Connect with us

Hi, what are you looking for?

राजस्थान

जयपुर के पिंकसिटी प्रेस क्लब में जबरदस्त घमासान, गांधीजी को श्रद्धांजलि देने के लिए दारू में छूट

जयपुर का विख्यात पिंकसिटी प्रेस क्लब लिमिटिड बुरे हाल में है। पतन इतना हो चुका है कि यह क्लब बंद होने के कगार पर है। राज्य सरकार भी इसको माफिया के चंगुल से बाहर निकालने के लिए सक्रिय होगई है। राज्य सरकार द्वारा तलब रिपोर्ट में क्लब के बारे में कई चौकाने वाली जानकारी मिली है। रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रेस क्लब अराजकता का अड्डा बनकर रह गया है। रिपोर्ट में आगाह किया गया है कि राज्य सरकार ने तत्काल हस्तक्षेप नहीं किया तो क्लब में कभी भी अप्रिय वारदात होने की आशंका है। बताया जाता है कि नई कार्यकारिणी के 6 माह के कार्यकाल में अब तक 27 बार पुलिस तथा आबकारी विभाग की टीम क्लब परिसर में प्रवेश कर चुकी है।

दरअसल क्लब का माहौल खराब करने के पीछे महासचिव मुकेश चौधरी का बहुत बड़ा योगदान है। पिछले छह माह में यह अपने सभी विरोधी उपाध्यक्ष बबिता शर्मा, कोषाध्यक्ष रघुवीर जांगीड़, वरिष्ठ पत्रकार महेश झालानी, संजय सैनी तथा रामस्वरूप चौधरी को निलंबित तथा कार्यकारिणी सदस्य दिनेश अधिकारी को गैर कानूनी तरीके से निष्कासित कर चुका है।

Advertisement. Scroll to continue reading.

अध्यक्ष और महासचिव की तानाशाह प्रवृति के चलते उपाध्यक्ष बबिता शर्मा, देवेंद्र तंवर, कोषाध्यक्ष रघुवीर जांगीड़ तथा कार्यकारिणी सदस्य मनोज शर्मा, दिनेश अधिकारी, अनिता शर्मा, कानाराम कड़वा और पुष्पेंद्र राजावत ने मोर्चा खोल दिया है। पन्द्रह सदस्य कार्यकारिणी में 8 लोग अध्यक्ष और महासचिव के खिलाफ हैं। निखलेश शर्मा, बाबूलाल भारती और मयंक ने दोनों से दूरी बना ली है। राहुल भारद्वाज और विमल तंवर ने भी अध्यक्ष और महासचिव को चेतावनी दी है।

क्लब की लड़ाई अब आपसी लांछन, व्यक्तिगत और पारिवारिक चरित्र हनन तक पहुंच चुकी है। उपाध्यक्ष बबिता शर्मा से बदला लेने और उनको बदनाम करने की गरज से एक महिला की झूठी-सच्ची शिकायत पर अध्यक्ष और महासचिव ने एक कमेटी बनाकर बबिता का चरित्र हनन किया। कमेटी के दो सदस्य एलएल शर्मा तथा मुकेश मीणा कमेटी में शरीक नहीं हुए। एक सदस्य सन्नी आत्रेय ने शिकायतकर्ता महिला को संदिग्ध बताया। केवल एक सदस्य सत्य पारीक ने अपनी रिपोर्ट पेश की। नियमानुसार किसी बाहरी महिला की शिकायत पर कार्रवाई या सुनवाई करने का क्लब को कोई अधिकार नहीं है क्योंकि क्लब ना तो पुलिस थाना है और ना ही न्यायालय।

Advertisement. Scroll to continue reading.

बबिता शर्मा ने ब्लैकमेल करने, मानसिक उत्पीड़न, बनावटी शिकायत करने के सम्बंध में थाना महेश नगर, जयपुर में अध्यक्ष अभय जोशी, महासचिव मुकेश चौधरी, कार्यकारिणी सदस्य विमल तंवर तथा पूर्व अध्यक्ष सत्य पारीक के खिलाफ एफआईआर (683/2019) दर्ज करवाई है। इस मुकदमे के सम्बन्ध में पुलिस तेजी से कार्रवाई कर रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगते हुए दोषी लोगों के खिलाफ उचित कार्रवाई करने का निर्देश प्रदान किया है।

प्रेस क्लब में गांधीजी को श्रद्धांजलि देने के लिए दारू में छूट, उच्च शिक्षा मंत्री सुभाष गर्ग बैरंग ही क्लब से उल्टे पांव भागे

Advertisement. Scroll to continue reading.

पिंकसिटी प्रेस क्लब में जोरदार हंगामे और हाथापाई के बाद उच्च शिक्षा मंत्री सुभाष गर्ग बैरंग ही भागने को मजबूर हुए। प्रेस क्लब की ओर से स्थापना दिवस समारोह आयोजित होना था। लेकिन कार्यकारिणी के अधिकांश सदस्य अध्यक्ष और महासचिव की मनमानी के विरुद्ध थे। कार्यकारिणी सदस्यो के उग्र तेवर को देखते हुए अध्यक्ष व महासचिव ने स्थापना दिवस समारोह के बजाय इसका नाम गांधी जन्म शती समारोह कर दिया और गांधीजी को श्रद्धांजलि देने के लिए शराब पर भारी रियायत दी। सुभाष गर्ग इसी समारोह में शरीक होने आए थे। वे जैसे ही बोलने के लिए खड़े हुए, कार्यकारिणी के उग्र सदस्यो ने अपने तेवर दिखाते हुए मंत्री के साथ हाथापाई की कोशिश की। अंततः मंत्री बैरंग ही यहाँ से लौट गए।

देखें क्लब की हालत से जुड़े कुछ डाक्यूमेंट्स….

Advertisement. Scroll to continue reading.

पिंक सिटी प्रेस क्लब के एक सदस्य द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.

https://www.youtube.com/watch?v=Rzq8h4WwiaQ
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

भड़ास को मेल करें : Bhadas4Media@gmail.com

भड़ास के वाट्सअप ग्रुप से जुड़ें- Bhadasi_Group_one

Advertisement

Latest 100 भड़ास

व्हाट्सअप पर भड़ास चैनल से जुड़ें : Bhadas_Channel

वाट्सअप के भड़ासी ग्रुप के सदस्य बनें- Bhadasi_Group

भड़ास की ताकत बनें, ऐसे करें भला- Donate

Advertisement