल्‍स समूह के चैनल पी7 न्‍यूज को बेस्‍ट पॉपुलर चैनल अवार्ड प्रदान किया गया है. मुंबई में आयोजित लायंस गोल्‍ड अवार्ड कार्यक्रम में चैनल के डाइरेक्‍टर शरद दत्‍त ने यह सम्‍मान ग्रहण किया. चैनल को न्‍यूज कटेगरी में यह अवार्ड प्रदान किया गया है. गौरतलब है कि टीआरपी के पीछे भागने के दौर में भी पी7 न्‍यूज चैनल कंटेंट को लेकर गंभीरता दिखा रहा है. 

सुधीर चौधरी की मानहानि की शिकायत पर चार हफ्ते में जांच पूरी करे दिल्ली पुलिस : कोर्ट

नई दिल्ली। एक अदालत ने दिल्ली पुलिस को कांग्रेस सांसद नवीन जिंदल के खिलाफ जी न्यूज के संपादक सुधीर चौधरी की मानहानि शिकायत की जांच करने का निर्देश दिया है। चौधरी ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया था कि उनकी छवि खराब करने के लिए गलत आरोप लगाए गए थे। मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट जय थरेजा ने तुगलक रोड थाने के प्रभारी (एसएचओ) को जिंदल और उनकी कंपनी जिंदल स्टील एंड पावर लि. (जेएसपीएल) के उन 16 अधिकारियों की भूमिका की जांच करने का निर्देश दिया है जिनके खिलाफ चौधरी ने आरोप लगाए हैं।

जी न्यूज को झटका, कोर्ट ने अर्जी खारिज की, जिंदल पर मुकदमा दर्ज नहीं होगा

: नवीन जिंदल की कंपनी से जी न्यूज के संपादकों द्वारा कथित सौ करोड़ रुपए की उगाही की कोशिश का मामला : नई दिल्ली । जी न्यूज द्वारा कांग्रेस सांसद नवीन जिंदल व अन्य के खिलाफ रपट दर्ज करने की मांग वाली एक अर्जी सीबीआई अदालत ने खारिज कर दी। अर्जी में आरोप लगाया गया था कि जिंदल ने कथित उगाही प्रयास मामले की न्यूज ब्रॉडकास्टिंग स्टैन्डर्डस अथॉरिटी में सुनवायी को कथित रूप से प्रभावित करने की कोशिश की जिसके लिए उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया जाए। अदालत ने अर्जी को खारिज करते हुए कहा कि अर्जी में उठाए गए बिंदु कानूनी रूप से बहुत कमजोर हैं, ऐसे में किसी तरह की जांच करने का निर्देश देना कानूनी प्रक्रिया का दुरुपयोग होगा।

खबर भारती चैनल से पंकज शुक्ल का इस्तीफा, प्रज्ञान भट्टाचार्या देख रहे कामधाम

खबर है कि खबर भारती न्यूज चैनल से मैनेजिंग एडिटर पंकज शुक्ल ने इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने दो महीने पहले इस चैनल को ज्वाइन किया था. सूत्रों का कहना है कि ढेर सारे घपले-घोटाले-आरोपों में घिरे चैनल के मालिक बघेल से पंकज शुक्ल की अनबन हो गई थी, जिस कारण उन्होंने चैनल से हटने का फैसला किया. बताया जा रहा है कि प्रज्ञान भट्टाचार्या को चैनल का कामधाम सौंप दिया गया है.

आईपीएफ संयोजक को वार्ता के लिए बुलाकर लाकअप में डाला

: लाकअप में महेश सिंह से गोंडा के एसपी ने मारपीट की और फर्जी धाराएं लगाकर जेल भेज दिया : अखिलेश का आरोप- अखिलेश राज में माफियाओं-सामंतों की लठैत बनी पुलिस : लखनऊ : गोंडा में पुलिस द्वारा आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट के जिला संयोजक महेश सिंह की गिरफ्तारी की कड़ी आलोचना करते हुए आईपीएफ के राष्ट्रीय संयोजक अखिलेन्द्र प्रताप सिंह ने प्रेस बयान जारी कर कहा कि अखिलेश राज में प्रदेश में गुंडाराज की वापसी हो गयी है। उन्होंने कहा कि खासकर गोंडा जिला सामंतों-माफियाओं की लूट और दमन का अखाड़ा बन गया है।

1999 में करगिल युद्ध की शुरुआत भी इसी तरह से हुई थी

 पड़ोसी व बड़े भाई होने का जितना भी दंभ भरे भारत, तथाकथित उसके छोटे भाई ने एक बार फिर भरे बाजार में अपने बड़े भाई की इज्जत नीलाम करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है। सच तो यह है कि नीलामी कर वह दूर बैठा तमाशा देख खुश हो रहा है, अपने उस तथाकथित बड़े भाई की जिसे दर्द तो खूब हो रहा है, पर खुलकर बोल नहीं पा रहा है। यह कैसी मजबूरी है और अगर इसे वह कूटनीतिक मजबूरी कहता है तो फेंक डालो ऐसी कूटनीतिक मजबूरी को और आ जाओ, जैसे को तैसे की तर्ज पर सबक सिखाने को। क्योंकि उसके पड़ोसी ने वह काम किया है जिसे नजरंदाज बिल्कुल नहीं किया जा सकता है, और एक दफा अगर सोच भी लें तो पड़ोसी का इतिहास इस बात को बल देता है कि मुंहतोड़ जवाब नहीं दोगे तो फिर इनका दुस्साहस और बढ़ेगा और फिर उसकी तरफ से इससे बड़ी कार्रवाई व दुस्साहस के लिए खुद को तैयार रखो।

दबंग दुनिया को झटका, वरिष्ठ पत्रकार कीर्ति राणा ने दिया इस्तीफा

इंदौर में 'दबंग दुनिया' को इस्टेब्लिश करने वाले वरिष्ठ पत्रकार और सपांदक कीर्ति राणा ने आंतरिक मतभेदों के चलते संस्थान से इस्तीफा दे दिया है। कीर्ति राणा के इस्तीफा देने से 'दबंग दुनिया' प्रबंधन में खलबली मची है। 'दबंग दुनिया' के मालिक किशोर वाधवानी भी सकते में आ गए हैं, क्योंकि कीर्ति राणा ने अपने तजुर्बे से 'दबंग दुनिया' को इंदौर शहर में स्थापित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी।

कार्यालय में बिगड़ी जागरण के ब्‍यूरोचीफ विजय जूनियर की हालत, भर्ती

चंदौली में दैनिक जागरण के ब्‍यूरोचीफ विजय सिंह जूनियर अस्‍पताल में भर्ती हैं. बताया जा रहा है कि बुधवार को कार्यालय में काम करते समय अचानक उनके पेट में तेज दर्द हुआ. वे दर्द से बेहाल हो उठे. आनन फानन में पास में एक डॉक्‍टर को दिखाया गया, जिसने उन्‍हें दवा दी. परन्‍तु उनके ऊपर दवा का भी कोई असर नहीं हुआ. वे लगातार दर्द से परेशान रहे.

जवाबदेही से बचने के लिए सेल्फ रेगुलेशन का शोर मचाता है इलेक्ट्रानिक मीडिया : काटजू

भारतीय प्रेस परिषद के अध्‍यक्ष जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने दावा किया कि इलेक्‍ट्रानिक मीडिया जिस 'आत्‍म नियमन' की दलील देता है, वह जवाबदेही से बचने की महज एक चाल है. काटजू बुधवार को आईआईएमसी में एक सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए यह बात कही. काटजू जी ने कहा कि आत्‍म नियमन की बजाय एक मीडिया परिषद बनाए जाने की जरूरत है, जिसमें मीडिया के लोगों को शामिल किया जाए तथा परिषद को सजा देने का ज्‍यादा से ज्‍यादा अधिकार हो.

पत्रकार संजय शर्मा ने यूपी सरकार को आइना दिखाया, नौकरशाही में हड़कंप

अब तक जिस प्रदेश सरकार ने दागी नौकरशाहों को मलाईदार पदों पर बैठाकर अपना आंख-कान सब बंद कर रखा था, अचानक उसे एक पत्रकार ने आइना दिखा दिया है. वीकएंड टाइम्‍स के संपादक संजय शर्मा की याचिका पर कोर्ट के आदेश के बाद यूपी की नौकरशाही में हड़कम्‍प मच गया है. आदेश के बाद आनन-फानन में अधिकारियों को इधर से उधर किया गया. हालां‍कि सरकार एवं उनके अधिकारियों ने याचिका खारिज करवाने के लिए अपनी तरफ से पूरी तैयारी कर रखी थी, परन्‍तु संजय शर्मा के अधिवक्‍ता अशोक पांडेय के तर्क के आगे सरकारी वकीलों के तर्क फीके पड़ गए.

एंकर सव्‍यसाची पटनायक की मौत के मामले में पुलिस जांच रिपोर्ट खारिज, फिर होगी जांच

नई दिल्‍ली : राष्‍ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने हैदराबाद के 27 वर्षीय पत्रकार सव्‍यसाची पटनायक की संदिग्‍ध परिस्थितियों में मौत की जांच रिपोर्ट खारिज कर दी है. आयोग ने साइबराबाद पुलिस की रिपोर्ट पर नाराजगी जताते हुए फिर से जांच करने का निर्देश दिया है. आयोग ने आंध्र प्रदेश के डीजी को भी इस संदर्भ में नोटिस भेजा है.  ओडिसा के सिद्धेश्‍वर जिले के रहने वाले पत्रकार सव्‍यसाची पटनायक बीते साल 11 फरवरी को संदिग्‍ध परिस्थितियों में मृत पाए गए थे. उनका शव हैदराबाद स्थित उनके किराए के घर में मिला था. वे एक प्राइवेट चैनल में एंकर के रूप में काम कर रहे थे.

थिएटर एक्ट्रेस वंदना ने रंगकर्मी अरविंद गौड़ को ‘गद्दार’ क्यों कहा?

: एनएसडी में हाईवोल्‍टेज ड्रामा, संदेह के घेरे में अरविंद गौड़ : गत सोमवार को नेशनल स्‍कूल ऑफ ड्रामा (एनएसडी) में ख्‍यात रंगमंच अभिनेत्री वंदना के साथ किये गये दुर्व्‍यवहार का मामला संगीन मोड़ लेता जा रहा है। इस मामले की आंच टीम अन्‍ना की कोर कमेटी के सदस्‍य व रंग निर्देशक अरविंद गौड़ तक पहुंचने लगी है। रंगमंच से जुड़े लोग बताते हैं कि यह 14 साल पहले एक उदीयमान अभिनेत्री की अवहेलना और शोषण से जुड़ा मामला है।

नकली सोने के साथ पत्रकार समेत दो गिरफ्तार

पठानकोट : सदर पुलिस ने अकालगढ़ के नज़दीक जांच के दौरान नकली सोने के साथ दो लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसमें एक पत्रकार बताया जा रहा है. उसके पास से एक अखबार का परिचय पत्र मिला है. पुलिस उसकी जांच करा रही है. जानकारी के अनुसार पुलिस ने गुप्‍त सूचना के आधार पर एक स्‍पार्क गाड़ी, जिसका नम्‍बर पीबी35 एम- 2080 था, को रोका. उसकी तलाशी ली तो गाड़ी में सवार लोगों के पास से 2 किलो 600 ग्राम सोने का सामान मिला.

प्रभात खबर, देवघर से पांच लोगों का इस्‍तीफा

प्रभात खबर के देवघर संस्करण में इन दिनों भगदड़ सी स्थिति है…अभी तक पांच पत्रकारों ने यहाँ से इस्तीफा दे दिया है…ये सभी मंझे हुए पत्रकार थे… यूं कह लें कि देवघर संस्करण की रीढ़ थे… देवघर संस्करण को बाय बाय कहने वालों में उप संपादक परासर प्रभात, वरुण राय और वरीय उप संपादक सुमन झा शामिल है…जबकि कुछ दिन पूर्व छोड़ जाने वालों में वरीय उप संपादक राकेश कुमार सिंह, संवाददाता राकेश पुरोहितवार शामिल हैं… इनमें से अधिकांश ने हिंदुस्तान अखबार का दामन थाम लिया है…जबकि सुमन झा ने दैनिक जागरण, मेरठ में अपनी नई पारी की शुरुआत की है.

मीडिया पर खीझे आसाराम, कहा साबित करो और पचास लाख ले जाओ

इलाहाबाद : दिल्ली में पिछले दिनों हुए सामूहिक बलात्कार कांड के बाबत दिए गए बयान को लेकर विवादित और धर्मगुरू होने का दावा करने वाले आसाराम बापू ने मंगलवार को मीडिया पर ठीकरा फोड़ते हुए कहा कि उनके बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया। महाकुंभ में शिरकत के लिए आए आसाराम ने यह ऐलान भी किया कि यदि कोई यह साबित कर दे कि उन्होंने सामूहिक बलात्कार के लिए पीड़िता को भी जिम्मेदार बताया था तो वह उसे ईनाम के तौर पर 50 लाख रुपए देंगे ।

रंगकर्मी विनीत पर वंदना और पत्रकार जितेंद्र से दुर्व्यवहार का आरोप

नई दिल्ली : नेशनल स्कूल आफ ड्रामा, नई दिल्ली में 14 जनवरी को अवसर था रंगकर्म की एक त्रैमासिक पत्रिका के विमोचन का। समारोह में मौजूद थे अरविंद गौड़, पत्रिका के संपादक राजेश चंद, मोहल्ला लाइव के अविनाश दास, विनीत और वंदना। शाम के करीब छह बजे विमोचन समारोह विचार समारोह में बदल गया और फिर विचार समारोह आपसी झगड़े में तब्दील हो गया। वंदना ने अरविंद गौड़ के विरूद्ध जैसे ही बोलने की कोशिश की, रंगकर्मी विनीत ने वंदना को पहले तो धक्का देने की कोशिश की और फिर बात को दबाने की कोशिश करने लगे।

‘हमवतन’ अखबार के कार्यकारी संपादक निर्मलेंदु साहा पर गिरी गाज

: नोएडा से बाहर तबादला : कार्यभार वापस लिया गया : आरपी श्रीवास्तव देखेंगे सारा काम : साईं प्रसाद मीडिया के हिंदी वीकली टैबलायड अखबार हमवतन से सूचना आ रही है कि इसके कार्यकारी संपादक निर्मलेंदु साहा से कार्यभार वापस ले लिया गया है और उनका तबादला नोएडा के बाहर कर दिया गया है. अखबार का सारा कामकाज अब आरपी श्रीवास्तव को सौंप दिया गया है जो संपादक के रूप में पहले से ही अखबार में कार्यरत हैं. निर्मलेंदु साहा से कामकाज वापस लिए जाने से संबंधित आंतरिक मेल जारी कर दी गई है.

गौतम मयंक ने न्यूज एक्सप्रेस और शशि ने आजतक छोड़ा, दोनों नेशन टुडे के साथ

न्‍यूज एक्‍सप्रेस से खबर है कि सीनियर प्रोड्यूसर गौतम मयंक ने इस्‍तीफा दे दिया है. इन्‍होंने अपनी नई पारी अल्‍फा ग्रुप के जल्‍द लांच होने जा रहे चैनल नेशन टुडे के साथ की है. उन्‍हें यहां पर एसोसिएट सीनियर प्रोड्यूसर बनाया गया है. गौतम मयंक ने करियर की शुरुआत हिंदुस्‍तान, पटना के साथ की थी. इसके बाद वो ईटीवी से जुड़ गए. बाद में दिल्‍ली में आजतक न्‍यूज चैनल के हिस्‍सा बने. नोएडा में डिप्‍टी ईपी के रूप में हमार टीवी के साथ रहे. महुआ के ब्‍यूरोचीफ बनकर पटना पहुंचे. फिर देश लाइव में बिहार स्‍टेट हेड के रूप में काम किया. यहां से निकाले जाने के बाद न्‍यूज एक्‍सप्रेस से जुड़ गए थे.

दैनिक जागरण में विष्णु त्रिपाठी के आदेश का उल्लंघन कर रहे अवधेश गुप्ता

: (कानाफूसी) : कुंभ के कारण दैनिक जागरण, इलाहाबाद के कर्मियों का वीकली आफ निरस्त करने का प्रकरण : दैनिक जागरण, इलाहाबाद के संपादकीय कर्मचारी परेशान हैं. कुंभ के नाम पर यहां काम करने वाले सभी कर्मचारियों का साप्‍ताहिक अवकाश निरस्‍त कर दिया गया है. अब उन्‍हें सप्‍ताह के पूरे दिन काम करना पड़ेगा. यह निर्देश ऊपर से नहीं है. संपादकीय प्रभारी अवधेश गुप्‍ता ने मौखिक निर्देश देकर सबकी छुट्टियां निरस्‍त कर दी हैं. इसके चलते दैनिक जागरण में काम करने वाले कर्मचारी नाराज हैं. पर नौकरी चले जाने के डर से वे इसके खिलाफ कुछ बोल भी नहीं पा रहे.

कंचन वर्मा एवं विनोद भावुक जागरण से जुड़े

दैनिक जागरण, हल्‍द्वानी से खबर है कि कंचन वर्मा ने अपनी नई पारी शुरू की है. वे यहां पर सीनियर सब एडिटर बनाए गए हैं. उन्‍हें मंडल की जिम्‍मेदारी दी गई है. कंचन की दैनिक जागरण के साथ यह दूसरी पारी है. वे इसके पहले लम्‍बे समय तक आज, दैनिक जागरण और अमर उजाला को अपनी सेवाएं दे चुके हैं. वे लम्‍बे समय तक बरेली में क्राइम रिपोर्टर के रूप में काम कर चुके हैं. गौरतलब है कि कंचन अमर उजाला में बदायूं के ब्‍यूरोचीफ थे. कुछ शिकायतों के बाद प्रबंधन ने उनके समेत पूरे स्‍टाफ को बर्खास्‍त कर दिया था.

Global Festival of Journalism First Time In India On 12th-14th Feb

National Media Council has supported Asian Education Group in organizing  Global Festival of Journalism in Noida from 12th to 14th February, 2013. Before this, a powerful meeting was also held at Asian Education Group consisting of all the department heads of Journalism at Marwah Studios to plan and execute the first ever festival of journalism at the global level from 12th to 14th February at Noida Film City.

Pakistan: It’s fate is turning but which side?

After an eventful day in Pakistan, it has become very interesting to see what the next. As far as "Pakistani Awaam" is concerned it is too divided and confused on these series of events. A certain section of media and intellects however here in India is very exciting over it. All the "never before" secular democratic spirit waving in streets of Islamabad appears to be very aspiring, encouraging and appealing to intellectuals in India here and making them fanatic of brotherhood & permanent peace across border.

असम के मीडिया घरानों ने खत्म किया गणतंत्र दिवस का अवकाश

गुवाहाटी। गणतंत्र दिवस के मौके पर असम के मीडियाकर्मी स्वतंत्र रूप से इस राष्ट्रीय पर्व को नहीं मना पाएंगे। असम के मीडिया घरानों ने गणतंत्र दिवस के मौके पर परंपरागत रूप से चल रहे अवकाश को खत्म कर दिया है। मीडिया घरानों ने गणतंत्र दिवस के मौके पर अखबारों का दफ्तर खोले रखने और अखबार प्रकाशित करने का फैसला किया है। जिसके बाद मीडिया कर्मियों में खासी नाराजगी है लेकिन असंगठित यहां के मीडिया कर्मी मुहं खोलने की स्थिति में नहीं है।

इज्जत की रक्षा के नाम पर जान देने और बहादुर बेटी का खिताब लेने से बचो

: जान बड़ी या इज्‍जत (1) : बात की शुरुआत खरगोन में पुलिस विभाग की ओर से आयोजित एक संगोष्‍ठी में दिये गये कृषि वैज्ञानिक डा. अनिता शुक्ला के इस बयान से कि ''अगर वह छह लोगों से घिर गयी थी तो अपने को सौंप क्यों नहीं दिया।’’ वैसे तो उन्होंने और भी बातें कहीं थीं, लेकिन और बातों से मैं सहमत नहीं हूं, इसलिये उन बातों का जिक्र नहीं कर रहा हूं। डा. अनिता शुक्ला के इस बयान पर कि ‘‘अगर वह छह लोगों से घिर गयी थी तो अपने को सौंप क्यों नहीं दिया’’ जर्बदस्त आलोचन हुयी।

उत्‍तराखंड के स्वास्थ्य मंत्री से बड़ा सरकारी डाक्टर!

देहरादून। उत्तराखण्ड में मंत्री से बड़े अधिकारी बेलगाम होकर मंत्रियों के आदेशों को ठेंगा दिखाते नजर आ रहे हैं। यह पहला मामला नहीं है कई मामलों में सरकार के मंत्रियों की अधिकारी एक नहीं सुन रहे। प्रदेश के मुख्यमंत्री भी अधिकारियों की इस चाल से खासे परेशान हैं लेकिन प्रदेश में अधिकारियों की कमी के चलते सीएम का हंटर अभी चलता हुआ नहीं दिख रहा। उत्तराखण्ड में अधिकारियों की एकजुटता सरकार के मंत्रियों को भी कोई काम नहीं करने दे रही।

क्या ‘जागरण’ इस खबर का मतलब समझता है?

मीडिया और अंधराष्ट्रवादी तत्व अपने निहित स्वार्थों और संकीर्ण राजनीतिक हितों को पूरा करने के लिए युद्धोन्माद फैलाने में लगे हुए हैं. ‘दैनिक जागरण’ की एक खबर का शीर्षक है : “बस एक बटन दबा और पाकिस्तान तबाह.” क्या ‘जागरण’ इस खबर का मतलब समझता है? यह गिनने का क्या मतलब है कि भारत के पास २०० परमाणु बम हैं और पाकिस्तान के पास ५० परमाणु हैं? क्या परमाणु युद्ध के मायने वह जानता है और क्या परमाणु युद्ध में कोई विजेता होगा?

देश में आठ करोड़ ब्राडकास्टर हैं जिनका नियमन संभव नहीं : मनीष तिवारी

सूचना और प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने कहा कि मंत्री ने कहा सोशल मीडिया में इतनी अधिक गतिविधियां होती हैं कि उसका नियमन असंभव है। नए मीडिया में कई करोड़ युवा भारतीय हैं और उनमें से हरेक ब्राडकास्टर हैं क्योंकि सबके अपने प्रशंसक हैं। इसलिए आज आप एक ब्राडकास्टर से नहीं, यहां तक कि 852 ब्राडकास्टर से भी नहीं बल्कि संभावित तौर पर आठ करोड़ ब्राडकास्टरों से निपट रहे हैं। तिवारी ने कहा, बाघों को पालतू बनाना ना ही मेरा काम है और ना ही मेरा शौक है और इसे लेकर मुझे कोई भ्रांति नहीं है।

भास्‍कर में फिल्‍म संपादक बने आलोक, ‘लक्ष्‍य’ बंद होगा और जयपुर से छपेगा रसरंग

अहा जिंदगी से खबर है कि आलोक श्रीवास्‍तव की जिम्‍मेदारियां बढ़ा दी गई हैं. वे अहा जिंदगी के साथ दैनिक भास्‍कर के फिल्‍म संपादक भी बना दिए गए हैं. आलोक लम्‍बे समय से अहा जिंदगी के साथ जुड़े हुए थे तथा इसे अलग पहचान दी. आलोक ने अपने करियर की शुरुआत 1990 में धर्मयुग के साथ की थी. इसके बाद वे कई संस्‍थानों को सेवा देते हुए भास्‍कर पहुंचे थे, जहां उन्‍हें अहा जिंदगी की जिम्‍मेदारी दी गई थी. उनकी काबिलियत को देखते हुए प्रबंधन ने अब उन्‍हें नई जिम्‍मेदारी सौंप दी है.

