स्टिंग से सामने आई पत्रकार हसन सुरूर की असलियत, बच्ची का यौन शोषण करने की नीयत रखने के आरोप में अरेस्ट

नई दिल्ली। भारतीय मूल के ब्रिटिश जर्नलिस्ट हसन सुरूर को एक बच्ची का यौन शोषण करने की मानसिकता रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार उन्हें एक चाइल्ड राइट्स ग्रुप द्वारा हसन का स्टिंग ऑपरेशन किए जाने के बाद गिरफ्तार किया गया। स्टिंग में सुरूर ने बच्ची से मिलने की बात को स्वीकार किया है। 65 वर्षीय हसन कई भारतीय तथा अन्तरराष्ट्रीय मीडिया ग्रुप्स के लिए रेगुलर कॉलम लिखते हैं।

एंटी-पीडोफिलिया ग्रुप अननोन टीवी नामक इस ग्रुप ने अपने फेसबुक पेज पर हसन का स्टिंग वीडियो जारी किया था। वीडियो में हसन ने स्वीकार किया कि वह नौ नवंबर को चेल्सी से लंदन के डेप्टफोर्ड ब्रिज के डीएलआर स्टेशन में 14 साल की एक बच्ची से मिलने गए थे। वीडियो में स्टिंग कार्यकर्ता हसन पर आरोप लगा रहे हैं कि वह बच्ची का यौन शोषण करना चाहते थे। परन्तु हसन ने अपनी सफाई में कहा कि वह बच्ची से यह कहने की कोशिश कर रहे थे कि हसन उससे उम्र में काफी बड़े हैं। उनके मुताबिक उन्होंने सेक्स करने की कोई बात नहीं की थी।

ब्रिटिश मीडिया की रिपोर्ट्स के अनुसार हसन ने बच्ची का शोषण नहीं किया। वे सिर्फ बच्ची से मिलने गए थे जो बाद में नाबालिग निकली। परन्तु एंटी-फिडोफिलाया ग्रुप की शिकायत पर ब्रिटेन की पुलिस ने हसन को बच्ची से गलत नीयत से मिलने के आरोप में अरेस्ट किया। ब्रिटिश ट्रांसपोर्ट पुलिस ने बताया कि हसन को अरेस्ट कर लिया गया है। उन्हें गुरुवार को वेस्ट मिंस्टर मजिस्ट्रेट की कोर्ट में पेश किया जाएगा।

ब्रिटेन और यूएस में अननोन टीवी जैसे कई सोशल ग्रुप्स एक्टिव हैं जो सोशल मीडिया नेटवर्किंग साइट्स पर खुद को नाबालिग बताकर पुरुषों से बातचीत बढ़ाते हैं। बाद में पुरुष उनसे मिलने पहुंचते हैं तो उनके बातों को टेप कर वीडियो को ऑनलाइन जारी कर दिया जाता है तथा पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी जाती है। पुलिस ने इन ग्रुप्स को कई बार वॉर्निंग भी दी है कि उनका काम करने का तरीका गलत है।



भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code