श्रीकांत जी से मेरा व्यक्तिगत परिचय तब हुआ जब मैं उत्तरांचल प्रान्त प्रचार प्रमुख बना

: श्रद्धांजलि : श्रीकांत जी के निधन का समाचार सुनकर मन को गहरा आघात पहुंचा। अभी 22 दिसंबर 2012 को ही उनसे प्रयाग में हिन्दुस्थान समाचार के निदेशक मंडल की बैठक में मुलाकात हुई थी। उस मुलाकात की अनुभूति अभी बिल्कुल ताजी है। सब कुछ सामान्य लग रहा था, हां थोड़ी अस्वस्थता दिख रही थी। लगा कि सर्दी के मौसम तथा अधिक आयु के कारण कुछ खांसी जुकाम जैसी हल्की फुल्की बात है। बैठक में पूरे दिन सभी सत्रों में पूरी सक्रियता से उन्होंने भाग लिया तथा सभी आए हुए कार्यकर्ताओं से व्यक्तिगत वार्ता भी करते रहे।

शहीद बाबूलाल की अंत्‍येष्टि के बाद उपजे सवाल दर सवाल

झारखंड में नक्सलियों के हाथों शहीद हुए इलाहाबाद के सपूत बाबूलाल की अंत्‍येष्टि पैतृक गांव शिवलाल के पूरा के पास स्थित श्रृंग्वेरपुर गंगाघाट पर हो गई। हजारों की संख्या में जुटे लोगों ने गम, गुस्सा के माहौल में आंसुओं से नम आंखों से शहीद बाबूलाल को आखिरी विदाई दी। झारखंड के लातेहार जिले में सीआरपीएफ चौकी पर तैनात बाबूलाल पटेल (26 वर्ष) नक्सलियों की गोलियों का शिकार हो गया। 11 जनवरी को दोपहर डेढ़ बजे जैसे ही शहीद का शव नवाबगंज क्षेत्र स्थित पैतृक आवास शिवलाल का पूरा गांव पहुंचा, उपस्थित नौजवानों के जोशीले नारे फिजाओें में गूंजे- ‘बाबूलाल की यह कुर्बानी, याद करेगा हिंदुस्तानी।’

दैनिक भास्कर के पत्रकार रविकांत को खतरनाक बीमारी, आपकी मदद चाहिए

दैनिक भास्कर, ग्वालियर के पत्रकार रविकांत युवा, विनम्र और ईमानदार पत्रकार हैं. किस्मत ने उनके साथ कुछ ऐसा खेल किया है कि वे इन दिनों बुरी स्थिति में हैं. रविकांत को जी.बी.एस यानि गुलियन बारी सिंड्रोम नामक बीमारी हो गई है. पूरे शारीर को सुन्न कर देने वाली यह बीमारी बेहद खतरनाक है. इलाज कर रहे ग्वालियर के डॉक्टर जब मायूस हो गए तो उन्हें दिल्ली भेज दिया. रविकांत को दिल्ली में सर गंगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया है. यहां रविकांत पिछले करीब 20 दिन से भर्ती हैं. उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया है.

‘बालिका वधू’ नंबर वन, ये हैं टाप टेन टीवी प्रोग्राम

30 दिसंबर से 5 जनवरी के बीच यानी नए साल के पहले सप्ताह कलर्स पर प्रसारित शो 'बालिका वधू' टॉप पर रहा। आनंदी की शादी के बाद उसका ससुराल और जगदीश की लाइफ में एक नई लड़की की एंट्री होने और कहानी को नया मोड़ देने के कारण इस शो में कई उतार-चढ़ाव आ रहे हैं जो कि दर्शकों को लगातार अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं। अब आनंदी का मेकओवर भी कर दिया गया है, आनंदी अब राजस्‍थानी ड्रेस के बजाय साड़ी में दिखाई देती है।

अवनीश सिंह चौहान को सृजनात्मक साहित्य पुरस्कार

जयपुर। जयपुर के भट्टारकजी की नसियां स्थित इन्द्रलोक सभागार में पं. झाबरमल्ल शर्मा स्मृति व्याख्यान समारोह का भव्य आयोजन किया गया। आयोजन का शुभारम्भ माँ सरस्वती के समक्ष जनरल वी.के. सिंह जी और गुलाब कोठारी जी द्वारा दीप प्रज्ज्वलन से हुआ। इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता एवं विशिष्ट अतिथि पूर्व सेनाध्यक्ष जनरल वी.के. सिंह रहे जबकि पत्रिका समूह के प्रधान सम्पादक गुलाब कोठारी जी ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। तत्पश्चात जनरल वी के सिंह जी और गुलाब कोठारी जी के कर-कमलों से अवनीश सिंह चौहान को सम्मानित किया गया।

प्रभात खबर ने महात्मा गांधी को ‘चर्चित राष्ट्रपति’ बताया!

12 जनवरी के प्रभात खबर, पटना में शहर में महात्मा गांधी की प्रमिता अनावरण को लेकर एक खबर छपी। इसकी पहली पंक्ति देखिए- ‘‘26 जनवरी को गांधी मैदान में चर्चित राष्ट्रपति महात्मा गांधी की भव्य प्रतिमा का अनावरण किया जाना है ……’’ इन पंक्तियों में इस तरह से गलत टाइपिंग या छपाई की गुंजाइश भी नजर नहीं आती, जो कि राष्ट्रपिता से चर्चित राष्ट्रपति हो जाए।

अखिलेश सरकार के राज में इन अफसरों को प्रमोशन मिलेगा!

पिछले कुछ दिनों से सत्ता के केंद्र मुख्यमंत्री कार्यालय में हलचल काफी तेज है। सूचना आ रही है कि राज्य की अखिलेश सरकार कुछ आईपीएस व आईएएस अधिकारियों को इसी माह के अंत तक प्रोन्नति देने जा रही हैं। इस प्रोन्नति के संदर्भ में कहा जा रहा है कि ये विभागीय प्रोन्नति है जो एक निश्चित समय पर किसी भी अधिकारी को उसके सेवाकाल में मिलती हैं।

पं. बृजलाल द्विवेदी स्मृति साहित्यिक पत्रकारिता सम्मान गिरीश पंकज को

भोपाल : रायपुर से प्रकाशित साहित्यिक पत्रिका ‘सद्भावना दर्पण’ के संपादक गिरीश पंकज को पं. बृजलाल द्विवेदी स्मृति अखिल भारतीय साहित्यिक पत्रकारिता सम्मान-2012 से अलंकृत करने की घोषणा की गयी है। मीडिया विमर्श पत्रिका द्वारा प्रतिवर्ष साहित्यिक पत्रकारिता के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले संपादकों को यह सम्मान प्रदान किया जाता है। इसके पूर्व यह सम्मान वीणा( इंदौर) के संपादक स्व. श्यामसुंदर व्यास, दस्तावेज (गोरखपुर) के संपादक डा. विश्वनाथप्रसाद तिवारी, कथादेश (दिल्ली) के संपादक हरिनारायण और अक्सर (जयपुर) के संपादक हेतु भारद्वाज को दिया जा चुका है।

”मात्र एसएमएस ही तो भेजा, फिजिकली टच तो नहीं किया”

सेवा में, श्री बी एल जोशी, महामहिम राज्यपाल, उत्तर प्रदेश, लखनऊ : विषय- सुश्री ऋचा श्रीवास्तव, सहायक सांख्यकीय अधिकारी, अर्थ एवं संख्या अधिकारी कार्यालय, जनपद अमेठी के साथ उनके विभागीय अधिकारी द्वारा अश्लील हरकतें करने विषयक  :

यूपी में महिला अफसर ने अपने सीनियर अफसर पर लगाया गंभीर आरोप

: जांच के नाम पर पीड़िता को ही परेशान किया जा रहा : यूपी में सरकारी कार्यालय में महिला अपराध सम्बंधित अत्यंत गंभीर घटना : ऋचा श्रीवास्तव ने सहायक सांख्यकीय अधिकारी के पद पर अर्थ एवं संख्या अधिकारी कार्यालय, जनपद अमेठी में पिछले छह अगस्त 2012 को ज्वायन किया. तबसे उनके कार्यालयाध्यक्ष जयदीप सिंह जो कि जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी हैं, ने अकारण देर रात तक ऋचा को फोन करते रहे, इधर-उधर की बातें करते रहे, बिना मतलब देर तक कार्यालय में बैठाते रहे, बातचीत में अक्सर अश्लील और अनुचित शब्दों का प्रयोग करते रहे और ऋचा के कपड़ों, ड्रेस आदि पर भी टिप्पणी करना शुरू कर दिया.

बोरसी की आग सी हैं लघु पत्रिकाएं

: लघु पत्रिकाओं की प्रासंगिकता बनी रहेगी : सामंती व साम्राज्यवादी ताकतों के चक्रव्यूह को तोड़ती हैं लघु पत्रिकाएं : रविवार को पटना जिला प्रगतिशील लेखक संघ द्वारा केदार भवन में  हिन्दी साहित्य की पाँच लघु पत्रिकाओं यथा – शीतल वाणी, दोआबा, एक और अन्तरीप, साँवली और देशज के ताज़े अंकों पर विमर्श का आयोजन किया गया। इस विमर्श में लघु पत्रिका अभिधा, अक्षर पर्व, कृतिओर एवं माटी के ताज़े अंकों की भी चर्चा हुई।

पहले शाही स्नान में जूना अखाड़े का जलवा दिखा

इलाहाबाद : सोमवार को पवित्र गंगा, यमुना और सरस्वती नदियों के संगम तट पर शाही स्नान के साथ पर महाकुंभ शुरू हो गया। तीर्थराज के नाम से मशहूर प्रयाग (इलाहाबाद) में चल रहे इस महा आयोजन में परंपरा के हिसाब से सुबह साढ़े पांच बजे सबसे पहले महानिर्वाणी अखाड़े के संतों ने शाही स्नान किया। अखाड़ों के स्नान का क्रम शाम साढ़े पांच बजे तक चला। इस दौरान 13 अखाड़ों के करीब 3 लाख साधुओं ने स्नान किया। कुंभ मेला प्रशासन के मुताबिक पहले दिन 82 लाख श्रद्धालुओं ने संगम में डुबकी लगाई।

आलोक पुंज और राजन चम्‍बा नए ठिकानों पर पहुंचे

 

आलोक पुंज ने आस्‍था टीवी से इस्‍तीफा दे दिया है. वे दिल्‍ली में चैनल के साथ डाइरेक्‍टर ऑफ प्रोग्रामिंग के रूप में जुड़े हुए थे. आलोक ने अपनी पारी नक्षत्र चैनल के साथ शुरू की है. उन्‍हें बिहार में चैनल का हेड बनाया गया है. आलोक आस्‍था से पहले जी न्‍यूज को रिपोर्टर के रूप में अपनी सेवाएं दे चुके हैं. 

भास्‍कर के पत्रकार विजय सिंह को मैक्‍स चैनल देगा अवार्ड

 

जयपुर : दैनिक भास्कर के जयपुर संस्करण के जर्नलिस्ट विजय सिंह को टेलीविजन चैनल मैक्स की ओर से अवॉर्ड के लिए चुना गया है। पिछले दिनों चैनल की ओर से हिन्दी सिनेमा के 100 वर्ष पूरे होने पर एक कांटेस्ट शुरुआत यहीं से… आयोजित किया गया था। कॉन्टेस्ट में हिन्दी सिनेमा से जुड़े अपनी रियल लाइफ एक्सपीरियंस को स्टोरी के रूप में शेयर करना था। इसमें पूरे देश भर के मीडिया हाउस से 300 से ज्यादा जर्नलिस्ट ने हिस्सा लिया और अपनी अनुभव भरी स्टोरी चैनल को भेजी। सभी स्टोरीज को मैक्स चैनल की ज्यूरी ने पढ़ा और जांच-परखकर उसमें से बेस्ट तीन को अवॉर्ड के लिए चयनित किया।

पंजाब केसरी ने उधेड़ी जेपी समूह की बखियां

 

पंजाब केसरी, आगरा से खबर है कि उसने इस समय जेपी समूह की बखिया उधेड़ना प्रारंभ कर दिया है, जिसके कारण शासन-प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है. क्योंकि जेपी समूह को इस समय सत्ता का आशीर्वाद है. जेपी ग्रुप मोटा विज्ञापन भी जारी करता है इसलिए ज्‍यादातर मीडिया भी चुप है. बीते दिनों जेपी समूह ने जमीन बेचने के मामले में गोलमाल किया, जिस पर सामाजिक कार्यकर्ता नरेश पारस ने इस बाबत बाँट माप विभाग पर संपर्क साधा तो पता चला कि यह नीति गलत है लेकिन उसने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की. 

पत्रकार जिम्मेदारी की भावना को समझें : मार्कण्डेय काटजू

 

: अधिकार सम्पन्न मीडिया काउन्सिल की जरूरत : लखनऊ। भारतीय प्रेस परिषद् के अध्यक्ष जस्टिस मार्कण्डेय काटजू ने कहा है कि पत्रकार पेशेगत जिम्मेदारी की भावना को समझें। अन्यथा उनके पेशे का अस्तित्व ही खतरे में पड़ जाएगा। उन्होंने पत्रकारों को आगाह किया कि समाजिक सरोकार से जुड़ी हुई खबरों को महत्व दें। जस्टिस काटजू ने इस बात पर नाराजगी जाहिर की कि भारतीय मीडिया सेलिब्रिटी से जुड़ी खबरों के सामने आम आदमी से जुडे मुद्दों की उपेक्षा कर देता है। जस्टिस काटजू आज यहां हिन्दी समाचार पत्र सम्मेलन द्वारा मीडिया में एकाधिकार प्रवृत्ति विषयक संगोष्ठी में मुख्य अतिथि पद से विचार व्यक्त कर रहे थे।

विक्रम की नई पारी, रवींद्र का इस्‍तीफा

 

सीएनईबी, जनसंदेश, नेटवर्क10 जैसे संस्‍थानों को अपनी सेवाएं दे चुके विक्रम श्रीवास्‍तव एक बार फिर से 'न्‍यूज टाइम' से जुड़ गए हैं. उन्‍हें ब्‍यूरोचीफ बनाया गया है. उल्‍लेखनीय है कि जनसंदेश चैनल का ही नया नाम न्‍यूज टाइम किया गया है. श्रीवास्‍तव की गिनती अच्‍छे पत्रकारों में की जाती है. 

टीओआई ने नर्मदा जल सत्‍याग्रह को छद्म तथा मीडिया को झूठा बताया

 

अंग्रेजी अखबार टाइम्स आफ इंडिया ने तमाम मीडिया को झूठा बताते हुए एक खबर प्रकाशित की है कि नर्मदा जल सत्याग्रह छद्म था, फेक था. खबर में इस बात को प्रमुखता से बताया गया है कि वह नर्मदा नहीं थी, एक नाला था जिसमें कि लोग खड़े थे. जबकि यह सर्व विदित है कि जिसे अखबार नाला बता रहा है वो कावेरी नदी है, जो कि "नर्मदा की ट्रीब्यूटरी" है और घोगल गाँव और टोंकी के बीच में बहती है. 

पत्रकारिता विभाग में लेक्‍चरर बने देश दीप‍क

  लगभग आठ साल से लखनऊ की पत्रकारिता में सक्रिय देश दीपक सिंह ने सक्रिय पत्रकारिता को अलविदा कह कर अब पत्रकारिता शिक्षा के क्षेत्र में सक्रिय हो गए हैं. देश दीपक ने अपनी नई पारी की शुरुआत महाराणा प्रताप संस्‍थान के पत्रकारिता विभाग में लेक्‍चरर के रूप में शुरू किया है. देश दीपक लखनऊ …

रामदेव के खिलाफ जानकारी जुटाने वाले पत्रकार के खिलाफ मामला दर्ज

 

हरिद्वार। बाबा रामदेव और उनके संस्थानों से जुड़ी जानकारी के लिए उनके वाहन चालक को रिश्वत की पेशकश के आरोप में दिल्ली के एक पत्रकार के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। पत्रकार के खिलाफ दिल्ली के बसंत विहार थाने में भी उगाही का मामला दर्ज है। पुलिस ने पड़ताल शुरू कर दी है। बाबा रामदेव के चालक इंद्रदेव कुमार, निवासी दिव्य योग मंदिर ट्रस्ट, कनखल ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। चालक ने एक व्यक्ति पर बाबा रामदेव के संस्थानों की गुप्त सूचनाएं देने और दवाओं में मिलावट करने के लिए रिश्वत की पेशकश का आरोप लगाया था। सीओ सिटी अजय सिंह ने इस मामले की जांच की। 

पंजाब की शक्ति के डीजीएम गुरप्रीत ने भी दिया इस्तीफा

 

पंजाब में हिंदी समाचार पंजाब की शक्ति को अभी लांच होने में शायद और समय लग जाय लेकिन अपनी टीम के लोगों को बाहर का रास्ता दिखने का काम लगातार जारी है, जिसके तहत अभी कुछ दिन पहले ही जागरण से हाथ छुड़ा कर आये गुरप्रीत सिंह पंजाब की शक्ति में बतौर डीजीएम के पद पर विराजे थे, जुम्मा जुम्मा अभी पन्द्रह दिन में ही इस्तीफा दे गये. 

जागरण के शैलेश गुप्‍ता बने एबीसी के चेयरमैन

 

जागरण प्रकाशन लिमिटेड के निदेशक (मार्केटिंग) शैलेश गुप्ता को वर्ष 2012-13 के लिए सर्वसम्मति से ऑडिट ब्यूरो ऑफ सर्कुलेशन (एबीसी) का चेयरमैन चुना गया है। जबकि, आईटीसी लिमिटेड के कार्यकारी वाइस प्रेसिडेंट (मार्केटिंग) सैयद महमूद अहमद एबीसी के डिप्टी चेयरमैन बनाए गए हैं। हरमूज मसानी ब्यूरो में महानिदेशक होंगे।

गढ़वा में पत्रकार पर हमला, पुलिस उदासीन

 

गढ़वा जिले के भंडरिया में पुलिस का नहीं माफियाओं का राज चल है। यह हम नहीं बल्कि स्वयं भंडिरिया पुलिस द्वारा बुधवार की दोपहर माफियाओं के हाथों पीटे गये पत्रकार सत्येंद्र केसरी के मामले मे अब तक की गई पुलिसिया कार्रवाई कह रही है। इससे माफियाओं के हौसले को इतना बल मिला है कि उन्होंने एक बार फिर शुक्रवार को अहले सुबह संगठित हो सत्येंद्र पर हमला बोल दिया। घटना के समय सत्येंद्र गोदरमाना से अखबार का बंडल लेकर भंडरिया लौट रहा था। भला हो सरइडीह के ग्रामीणों का जिन्होंने प्रखंड प्रमुख व अन्य पंचायत प्रतिनिधियों की मदद से सत्येंद्र को पिटाई कर रहे माफियाओं के चंगुल से मुक्त कराकर उसे इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भंडरिया में भर्ती कराया।

कोलगेट मामले में भास्‍कर समूह ने भी मुंह काला किया है!

: 765 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप : कोल ब्‍लाक आबंटन के खेल में केवल राजनेताओं और उद्योगपतियों के ही हाथ और मुंह काले नहीं हुए हैं बल्कि मीडिया से जुड़े लोगों के दामन पर भी यह कालिख लगी है. काला हीरा लूटने के इस खेल में लोकमत समाचार समूह के मालिकान का नाम आया तो एक अखबार ने खुलासा किया है कि भास्‍कर समूह ने भी 765 करोड़ रुपये कोयले से अपना हाथ काला किया है. 

हिन्दुस्तान, रांची के संपादक सहित दो रिपोर्टरों को कोर्ट का समन

पलामू के वरीय अधिवक्ता मंगलदेव सिंह ने 25 मई 2011 को पलामू सिविल कोर्ट में मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में दैनिक हिन्दुस्तान समाचार पत्र में मिथ्या समाचार प्रकाशित कर उनकी प्रतिष्ठा हनन से संबंधित परिवाद दायर किया था. परिवाद संख्या 429/2011 है. अदालत ने पर्याप्‍त साक्ष्य के आधार पर दंड प्रक्रिया संहिता 501 के तहत हिन्दुस्तान के संपादक दिनेश मिश्र व डालटनगंज कार्यालय के प्रभारी सतीश सुमन व रिर्पोट दिलीप कुमार के विरूद्ध संज्ञान लेते हुए समन जारी किया है.

प्रतियां खरीद कर पत्रिका को नुकसान पहुंचा रहा है भास्‍कर!

 

पत्रिका के भोपाल एडिशन की हालत दिनोदिन ख़राब होती जा रही है, सर्कुलेशन के लगातार गिरने से मैनेजमेंट खासा परेशान है. परेशानी की मुख्य वजह दैनिक भास्कर द्वारा पत्रिका की खरीदी करना है. याद रहे कि भोपाल में दैनिक भास्कर का मुख्यालय है तथा समूह के चैयरमेन रमेश अग्रवाल तथा एमडी सुधीर अग्रवाल वहीँ अधिक समय रहते हैं. बताते हैं कि रमेश अग्रवाल का सर्कुलेशन के क्षेत्र में कोई सानी नहीं है, उन्हीं के दिमाग की उपज है कि एमपी व सीजी में पत्रिका की प्रतियाँ खरीद कर पत्रिका समूह को चौतरफा नुकसान पहुँचाया जाये. 

प्रधान संपादक गुंजन सिन्हा ने छोड़ा न्यूज़11 का साथ

न्यूज़ 11 के प्रधान संपादक गुंजन सिन्हा ने चैनल को अलविदा कह दिया है. न्यूज़ 11 के साथ गुंजन सिन्हा की यह दूसरी पारी थी. दोनों बार अप्रिय स्थिति में गुंजन सिन्हा ने चैनल का साथ छोड़ा है. हालाँकि अंदरखाने की ख़बरों के अनुसार गुंजन सिन्हा ने चैनल के कर्ता- धर्ता अरूप चटर्जी के द्वारा धमकी दिए जाने के बाद यह कदम उठाया है. गुंजन सिन्हा ने अरूप द्वारा दिए गए धमकी को गंभीरता से लिया और फेसबुक पर अपना दर्द भी बयां किया. गुंजन सिन्हा यहीं नहीं रुके बल्कि न्यूज़ 11 और अरूप की नन बैंकिंग कंपनी केयर विजन की पोल पट्टी खोलनी शुरू कर दी.

जीते जी अटल जी को स्‍वर्गवासी बना दिया दैनिक जागरण ने

ग्यारह राज्य, सैंतीस संस्करण और 5.6 करोड़ पाठक संख्या वाले भारत के सर्वाधिक पढ़े जाने वाले बल्कि यूँ कहें कि "विश्व के सर्वाधिक पढ़े जाने वाले" अखबार "दैनिक जागरण" ने भाजपा के वरिष्ठ नेता और देश के पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी को "स्वर्गीय" बना दिया! जी हाँ, आगरा संस्करण के पृष्‍ठ संख्या आठ पर छपी खबर पर विश्वास करें तो पूर्व प्रधानमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता अटल बिहारी वाजपेयी स्वर्गवासी हो चुके हैं।

एसएसपी बोला- खबर उल्टी लिखी तो जेल भेज दूंगा..

 

पूरे देश में पत्रका‍रों का उत्‍पीड़न तथा डराने धमकाने का दौर जारी है. ताजा मामला उत्‍तराखंड के हरिद्वार जिले का है. यहां पर एसएसपी ने हिंदुस्‍तान के पत्रकार को धमकी दी कि अगर खबर उल्‍टी लिखी तो जेल भेज दूंगा. हरिद्वार में एसएसपी ने पुलिसकर्मियों के गैंगरेप की शिकार युवती को आरोपियों की तरह मीडिया के समक्ष पेश किया. 

गलतियों का अंबार लगाता दैनिक जागरण

 

"कुछ भी हो जाये हम नहीं सुधरेंगे" शायद कुछ ऐसी ही कसम इस समय दैनिक जागरण वालों ने खा रखी है। पिछले कुछ समय से अखबार में निरंतर हो रही गलतियाँ इस बात का प्रमाण हैं। ऐसा ही एक और वाकया इनके आगरा संस्करण के 7 तारीख के अखबार में खेल पेज पर देखने को मिला, जहाँ "साइना से सीखो मेहनत करना : तेंदुलकर" शीर्षक के साथ छापी गयी खबर में "साइना नेहवाल" की जगह "सानिया मिर्जा" की तस्वीर लगा दी गयी। 

शिष्य हो तो नामवर सिंह जैसा, मुद्राराक्षस जैसा नहीं

सच आज की तारीख में अगर शिष्य हो तो नामवर सिंह जैसा। मुद्राराक्षस जैसा नहीं। नामवर जी बीते ३० अगस्त को लखनऊ आए। उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान के बुलावे पर। हिंदी संस्थान ने भगवती चरण वर्मा, अमृतलाल नागर और आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी पर व्याख्यान आयोजित किया था। कुसुम वार्ष्णेय भगवती बाबू पर बोलीं। बिलकुल पारंपरिक ढंग से। मुद्राराक्षस अपनी रवायत के मुताबिक अमृतलाल नागर पर बोले विवादास्पद ढंग से। 

यशवंत-अनिल की गिरफ्तारी के खिलाफ मुगलसराय में भी हुआ था प्रदर्शन, देखें तस्वीर

मीडिया जगत में व्याप्त अंधेरगर्दी के खिलाफ बेखौफ होकर आवाज उठाने वाले चर्चित पोर्टल भड़ास4मीडिया को बंद कराने की दैनिक जागरण की कुत्सित मंशा के खिलाफ देश के कई कोनों में लोगों ने अपने अपने स्तर पर विरोध का इजहार किया. भड़ास से जुड़े यशवंत और अनिल को जेल में डाले जाने के खिलाफ उत्तर प्रदेश के मुगलसराय में लोगों ने विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया. उस विरोध प्रदर्शन की खबर दैनिक जागरण समेत अन्य अखबारों में प्रकाशित नहीं की गई. वह खबर भड़ास के पास लोगों ने चित्र के साथ प्रेषित की. उसी खबर व तस्वीर को नीचे प्रकाशित किया जा रहा है…

वरिष्‍ठ पत्रकार पदम मेहता को लखोटिया पुरस्‍कार

  जयपुर : वरिष्ठ पत्रकार पदम मेहता को राजस्थानी साहित्य में श्रेष्ठ योगदान के लिए रामनिवास आशारानी लखोटिया ट्रस्ट द्वारा इस वर्ष का 19वां ‘लखोटिया पुरस्कार’प्रदान किया जाएगा। राजस्थानी अकादमी के अध्यक्ष एवं रामनिवास आशारानी लखोटिया ट्रस्ट के प्रबंध ट्रस्टी रामनिवास लखोटिया ने बताया कि मेहता को पुरस्कार स्वरूप एक लाख रूपये की नकद स्मृति …

एजुकेशन पर आधारित दैनिक ‘शिक्षा न्‍यूज’ लांच

 

नई दिल्‍ली। शिक्षा को सौ प्रतिशत समर्पि‍त देश का पहला और एकमात्र द्विभाषीय (हिन्‍दी और अंग्रेजी) दैनिक समाचार पत्र शिक्षा न्‍यूज बुधवार से प्रकाशित होने लगा है। वेबसाइट www.news4education.com का संचालन करनेवाली कंपनी एडीएस मीडिया ने इसका प्रकाशन आरंभ किया है। 16 पृष्‍ठों का यह समाचार पत्र शि‍क्षा से जुड़ी देशभर की हर तरह की खबरों को ए‍क साथ परोस रहा है। इसके साथ ही इसमें रोजगार से संबंधित अवसरों की भी पर्याप्‍त जानकारी दी जा रही है। 

आई नेक्‍स्‍ट के रिपोर्टर उज्‍ज्‍वल अध्‍ययन अवकाश पर गए

आई नेक्स्ट, पटना के डिप्टी चीफ़ रिपोर्टर उज्ज्वल ने आगे की पढ़ाई के लिए संस्‍थान से छुट्टी ले ली है. आई नेक्‍स्‍ट प्रबंधन ने उज्‍ज्‍वल की छुट्टी मंजूर कर ली है. उज्ज्वल महात्मा गाँधी अंतर्राष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय से एमफिल की पढ़ाई कर रहे हैं. उज्ज्वल आई नेक्स्ट, पटना संस्करण में शुरुआती दिनों से हैं. यहाँ …

सपा नेता ने पत्रकार प्रभात त्रिपाठी को पीटा, मामला दर्ज

 

लखनऊ : यूपी में सपा सरकार आने के बाद से पुलिस और सपा कार्यकर्ताओं का गुंडाराज जारी है. इसमें सबसे ज्‍यादा शिकार पत्रकार बन रहे हैं. लखनऊ में एक बार फिर एक पत्रकार सपा नेता के हमले का शिकार हुआ है. हजरतगंज में मेफेयर तिराहे के पास गाड़ी हटाने को लेकर नोकझोंक में सपा के एक नेता ने इस पत्रकार की पिटाई कर दी. 

कैमरामैन को थप्‍पड़ मारने के मामले में आसाराम बापू के खिलाफ जांच के आदेश

 

नई दिल्ली। गाजियाबाद की मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने आसाराम बापू के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं। आदेश एक न्‍यूज चैनल के कैमरामैन को थप्‍पड़ मारने के प्रकरण में दी गई है। आसाराम बापू पर आरोप है कि उन्‍होंने कवरेज के दौरान न्‍यूज चैनल के कैमरामैन को थप्‍पड़ मारा था। इस आदेश के बाद आसाराम मुश्किल में आ सकते हैं। कैमरामैन ने की याचिका पर अदालत ने मंगलवार को कविनगर थानाध्‍यक्ष को जांच का आदेश दिया है।

पीटीआई पटना के ब्‍यूरोचीफ अजय कुमार का निधन

नयी दिल्ली : प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (पीटीआई) के पटना में कार्यरत वरिष्ठ पत्रकार अजय कुमार तिवारी का आज सुबह संक्षिप्त बीमारी के बाद यहां के एक अस्पताल में निधन हो गया। वह 44 साल के थे। तिवारी 1987 में पीटीआई में आए थे और 2008 में वह विशेष संवाददाता बने। 2009 में उन्होंने पीटीआई …

हरियाणा न्‍यूज के मालिक गोपाल कांडा फरार, तलाश में छापेमारी

 

: अरुणा चड्ढा को पुलिस ने गिरफ्तार किया : नई दिल्ली। एयर होस्टेस गीतिका शर्मा खुदकुशी मामले में हरियाणा के पूर्व मंत्री गोपाल गोयल कांडा पुलिस के शिकंजे में फंसते नजर आ रहे हैं। दिल्ली पुलिस के नोटिस पर कांडा बुधवार को पूछताछ के लिए हाजिर नहीं हुए बल्कि अग्रिम जमानत पाने के लिए रोहिणी की कोर्ट में उनकी अर्जी पहुंच गई। बुधवार शाम पुलिस ने कांडा की गिरफ्तारी के लिए चार टीमें गठित करके उन्हें हरियाणा रवाना कर दिया। कांडा की सहयोगी अरुणा चढ्डा को गिरफ्तार कर लिया गया है।

वरिष्‍ठ फोटो जर्नलिस्‍ट महेंद्र सिंह का निधन

 

जौनपुर। चार दशकों तक जौनपुर समेत पूर्वांचल में छाया पत्रकारिता करने वाला एक सूरज डूब गया। फोटोग्राफर महेन्द्र सिंह ने रविवार की रात ब्रेन हैमरेज के बाद आखिरी सांस ली। उनकी मृत्यु की जानकारी होते ही पत्रकारों में शोक की लहर दौड़ गयी। अलफस्टीनगंज स्थित उनके आवास पर लोगों का तांता लगा हुआ है। महेंद्र सिंह ने 40 वर्षों तक विभिन्न समाचार पत्रों में छाया पत्रकारिता के साथ-साथ संवाददाता के तौर पर काम किया। जिले में उनकी पहचान छाया पत्रकारिता के भीष्म पितामह के तौर पर थी। इंदिरा गांधी और चंद्रशेखर तक उनके खींची फोटो की प्रशंसा की थी। नगर को तबाह करने वाली सन 84 की बाढ़ का कवरेज महेंद्र सिंह की नायाब उपलब्धि रही है।

भूखंड के लिए पीआरओ की चापलूसी पर उतरे पत्रकार

 

श्रीमान, यशवंत सिंह। संपादक, भड़ास4मीडिया। विषय : राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में भूखंडों से वंचित पत्रकारों ने पिछले काफी समय से आंदोलन किया हुआ है, लेकिन कुछ तथाकथित इलेक्ट्रोनिक मीडियाकर्मियों ने अधिकारियों की चापलूसी करनी शुरू कर दी है।

पति की हत्‍या के आरोप में महिला पत्रकार प्रेमी संग गिरफ्तार

 

राजकोट। शहर में रह रही पूर्व पत्रकार नीलम को प्रेमी राज लखवा के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है। नीलम पर आरोप है कि उसने अपने पति जवेरी महेंद्र सिंह वर्मा की उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर में हत्या कर दी थी। पति की हत्या के बाद नीलम राजकोट शहर आकर प्रेमी राज लखवा (मूल निवासी -उज्जैन, मप्र) के साथ पिछले तीन महीनों से यहां रह रही थी। नीलम के माता-पिता भी मीडियाकर्मी हैं।

हिंदुस्‍तान विज्ञापन घोटाला : संस्‍करणों में रजिस्‍ट्रेशन संख्‍या बदलकर-बदलकर छापा गया

 

मुंगेर। विश्व के सनसनीखेज दैनिक हिन्दुस्तान के 200 करोड़ के विज्ञापन फर्जीवाड़ा में पुलिस अधीक्षक पी. कन्नन के निर्देशन में आरक्षी उपाधीक्षक अरूण कुमार पंचालर की समर्पित ‘‘पर्यवेक्षण-टिप्पणी‘‘के पृष्ठ -04 पर इस कांड के वादी मंटू शर्मा ने खुलासा किया है कि मेसर्स हिन्दुस्तान मीडिया वेन्चर्स लिमिटेड ने किस प्रकार भागलपुर और मुंगेर के दैनिक हिन्दुस्तान संस्करणों में बार-बार निबंधन संख्या बदलने, फर्जी तरीके से समाचर-पत्रों के मुद्रण, प्रकाशन और वितरण करने और अवैध संस्करणों में सरकारी विज्ञापन छापकर करोड़ों रुपए का फर्जीवाड़ा किया।

कपूरथला में दैनिक जागरण के पांचवें कार्यालय का चौथा उद्घाटन

 

कपूरथला : हिंदी समाचार दैनिक जागरण कपूरथला उप कार्यालय के पांचवें दफ्तर का चौथा उदघाटन, वरिष्ठ महिला पत्रकार व जागरण प्रदेश प्रभारी मीनाक्षी शर्मा द्वारा मंगलवार को हुआ। लगभग डेढ़ दशक पहले पंजाब में लांच हुय हिंदी समाचार दैनिक जागरण का कपूरथला में 2002 में आगाज़ हुआ था तब कपूरथला जिले की कमान प्रभारी के तौर पर नरोतिया ने संभाली थी, तथा जटपूरा शेत्र में एक छोटी सी दुकान से कार्य प्रारंभ किया गया। 

बंसल न्‍यूज के हालात बिगड़े, कई अलविदा कहने के मूड में

 

सहारा, ईटीवी, जी२४ के कई नामचीन पत्रकारों को तोड़कर करीब डेढ़ साल पहले लोकल स्टाइल में शुरू हुआ मप्र-छग का बंसल न्यूज़ चैनल अब औंधे मुहं गिर रहा है. चैनल की ओपनिंग करने करने वाले सीईओ अचल मेहरा और न्यूज़ हेड तरुण गुप्ता बंसल न्यूज़ से पहले ही कन्नी काट चुके हैं. चैनल के मालिक सुनील बंसल ने बड़ी ही तरुणाई से तरुण की जगह शरद द्विवेदी को रखा. फिर शरद द्विवेदी अपनी दुकान ज़माने में अचल मेहरा को ही लील गए. 

कानपुर के संपादकीय प्रभारी बने राघवेंद्र, कई और बदलाव

 

दैनिक जागरण में कई बदलाव किए गए हैं. कानपुर से खबर है कि इनपुट हेड राघवेंद्र चड्ढा की कार्यक्षमता को देखते हुए कानपुर का संपादकीय प्रभारी बना दिया गया है. राघवेंद्र इसके पहले बनारस के संपादक थे. कानपुर के संपादकीय प्रभारी रहे विनोद शील को स्‍टेट हेड बनाकर पानीपत भेज दिया गया है. हिसार के एनई सुनील झा को नोएडा यूनिट बुला लिया गया है.

शिमला प्रेस क्‍लब का चुनाव 18 अगस्‍त को

शिमला प्रेस क्लब के सालाना चुनाव 18 अगस्त को होंगे। निर्वाचन अधिकारी सुशील कुमार के मुताबिक नामांकन पत्र 8 और 9 अगस्त को प्राप्त किए जा सकते हैं। नामांकन भरने की तारीख 10 अगस्त तय की गई है। 12 अगस्त को उम्मीदवार अपने नाम वापिस ले सकते हैं। शिमला प्रेस क्लब में अध्यक्ष पद को लेकर इस बार मारामारी है। मौजूदा अध्यक्ष धनंजय शर्मा एक बार फिर मैदान में उतरने की तैयारी कर रहे हैं। तीन साल पहले एक साल के लिए उन्हें अध्यक्ष चुना गया था, लेकिन वे कब्जा जमाकर बैठ गए। तीन साल तक उन्होंने चुनाव नहीं कराए, जबकि क्लब के संविधान के मुताबिक हर साल चुनाव कराना लाजिमी है।

उत्‍तराखंड के मुख्‍य सचिव से मिलकर पत्रकारों ने विज्ञापन नीति का किया विरोध

 

देहरादून। प्रदेश के मुख्‍य सचिव ने कहा कि समाचार पत्रों के लिए किसी भी विज्ञापन नीति पर जल्दबाजी पर निर्णय नहीं लिया जायेगा और सभी पत्रकारों की सहमति ली जायेगी। मुख्य सचिव व आलोक कुमार जैन ने यह बात उत्तराखण्ड प्रिन्ट मीडिया विज्ञापन नियमावली 2012 पर विरोध् जताने के लिए उनसे मिलने आये उत्तराखंड संयुक्त पत्रकार संघर्ष समिति के शिष्टमंडल से कही।

दूसरों को नसीहत, खुद मियां फजीहत

 

: भास्कर प्रबंधन पहले कर्मचारियों का गुटका छुड़वाएं : बठिंडा: दूसरो को नसीहत, खुद मियां फजीहत। यह कहावत दैनिक भास्कर पर बिल्कुल सटीक बैठती है। पंजाब भर में गुटका पर रोक लगाने के लिए अभियान चलाने वाले भास्कर प्रबंधन को चाहिए कि वह सबसे पहले भास्कर में काम करने वाले उन कर्मचारियों व अधिकारियों को गुटका खाना बंद करवाए जो गुटका चबाए बिना एक पल भी नहीं रह सकते। 

उत्‍तराखंड में विज्ञापन नियमावली की आड़ में लघु समाचार पत्रों की हत्‍या की कोशिश

 

देहरादून। उत्तराखंड में लोकतंत्र के चौथे स्तंभ यानी मीडिया पर विज्ञापन नियमावली की आड़ में अघोषित आपात लगाने की तैयारी में विजय बहुगुणा की सरकार लग गई है। ऑपरेशन गला घोटू की जिम्मेदारी दी गई है भाजपा के मुख्यमंत्री रहे बीसी खंडूड़ी के खासमखास अधिकारियों में शुमार आईएएस अधिकारी दिलीप जावलकर को।

फोन हैकिंग मामले में एक और पत्रकार गिरफ्तार

 

लंदन : ब्रिटेन में फोन हैकिंग विवाद की जांच के तहत आज सुबह एक पत्रकार और एक पुलिस अधिकारी को गिरफ्तार कर लिया गया। इस विवाद में न्यूज ऑफ द वर्ल्ड टैबलायड शामिल था जिसे गत जुलाई में प्रमुख मीडिया व्यवसायी रूपर्ट मडरेक ने बंद कर दिया था। दोनों गिरफ्तारियां आपरेशन एल्वेडेन के तहत की गई। इस जांच के तहत पत्रकारों की ओर से सूचनाएं प्राप्त करने के लिए सरकारी अधिकारियों को किये गए भुगतानों की जांच की जा रही है ताकि उसका खबरों में इस्तेमाल किया जा सके।

सड़क हादसे में सहारा के दो पत्रकार घायल

 

औरंगाबाद जिले युवा पत्रकार गणेश प्रसाद और संतोष कुमार एक सड़क हादसे में घायल हो गए. यह हादसा उस समय हुआ जब वे कार्यालय से न्‍यूज भेजने के बाद अपनी बाइक से घर वापस लौट रहे थे. उनकी बाइक के सामने अचानक एक पशु आ गया, जिससे टकराने के बाद दोनों लोग गिर गए. उन्‍हें गंभीर चोटें आईं. उन्‍होंने इसकी सूचना अपने परिचितों को दी. दोनों का इलाज औरंगाबाद के सदर अस्‍पताल में कराया गया. 

डेन केबल के आने से डिजी केबल में इस्तीफों का दौर जारी

 

आगरा से जल्द ही एक नए केबल डेन का प्रसारण होने जा रहा है, जिसके कारण डिजी केबल में इस्तीफों का दौर जारी है. अभी हाल में ही यहाँ से तेज तर्रार पत्रकार राहुल ठाकुर, एंकर मीनू व पत्रकार जीतेन्द्र, एंकर आशियाँ खान आदि  ने इस्तीफा दे दिया है.  बताया  गया है कि वह जल्द ही आगरा से प्रारंभ होने जा रहे डेन केबल से अपनी नई पारी प्रारंभ कर सकते हैं.

मुकेश बने संपूर्ण माया के झारखंड ब्‍यूरो प्रमुख

 

राजनाम पोर्टल के संचालक-संपादक मुकेश भारतीय ने अब एक और नई जिम्मेवारी संभाली है। वे नई दिल्ली से प्रकाशित राष्ट्रीय समाचार पत्रिका संपुर्ण माया के झारखंड ब्यूरो प्रमुख ( मुख्य संवाददाता) के रुप में कार्य भार संभाल लिया है। श्री भारतीय को यह जिम्मेदारी पत्रिका के प्रकाशक संदीप मित्रा ने सौंपी है। पत्रिका के प्रिंट लाइन में मुकेश भारतीय को राष्ट्रीय समाचार पत्रिका संपुर्ण माया के झारखंड ब्यूरो प्रमुख ( मुख्य संवाददाता) के नाम उल्लेखित है।

खूबसूरती का बदसूरत “अंत”,आखिर क्यों?

 

गीतिका शर्मा और अनुराधा बाली उर्फ फिज़ा। दोनो ही खूबसूरत, बेबाक। मगर अंत दोनों का ही दर्दनाक। एक ने मौत को गले लगा लिया। दूसरी (फिज़ा) की लाश लावारिश हाल में उसी की देहरी के अंदर मिली। सड़ी-गली हालत में। फिज़ा जीते-जी जिस कदर खूबसूरत थी। संदिग्ध मौत के बाद उनकी लाश उतनी ही डरावनी मिली। लाश को देखकर अच्छे अच्छों की घिग्घी बंध जाये। कमोबेश गीतिका की भी मौत ने सबको हिला दिया। उसकी लाश भी अपनी ही देहरी के भीतर फंदे पर लटकी मिली।

महेश भट्ट ने दी पत्रकार कुलदीप मिश्र को धमकी

 

दैनिक भास्‍कर, चंडीगढ़ के सीनियर जर्नलिस्‍ट कुलदीप मिश्र से फिल्‍मकार महेश भट्ट ने बदतमीजी की, धमकी दी. महेश अपनी फिल्‍म जिस्‍म 2 को लेकर मीडिया से मुखातिब थे. घटना शुक्रवार की है. कुलदीप ने उनसे कुछ सवाल पूछे तो महेश भट्ट उखड़ गए. तू तड़ाक तो किया ही कुलदीप को धमकी भी दी कि तू बाहर मिल तो तेरी नेट सर्फिंग करता हूं सारी. कुलदीप ने इस घटना का विरोध करते हुए अपने ब्‍लॉग पर भी लिखा है. जिसे नीचे प्रकाशित किया जा रहा है.

कश्‍मीर में आतंकियों ने पत्रकारों को दी धमकी

 

कश्मीरी पंडितों को वादी छोड़ने की धमकी देने के चार दिन बाद आतंकियों ने पत्रकारों को फरमान सुनाया है कि वे कश्मीर में आतंकी हिंसा व अलगाववाद के प्रति अपना नजरिया बदलते हुए इसे सकारात्मक ढंग से लोगों को तक पहुंचाएं, अन्यथा गंभीर परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें। आतंकियों ने यह धमकी भरा फरमान किसी पोस्टर के जरिये नहीं, बल्कि वादी में कुछ समाचारपत्र कार्यालयों और पत्रकारों को खत भेजकर किया है।

दैनिक नवज्योति में पत्रकारों के बीच लात-घूंसा चला

 

जयपुर। राजस्थान की राजधानी जयपुर के सबसे प्राचीन समाचार पत्र दैनिक नवज्योति के स्टेशन रोड स्थित कार्यालय में सोमवार को सम्पादकीय कार्यालय में पत्रकारों के बीच लात-घूंसा जंग छिड़ गई। दो पत्रकारों की आपसी तू-तू मैं-मैं की लड़ाई इस कदर बढ़ी कि पूरे सम्पादकीय कार्यालय में जूतम-पैजार का दौर शुरू हो गया। 

पत्रकार सीमा आजाद को हाई कोर्ट से मिली जमानत

 

इलाहाबाद : सामाजिक कार्यकर्ता और पत्रकार सीमा आज़ाद को इलाहाबाद हाइकोर्ट से ज़मानत मिल गई है। देशद्रोह के आरोप में निचली अदालत ने सीमा आजाद को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। सीमा को फरवरी 2010 को दिल्ली से इलाहाबाद पहुंचने पर स्टेशन पर ही गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने सीमा आज़ाद और उनके पति विश्व विजय पर देशद्रोह का मामला बनाया था और उनके पास से बड़ी संख्या में नक्सली साहित्य बरामद होने का दावा किया था। सीमा आजाद की रिहाई के लिए मानवाघिकार संगठनों ने आंदोलन भी चलाया था।

सीरिया में सरकारी टीवी चैनल के इमारत में विस्‍फोट, कई घायल

 

बेरूत : सीरिया की राजधानी दमिश्क में स्थित देश के सरकारी टीवी चैनल की इमारत में बम विस्फोट में कई लोग घायल हो गए। सेना द्वारा राजधानी के बागियों के कब्जे वाले अंतिम इलाके पर कब्जा किए जाने की घोषणा के दो दिन बाद इमारत के तीसरे तल पर विस्फोट की यह सूचना सीरिया के सरकारी टीवी चैनल द्वारा जारी की गई।

गोपाल कांडा : जूतों की दुकान से अरबपति बनने का सफर

 

सिरसा : गोपाल कांडा की सफलता की कहानी भी सपनों सरीखी है। 29 दिसंबर 1965 को जन्मे गोपाल कांडा केवल स्कूल लेवल तक पढ़े हैं। उनके पिता मुरलीधर कांडा एडवोकेट थे तो मां मुन्नी देवी गृहिणी हैं। पिता के देहांत के बाद घर-परिवार की जिम्मेदारी गोपाल कांडा और उनके भाई गोबिंद कांडा के कंधों पर आ गई।

पहले भी विवादों से जुड़े रहे हैं गोपाल कांडा

 

गुड़गांव सिविल लाइन स्थित प्रदेश के गृह राज्य मंत्री और हरियाणा न्‍यूज के मालिक गोपाल कांडा की कोठी पर रविवार सुबह से ही मीडियाकर्मियों का जमावड़ा लगा रहा। दिल्ली की एयर होस्टेस के सूइसाइड के बाद ही यहां पर मीडिया वालों के अलावा लोगों का जुटना शुरू हो गया। हर कोई कांडा का पक्ष जानने को उत्सुक था। बाद में पता चला कि मंत्री अपनी कोठी पर नहीं हैं। इसी बीच दिल्ली पुलिस की टीम के आने की चर्चा हुई। इसी इंतजार में कई घंटों तक मीडिया वाले मंत्री जी की कोठी के सामने डटे रहे। वहां से गुजरने वाले लोगों में भी यह जानने की उत्सुकता हुई कि मंत्री के साथ क्या हुआ? 

गीतिका शर्मा आत्‍महत्‍या मामला : हरियाणा न्‍यूज के मालिक गोपाल कांडा ने दिया मंत्री पद से इस्‍तीफा

 

चंडीगढ़ : हरियाणा के विवादास्पद गृह राज्यमंत्री और हरियाण न्‍यूज चैनल के मालिक गोपाल कांडा ने रविवार शाम नई दिल्ली में मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को अपना इस्तीफा सौंप दिया। एक एयर होस्‍टेस को आत्‍महत्‍या करने के लिए उकसाने के आरोपी बनाए गए कांडा इसके बाद से ही विवादों में आ गए थे। कांडा ने गुड़गांव में संवाददाताओं से कहा कि मैंने कोलकाता से लौटे मुख्यमंत्री को आज शाम अपना इस्तीफा सौंप दिया है।

पत्रकार चंद्रेश की हत्‍या के मामले में पांच आरोपी गिरफ्तार

 

रायसेन : रायसेन जिले की पुलिस को छतरपुर के एक पत्रकार चंद्रेश खरे ओर अमित श्रीवास्तव की हत्या के मामले में पाँच आरोपियों को पकड़ने में सफलता मिली है। आरोपियों में एक सुल्तान एमसीए है तथा उसकी पत्नी अस्पताल में नर्स के पद पर कार्यरत है। जिला पुलिस अधीक्षक श्री आईपी कुलश्रेष्ठ ने बताया कि नूरगंज थाना क्षेत्र में विगत 10 जुलाई 2012 को इस दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया गया था। पुलिस को कोलार मार्ग पर झिरी ग्राम के पास बेतवा पुल के पास एक युवक कि क्षत विक्षत लाश वरामद हुई थी। जांच के दौरान मृतक की पहचान छतरपुर के एक पत्रकार चंद्रेश खरे के रूप में हुई थी। 

दैनिक सवेरा से जुड़े प्रदीप ठाकुर

पंजाब की शक्ति से संबंध खतम होने के बाद प्रदीप ठाकुर ने जालंधर से प्रकाशित दैनिक सवेरा से अपनी नई पारी शुरू की है. प्रदीप को फिलहाल जिला के ब्‍यूरो के कोआर्डिनेशन की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. प्रदीप ठाकुर उस समय विवादों में घिर गए थे जब उनके खिलाफ पंजाब की शक्ति प्रबंधन ने मामला …

भाजपा की बैठक के दौरान आपस में भिड़े पत्रकार

 

आगरा में भाजपा की बैठक के दौरान पत्रकार आपस में ही भिड गए. यह घटना जब घटी जब आगरा में एएनआई के पत्रकार ब्रिजेश सिंह ने डीएलए के फोटोग्राफर को बुरा भला कह दिया. बस इतना कहते ही डीएलए का फोटोग्राफर ब्रिजेश सिंह से भड़क उठा तब इस मामले को वहां पर उपस्थित पत्रकारों ने जैसे तैसे संभाला. इस दौरान बात पुराने दिनों पर आ गयी, जिसमें एएनआई के ब्रिजेश सिंह ने विनोद अग्रवाल से दो टूक कह दिया कि तू अपनी औकात भूल गया बस इस पर जमकर बहस चली. 

झारखंड के युवा पत्रकार अमरनाथ सम्‍मानित

 

झारखण्ड के उग्रवाद प्रभावित राज्य गिरिडीह में आज महुआ न्यूज़ के लिए स्ट्रिंगर का काम करनेवाले युवा पत्रकार अमरनाथ सिन्हा को निर्भीक और बेहतर पत्रकारिता के लिए सम्मानित किया गया है. यह सम्मान सामाजिक सगठन लायस क्लब का २६वां पदस्थपना कार्यक्रम में दिया गया. झारखण्ड सरकार में भू-राजस्व मंत्री मथुरा प्रसाद महतो और क्लब के अंतरराष्‍ट्रीय पदाधिकारियों की उपस्थिति में अमरनाथ को दिया गया. 

फर्जी इंपेक्‍ट व गलत खबरें छाप रहा बठिंडा भास्‍कर

 

दैनिक भास्‍कर की बठिंडा यूनिट के बठिंडा सिटी एडिशन में एक तरफ गलतियों की भरमार है तो दूसरी तरफ अखबार का दम दिखाने के चक्‍कर में फर्जी इंपेक्‍ट लिया जा रहा है। सिटी टीम में पहले ही रिपोर्टरों का टोटा हो रखा है, ऐसे में काम के बोझ से भारी मानसिक दबाव में काम कर रहे पञकारों से खबर लिखने में गलतियां हो रही हैं। 27 जुलाई के अंक में रिपोर्टर गुरप्रेम लहरी के नाम से छपी कारगिल शहीद संदीप सिंह व कैप्‍टन अजय आहूजा की खबर में रिपोर्टर ने अजय आहूजा की पत्‍नी अलका आहूजा को शहीद संदीप सिंह की पत्‍नी बता दिया। 

एचबीसी न्‍यूज के चेयरमैन सतीश कट्टा के ठिकानों पर आईटी का छापा

 

खबर राजस्थान से है.. जहाँ एचबीसी न्यूज़ के चेयरमैन सतीश कट्टा के ठिकानों पर कुछ समय पहले इनकम टैक्स विभाग ने छापा मारा है.. लगभग ५० लोगों की टीम ने छापेमारी की है. विभाग को कट्टा द्वारा टैक्स चोरी किए जाने का पता चला था. सूत्रों के मुताबिक दो दिन तक चली इस कार्रवाई से घबरा कर सतीश कट्टा ने लघभग दस करोड़ की अघोषित आय सरेंडर कर दी.

यूपी संवाददाता समिति के चुनाव में 41 लोग मैदान में

: 5 को स्‍क्रूटनी और 6 को वापसी के बाद 12 को होगा मतदान : कई प्रत्‍याशियों के दामन पर पड़े हैं कई गंभीर विवादों के कीचड़ : लखनऊ: बहुप्रतीक्षित उत्‍तर प्रदेश राज्‍य मुख्‍यालय मान्‍यताप्राप्‍त संवाददाता समिति के चुनाव में अब करीब 15 फीसदी सदस्‍य चुनाव लड़ रहे हैं। समिति की 15 सदस्‍यीय कार्यकारिणी के लिए 41 लोग मैदान में हैं। मजेदार बात तो यह है कि इनमें से कई ने तो एकाधिक पदों के लिए नामांकन कराया है। पांच अगस्‍त को नामांकन पत्रों की स्‍क्रूटनी और नामांकन वापस करने के बाद सीधे 12 तारीख को मतदान होगा। वोटों की गणना के बाद चुनाव का परिणाम उसी दिन घोषित कर दिया जाएगा।

सिटी भास्‍कर छोड़ने वाले आई नेक्‍स्‍ट से जुड़े

 

इंदौर सिटी भास्कर की हालत बुरी तरह ख़राब है, फिर भी प्रबंधन सलोनी अरोरा के खिलाफ कोई उचित करवाई नहीं कर रहा है. यहाँ से एक-एक करके रिपोर्टर नौकरी छोड़ रहे हैं. सिटी भास्कर रिपोर्टर रचना सिंह, मंदीप, गजेन्द्र विशकर्मा, अभिषेक ने सिटी भास्कर को अलविदा कह के जागरण समूह के जल्द शुरू हो रहे टैबलाइड आई नेक्‍स्‍ट से नाता जोड़ लिया है.

राजीव सचान जी, आपने मेरे विचारों की चोरी की है : अरविंद

 

राजीव सचान जी, नमस्कार. मैंने दो दिन पहले आपको संलग्न लेख भेजा था. आपको लेख भेजने के लिए श्री शशांक शेखर त्रिपाठी ने आदेश किया था. जिसे मेरे खुद के ब्लॉग में लिंक http://kanpurianajaria.blogspot.in/2012/08/blog-post.html पर प्रकाशित किया जा चुका है.

डायरिया से पत्रकार भोला का निधन

 

राजपुरा : डायरिया के चलते राजपुरा के एक पत्रकार की मौत हो गई। पत्रकार स्वर्ण सिंह भोला जालंधर से प्रकाशित होने वाले एक पंजाबी दैनिक से जुड़े हुए थे। डायरिया से पीडि़त होने के बाद उन्हें बीती शाम राजपुरा के सिविल अस्पताल में दाखिल कराया गया था। वहां से डाक्टरों ने उन्हें चंडीगढ़ के सेक्टर-32 स्थित अस्पताल में रेफर कर दिया, जहां बीती देर रात उनका निधन हो गया। स्वर्गीय भोला अपने पीछे माता जगीर कौर, धर्मपत्नी अमरजीत कौर, बहन जसविंदर कौर व इकलौते बेटे गुरकीरत सिंह को छोड़ गए हैं। शनिवार को उनका अंतिम संस्‍कार किया गया। इकलौते बेटे गुरकीरत सिंह ने मुखाग्नि दी।

नईदुनिया से छजलानी परिवार बाहर

 

नईदुनिया का पर्याय बन चुका छजलानी परिवार अब अपनी पहचान पूरी तरह खो चुका है २ अगस्त से नईदुनिया कि प्रिंट लाइन से विनय छजलानी का नाम हट गया। इस नाम के हटने के साथ ही हिंदी पत्रकारिता का एक स्वर्णिम अध्याय समाप्त हो गया। करीब ६५ साल से नईदुनिया से जुड़ा छजलानी परिवार अब अखबारी पत्रकारिता से पूरी तरह बाहर हो गया। ५ जून १९४६ को पहली बार प्रकाशित हुए इस अखबार को छजलानी परिवार के बाबू लाभचंद छजलानी ने अपने दो साथियों बसंतीलाल सेठिया और नरेन्द्र तिवारी के साथ निकाला था। 

मशहूर गीतकार सुरेन्द्र नाथ ‘नूतन’का निधन

 

इलाहाबाद। मशहूर गीतकार सुरेंद्र नाथ‘नूतन’का शनिवार की सुबह निधन हो गया। सन 1930 में इलाहाबाद के फूलपुर कस्बे के एक कायस्थ परिवार में जन्मे श्री नूतन ने उच्च शिक्षा इलाहाबाद विश्वविद्यालय से हासिल की और हिन्दी साहित्य सम्मेलन से ‘साहित्य रत्न’की भी उपाधि अर्जित की। वे इलाहाबाद विश्वविद्यालय के वालीबॉल कैप्टन बने और कालान्तर में प्रदेश और देश का भी प्रतिनिधित्व किया। 

नागपंचमी पर इंडिया टीवी ने दिखाई फर्जी खबर

अपनी खबरों को लेकर हमेशा संदिग्‍ध विश्‍वसनीयता में रहने वाले इंडिया टीवी ने एक बार फिर फर्जी और गलत खबर चलाई है. मामला 24 जुलाई का है. इंडिया टीवी ने 24 जुलाई को खून के प्‍यासे गांव नाम से खबर चलाई थी. खबर यूपी के चंदौली जिले का था. इस खबर पर जो फुटेज चलाई गई वो एक साल पुराना था. जबकि इस साल ऐसा कोई आयोजन हुआ ही नहीं. 

हमार-फोकस वेतन विवाद : अब भूख हड़ताल की तैयारी में मीडियाकर्मी

हमार तथा फोकस टीवी में वेतन तथा पीएफ की मांग को लेकर चल रहा आंदोलन चौथे दिन भी जारी है. कर्मचारी हिसाब किताब क्‍लीयर होने तक फ्लोर छोड़ने को तैयार नहीं हैं. पर प्रबंधन के सेहत पर इससे कोई फर्क नहीं पड़ रहा है. प्रबंधन ने 11 अगस्‍त की तिथि मामला सुलझाने के लिए तय की है, उससे पहले वे कर्मचारियों की कोई बात सुनने को तैयार नहीं है. इसके बाद हमार-फोकस के कर्मचारी भूख हड़ताल करने की तैयारी कर रहे हैं. 

अनिल त्रिपाठी चला रहे पत्‍नी के नाम पर करोड़ों का समाचार उद्योग

 

अनिल त्रिपाठी द्वारा अपनी पत्नी के नाम से अनेक समाचार पत्रों का प्रकाशन कर समाचार उद्योग चलाया जा रहा है। अनिल त्रिपाठी द्वारा सालाना लगभग चार से पांच करोड़ रुपया केवल कागजों, स्याही और समाचार पत्रों के संचालन पर व्यय किया जाता है जिसकी पुष्टि भारत सरकार के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय में अनिता त्रिपाठी द्वारा प्रेषित वार्षिक विवरणी से की जा सकती है। 

राणा यशवंत का नाम और बदलाव की चाह ने महुआ न्‍यूजलाइन पहुंचा दिया था

 

नवंबर 2011 में जनसंदेश छोड़कर महुआ न्यूज़लाइन ज्वाइन करने से पहले मैं थोड़ा असमंजस में था। ढाई साल से जनसंदेश में काम कर रहा था, नौकरी सुरक्षित थी और थोड़े ही समय पहले इंक्रीमेंट भी हुआ था। इसके अलावा मीडिया से जुड़े कई शुभचिंतक महुआ को डूबता जहाज बताते हुए यूपी चैनल ना ज्वाइन करने की सलाह दे रहे थे। लेकिन राणा यशवंत जी का नाम और संस्थान बदलने की चाह ने मुझे महुआ न्यूज़लाइन पहुंचा दिया। 

न्‍याय मिलने तक लड़ाई जारी रहेगी : प्रियभांशु

निरूपमा पाठक को आत्महत्या के लिए प्रेरित करने के आरोपी प्रियभांशु ने जेल से बाहर आने के बाद पत्रकारों से कहा कि वह निर्दोष है और निरूपमा को न्याय मिलने तक संघर्ष जारी रखेगा। निरूपमा पाठक का मामला ऑनर किलिंग या आत्महत्या का मामला है, के सवाल पर उसने कहा कि अब मामला न्यायालय में है, इसलिये वह इसपर कुछ नहीं कहना चाहता परन्तु इस मामले में नाहक उसे घसीटा गया है, उसे न्यायालय पर भरोसा है। न्याय जरूर मिलेगा।

दो महीने बाद कोडरमा जेल से रिहा हुआ प्रियभांशु

: निरूपमा पाठक मामले में हाइकोर्ट से तीन दिन पहले मिली थी जमानत : पत्रकार निरूपमा पाठक हत्याकांड में प्रियभांशु रंजन गुरुवार को दो महीने बाद कोडरमा मंडल कारा से रिहा हो गया। झारखंड हाइकोर्ट से गत सोमवार को जमानत मिलने के बावजूद तीन दिन बाद उसकी रिहाई संभव हो पायी। निरूपमा हत्याकांड में पुलिस ने प्रियभांशु को भी अभियुक्त बनाया था। दो साल पुराने और बहुचर्चित निरुपमा पाठक की मौत के मामले में उसके प्रेमी प्रियभांशु रंजन ने 5 जून को स्थानीय अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया था। कोर्ट ने आत्मसमर्पण के बाद उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। 

यशवंत की जमानत याचिका पर नहीं हुई सुनवाई, 8 अगस्‍त की तिथि निर्धारित

भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत सिंह की जमानत याचिका पर शुक्रवार को भी सुनवाई नहीं हो सकी. 3 अगस्‍त को जमानत अर्जी पर सुनवाई तय थी, परन्‍तु वकीलों के हड़ताल की वजह से सुनवाई नहीं हो सकी. अदालत का कामकाज शुरू होने के बाद ही मेरठ में हाई कोर्ट की बेंच की स्‍थापना को लेकर वकीलों ने हड़ताल शुरू कर दी, जिसके बाद जिला जज ने जमानत पर सुनवाई की अगली तिथि 8 अगस्‍त निर्धारित कर दी है. 

जय हिंद टीवी चैनल पर पाबंदी लगाने की मांग

अमृतसर : एसजीपीसी के अध्यक्ष जत्थेदार अवतार सिंह मक्कड़ ने पिछले दिनों 100 वर्षीय प्रसिद्ध सिख धावक फौजा सिंह का कार्टून बनाकर सिखी से भद्दा मजाक करने वाले 'जय हिंद' टीवी चैनल के एंकर सुमित राघवन की निंदा करते हुए इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

वेणु राजमणि बने प्रणव मुखर्जी के प्रेस सचिव

 

राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की नयी मीडिया टीम की आज घोषणा कर दी गई है. भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी वेणु राजमणि उनके नये प्रेस सचिव बनाए गए हैं. राजमणि ने अर्चना दत्त का स्थान लिया है. जिन्हें सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय में भेजा गया है. पेशे से राजनयिक और 1986 के आईएफएस अधिकारी राजमणि संयुक्त सचिव थे तथा वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामले विभाग में अक्टूबर, 2010 से मल्टीलेटरल इंस्टीट्यूशन डिवीजन के प्रमुख थे.

जागरण के अवैध प्रकाशनों को भी मिलता है सरकारी विज्ञापन

जैसे-जैसे आरटीआई से सूचना मिल रही है वैसे-वैसे जागरण के फर्जीवाड़े तथा आर्थिक अपराधों की पोल खुलती जा रही है. आरटीआई से मांगी कई एक सूचना में जानकारी मिली है कि बिहार विज्ञापन प्राधिकृत समिति ने 2008 में दैनिक जागरण के भागलपुर तथा मुजफ्फरपुर के अवैध संस्‍करणों को भी राज्‍य विज्ञापन स्‍वीकृत सूची में शामिल किया है. जाहिर है कि जागरण के इन अवैध संस्‍करणों को पिछले कई सालों में करोड़ों रुपये के सरकारी विज्ञापन मिल चुके हैं. 

इंडिया न्‍यूज के रिसर्च टीम से 11 किए गए बाहर

इंडिया न्‍यूज से खबर है कि प्रबंधन ने रिसर्च टीम को बाहर का रास्‍ता दिखा है. प्रबंधन के इस निर्णय से ग्‍यारह कमर्चारी बेरोजगार हो गए हैं. प्रबंधन बीस हजार से ज्‍यादा सैलरी पाने वालों को भी बाहर का रास्‍ता दिखाने की तैयारी में हैं. सूत्रों का कहना है कि न्‍यूज एक्‍स का अधिग्रहण करने के बाद प्रबंधन को इंडिया न्‍यूज की रिसर्च टीम औचित्‍यहीन लगने लगी थी. जिसके बाद रिसर्च टीम से ग्‍यारह लोगों को बाहर कर दिया गया. अब न्‍यूज एक्‍स की रिसर्च टीम ही ग्रुप के सभी चैनलों को सेवाएं देगी. 

हमार-फोकस वेतन विवाद : तीसरे दिन भी न्‍यूज रूम में डंटे हैं कर्मचारी

मतंग सिंह के फोकस टीवी और हमारा टीवी से खबर है कि कर्मचारी बकाए वेतन, पीएफ की मांग को लेकर तीसरे दिन भी न्‍यूज रूम में जमे हुए हैं. हमार तथा फोकस टीवी के लगभग सौ कर्मचारी धरने पर हैं. प्रबंधन कर्मचारियों के बीच फूट डालकर उनकी एकता को तोड़ना चाह रहा है. खबर है कि कुछ चुनिंदा कर्मचारियों को अकेले में बुलाकर प्रलोभन भी दिया जा रहा है. प्रबंधन पिछली बार हुए आंदोलन में भी यही रणनीति अपना चुका है. इनमें से ज्‍यादातर तब प्रबंधन के साथ खड़े हो गए थे. अब इन्‍हें इसी बात कर डर सता रहा है कि कुछ साथी इनके आंदोलन को धोखा दे सकते हैं. 

दो और मामलों में कोर्ट में हाजिर हुए पीके तिवारी

 

: जेल में हुई भुप्‍पी की सामान्‍य प्रक्रिया पर समूह प्रमुख से भेंट : नोएडा : महुआ समूह के मुखिया पीके तिवारी को दो और मामलों में कोर्ट में हाजिर करा दिया गया है। यह मामले मौजूदा उस मामले से अलग है, जिसमें उन्‍हें पहले से सीबीआई की तरह से जेल भेजा जा चुका है। उधर खबर है कि महुआ के सलाहकार भूपेंद्र नारायण सिंह उर्फ भुप्‍पी ने आज तिहाड़ में बंद पीके तिवारी से भेंट की। हालांकि इस भेंट का ब्‍योरा अब तक पता नहीं चला है। लेकिन इतना तो बताया जाता है कि इस बातचीत का मकसद महुआ में आये ताजा संकट के लेकर ही हुआ। कहा गया है कि समूह में तोपची-चूहे के तौर पर मशहूर बैडमैन की विवादित सितारगंज चुनावी यात्रा और उसमें उनके संगी-साथी रहे लोगों के साथ ही लखनऊ में उनकी एक करीबी की करतूतों पर लम्‍बी से चर्चा हुई। वैसे एक और खबरों के मुताबिक महुआ समूह के पुराने कर्मचारियों की एक बैठक समूह के प्रबंधन के साथ अगले 20 तारीख को होनी है और उसके तहत अब यह समूह अपने लोगों को एकजुट करना चाहता है। जाहिर है कि प्रबंधन का मकसद महुआ समूह को अब बंदी की ओर बढ़ाना नहीं है।

कुमार्ग के राह पर रांची सन्मार्ग, तीन माह का वेतन बकाया

 

सन्मार्ग, रांची के कर्मियों का वेतन बकाया फिर तीन माह का हो गया है. जुलाई में अप्रैल माह का भुगतान करते वक़्त डाइरेक्टर प्रेम ने एक सप्ताह के अन्दर एक माह का और भुगतान करने का आश्वासन दिया था लेकिन फिर इसकी कोई सुगबुगाहट नहीं हुई. काफी मान-मंनौवल के बाद पुनर्वापसी के कारण सम्पादक बैजनाथ मिश्र प्रबंधन के प्रति कटु वचन बोलने में संकोच नहीं कर रहे और वेतन रोकने की प्रवृति की खुलेआम निंदा कर रहे हैं, लेकिन इस मुद्दे पर प्रेम से सीधे दो टूक बात करने से हिचक रहे हैं. 

रांची में न्‍यू इस्‍पात मेल का कार्यालय खुला

  रांची से खबर है कि जल्‍द ही न्‍यू इस्‍पात मेल का प्रकाशन होने जा रहा है. गुरुवार को रांची में अखबार के कार्यालय का उद्घाटन हुआ. न्‍यू इस्‍पात मेल का प्रकाशन झारखंड के जमेशदपुर से होता है. खबर है कि झारखंड के वरिष्‍ठ पत्रकार संजय समर को रांची में अखबार लांचिंग की जिम्‍मेदारी सौंपी …

अजमद सलीम ने आई नेक्‍स्‍ट के पेड न्‍यूज की शिकायत की

 

पेड न्‍यूज के लिए बदनाम दैनिक जागरण समूह के अखबार आई नेक्‍स्‍ट की शिकायत प्रेस काउंसिल के अध्‍यक्ष जस्टिस मार्कंडेय काटजू से की गई है. बरेली में जागरण कांग्रेस से मेयर पद के प्रत्‍याशी रहे अमजद सलीम एडवोकेट ने यह शिकायत की है. अजमद सलीम ने अपने पत्र लिखा है कि आई नेक्‍स्‍ट के लोगों ने उनसे छह लाख रुपये की मांग की. पैसे देने पर असमर्थता जताने पर पचास लाख रुपये लेकर दूसरे प्रत्‍याशी आईएस तोमर के पक्ष में बैठने को कहा गया. 

ईटीवी, आगरा से मुकेश कुमार का इस्‍तीफा

  आगरा में ईटीवी को बड़ा झटका लगा है. यहाँ के तेज तर्रार संवाददाता मुकेश कुमार ने ईटीवी से इस्तीफ़ा दे दिया है. छह साल से मुकेश कुमार ने ईटीवी को तमाम बड़ी ख़बरों में आगे रखा. माया सरकार के समय एमजी रोड पर दंगे की लाइव तस्‍वीरें हो या फिर आगरा में बम धमाके …

खबर चोर दैनिक प्रभात?

 

गाजियाबाद : गाजियाबाद के नवयुग मार्केट इलाके से प्रकाशित दैनिक प्रभात ने पत्रकारिता की तमाम मर्यादाओं को तारतार कर दिया है। दैनिक प्रभात ने गाजियाबाद से प्रकाशित स्थानीय सांध्य अखबारों की बासी व झूठन खबरों को अपने यहां हू-ब-हू छापना शुरू कर दिया है, यहां तक कि अखबार के करामाती सम्पादक चुराई गई खबर का शीर्षक बदलना भी उचित नहीं समझते। 

मीडियाकर्मियों पर हमले की सुनवाई शुरू

  इटानगर : अरुणाचल प्रदेश में मीडियाकर्मियों पर हमले के मामले की सुनवाई शुरू हो गई है। इसके लिए विशेष तौर पर प्रथम श्रेणी के दंडाधिकारी तालो पोटोम को नियुक्त किया गया है। मुख्यमंत्री नबाम तुकी ने मीडियाकर्मियों को आश्वासन दिया था कि उनपर हुए हमले की निष्पक्ष सुनवाई की जाएगी। 15 अप्रैल को अरुणाचल …

आपके धंधे का क्‍या हालचाल है मिस्‍टर न्‍यूजमैन?

 

नोएडा : तोतले से करा दिया विजय बहुगुणा का इंटरव्‍यू। भड़के बहुगुणा ने सुना दीं खरी-खरी। भागे न्‍यूजमैन सितारगंज में अपने के चेले के साथ। भाजपा की गाड़ी में मौज लिया, दर्जनों इंटरव्‍यू किया, गांधीछाप लाल नोटों वाली गड्डियां समेटीं और फर्जी फोनो स्‍टूडियो से दिया। तो यह सचाई है इस बड़े चैनल के बैड-मैन की, जिसके चलते ही इस चैनल का बंटाधार हो गया। और दिलचस्‍प बात यह है कि यही बैड-मैन अब खुद को न्‍यूजमैन बताते हुए पत्रकारिता और पत्रकारों का हितैषी बनने का डंका बजाता है। बहरहाल, सवाल तो अब उठेंगे ही कि आखिर इस चैनल को किसन तोड़ने की साजिशें कीं और डेढ़ सैकड़ा कर्मचारियों का खून किसने बहाया। 

महुआ : ये जीत के जश्न का नहीं…सोचने का वक़्त है

गरदन इज़्ज़त पर दिए फिरो..तब मज़ा यहां जीने का है/ तनकर बिजली का वार सहे..यह गर्व नए सीने का है। अगर…महुआ न्यूज़लाइन के पत्रकारों की टीम की सोच इन पंक्तियों जैसी नहीं होती… तो फिर जो नतीजे सामने आए वो कभी नहीं आते। अगर ये टीम कलम की धार से जनता के हक की आवाज बुलंद करने वाले तेवर की नहीं होती…स्वाभिमान से लबरेज न होती…हर जिम्मेदारी को प्राण-प्रण से पूरी करने वाली नहीं होती तो वो अपने अधिकारों की आवाज़ कभी नहीं उठा पाती। इस आंदोलन में किसकी जीत हुई किसकी हार..अब ये तय करना बड़ा मसला नहीं। मसला ये है कि क्या वाकई अब कोई मीडिया घराना ऐसा करने की हिम्मत नहीं करेगा? जवाब निराशाजनक ही मिलेगा…ऐसे में मुद्दा ये है कि क्या आगे भी पत्रकार अपने हक की आवाज को अपने दम पर उठाएंगे? इस बात की परवाह किए बिना क्या वे मिलकर लड़ेंगे ..कि कोई साथ आए न आए हम जीतकर रहेंगे। वो भी अपने दम पर?

12 अगस्‍त को होगा यूपी मान्‍यता प्राप्‍त संवाददाता समिति का चुनाव

 

: चुनाव कार्यक्रम घोषित : पिछले काफी समय से विवाद के चलते टल रहे उत्‍तर प्रदेश राज्‍य मुख्‍यालय मान्‍यता प्राप्‍त संवाददाता समिति का चुनाव कार्यक्रम घोषित कर दिया गया है. 2से 4 अगस्‍त तक नामांकन होगा. 5 अगस्‍त को नामांकन पत्रों की जांच होगी तथा 6 अगस्‍त को नामांकन पत्रों की वापसी होगी. मतदान तथा मतगणना 12 अगस्‍त को होगा. चुनाव किशोर निगम, दीपक गिडवाणी और राजकुमार सिंह की देखरेख में होंगे. नीचे चुनाव कार्यक्रम की कॉपी. 

ईमानदारी और सच्‍चाई के साथ अपनी भूमिका निभाई : राणा यशवंत

 

महुआ न्‍यूजलाइन को बंद करने की घोषणा के बाद उठा विवाद प्रबंधन के लचीले रुख के बाद लगभग समाप्‍त हो गया है. संस्‍थान ने कर्मचारियों को दो माह की बकाया सैलरी और एक महीने का कंपनसेशन चेक सौंप दिया है. शायद यह टीवी इंडस्ट्री का पहला चैनल है, जहां पर बकाया वेतन और कंपनशेसन दोनों दिया गया और पूरा मामला स्‍मूथली निपटा लिया गया. इस मसले पर महुआ के समूह संपादक राणा यशवंत की भूमिका भी काफी सराहनीय रही है. भड़ास4मीडिया ने राणा यशवंत से बातचीत की. पेश है बातचीत के प्रमुख अंश :

अवैध भारतीय चैनलों को यथाशीघ्र बंद किया जाए

 

इस्लामाबाद : पाकिस्तान के रक्षा प्रतिष्ठान ने सरकार ने मांग की है कि वह ‘पाकिस्तान के खिलाफ भारत के शत्रुतापूर्ण एजेंडे’को नियंत्रित करने के लिए अवैध भारतीय चैनलों को यथाशीघ्र बंद करे। मीडिया में आयी खबरों के मुताबिक, रक्षा प्रतिष्ठान ने ‘भारतीय दुष्प्रचार के हमले’ पर ‘पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया नियामक प्राधिकार’और सूचना मंत्रालय से लगातार ‘गंभीर चिंता’जाहिर की है, विशेष तौर पर उन कार्यक्रमों पर जो युवा पीढ़ी, पाकिस्तानी संस्कृति और राष्ट्रवाद को निशाना बनाते हैं।

कौन सुनेगा महुआ के स्ट्रिंगरों का दर्द?

यह पढ़ कर अच्छा लगा कि महुआ प्रबंधन ने नॉएडा में आंदोलनरत कर्मचारियों की मांगें मान ली है और वे उन्हें लंबित भुगतान करने को तैयार है. लेकिन इस खबर ने एक दर्द को भी महसूस कराया. हम सब स्ट्रिंगर्स का दर्द. वही स्ट्रिंगर्स जिनके दम पर महुआ न्यूज़ लाइन ने अपनी पहचान बनाई, लेकिन जब बारी आई इनसे सम्बंधित दिक्कतों की तो पहले तो किसी ने न सुनी, दबाव ज्यादा बढ़ा तो किसी को एक चेक दो हजार, किसी को चार हज़ार का थमा आगे जल्द ही पेमेंट मिलने की बात कही गई. 

प्रदेश टुडे ने उड़ाई भास्‍कर की खिल्‍ली

 

भोपाल से प्रकाशित प्रदेश टूडे ने दैनिक भास्कर को आईना दिखाया है. इससे पहले यह खबर भड़ास पर भी प्रकाशित हो चुकी है. दैनिक भास्कर की एक ही खबर को अलग अलग एडिशनों में अलग जानकारी के प्रकाशन की प्रदेश टुडे ने खिल्‍ली उड़ाई है. सूत्रों से पता चला है कि भास्कर प्रबंधन इस मामले में कोई भी कार्रवाई नहीं कर रहा है. क्योंकि हरदा जिले में बीते कुछ समय से भास्कर को एक अदद ब्यूरो की तलाश खत्म नहीं हो रही है. फिलहाल इटारसी के शैलेश
जैन ब्यूरो का काम देख रहे हैं.  

हिंदुस्‍तान, बरेली को लेकर प्रबंधन असमंजस में, सर्कुलेशन पर प्रभाव

 

बरेली हिंदुस्‍तान प्रबंधन के लिए मुश्किलों का सबब बन गया है. चर्चाओं तथा अफवाहों से जूझ रहे इस यूनिट की हालत लगातार बिगड़ती जा रही है. प्रबंधन इस तरह की डाइलेमा की स्थिति में है कि उसे समझ नहीं आ रहा है कि क्‍या किया जाए. पुख्‍ता खबर है कि स्‍थानीय संपादक आशीष व्‍यास जा चुके हैं. इसके बाद भी प्रबंधन इस महत्‍वपूर्ण यूनिट में किसी संपादक की नियुक्ति नहीं कर सकता है. रोज नए नए नाम के संपादक की चर्चा बरेली में हो रही है. ऐसी खबरों का असर अखबार के सर्कुलेशन के साथ टीम पर भी पड़ रहा है. 

यशवंत-जेल : गिरफ्तारी के विरोध में फरीदाबाद में पत्रकारों ने धरना दिया

: डरपोक हैं बड़े संस्‍थानों के पत्रकार – कुमार मधुकर : फरीदाबाद : पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत आज भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत की गिरफ़्तारी के विरोध में दर्जनों पत्रकारों ने जिला मुख्यालय के सामने धरना दिया. कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे भांडा फोड़ इंडिया के ग्रुप एडिटर कुमार मधुकर ने खेद प्रकट करते हुए कहा बड़े संस्‍थानों में काम करने वाले पत्रकार नम्बर वन डरपोक हैं. तभी वे इस आन्दोलन में खुलकर सामने नहीं आ रहे. 

राणा-भूप्‍पी के चलते ही डेढ़ सौ पत्रकार हुए बेरोजगार

 

नोएडा : लगातार दो रात-दिन तक महुआ समूह के सैकड़ों कर्मचारी नोएडा मुख्‍यालय में जमे रहे। भूखे-प्‍यासे। आशंकाओं के बीच झूलते। लेकिन महुआ मालिकों के साथ राणा-भुप्‍पी की जुगलबंदी चलती रही। और अब राणा-भुप्‍पी की इस जुगलबंदी ने एक नया राग छेड़ दिया है कि वे न्‍यूजमैन हैं और चाहे कुछ भी हो जाए, हमेशा पत्रकारों के साथ ही रहेंगे।

अरिदमन सिंह के घर चोरी : आगरा की पत्रकारिता में उभरा जातिवाद

 

आगरा उत्तर प्रदेश के परिवहन मंत्री अरिदमन सिंह के यहाँ की चोरी अब जातिवाद के रूप में उभर कर सामने आने लगी है, जिसमें आगरा के एसएसपी सुनील चन्द्र वाजपेयी व उनके बीच वर्चस्व की जंग छिड गयी है. वैसे भारतीय संविधान के अनुसार देश से राजा महाराजाओं का अस्तित्व बहुत पहले ही समाप्त हो गया है, लेकिन इक्कीसवीं शताब्दी में भी अखिलेश सरकार के कुछ ऐसे मंत्री हैं जो कि राजशाही ठाठ आज भी बरकरार रखे हुए हैं. 

बीएस लाली के खिलाफ क्‍लोजर रिपोर्ट दाखिल

 

नई दिल्‍ली : सीबीआई ने प्रसार भारती के पूर्व सीईओ बीएस लाली से संबंधित एक मामले में एक कोर्ट में क्लोजर रिपोर्ट दाखिल की है। सीबीआई ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि उसे लाली के खिलाफ धोखाधड़ी और कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए प्रसारण अधिकार देने में साजिश संबंधी कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले है। एजेंसी ने सीबीआई के विशेष जज तलवंत सिंह की कोर्ट में क्लोजर रिपोर्ट दाखिल की। इस रिपोर्ट पर 4 अगस्त को विचार किया जाएगा। सीबीआई ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि उसे लाली और दिल्ली स्थित जूम कम्युनिकेशन के एमडी वसीम देहलवी के खिलाफ पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं। देहलवी ब्रिटेन स्थित सिस लाइव के रेजीडेंट डायरेक्टर भी है।

कीमती विदेशी संपत्तियों पर सहारा की नजर

 

वैश्विक हॉस्पिटैलिटी उद्योग को कारोबार के प्रति अपनी गंभीरता का एहसास कराने के लिए सहारा समूह को महज दो सौदे करने पड़े। करीब 130 करोड़ डॉलर में दुनिया की दो प्रतिष्ठित होटल परिसंपत्तियां खरीदकर समूह ने हाई ऐंड हॉस्पिटैलिटी कारोबार में काफी हद तक व्यवस्थित दिख रहा है। लंदन में ग्रोजवेनर हाउस और न्यूयॉर्क में प्लाजा खरीद चुके सहारा समूह की नजर अब फ्रांस में महल परिसंपत्ति की तलाश में जुटा है। माना जा रहा है कि सुब्रत राय की अगुआई वाला सहारा समूह ब्रिटेन में मैरियट होटल का पोर्टफोलियो खरीदने के लिए भी बात कर रहा है। हालांकि इस बारे में भेजे गए सवालों का सहारा समूह ने कोई जवाब नहीं दिया।

सहारा खरीदेगा न्‍यूयार्क के प्‍लाजा होटल में मालिकाना हिस्‍सेदारी

 

सहारा ग्रुप न्यूयार्क के प्रतिष्ठित प्लाजा होटल में मालिकाना हिस्सेदारी 57 करोड़ डॉलर में खरीदने पर राजी हो गया है। इजरायल की अचल संपत्ति क्षेत्र की कंपनी एलाद प्रापर्टीज के मुताबिक प्लाजा होटल 105 साल पुराना लक्जरी होटल है और यह न्यूयार्क के सेन्ट्रल पार्क के पास है। होटल का मालिकाना हक फिलहाल एलाद प्रापर्टीज और सउदी कंपनी किंगड़ा होल्डिंग्स कंपनी के पास संयुक्त रुप से है। एलाद पर इजरायल के कारोबार यितझाक शुवा का नियंत्रण है। 

पत्रकार काजमी के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल

 

नई दिल्ली। इजरायली राजनयिक पर हुए हमले के मामले में पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार को पत्रकार सैयद मोहम्मद काजमी के खिलाफ तीस हजारी अदालत में चार्जशीट दाखिल कर दी। तकरीबन साढ़े पांच सौ पन्नों की चार्जशीट में पुलिस ने केवल काजमी को आरोपी बनाया है। इसके अलावा इस मामले में शामिल कई ईरानी नागरिकों को संदिग्धों की सूची में डाला है। पुलिस की अर्जी पर सुनवाई के बाद सीएमएम विनोद यादव की अदालत ने संदिग्धों से पूछताछ में सहयोग के लिए ईरान, जॉर्जिया, मलेशिया, बैंकाक समेत कई देशों को पत्र जारी किए हैं। 

टैम पर फिक्सिंग का आरोप, एनडीटीवी ने किया मुकदमा

टीआरपी को लेकर काफी समय से सवाल उठते रहे हैं. आलोचक पहले भी टीआरपी की विश्‍वसनीयता पर संदेह करते रहे हैं. अब खुद चैनल वाले टैम की विश्‍वसनीयता पर सवाल उठा रहे हैं. ताजा आरोप एनडीटीवी इंडिया ने लगाया है. एनडीटीवी प्रबंधन ने टैम को कोर्ट में घसीटा है. टैम पर आरोप लगाया गया है कि पैसे लेकर इस संस्‍था ने टीवी रेटिंग में फेरबदल किया है. यह मुकदमा न्‍यूयार्क स्‍टेट ला के तहत अमेरिका में दायर किया गया है. चैनल पिछले आठ सालों (2004-12) में टैम द्वारा जारी रिपोर्ट व्‍यूअरशिप डाटा से खुश नहीं है. एनडीटीवी ने निल्‍सन और कंटर मीडिया पर मुकदमा किया है. उल्‍लेखनीय है कि इंडिया में टीआरपी मापने वाली टैम इंडिया इंन्‍हीं दोनों कंपनियों का संयुक्‍त वेंचर है. 

मु्गलसराय में तेल माफियाओं ने मीडियाकर्मियों पर हमला किया, मामला दर्ज

: दो आरोपियों की हुई गिरफ्तारी : मुगलसराय से खबर है कि एक घटना का कवरेज करने पहुंचे मीडियाकर्मियों की तेल माफियाओं ने जमकर धुनाई की. इतने से भी मन नहीं भरा तो पत्रकारों को दौड़ा दौड़ा कर पीटा गया. पीटे जाने से नाराज पत्रकार अलीनगर थाना पहुंच कर धरना दिया. पत्रकारों के पीटे जाने की खबर सुनकर डीएम व एसपी भी मौके पर पहुंचे. पत्रकारों की तहरीर पर पुलिस ने मामला दर्ज कर दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. मामले की जांच की जा रही है. 

चार महीने के बकाए वेतन को लेकर हमार एवं फोकस टीवी के कर्मी भी आंदोलित

: महीनों से ब्‍लैक आउट चल रहे हैं समूह के चैनल : पटना कार्यालय पर ताला लगा : महुआ न्‍यूज लाइन के बाद अब पहले से ही बदहाल चल रहे मतंग सिंह के फोकस टीवी और हमारा टीवी के कर्मचारी भी बगावत पर उतर गए हैं. इन लोगों को मार्च के बाद से सैलरी नहीं मिली है. समूह के सारे चैनल भी लम्‍बे समय से ब्‍लैक आउट चल रहे हैं. चैनल क्‍यों चल रहा है और क्‍यों चलाया जा रहा है, ये भगवान को भी नहीं पता है. बैंक भी रिकवरी आदेश निकाल चुका है. खबर है कि अब दोनों चैनलों के लगभग सौ कर्मचारी प्रबंधन से वेतन की मांग को लेकर आंदोलन की रणनीति तैयार कर रहे हैं. 

बरेली में आई नेक्‍स्‍ट के फोटोग्राफर टोनी समेत कई पर मामला दर्ज

 

बरेली के सदर थाने में आई नेक्‍स्‍ट के कई लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है. यह मुकदमा बरेली में कांग्रेस के मेयर पद के प्रत्‍याशी एडवोकेट अमजद सलीम ने दर्ज कराई है. पुलिस ने आई नेक्‍स्‍ट के एक अज्ञात अधिकारी, फोटोग्राफर टोनी तथा कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. मामले की जांच की जा रही है. इस एफआईआर के बाद से ही जागरण समूह के इस वेंचर के लोगों में हड़कम्‍प मचा हुआ है. 

महुआ प्रबंधन ने मानी गलती, सौ फीसदी मांग कबूल

 

महुआ न्यूज़लाइन के पत्रकारों की लड़ाई जीत की तरफ है। हो सकता है देर रात तक ये ख़बर मिले कि उनकी सौ फीसदी मांगें मान ली गई हैं। प्रबंधन के दूत ने धरने पर बैठे पत्रकारों के बीच डेढ़ बजे दिन में इसका ऐलान किया है। प्रबंधन ने अपनी तरफ से हुई किसी भी गलती के लिए बिना शर्त खेद जाहिर किया और कहा कि हम चाहते हैं कि हर गतिरोध आज दूर हो जाए और आपकी मांग हमने स्वीकार करने का फैसला किया है। जिसके बाद महुआ न्यूजलाइन के पत्रकारों ने इसका स्वागत किया। लेकिन ये भी साफ कर दिया कि जब तक बकाए वेतन की राशि अकाउंट में कैश नहीं होती न्यूज़रूम में उनका सांकेतिक धरना जारी रहेगा। और उनकी तरफ से ऐसा कुछ नहीं होगा जिससे परिसर में चल रहे महुआ समूह के बिहार में नंबर वन चैनल हुआ न्यूज़ बिहार-झारखंड के प्रसारण में कोई दिक्कत नहीं हो।

हिंदुस्‍तान विज्ञापन घोटाला : हिंदुस्‍तान विज्ञापन घोटाले का मास्‍टरमाइंड कौन?

मुंगेर। विश्व के अब तक के सनसनीखेज दैनिक हिन्दुस्तान विज्ञापन घोटाले में बिहार के पुलिस अधीक्षक पी0 कन्नन के निर्देशन में उपाधीक्षक अरूण कुमार पंचालर ने जो पर्यवेक्षण -टिप्पणी समर्पित की है. उस पर्यवेक्षण-टिप्पणी की पृष्ठ संख्या-03 ने विश्व के समक्ष उजागर कर दिया है कि भारत सरकार और बिहार सरकार सहित अन्य राज्यों के खजानेको लूटने के लिए भारत का कारपोरेट प्रिंट मीडिया किस हद तक नीचे गिर सकता है, मीडिया हाउस किस हद तक जालसाजी, फरेबी और धोखाधड़ी कर सकता है? हम यह भी कह सकते हैं कि भारत सरकार और राज्य सरकारों के खजाने को बुद्धि से लूटने के हथकंडे भारत के इन कारपोरेट प्रिंट मीडिया घराने से सीखने की दूसरों को जरूरत है।

अन्‍ना ने मीडिया से बदसलूकी के लिए माफी मांगी

 

जनलोकपाल आंदोलन के समर्थकों द्वारा मीडिया के साथ हुई बदसलूकी के लिए अन्‍ना हजारे ने मीडिया से हाथ जोड़कर माफी मांगी है. अन्‍ना ने कहा कि मीडिया के साथ जिस तरीके से बदसलूकी की बात सामने आई है वह निंदनीय है और इसके लिए हम माफी मांगते हैं. साथ ही अन्‍ना ने कहा कि अगर फिर से मीडिया के साथ किसी तरीके की बदसलूकी हुई तो वह अपना अनशन यही खत्‍म कर देंगे.

महुआ ग्रुप की इमोशनल ब्लैकमेलिंग : आंदोलनरत पत्रकारों का दो टूक जवाब

 

महुआ न्यूज़लाइन के पत्रकारों के आंदोलन का दूसरा दिन यादगार रहा। न्यूज़रूम में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे पत्रकारों ने अपनी धार और तेज़ कर दी है। सोमवार को पूरे दिन आंदोलनरत पत्रकार ज़मीन पर बैठे थे और वे इस बात अड़े थे कि किसी भी स्तर की बातचीत न्यूज़रूम में सबके बीच होगी। प्रबंधन के दूतों ने पूरी कोशिश की कि पत्रकारों के प्रतिनिधि बंद कमरे में महुआ समूह की वर्तमान प्रमुख मीना तिवारी से बात करें। लेकिन आर-पार की लड़ाई लड़ रहे पत्रकारों ने इससे साफ इनकार कर दिया। आखिरकार प्रबंधन को झुकना पड़ा।

मुझ पर दबाव बनवाने के लिए भिजवाया गया नोटिस : अर्चना यादव

अनिल त्रिपाठी और सतीश प्रधान द्वारा विगत कई दिनों से उनके द्वारा की गयी छेड़खानी का विरोध एवं दर्ज मुकदमा वापस लेने हेतु अनेक प्रकार से मेरे ऊपर मानसिक दवाब बनाया जा रहा था. जब मेरे द्वारा मुकदमा वापस नहीं लिया गया तो दिनांक 30 जुलाई 2012 को मेरे निवास पर किसी रेहान मुबस्सिर एडवोकेट से मुझे नोटिस भिजवाया गया, जिसमें किन्हीं आसिफ राजा जाफिरी, विजय शर्मा, सचिदानंद गुप्ता उर्फ़ सच्चे व हिसामुल सिद्दीकी पर ये आरोप लगाया गया है कि उन्होंने मुझे एक मोटी रकम दी है. 

अन्‍ना समर्थकों का मीडिया पर हमला, बीईए ने माफी मांगने को कहा

 

नई दिल्ली। टीम अन्ना के वरिष्ठ सदस्य शांति भूषण द्वारा मीडिया पर पक्षपात का आरोप लगाने के बाद भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई ने एक नया मोड़ ले लिया है। शांति भूषण के बयान के बाद अन्‍ना समर्थकों ने मीडियाकर्मियों से बदसलूकी की तथा नारे लगाए। इसके बाद से अब लड़ाई टीम अन्ना और मीडिया के बीच भी होती दिखाई दे रही है। 

बीच रास्‍ते में नहीं छोड़ सकता अपनी टीम को : राणा यशवंत

  महुआ न्यूज़ के समूह संपादक राणा यशवंत के न्यूज़ 24 जाने की ख़बरें हर तरफ चर्चा में हैं। लेकिन महुआ न्यूज़लाइन के आंदोलनरत पत्रकारों को संबोधित करते हुए राणा यशवंत ने कहा कि ऐसे वक्त में जब हमारी पूरी टीम मुश्किल में है मैं इन्हें बीच रास्ते में नहीं छोड़ सकता। उन्होंने दो टूक …

असम के चैनल ने आरोप लगाने वाले संगठनों के खिलाफ दर्ज कराई प्राथमिकी

 

असम के गुवाहाटी में एक युवती के साथ खुलेआम छेड़छाड़ के लिए भीड़ को उकसाने के मामले में एक अन्य टीवी पत्रकार का नाम सामने आया है। हालांकि टीवी चैनल ने इस आरोपी पत्रकार के साथ किसी प्रकार के संबंध से इनकार किया है और उन संगठनों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई, जिन्होंने उन पर उंगली उठाई है। इस मामले में पहले ही एक स्थानीय न्यूज चैनल के पत्रकार को गिरफ्तार किया जा चुका है। 

अमरपाल सिंह वर्मा का राजस्थान पत्रिका से इस्तीफा

 

राजस्थान पत्रिका के जयपुर मुख्यालय में मुख्य उप संपादक अमरपाल सिंह वर्मा ने आज राजस्थान पत्रिका से त्यागपत्र दे दिया। उन्होंने पत्रिका के प्रबंध निदेशक नीहार कोठारी को भेजे त्यागपत्र में इस्तीफे के लिए डिप्टी एडिटर भुवनेश जैन को जिम्मेदार ठहराया है। वर्मा का कहना है कि अपने खिलाफ पत्रिका प्रबंधन तक पहुंचे किसी पत्र को लेकर भुवनेश जैन उनसे कई सालों से नाराज थे और परेशान कर रहे थे। 

महुआ न्‍यूज रूम में अनशन, ठप हो सकता है महुआ बिहार-झारखंड का प्रसारण

 

बकाए वेतन और एक महीने की क्षतिपूर्ति की मांग पर महुआ प्रबंधन के अड़ियल रवैये के बाद अब महुआ न्यूज़लाइन के पत्रकारों ने भी आर पार की लड़ाई का ऐलान कर दिया है। सोमवार की दोपहर से न्यूज़रूम में चैनल से जुड़े दो वरिष्ठ पत्रकार अन्न- जल त्याग कर अनशन पर बैठ गए हैं और उनके साथ न्यूज़लाइन का पूरा परिवार खड़ा है। ये महज़ शुरुआत है अगर प्रबंधन अपने अड़ियल रवैये पर कायम रहता है तो हर दिन ये संख्या बढ़ती जाएगी। 

टीवी चैनल के स्‍टूडियो में आग, पांच की मौत

  लाहौर : लाहौर के एक टीवी स्टूडियो में सोमवार सुबह आग लगने से कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई और 12 घायल हो गए। यह जानकारी एक मीडिया रिपोर्ट में दी गई है। जियो न्यूज ने खबर दी है कि गढ़ी शाहू क्षेत्र में एक निजी टीवी चैनल के स्टूडियो में …

क्‍या राणा यशवंत को रजनीश कुमार से सीख नहीं लेनी चाहिए?

खबर है कि महुआ न्यूज लाइंन बंद हो गया है। एक और चैनल जो हुआ है मैनजमेंट के कोप का शिकार। महुआ से पहले सीएनईबी चैनल भी बंद हो चुका है। तकरीबन 300 से ज्यादा कर्मचारी अब तक सड़कों की खाक छान रहे हैं। लगातार बंद हो रहे चैनल कई सवालों को खड़ा करता है। बड़े बड़े उद्योग घराने बड़े ही ताम झाम के साथ चैनल खोलते हैं। मैनजमेंट को लगता है कि चैनल के खुलते ही ही उनके बिजनेस में चार चांद लग जाएगा और समाजिक रूतबा अगल से। लेकिन उन्हे ये सफलता चंद दिनों में ही चाहिए होती है। 

फोन हैकिंग मामले में एक और पत्रकार की गिरफ्तारी

 

लंदन : ब्रिटेन में बहुचर्चित फोन हैकिंग मामले में एक और पत्रकार की गिरफ्तारी की गई है। बीते साल मीडिया में फोन हैकिंग विवाद के सामने आने के बाद ‘आपरेशन ट्यूलेटा’शुरू किया गया था। इसी अभियान के तहत पत्रकार की गिरफ्तारी की गई है। अभी पत्रकार की पहचान सार्वजनिक नहीं हो पाई है।

पत्रकार काजमी मामले में कोर्ट ने किया हस्‍तक्षेप से इनकार

 

नई दिल्ली : इजरायली दूतावास कार विस्फोट मामले में तीस हजारी कोर्ट ने पत्रकार काजमी की अपील पर निचली अदालत के फैसले पर हस्तक्षेप करने से इन्कार कर दिया। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एसएस राठी ने कहा कि मामले की सुनवाई दिल्ली उच्च न्यायालय में नौ अक्टूबर को होनी है। वे उच्च न्यायालय का आदेश आने तक मामले में हस्तक्षेप नहीं कर सकते। लिहाजा, वे अगली सुनवाई 12 अक्टूबर को करेंगे।

अनुज पोद्दार के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी

 

लखनऊ। सम्‍मन का तामीला होने के बावजूद अदालत के समक्ष उपस्थित नहीं होने पर मुख्‍य न्यायिक मजिस्टे्रट राजेश उपाध्याय ने हिन्दी दैनिक जनसंदेश टाइम्‍स के प्रबंध निदेशक अनुज पोद्दार के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है। इससे पहले अदालत ने निदेशक के खिलाफ जमानती वारंट जारी किया था। इस मामले में अदालत ने अखबार की एचआर हेड रिया चक्रवर्ती के खिलाफ भी जमानती वारंट जारी किया है। अदालत ने यह आदेश अखबार के विधि संवाददाता रहे अम्बरीष श्रीवास्तव की ओर से दाखिल परिवाद पर दिया है। मामले की सुनवाई 27 अगस्त को नियत है।

उत्तराखंड : आज तक के रिपोर्टर और कैमरामैन के खिलाफ मामला दर्ज

 

देहरादून। देहरादून में आज तक चैनल के संवाददाता और कैमरामैन के खिलाफ पुलिस चौकी में घुसकर हंगामा मचाने का मामला दर्ज किया गया है। आज तक के संवाददाता दिलीप रौठोर और कैमरामैन मुजम्मिल के खिलाफ देहरादून के कोतवाली थाना क्षेत्र के धारा चौकी में मामाला दर्ज किया गया है। मामला खुद धारा चौकी इंचार्ज पीडी भट्ट ने दर्ज कराया है।

कर्मचारियों के मजबूरियां गिनाने के बाद भी नहीं पिघलीं मीना तिवारी

 

महुआ न्यूज़लाइन बंद करने के ऐलान के 25 घंटे बाद महुआ ग्रुप की निदेशक मीना तिवारी बेरोज़गार हुए कर्मचारियों से मुखातिब हुईं। कर्मचारियों को उम्मीद थी कि पढ़ी-लिखी, शालीन सी दिखनेवाली मीना तिवारी कर्मचारियों के साथ संवेदनशील और सौहार्दपूर्ण तरीके से बात करेंगी लेकिन उनका रवैया उम्मीदों के विपरीत और अहंकार से भरा था। उन्होंने बात की शुरुआत में ही कहा कि –‘हम तुम्हे एक महीने का वेतन तो दे रहे हैं ना… फिर क्यों ये तमाशा कर रहे हो, तुमलोगों को शर्म नहीं आती। 

न्‍यूजमैन हूं और अपनी पूरी टीम के साथ रहूंगा : राणा यशवंत

 

: और ऐसे बंद हो गया महुआ न्‍यूज लाइन : हां, महुआ न्यूज़लाइन चैनल को बंद करने का ऐलान कर दिया गया है। नोएडा के दफ्तर में न्यूज़रूम से यूपी-उत्तराखंड चैनल के सभी पत्रकारों को एचआर के कॉन्फ्रेंस रूम में बुलाकर चैनल को बंद करने की घोषणा की गई। प्रबंधन की तरफ से एचआर विभाग की प्रमुख संगीता और महुआ न्यूज़ के समूह संपादक राणा यशवंत ने इसका ऐलान किया। प्रबंधन ने अपनी मजबूरियों की फेहरिस्त गिनाई जिस पर उसके प्रतिनिधि को सवालों की बौछार से रू-ब-रु होना पड़ा लेकिन जवाब उनके पास नहीं था। 

महुआ न्यूज़ लाइन के कर्मचारियों का अनिश्चितकालीन धरना जारी

 

महुआ न्यूज़चैनल के कर्मचारियों ने पहली रात न्यूज़रूम में बिता ली है। मस्त माहौल में। अब दूसरे दिन आंदोलन को निर्णायक मोड़ पर पहुंचाने की तैयारियां परवान पर हैं। जिसके तहत सामाजिक क्षेत्र से जुड़े लोगों, वरिष्ठ पत्रकारों, पत्रकार यूनियनों और राजनीतिक दलों के मुखर नेताओं को महुआ न्यूज़चैनल के न्यूज़रूम में आंदोलनरत पत्रकारों को संबोधित करने बुलाया जा रहा है। इनमें एनबीए के प्रतिनिधि भी शामिल हैं। ताकि न्यूज़चैनल खोलकर अचानक इस पर ताला लगानेवाले धन्नासेठों की आगे से हिम्मत न हो कि वो दूसरों को उसका हक दिलाने की लड़ाई लड़नेवाले पत्रकारों के साथ ऐसा सलूक फिर कर सकें।

जालौन से शीघ्र प्रकाशित होगा हिंदी दैनिक बुंदेलखंड न्यूज़

 

बुँदेलखण्‍ड क्षेत्र से जल्‍द ही 'बुंदेलखंड न्यूज़' नाम के हिंदी दैनिक का प्रकाशन शुरू होने जा रहा है। यह अखवार जालौन जनपद के उरई मुख्यालय से प्रकाशित किया जाएगा जो बारह पेज का रंगीन अखबार होगा, जिसका प्रकाशन दैनिक जागरण झाँसी एडिशन के पूर्व ब्यूरो चीफ मुकेश उदैनिया करने जा रहे हैं। यह अखबार उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र जालौन, झाँसी, ललितपुर, महोबा, हमीरपुर, बांदा, चित्रकूट, औरैया, कानपुर देहात, कानपुर, इटावा के अलावा मध्य प्रदेश के दतिया, भिंड में प्रसारित किया जायेगा। 

एक ही खबर को दो बार छाप रहा बठिंडा भास्‍कर

 

दैनिक भास्‍कर बठिंडा का बुरा हाल हो रखा है। रिपोर्टरों के टोटे के चलते भास्‍कर के बठिंडा सिटी भास्‍कर के इतने बुरे दिन आ गए हैं कि पहले इंटरनेट से खबरें उठाकर उन्‍हें बठिंडा की क्रेडिटलाइन से छापने के बाद अब समाज सेवी संगठनों की तरफ से भेजे जाने वाले प्रेस नोट की खबरों को भी डबल छापा जा रहा है। बताया जा रहा है कि भास्‍कर की सिटी टीम में सिटी इंचार्ज समेत अब सिर्फ चार रिपोर्टर ही रह गए हैं और उन पर खबरों की संख्‍या बढ़ाने का दबाव डाला जा रहा है। जिसके चलते वह एक ही खबर को अलग- अलग तरीके से परोसकर आगे भेज रहे हैं और उन्‍हें प्रकाशित भी किया जा रहा है। 

आजतक के रिपोर्टर अमित के खिलाफ मुकदमा दर्ज

 

: यूपी में एक और पत्रकार पुलिसिया उत्‍पीड़न का शिकार : यूपी में गुंडाराज से ज्‍यादा पुलिस का आतंक राज कायम हो गया है. पत्रकारों का यूपी में जमकर पुलिसिया उत्‍पीड़न हो रहा है. ताजा मामला झांसी का है. झांसी में आजतक के रिपोर्टर अमित श्रीवास्‍तव पर पुलिस ने दो मुकदमे दर्ज किए हैं. यह मुकदमे एक महिला ने दर्ज कराई है. जबकि अमित से उस महिला का सीधे सीधे कुछ भी लेना देना नहीं है. 

टीओआई ने किया खुलासा : लगभग दिवालिया हो चुका है डेक्‍कल क्रानिकल

 

HYDERABAD: Deccan Chronicle Holdings Limited (DCHL) has liabilities running into thousands of crores of rupees that may lead to the erosion of the entire net worth of the company and make it commercially unviable and insolvent, Industrial Finance Corporation of India Ltd (IFCI) has said in the winding-up petition which it has filed in the high court against the Hyderabad-based company.

पत्रकार पर निराधार आरोप से गुवाहाटी प्रेस क्लब में हंगामा

 

गुवाहाटी। जीएस रोड कांड में एक और पत्रकार के शामिल होने का दावा करने वाले तीन संगठनों के प्रतिनिधियों को रविवार को संवादकर्मियों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा। संगठन के पदाधिकारी अपने आरोप के पक्ष में पुख्ता सबूत और तर्क नहीं दे सके। जिसके बाद संवाददाताओं खासकर आरोपी चैनल डीवाई 365 के संवाददाताओं की संगठन के पदाधिकारियों के साथ भारी बक-झक हो गई। बाद में मामले को देखते हुए गुवाहाटी प्रेस क्लब को पुलिस बुलानी पड़ी। पुलिस ने बड़ी मशक्कत से संगठन के पदाधिकारियों को बचा कर बाहर ले गई। 

क्‍या न्‍यूज24 जाएंगे राणा यशवंत?

महुआ समूह के चेयरमैन पीके तिवारी और उनके पुत्र की गिरफ्तारी के बाद महुआ न्यूज़ लाइन यूपी चैनल पर ताला लग गया है। चैनल के पूरे स्टाफ को दो माह से वेतन नही दिया गया है। ब्यूरो चलाने वाले सभी स्टाफ रिर्पोटर सैलरी के अलावा पिछले तीन माह के बकाया ऑफिस खर्च को लेकर भी परेशान हैं। सभी ब्यूरो कार्यालय किराये की जगहों पर चल रहे थे और किराया ना मिलने से सभी ब्यूरो प्रमुखों के सामने एक नई दिक्कत और खड़ी हो गयी है। महुआ न्यूज़ यूपी में कुछ ब्यूरो प्रमुख तो ऐसे हैं जो अच्छे मीडिया संस्थानों को छोड़कर राणा यशवंत के कहने पर यहां आये थे। हालात ये हैं कि जब कोई ब्यूरो चीफ असाइनमेंट हैड़ या ग्रुप एडिटर राणा यशवंत से बात करने की कोशिश कर रहा है तो वो फोन तक पिक नही कर रहे हैं।

महुआ न्‍यूजलाइन पर ताला, डेढ़ सौ कर्मचारी बेरोजगार

 

: नोएडा मुख्‍यालय के एचआर में देर शाम तक कर्मचारियों ने किया हंगामा : बड़े तोपचियों ने पहले ही कर्मचारियों तक लीक कर दिया था प्रबंधन का फैसला : नोएडा : महुआ समूह को लेकर आशंकाएं आखिरकार सच साबित हुईं। महुआ न्‍यूज लाइन नामक चैनल बंद कर दिया गया है। करीब डेढ सौ कर्मचारियों को संस्‍थान से निकाला दिया गया है। देर शाम तक नोएडा मुख्‍यालय में एचआर विभाग के दफ्तर में इन कर्मचारियों ने हंगामा किया। उधर पता चला है कि प्रदेश के कई मंडल मुख्‍यालयों पर कर्मचारियों ने इस तालाबंदी की भनक लगते ही अपने दफ्तर में मौजूद सारा साज-सामान जब्‍त कर लिया है। इन कर्मचारियों का कहना है कि जब तक उनके बकाया देयकों का भुगतान नहीं किया जाएगा, वे दफ्तर का सामान वापस नहीं करेंगे। 

गूगल लाया सबसे तेज नेट कनेक्शन

 

लंदन : इंटरनेट के सरताज गूगल ने सबसे तेज गति से नेट एक्सेस का रास्ता निकाल लिया है। दुनिया में सबसे गति वाला गूगल फाइबर इंटरनेट कनेक्शन प्रति सेकेंड एक गीगा बाइट की रफ्तार से चलेगा। यानी पलक झपकते ही 1024 मेगा बाइट डाटा आप एक्सेस कर लेंगे। एक गीगा बाइट में 1073741827 बाइट्स होते हैं। डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार गूगल की नई इंटरनेट सेवा रफ्तार के लिए ऑप्टिकल फाइबर का इस्तेमाल करती है। इससे परंपरागत वेब सेवाओं से कहीं अधिक रफ्तार से पूरी दुनिया में आप इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

शैक्षिक चैनलों को एनओसी देने को तैयार नहीं सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय

 

नई दिल्ली : सूचना संचार तकनीक ने पूरी दुनिया में पढ़ाई-लिखाई की राह भले ही आसान कर दी हो, लेकिन भारत में यह अब भी कम बड़ी चुनौती नहीं है। तभी तो सरकार चाहकर भी सेटेलाइट के जरिये उच्च शिक्षा, खासतौर से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की कोशिशों को हकीकत में नहीं बदल पा रही है। आलम यह है कि पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर 50-60 शैक्षिक टीवी चैनलों को शुरू करने की मुहिम प्रधानमंत्री कार्यालय के दखल के बाद भी अब तक परवान नहीं चढ़ सकी है। 

मृदुल त्‍यागी का आई नेक्‍स्‍ट से इस्‍तीफा

  आई नेक्‍स्‍ट, मेरठ से खबर है कि सीनियर र्जनलिस्‍ट मृदुल त्‍यागी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे आई नेक्‍स्‍ट के सभी एडिशनों का न्‍यूज कोआर्डिनेशन देख रहे थे. मृदुल की गिनती तेजतर्रार पत्रकारों में होती है. वे अमर उजाला, हिंदुस्‍तान एवं जागरण को सेवा देने के बाद आई नेक्‍स्‍ट से जुड़े थे. उनको लेकर …

सपा का फैसला पत्रकारिता पर हमला है : शाहिद सिद्दीकी

 

नई दिल्ली। नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू लेने पर समाजवादी पार्टी से निकाले गए शाहिद सिद्दीकी ने मुलायम सिंह पर पलटवार किया है। एक अखबार से बातचीत में सिद्दीकी ने कहा कि मुलायम हकीकत से अनजान हैं। शाहिद के मुताबिक, एसपी सुप्रीमो मुस्लिम मन को नहीं समझते और उन्हें वोट हासिल करने के पुराने हथकंडे छोड़कर अपने वादों को पूरा करना चाहिए। 

दैनिक भास्कर में एक खबर दो आँकड़े

 

मध्यप्रदेश के हरदा जिले के खिरकिया में भारी बारिश की खबर दैनिक भास्कर के ही संस्करणों में अलग-अलग आँकड़ों में प्रकाशित की गई। इटारसी संस्करण के प्रथम पेज पर प्रकाशित खबर में लिखा है कि खिरकिया में 10 घंटे में 9 इंच बारिश, जबकि इंदौर सिटी के मुख्य पेज पर उसी खबर में लिखा है 24 घंटे में 9 इंच बारिश। इसी प्रकार खिरकिया के पुलआउट के प्रथम पेज पर लिखा है कि आधा खिरकिया कमर तक डूबा, जबकि जबलपुर के प्रथम पेज पर लिखा है कि खिरकिया में सड़क पर 6 फीट तक पानी। अब समझ में यह नहीं आया कि दैनिक भास्कर समाचार पत्र में इस प्रकार की गलती, वह भी पेज 1 पर कैसे हुई। 

आप ही बताएं- नेशनल न्यूज़ चैनल्स इन्हें क्यों कहा जाए?

 

हिन्दुस्तान की जनसंख्या १२० करोड़ के करीब. कुल राज्य ३५ (७ केंद्र-शाषित सहित). पर तवज्जो सिर्फ दिल्ली-एन.सी.आर. और मुंबई की खबरों को. जी हाँ- ये हाल है भारत के न्यूज़ चैनल्स का जो अपने साथ "नेशनल न्यूज़ चैनल" का टैग लगाते हैं. न्यूज़ का सामान्य अर्थ इस तरह से लिया जा सकता है – नॉर्थ+ईस्ट+वेस्ट+साउथ की खबरों का प्रसारण. पर कौन सा ऐसा चैनल है जो इस परिभाषा के करीब भी है? कभी-कभी अंग्रेजी चैनल्स, एन.डी.टी.वी. इंडिया और ज़ी न्यूज़ जैसे चैनल इस और कदम बढ़ाते दिखते हैं. पर "कभी-कभी" एक औपचारिकता का नाम होता है. ज़्यादातर चैनल्स तो इस "कभी-कभी" से भी कभी इत्तेफाक नहीं रखते. क्यों? 

दैनिक भास्कर पलामू कार्यालय में दो लाख का घपला

 दैनिक भास्कर के मेदिनीनगर (पलामू) कार्यालय से प्रकाशित विज्ञापन का दो लाख रुपये घपला किए जाने का मामला प्रकाश में आया है. मेदिनीनगर कार्यालय के प्रभारी राणा अरूण सिंह ने अपने चैनपुर प्रखंड रिर्पोटर धर्मेंद्र प्रसाद जायसवाल को एड एजेंसी दिलवा दी. इस एजेंसी द्वारा प्रकाशित विज्ञापन का दो लाख रुपए विज्ञापन विभाग के जीएम व मैनेजर अकाउंटस के पास नहीं पहुंचा. भास्कर के दोनों पदाधिकारियों ने संबंधित लोगों के पास नोटिस जारी कर दो लाख रुपये की मांग की है. 

कलिंग सेना ने हिंदुस्‍तान टाइम्‍स की प्रतियां जलाई

 

भुवनेश्वर : अंग्रेजी अखबार हिन्दुस्तान टाइम्स में राष्ट्रपति चुनाव के संबंध में ओडिया विरोधी लेख प्रकाशित करने को लेकर प्रदेश में तीखी प्रतिक्रिया हुई है। राजधानी भुवनेश्वर में कलिंग सेना के बैनर तले प्रदर्शनकारियों ने हिन्दुस्तान टाइम्स की प्रतियां जलाकर अपने गुस्से का इजहार किया। कलिंग सेना की ओर से सैकड़ों कार्यकर्ता मास्टर कैंटीन चौक में जमा हुए और हिन्दुस्तान टाइम्स की प्रतियां जलाई। 

फिर निकलेगी ज्ञानरंजन की ‘पहल’

 

हिंदी साहित्य जगत की अनिवार्य पत्रिका के रूप में मान्य 'पहल' को विख्यात साहित्यकार, संपादक और कहानीकार ज्ञानरंजन ने पुन: निकालने का निश्चय किया है। उन्होंने तीन वर्ष पहल का प्रकाशन स्थगित कर दिया था। पहल का प्रकाशन बंद करते समय ज्ञानरंजन की टिप्पणी थी कि उन्होंने पहल को किसी आर्थिक दबाव या रचनात्मक संकट के कारण बंद नहीं किया है, बल्कि उनका कहना था-‘‘पत्रिका का ग्राफ निरंतर बढ़ना चाहिए। वह यदि सुन्दर होने के पश्चात् भी यदि रूका हुआ है तो ऐसे समय निर्णायक मोड़ भी जरूरी है।’’ 

गुवाहाटी में युवती वस्त्र हरण मामले में एक अन्य पत्रकार पर गिर सकती है गाज

 

गुवाहाटी। जीएस रोड कांड में एक अन्य पत्रकार पर गाज गिर सकती है। असम अनुसूचित जाति युवा छात्र परिषद, समता सैनिक दल और अखिल असम कृषक कल्याण परिषद ने गुवाहाटी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को आज घटना की सीडी सौंपी। सीडी की कापी कल मीडिया को दी जाएगी। आज यहां गुवाहाटी प्रेस क्लब में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए परिषद के महासचिव नित्यानंद दास, सलाहकार अमरेन्द्र दास तथा अखिल असम कृषक कल्याण परिषद के महासचिव प्रदीप कलिता ने कहा कि जीएस रोड कांड में सरकार पक्षपात कर रही है। घटना में दूसरा पत्रकार भी शामिल था। लेकिन पुलिस उससे नहीं पकड़ रही है।

आई नेक्‍स्‍ट : कुणाल की देहरादून वापसी, धर्मेंद्र बरेली के नए प्रभारी

 

आई नेक्‍स्‍ट, बरेली से खबर है कि प्रभारी कुणाल वर्मा को एक बार फिर देहरादून की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. कुणाल इसके पहले भी देहरादून के प्रभारी थे. उन्‍हें बरेली में आई नेक्‍स्‍ट को मजबूत करने के लिए लाया गया था. बताया जा रहा है कि बरेली में तो कुणाल के नेतृत्‍व में आई नेक्‍स्‍ट के सर्कुलेशन में सुधार हुआ परन्‍तु देहरादून में स्थिति गड़बड़ हो गई थी. निदेशक तरुण गुप्‍ता के खास माने जाने वाले कुणाल को देहरादून में आई नेक्‍स्‍ट को फिर से पटरी पर लाने के लिए भेजा गया है. 

यशवंत-जेल : कुमार मधुकर के नेतृत्‍व में निकला रोड मार्च, पत्रकारों में रोष

भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत सिंह की गिरफ़्तारी के विरोध में जिला झज्जर के बहादुरगढ़ में बैठक हुई. बाद में दर्जनों पत्रकारों ने यशवंत की गिरफ़्तारी के विरोध में रोड मार्च निकालकर कर रोष प्रकट किया. बैठक व रोड मार्च के आयोजनों का नेतृत्व भांडा फोड़ इंडिया के ग्रुप एडिटर कुमार मधुकर किया. इस दौरान पत्रकार अजेश कुमार ने संबोधित करते हुए कहा कि विजय सत्य की होगी. यशवंत के साथ जिसने जो भी किया अच्छा नहीं किया. इसलिए अच्छा हो कि मामले को वापस लिया जाये. दो पत्रकारों को आपस में लड़ना ठीक नहीं. जिस प्रकार कि घटना भड़ास4मीडिया के संपादक यसवंत के साथ हुआ है. वह किसी और के साथ भी हो सकता है.

टारगेट तो क्राइम का भी होता है भाई!

 

प्रोफशनल और कारपोरेट कल्चर वाला अखबार ज्वाइन किया. एडिटर ने उसे पहले ही दिन एक रिपोर्ट थमायी. रिपोर्ट के मुताबिक दूसरे अखबार में रोज अपराध की औसत 19 खबरें थी. उसे हर दिन 31 खबर का टारगेट दिया गया. वह चकराया. इतना क्राइम होगा, तभी तो इतनी खबरें बनेगी. वह इस बात की गारंटी देने को तैयार था कि उससे कोई खबर छूटेगी नहीं, लेकिन हर दिन गिन कर 31 खबरें कहां से लायेगा? एडिटर कुछ भी सुनने को तैयार नहीं था. झक मार कर उसने टारगेट पूरा करने की कसम खायी और निकल पड़ा खबर खोजने.

मैय्या मोय तो “एनडी” सो ही “पापा” ला के दे

सादर नमन। देश के कानून को। दिल्ली हाईकोर्ट की उस बेंच को, जिसने रोहित शेखर के पापा (नारायण दत्त तिवारी) की पहचान कराने में अहम भूमिका अदा की। इस अदालती निर्णय ने साबित कर दिया, कि देश का अब कोई भी “रोहित शेखर”,बिना “पापा”के नहीं रहेगा। चाहे डीएनए परीक्षण “जबरिया” ही क्यों न कराना पड़े।

अन्‍ना समर्थकों ने की पत्रकारों से बदतमीजी

 

नई दिल्ली : टीम अन्ना के तमाम अपीलों के बावजूद आज जंतर मंतर पर समर्थकों की बहुत कम मौजूदगी देखने को मिल रही है वहीं अनशन स्थल पर कुछ लोगों ने न्यूज चैनल की एक महिला संवाददाता के साथ धक्का मुक्की की। टीम अन्ना के समर्थकों ज़ी न्यूज के रिपोर्टर कुलदीप सिंह से भी बदसलूकी की। इसके अलावा कई महिला रिपोर्टर के साथ भी बदसलूकी की गई। 

मीडियाकर्मियों ने टाल दिया फैजाबाद में संभावित बवाल

 

उत्तर प्रदेश का फैजाबाद जिला, जो की अयोध्या की वजह से ज्यादा मशहूर है, इस जिले में 23 जुलाई की रात इस शहर का माहौल कुछ इस तरह बिगड़ गया की उसको संभालने में प्रशासन नाकाम हो गया था. मामला था कि फैजाबाद के सहादतगंज ईलाके में दो समुदाय के लोगो में झगडा हो गया जिसको लेकर P.A.C के जवानों ने एक समुदाय के व्यक्ति को झापड़ मार दिया और उसको भगा दिया. तभी ये अफवाह उडी कि पुलिस ने मस्जिद में जाने से रोक लगा दी है और वो भी इस रमजान के महीने में.

नईदुनिया : जगह और प्रिंट लाइन दोनों बदलेगी?

 

कभी हिंदी अखबारों का आदर्श रहा 'नईदुनिया' आज इस हाल मे है कि यहाँ काम कर रहे पत्रकारों और गेरपत्रकारों का भी अपने संस्थान पर से भरोसा उठ गया है. जब से नईदुनिया कि बागडोर जागरण के हाथ में आई है, इंदौर समेत सभी संस्करणों में असुरक्षा का माहौल है. कब किसकी नौकरी पर विराम लग जाये कहा नहीं जा सकता! सबसे गर्म खबर ये है कि 'नईदुनिया' का करीब पांच दशक पुराना दफ्तर बदले जाने कि तेयारी है. इसे करीब १२-१४ किलोमीटर दूर ले जाने की कोशिश चल रही है. जहां अभी नईदुनिया का दफ्तर है उस ४ बीघा जमीन पर शोपिंग माल बनाया जा सकता है. 

जेडे मर्डर : जिग्‍ना वोरा को मिली जमानत

 

मुंबई। अंग्रेजी दैनिक 'मिड-डे' के पत्रकार जेडे की हत्या के मामले में गिरफ्तार महिला पत्रकार जिग्ना वोरा को शुक्रवार को कोर्ट ने जमानत दे दी। जिग्ना वोरा के खिलाफ मुम्बई पुलिस ने महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण कानून (मकोका) की अदालत में आरोप-पत्र दाखिल किया था।

समाचार प्‍लस से जुड़े अनुराग, रेयाज का इस्‍तीफा, नवल की नई पारी

उन्‍नाव से खबर है अनुराग बाजपेयी ने न्‍यूज एक्‍सप्रेस से इस्‍तीफा दे दिया है. उन्‍होंने कुछ महीने पहले ही इस चैनल को ज्‍वाइन किया था. अनुराग ने अपनी नई पारी समाचार प्‍लस के साथ शुरू की है. अनुराग की गिनती जिले के तेजतर्रार पत्रकारों में की जाती है. वे इसके पहले जनसंदेश टाइम्‍स तथा राष्‍ट्रीय सहारा को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं. 

मीडिया पर नियंत्रण के लिए सशक्‍त स्‍वायत संस्‍थान की जरूरत : प्रांजय

गुवाहाटी। जानेमाने पत्रकार प्रांजय गुहा ठाकुरता ने मीडिया पर एक सीमा तक नियंत्रण की जरूरत बताते हुए इसके लिए एक सशख्त स्वायत संवैधानिक संस्था बनाए जाने की वकालत की है। उन्होंने कहा है कि ब्रिटेन और अमेरीका की तरह यहां भी मीडिया पर नियंत्रण करने वाली संस्था होनी चाहिए जो चुनाव आयोग या सुप्रीम कोर्ट की तरह होनी चाहिए। गुवाहाटी प्रेस क्लब के मासिक कार्यक्रम "इस माह के अतिथि' में और उससे पहले "मीडिया की नैतिकता' विषय पर आयोजित कार्यशाला में भाग लेते हुए प्रांजय ने कहा कि हर चीज की एक लक्ष्मण रेखा होती है और इसे याद दिलाने के लिए एक सशख्त संस्था की जरूरत है। भारतीय प्रेस परिषद और सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय मीडिया को लक्ष्मण रेखा पार करने से रोक नहीं पा रहे हैं क्योंकि इनके पास कार्रवाई करने का कोई अधिकार नहीं है।

पीके तिवारी को महुआ के तोपचियों ने ही जेल भिजवाया

: महुआ समूह-जहाज में बेहिसाब बिल खोदे हैं तोपची-चूहों ने : नोएडा : किसी ऐसे कथित विनय आर्यदेव नामक शख्‍स ने मेरी निष्‍पक्षता और निजी आग्रह-पूर्वाग्रह आदि पर टिप्‍पणी की है। अनर्गल प्रलाप। मेरी आपत्ति है कि ऐसे शख्‍स सीधे मेरे सामने क्‍यों नहीं आते हैं। बहरहाल, ऐसे नाम पर कोई टिप्‍पणी करने के बजाय मैं अब सीधे मुद्दे पर आना चाहता हूं। हां, यह तो सब को पता है कि महुआ समूह के मुखिया पीके तिवारी को उनके बेटे आनंद तिवारी के साथ सीबीआई ने गिरफ्तार किया है।

असम को जलाने में मीडिया की भूमिका!

गुजरात दंगों को आज तक जिस मीडीया ने जिंदा रखा हैं, उसे जलते असम की तस्वीरें क्यों नजर नहीं आ रही हैं? पिछले एक हफ्ते से असम के तीन जिलों मे मार-काट मची हैं. हालात कश्मीर से भी बदतर हो चले हैं. कई लोगों को की जानें जा चुकी हैं, लेकिन मीडिया इसे सिर्फ अपनी बुलेटिन की खबरों मे डालकर या दूसरे पेज पर लिखकर खानापूर्ति कर रहा है. हिन्दुस्तान में अब तक हुए हर दंगे के पीछे से राजनीतिक बू आती रही है। हो सकता है असम में हो रहे तांडव के पीछे कोई राजनैतिक चाल ना हो, लेकिन किसी प्रदेश मे लगातार एक हफ्ते तक दंगे होते रहे और स्थिति को काबू ना कर पाने के पीछे तो सरकार की विफलता साफ झलकती है। तो क्या दंगाइयों को सह दिया जा रहा है?

जेडे मर्डर की सीबीआई जांच कराई जाए : तावड़े

मुंबई : महाराष्ट्र विधान परिषद में विपक्ष के नेता विनोद तावड़े ने मिड डे के वरिष्ठ पत्रकार जेडे की हत्या की जांच सीबीआई से कराने की मांग की. तावड़े ने पत्रकारों से कहा कि अगर सरकार संवेदनशील है और सच्चाई सामने लाना चाहती है तो उसे सीबीआई जांच की मदद लेनी चाहिए. उन्होंने कहा कि हत्या के कारण और शामिल लोगों को सामने लाने का काम केंद्रीय जांच एजेंसी ही कर सकती है.

गिरती साख : जागरण के मुनाफे में 14 करोड़ का झटका

नई दिल्ली। आर्थिक सुस्ती और डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत में तेज गिरावट ने जागरण प्रकाशन लिमिटेड [जेपीएल] के मुनाफे की रफ्तार को भी धीमा कर दिया है। देश के सबसे बड़े अखबार दैनिक जागरण का प्रकाशन करने वाली इस कंपनी को रुपये की कीमत कम होने से विदेशी मुद्रा नुकसान उठाना पड़ा। इससे चालू वित्त वर्ष 2012-13 की पहली तिमाही में कंपनी के मुनाफा भी कम हो गया है।

आज निकलेगा यूपी मिड डे का डमी

आगरा से जल्द ही बड़े स्तर पर प्रकाशित होने जा रहे लक्ष्मी मीडिया पब्लिकेशन के अखबार यूपी मिड डे की डमी शुक्रवार को निकलेगी, जिसको लेकर आगरा के पत्रकारिता जगत में हलचल है. वर्तमान में इसमें श्याम अनजान, जगत शर्मा, रमेश साहनी जैसे बड़े पत्रकार इस अखबार में अपना पद भार ग्रहण कर चुके हैं. …

यूपी में अराजकता : मायावती की मूर्ति तोड़ी गई, आक्रोश में बसपाई

लखनऊ में मायावती के स्वप्नों के अंबेडकर पार्क में तमाशा खड़ा हो गया है। मनबढ़ शैतानों ने मायावती की सफेद संगमरमरी मूरत का सिर और हाथ उखाड़ डाला। बाद में मौके पर पहुंचे प्रशासन-पुलिसवालों ने आननफानन सिरविहीन मूर्ति को प्रशासन ने ठीक उसी रंग का कफन मुहैया करा दिया, जो उनका मनपसंद यानी नीला है। अंबेडकर पार्क से जुड़ी सड़कों को बंद कर दिया गया है और मौके पर कड़ी सुरक्षा बंदोबस्त हैं। फिलहाल बसपाइयों में जबर्दस्त रोष है और कई शहरों में प्रदर्शन की खबर आ रही है। प्रशासन का दावा है कि किसी हालात से निपटने के लिए प्रशासन और पुलिस ने कमर कस ली है। लेकिन इस घटना ने प्रशासन और पुलिस की तो किरकिरी करा ही दी है। लेकिन कठघरे में पुलिस, प्रशासन के साथ ही पत्रकार बिरादरी भी आ गयी है।

यशवंत-जेल : सात तालों के भीतर चैन की नींद

कल शाम यानी 21 तारीख की शाम 5-6 बजे के आसपास जब बैरक की फील्‍ड में टहलकर थकने के बाद चबूतरे पर आराम फरमाने बैठा तो एक बुजुर्ग और अपरिचित बंदी साथी पूछ बैठे- क्‍या हुआ आपके मामले में? मैंने जवाब दिया – कल 20 को बेल डेट थी, अभी कोई सूचना नहीं मिली है. उन्‍होंने तपाक से कहा – आपकी बेल डेट सुनवाई नहीं हो सकी, वकीलों के हड़ताल से, अब 3 अगस्‍त को नई बेल डेट है.

जुलाई के आखिर में हिंदुस्‍तान से विदा हो जाएंगे आशीष व्‍यास!

हिंदुस्‍तान, बरेली से खबर है कि स्‍थानीय संपादक आशीष व्‍यास जुलाई के बाद यहां से विदा हो जाएंगे. सूत्रों का कहना है कि उन्‍होंने इसकी सूचना अपने करीबियों को दे दी है. फिलहाल वे कहीं ज्‍वाइन करने नहीं जा रहे हैं. कहा जा रहा है कि वे अपने पिता जी का हाथ बंटाने के लिए अखबार से इस्‍तीफा दिया है. हालांकि भड़ास से बातचीत में आशीष व्‍यास ने कुछ समय पहले इस्‍तीफा देने की बात को निराधार बताया था, परन्‍तु सूत्रों का कहना है कि अगले महीने से हिंदुस्‍तान का संपादक बदल जाएगा.

बैजनाथ मिश्रा ने की सन्‍मार्ग में वापसी, संपादक बने

रांची से खबर है कि बैजनाथ मिश्रा ने फिर सन्‍मार्ग ज्‍वाइन कर लिया है. उन्‍हें फिर एडिटर बनाया गया है. कुछ महीने पहले बैजनाथ मिश्रा सन्‍मार्ग छोड़कर न्‍यूज11 चले गए थे. झारखंड के वरिष्‍ठ पत्रकार हरिनारायण सिंह के सन्‍मार्ग से इस्‍तीफा देने के बाद बैजनाथ मिश्रा ने वापसी की है. उल्‍लेखनीय है कि हरिनारायण सिंह …

ये देखिए बठिंडा के पत्रकारों की हरकत

यह तस्‍वीर बठिंडा के गोनियाना रोड पर स्थित झील की है। जिसमें बठिंडा की मीडिया से जुडे कई तथाकथित वरिष्‍ठ पत्रकार शामिल हैं। असल में बुधवार रात को झील के सामने स्थित एक होटल हांडी में पत्रकारों को निजी ट्रांसपोर्ट कंपनी ने लैग-पैग की पार्टी दी थी। जिसका लुत्‍फ उठाने के बाद कुछ मीडिया कर्मी इस तरह बेकाबू हो गए। यह फोटो बठिंडा के ही एक मीडिया कर्मी ने फेसबुक पर अपलोड की है, जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है।

अनिल त्रिपाठी पत्रकार या व्‍यवसायी?

अनिल त्रिपाठी द्वारा पत्रकारिता को एक व्यवसाय की तरह इस्‍तेमाल किया जा रहा है, जिसके साक्ष्य में अनिल त्रिपाठी द्वारा चलाये जा रहे समाचार पत्रों का विवरण आप सभी के सन्मुख है. अनिल त्रिपाठी द्वारा अपने को एक साधारण पत्रकार बताया जा रहा है, परन्तु वास्तव में वो युग जागरण नाम के समाचार पत्र अपनी पत्नी का नाम पर दिखाकर एक बड़ा व्‍यवसाय कर रहे हैं. वे एक बड़े व्यवसायी हैं. जहाँ एक समाचार पत्र का प्रकाशन एवं संचालन करना वित्तीय दृष्टि से लाभकारी नहीं है वहीं अनिल त्रिपाठी द्वारा अपनी पत्नी के नाम से ५-५ समाचार पत्रों का संचालन किया जा रहा है. आप स्वयं निर्णय लीजिये कि अनिल त्रिपाठी पत्रकार हैं या व्यवसायी????

हिंदुस्‍तान विज्ञापन घोटाला : डीएसपी ने पर्यवेक्षण रिपोर्ट में छापखाना और संपादकीय कार्यालय का ब्‍योरा पेश किया

मुंगेर। विश्व के सनसनीखेज दैनिक हिन्दुस्तान विज्ञापन घोटाले में पुलिस अधीक्षक पी. कन्नन के निर्देशन में पुलिस उपाधीक्षक अरूण कुमार पंचालर की ओर से समर्पित ‘पर्यवेक्षण-टिप्पणी‘ में 200 करोड़ के सरकारी विज्ञापन घोटाले में शामिल नामजद अभियुक्तों के भागलपुर और मुंगेर मुख्यालय स्थित घटनास्थलों क्रमशः प्रिंटिंग प्रेस, संपादकीय कार्यालय, व्यापारिक कार्यालय, मुंगेर कार्यालय, कम्प्यूटर कक्ष, प्रिंटिंग प्रेस की मशीन आदि का पूर्ण ब्‍योरा पेश किया गया है।

अवधेश गुप्‍ता का इलाहाबाद तथा सदगुरु शरण का बरेली तबादला

दैनिक जागरण, बरेली से खबर है कि संपादकीय प्रभारी अवधेश गुप्‍ता का तबादला इलाहाबाद के लिए कर दिया गया है. इलाहाबाद के संपादकीय प्रभारी सदगुरु शरण को बरेली का संपादकीय प्रभारी बनाया गया है. बताया जा रहा है कि प्रबंधन दोनों लोगों के परफार्मेंस से खुश नहीं था. पिछले दिनों एक युवती को लेकर हुए मारपीट के बाद प्रबंधन की भौंहे और तन गई थी, जिसके बाद अवधेश गुप्‍ता का जाना तय माना जा रहा था.

भोपाल दूरदर्शन व आकाशवाणी के स्ट्रिंगर्स और पीटीसी की हालत दयनीय

भोपाल। प्रसार भारती के महत्वपूर्ण अंग भोपाल दूरदर्शन और आकाशवाणी की हालत काफी खराब है। बात भुगतान की हो तो समझ आती है कि शासकीय प्रक्रिया में देरी हो सकती है, लेकिन 2012 के परिचय पत्र न तो आकाशवाणी से बने हैं और न ही दूरदर्शन से। वहां बैठे अधिकारी और सम्पादक सरकार को चूना लगाने में माहिर हो गए हैं और हालात यह है कि स्ट्रिंगर्स या पीटीसी को किसी न किसी बात से ब्लैकमेल कर रहे हैं।

पीडि़त महिला को थाने में बुलाकर कौन सी जांच की पुलिस ने

ज़रा सोचिये इंसान की शक्ल में घूमने वाले न जाने कितने भेडियों की शिकार होती है यह नारी, जिसका ज़िक्र तक नहीं होता समाज में, न ही उसके बारे में किसी को जानकारी हो पाती है. बहुत से लोग तमाम घडियाली आंसू बहते है महिलाओं की स्थिति पर, उनमें महिलाओं की संख्या भी खूब होती है. महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचार एवं अपराध से निपटने के लिए जटिल कानूनी प्रक्रिया भी एक बाधा है, जिससे उन्हें न्याय देरी से मिलते है और बहुत से मामलों में वो न्याय से वंचित रह जाती है. आज भी महिलाओं की स्थिति हमारे समाज में दोयज दर्जे की है.

बरेली में हिंदुस्‍तान के पाठकों को गलत सूचना ने कराई फजीहत

बरेली में हिंदुस्‍तान अखबार की गलत सूचना से हिंदुस्‍तान पढ़ने वालों की खूब फजीहत हुई. बरेली शहर इन दिनों दंगे की चपेट में है. दंगों को रोकने असफल सरकार तथा पुलिस प्रशासन ने बिगड़े हालात पर काबू पाने के लिए बरेली शहर में कर्फ्यू लगा दिया है. बुधवार को प्रशासन ने कर्फ्यू में दो घंटे की ढील की घोषणा की थी. अमर उजाला और दैनिक जागरण ने खबर में दो घंटे की छूट की जानकारी दी थी, परन्‍तु हिंदुस्‍तान ने सुबह दस बजे से लेकर दो बजे तक छूट की खबर प्रकाशित कर दी. यानी चार घंटे की छूट.

‘द सन’ के खिलाफ मानहानि का मुकदमा करेगा पाक

इस्लामाबाद : पाकिस्तान की सरकार ने ओलिंपिक में आतंकवादी हमले की आशंका से जुड़ी ‘फर्जी खबर’ को लेकर ब्रिटेन के मशहूर टैबलॉयड ‘द सन’ के खिलाफ 10 अरब रुपये के हरजाने की मांग करते हुए मानहानि का मुकदमा करने का फैसला किया है। प्रधानमंत्री राजा परवेश अशरफ के नेतृत्व में हुई संघीय मंत्रिमंडल की बैठक में ब्रिटेन की अदालत में इस अखबार के खिलाफ मुकदमा दायर करने का फैसला किया गया है।

सड़क हादसे में पंजाबी जागरण के पत्रकार नवदीप घायल

पटियाला में हुए एक सड़क हादसे में पंजाबी जागरण के पत्रकार नवदीप ढींगरा घायल हो गए. उन्‍हें इलाज के लिए राजिंदरा अस्‍पताल में भर्ती करवाया गया है. आशंका जताई जा रही है कि उनके नाक की हड्डी टूट गई है. बीती रात लगभग नौ बजे नवदीप शेरावाल गेट स्थित अपने ऑफिस से निकलकर राघोमाजरा स्थित अपने घर जा रहे थे. जब वे चांदनी चौक पहुंचे तो सामने से आ रही एक बाइक से उनकी बाइक टकरा गई. वे बाइक समेत सड़क पर गिर पड़े और घायल हो गए. उनके नाक से लगातार खून का रिसाव होता रहा.

आईपीएल की फिक्सिंग के चलते हुई पत्रकार जेडे की हत्‍या!

मुंबई : पिछले वर्ष 11 जून को मुंबई में हुई मिड डे के वरिष्‍ठ पत्रकार जे. डे की हत्या का मामला बुधवार को महाराष्ट्र विधान परिषद में गूंजा। विधान परिषद में विपक्ष के नेता विनोद तावड़े ने कहा कि जे. डे की हत्या आईपीएल मैचों की सट्टेबाजी के कारण हुई। विप में इस मुद्दे को उठाते हुए तावड़े ने कहा कि जेडे आईपीएल क्रिकेट में चलने वाले सट्टेबाजी को उजागर करना चाहते थे। उनके पास इस संबंध में पुख्‍ता जानकारी थी, इसलिए उनकी हत्‍या कर दी गई।

पत्रकार काजमी की याचिका पर स्‍पेशल सेल को नोटिस जारी

नई दिल्ली : इजरायली दूतावास कार विस्फोट मामले में आरोपी पत्रकार सैयद मोहम्मद अहमद काजमी की अपील पर तीसहजारी कोर्ट के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एसएस राठी ने स्पेशल सेल को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है। काजमी ने अपने मामले की जांच अवधि बढ़ाए जाने के निचली अदालत के फैसले के खिलाफ सेशन कोर्ट में याचिका दायर की है। जिस पर अदालत ने पुलिस को 30 जुलाई तक अपना जवाब दाखिल करने को कहा है।

ओम ठाकुर ने फ्रीलांसर रिपोर्टर को केबिन में बुलाकर बेइज्‍जत किया

आगरा से प्रकाशित हो रहे दैनिक पुष्प सवेरा में आये दिन रिपोर्टर ओम सिंह कुशवाहा उर्फ ओम ठाकुर की जलीलता का शिकार हो रहे हैं. वो समय समय पर रिपोर्टरों को बुलाकर चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के सामने उनकी बेईज्ज़ती करते हैं और अपनी जीहजूरी करवाने की जिद करते हैं. बुधवार को उसने सागर गुजराती नामक युवा रिपोर्टर के साथ बदतमीजी की और उसे धमकी दे डाली. सागर गुजराती ने कुछ महीने पहले पुष्पसवेरा को रिपोर्टर के तौर पर ज्वाइन किया था. लेकिन आंतरिक राजनीति और बेवजह दोषारोपण से कई बार वो हतोत्साहित हुआ.

फोन हैकिंग मामले में ब्रुक्‍स और कॉलसन बनाए गए आरोपी

ब्रिटेन के मीडिया जगत में तूफान लाने वाले फोन हैकिंग मामले में आज एक नया मोड़ उस वक्त आ गया जब मीडिया मुगल रूपर्ट मर्डोक की करीबी रहीं रेबेका ब्रुक्स और ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन के मीडिया निदेशक रह चुके एंटी कॉलसन को आपराधिक साजिश का आरोपी बनाया गया। बीते साल ब्रिटेन की मीडिया में फोन हैकिंग का मामला सामने आया था। सनसनीखेज खबरों की चाहत में बड़े अखबारों ने घूस देकर सूचनाएं एकत्र कीं।

यशवंत ऐसे नहीं हैं कि धक्‍का दिया और टूट गए

बिहार के ग्रामीण क्षेत्रों में एक कहावत सदियों से कही-सुनी जाती है 'सच्चा राजपूत वहीं जो इक्कीस साल जीए'. इस लोकोक्ति का आशय प्राचीन राजघराने के लड़ाकू राणाओं (क्षत्रिय वंशजों) से है. जब राजपूत जवान अपने मान-सम्मान व सल्तनत की हिफाजत के लिए कम उम्र में ही जान गंवा देते थे. भले ही आज यह कहावत अप्रसांगिक हो चली है. लेकिन इतना जरूर है कि मर्दानगी आज भी राजपूतों के रग-रग में समाई है. जोश व जज्बा ऐसा कि किसी से वादा किया तो निभाने के लिए जान की बाजी लगाने से भी गुरेज नहीं. जो लड़ने का चैलेंज मिला तो पटखनी देने तक लड़ेंगे. और अपने (राणा) यशवंत भी इससे अछूते नहीं.

प्रेस नोट में खबरें छुपाती है नोएडा पुलिस

शहर में बढ़ रहे क्राइम ग्राफ को नोएडा पुलिस रोक पाने में नाकामयाब हो रही है। ऐसे में पुलिस ने क्राइम ग्राफ को कम दिखाने के लिये पत्रकारों को मुहैया कराने वाले प्रेस नोट में ही सूचनाएं देनी कम कर दी है। जो सूचनाएं प्रेस नोट के माध्यम से पत्रकारों को दी जाती है वो अपराध निम्न स्तर के होते है। मसलन आधे ब्लेड के साथ एक गिरफ्तार, चाकू, गांजा, लैपटॉप चोरी, बिजली चोरी, मारपीट, गाली गलौच सरीखे जैसी खबरें प्रेस नोट में होती है। ये ऐसी सूचनाएं है जिन्हें कोई भी अखबार जगह नहीं देता है। लिहाजा प्रेस नोट में से कोई न्यूज अखबार या टीवी पर नहीं आती।

बिहार में पिछले बारह सालों से अवैध प्रकाशन कर रहा है दैनिक जागरण

देश का नम्‍बर वन बताने वाला अखबार फर्जीवाड़ा करके करोड़ों रुपये का सरकारी विज्ञापन डकार चुका है. इस बात का खुलासा एक आरटीआई के माध्‍यम से हुआ है. यह अखबार भी हिंदुस्‍तान की तरह एक रजिस्‍ट्रेशन नम्‍बर पर कई यूनिट लांच करके नियम कानून की धज्जियां उड़ा चुका है. मुजफ्फरपुर में जागरण के पूर्व कर्मचारी रमन कुमार यादव द्वारा मांगी गई जानकारी के आधार पर आरएनआई ने स्‍पष्‍ट किया है कि जागरण ने सिर्फ पटना के लिए अखबार का रजिस्‍ट्रेशन कराया था. इसके अलावा अन्‍य यूनिटों के लिए उसका कोई रजिस्‍ट्रेशन नहीं है.

सुलगती उम्‍मीदें : बारुद के ढेर पर प्रदेश

अखिलेश सरकार के चार महीने पूरा होते-होते कानून व्यवस्था की भारी समस्या खड़ी हो गयी है। दुःख की बात यह है कि प्रदेश के आला अफसरों को आपसी गुटबाजी के चलते फुरसत ही नहीं मिली कि वह कानून व्यवस्था के विषय में कुछ सोचे। वीकएंड टाइम्स ने अपने चौदह जुलाई के अंक में जो खुलासा किया, अगर पुलिस अफसर उस पर गौर कर लेते तो बरेली में हुए भंयकर हादसे को टाला जा सकता था। वीकएंड टाइम्स प्रदेश का इकलौता ऐसा अखबार है जिसने 14 जुलाई को छापा था कि प्रदेश इस समय बारुद के ढेर पर है और यहॉ सांप्रदायिक तनाव की स्थिति पैदा की जा रही है। इस रिपोर्ट के तीन दिन बाद ही बरेली में हुए दंगे ने साबित कर दिया कि वीकएंड टाइम्स की रिपोर्ट सही थी। आप भी पढ़े वीकएंड टाइम्स की यह रिपोर्ट।

अजीत का रिपोर्ट क्‍यों नहीं दर्ज कर रही है नोएडा पुलिस?

: वरिष्‍ठ पत्रकार नवीन लाल सूरी के चैन लुटेरे का क्‍यों नहीं चला पाया पता? : कहां चली गई नोएडा पुलिस की बहादुरी? यशवंत को फर्जी एफआईआर दर्ज होने के दो घंटे के भीतर गिरफ्तार करवाने वाले एसएसपी प्रवीण कुमार अब तक सहारा समय के सीनियर क्राइम रिपोर्टर नवीन लाल सूरी की चैन लूटने वालों का पता नहीं लगा सके, जबकि उनके पास सीसी टीवी का फुटेज भी मौजूद था. वहीं सेक्‍टर 58 के तेजतर्रार और बहुत तेजी से एफआईआर दर्ज करने वाले प्रभारी की तेजी को क्‍या हो गया, जो ताला तोड़कर हुई चोरी की घटना को दर्ज करने से इनकार कर रहा है.

भास्‍कर से वरिंदर राणा व अखिलेश बंसल का इस्‍तीफा

बठिंडा : पहले ही रिपोर्टरों की कमी से जूझ रहा दैनिक भास्कर, बठिंडा यूनिट का कार्यालय खाली होने के कगार में पहुंच गया है। हाल ही में बठिंडा कार्यालय में क्राइम देखते सीनियर रिपोर्टर वरिंदर राणा व अखिलेश बंसल ने भास्कर प्रबंधन को अपना इस्तीफा भेज दिया है। बताया जाता है कि इस्तीफा दे चुके वरिंदर राणा पंजाब में जल्द लांच होने जा रहे पंजाब की शक्ति से अपनी नई पारी की शुरुआत कर सकते हैं वहीं अखिलेश बंसल ने प्रिंट मीडिया को अलविदा कह कर अपनी पारी एक न्यूज चैनल से की है। चैनल का नाम नेटवर्क १० बताया जाता है। इन दोनों रिपोर्टरों के जान से भास्कर सिटी टीम में रिपोर्टरों का टोटा हो गया है।

आओ मिल कर जश्न मनायें, समाजवाद मजबूत हो रहा है

देश के मालिक के नाम से प्रख्यात आम आदमी की दशा चरित्र-चित्रण करने लायक भी नहीं बची है। गांव का राशन डीलर पंक्तिबद्ध खड़ा कर नागरिकों के नाम ऐसे पुकारता है, जैसे खैरात बांट रहा हो। अस्पताल में पर्ची बनाने से लेकर डाक्टर के पास जाने तक दस से ज्यादा बार झिडक़ दिया जाता है इसी आम आदमी को। रेलवे स्टेशन पर टिकट लेते समय बीस हजार का नौकर इसी आम आदमी से गुलाम से भी बदतर व्यवहार करता देखा जा सकता है।

पत्रकार सम्‍पूर्णानंद दूबे के पिता का निधन

मऊ। पत्रकार सम्पूर्णानंद दूबे के पिता कैलाश नाथ दूबे का निधन मंगलवार की सुबह उनके पैतृक आवास बगली पिज़ा पर हो गया. वे 75 वर्ष के थे तथा लम्‍बे समय से बीमार चल रहे थे.  निधन की जानकारी होते ही उनके पैतृक आवास पर पत्रकारों ने पुंचकर शोक जताया और शोक संतप्‍त परिवार को ढांढस बंधाया. देर रात जनसंदेश कार्यालय में हुई शोकसभा में पत्रकारों ने दो मिनट मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की और परमपिता परमेश्वर से प्रार्थना की कि शोक संत परिवार को इस असीम दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करें.

यशवंत-जेल : आगामी बुधवार को जिला मुख्‍यालयों पर धरना देंगे पत्रकार

फरीदाबाद : भड़ास4मीडिया के संपादक यशवंत की गिरफ़्तारी के विरोध में पत्रकारों की बैठक फरीदाबाद के धर्मशाला में आयोजित की गई. कार्यक्रम की अध्‍यक्षता भांडा फोड़ इंडिया के ग्रुप एडिटर कुमार मधुकर ने की. बैठक में शामिल दर्जनों पत्रकारों ने एक स्वर से भड़ास4मीडिया  के संपादक यशवंत के गिरफ़्तारी की आलोचना की. साथ ही पत्रकारों की आवाज को बुलंद करने के लिए अगले सप्ताह के बुधवार को जिला मुख्यालय के सामने धरना देने का फैसला किया गया.

इशान टाइम्‍स के पत्रकार कमल पर जानलेवा हमला

जीरकपुर : कल शाम इशान टाइम्‍स संवाददाता कमल कलशी को जीरकपुर में एक ढाबा मालिक द्वारा देह व्यापार के लिये रूम देने की सूचना मिली. इसकी जानकारी के लिए वे शिमला रोड पर स्थित प्रधान ढाबा पर पहुंचे. अभी वे जानकारी ले ही रहे थे कि चार व्‍यक्तियों ने उनके ऊपर जानलेवा हमला कर दिया. आस पड़ोस के लोगों द्वारा अपराधियों का मुकाबला करने से पत्रकार कमल कलशी की जान बच गयी. घटना की जानकारी पुलिस को देने के एवज में उन्‍हें अज्ञात व्यक्तियों द्वारा गंभीर रूप से घायल कर दिया गया.

महुआ को लेकर गलत रिपोर्ट पेश कर रहे हैं कुमार सौवीर

महुआ समूह के प्रमुख पीके तिवारी को उनके बेटे आनंद तिवारी के साथ सीबीआई ने गिरफ्तार किया है और कोर्ट ने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। ये खबर सोलह आने सच है। लेकिन महुआ न्यूज के कभी यूपी के वरिष्ठ संवाददाता रहे कुमार सौवीर जिस तरह से इस पूरे मामले को झूठ की चाशनी के साथ चटखारे लेकर परोस रहे हैं वो उनकी तथ्यों पर आधारित पत्रकारिता पर सवाल खड़े करने को काफी है। इस पूरे मामले में उनका व्यक्तिगत पूर्वाग्रह उनकी निष्पक्षता पर हावी दिखता है।

पत्रकार के भाई के हत्यारोपी विधान पार्षद गिरफ्तार

 

पत्रकार नीरज के भाई धीरज हत्याकांड मामले में मुख्य आरोपी विधान पार्षद अशोक अग्रवाल को 22 जुलाई के रात करीब 12 बजे कटिहार के पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। सुबह साढ़े छह बजे मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी राघवेन्द्र मणि त्रिपाठी के समक्ष विधान पार्षद अशोक अग्रवाल को पेश किया गया। श्री त्रिपाठी ने उनपर लगाए आरोपों को विस्तृत से बताया तथा उनसे रास्ते में पुलिस के द्वारा किसी भी दु‌र्व्यवहार के विषय में पूछा। एमएलसी ने दु‌र्व्यवहार से इंकार किया। श्री त्रिपाठी ने उन्हें 4 अगस्त 2012 तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। 

ए राम पाण्डेय को पत्रकारिता में पीएचडी उपाधि

 

नोयडा शारदा विश्वविद्यालय में अध्यापन कर रहे ए राम पाण्डेय को लखनऊ विश्वविद्यालय के जनसंचार एवं पत्रकारिता विभाग से पीएचडी उपाधि प्रदान की गयी है। श्री पाण्डेय ने प्रो0 एसपी दीक्षित के निर्देशन में जनमत निर्माण में मीडिया की भूमिका-चुनाव के विशेष सन्दर्भ में शीर्षक पर शोध कार्य किया। वर्ष 2007 में ही उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सबसे लोकप्रिय हिन्दी अखबारों की प्रति भारतीय प्रेस परिषद को जांच एवं कार्यवाही करने के लिये भेजा। जिसमें इस बात की जांच करनी थी कि तमाम समाचार पत्र भी पत्रकारिता कर्म से दूर अलग-अलग राजनीतिक दलों के साथ खड़े दिख रहे थे। यह अलग बात है कि प्रेस परिषद ने पत्र का संज्ञान लेना भी उचित नहीं समझा। 

हिंदुस्‍तान विज्ञापन घोटाला : संसद सत्र में मामले को उठाने की मांग

 

: सुप्रीम कोर्ट से भी संज्ञान लेने की प्रार्थना  : मुंगेर। विश्व की संभवतः पहली आपराधिक घटना है जिसमें भारत की सबसे शक्तिशाली मीडिया हाउस ‘‘मेसर्स हिन्दुस्तान मीडिया वेन्चर्स लिमिटेड’’, जो पूर्व में ‘मेसर्स हिन्दुस्तान टाइम्स लिमिटेड’ और ‘मेसर्स एचटी मीडिया लिमिटेड’के नाम से जाना जाता था, के विरूद्ध जालसाजी और धोखाधड़ी से केन्द्र और राज्य सरकारों को सरकारी विज्ञापन प्रकाशन मद में लगभग दो सौ करोड़ रुपए के चूना लगाने का आरोप लगाया गया है।

मारिया टीवी : बुर्का में हो रही है एंकरिंग

काइरो। मिस्र में बुर्का पहने महिलाएं इन दिनों एक टीवी न्यूज चैनल का संचालन कर रही हैं। बृहस्पतिवार से शुरू हुए मारिया टीवी चैनल की खासियत यह है कि इसमें सिर्फ महिलाएं काम कर रही हैं। इस चैनल के किसी भी कार्यक्रम और बतौर स्टाफ पुरुषों के काम करने पर पाबंदी है। यहां तक की फोन पर भी वह बात नहीं कर सकते। मारिया देश का ऐसा पहला सैटेलाइट न्यूज चैनल है, जहां महिलाएं बुर्का पहनकर समाचार प्रस्तुत करती हैं। 

जयपुर में पत्रकार बेचेंगे 50-50 अखबार

पत्रकारिता के गरिमामय पेशे में यह दिन भी आना था। जयपुर में हॉकर हड़ताल पर क्या गए कुछ अखबारों के प्रबंधन ने पत्रकारों पर हॉकरों का काम लादना शुरू कर दिया है। पुख्ता खबर है कि राजस्थान के एक प्रमुख अखबार ने अपने रिपोर्टरों को पचास-पचास कॉपियां बेचने का हुक्म जारी किया है। सिद्धांतों की पत्रकारिता का ढिंढोरा पीटने और आदर्श तथा मूल्यों का गुणगान करने वाले इस अखबार के प्रबंधन की इस नीति से पत्रकार मानसिक तौर पर परेशान और सदमे में हैं। मन में गुस्सा तो है परंतु मन मसोसने के अलावा और उनके पास कोई विकल्प भी तो नहीं है।

महुआ चैनल समूह के अध्‍यक्ष पीके तिवारी अपने पुत्रों समेत गिरफ्तार

: फर्जी दास्‍तावेजों के बल पर करोंडो के घोटाला का आरोप : 14 दिनों की न्‍यायिक हिरासत में जेल भेजे गये समूह संचालक : नोएडा : महुआ चैनल समूह के मुखिया को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आज दिल्‍ली की एक अदालत ने पीके तिवारी को 14 दिन तक जेल भेज देने का आदेश दिया। कोर्ट के फैसले के बाद पुलिस ने तिहाड़ जेल में पहुंचा दिया है। अनेक बैंकों से कर्ज हासिल करने के लिए फर्जी कागजातों का इस्‍तेमाल करने के समेत कई आरोपों पर पीके तिवारी और उनके दो बेटों पर यह पुलिस ने कार्रवाई की है।

सहारा समय, देहरादून के ब्‍यूरोचीफ बने मनोज कंडवाल

देहरादून। सहारा समय टीवी चैनल के देहरादून ब्यूरो चीफ के रूप में पत्रकार मनोज कंडवाल को नई जिम्मेदारी दी गई है। पिछले कई सालों से पत्रकारिता जगत में मनोज कंडवाल संस्थान में रहकर बेहतर प्रदर्शन करते रहे हैं जिसकी बदौलत उन्हें ब्यूरो चाफ के पद पर बैठाया गया है। कंडवाल के ब्यूरो चीफ बनने पर …

भ्रष्ट तंत्र के खिलाफ एक लड़ाई और!

सरकार जनता को मूर्ख समझती है या जनता वास्तव में भोली है जो इन राजनेताओं की बातों में आ जाती है। अन्ना के आंदोलन और सरकार के नाटक से तो यही बात सामने आ रही है कि राजनेता नहीं चाहते कि इस देश में कोई ऐसा कानून बने जो आम आदमी को भ्रष्टाचार के विरुद्घ लडऩे की ताकत दे। मगर सवाल यह है कि क्या यह व्यवस्थायें ऐसी ही चलती रहेंगी या इसमें परिवर्तन होगा। क्या इस देश का आम आदमी अपना शोषण होते यूं ही देखता रहेगा या व्यवस्था के विरुद्घ उठ खड़े होने का संकल्प लेगा। इस बार रामदेव और अन्ना दोनों मिलकर आंदोलन की शुरुआत कर रहे हैं। अगर यह