भक्तों की सरकार, अफवाहों की सोशल मीडिया, सेल्फी पत्रकार, खबरों का नाश

खबरों के मामले में इन दिनों बड़ी मजेदार स्थिति है। हर तरह की खबर है आप चाहे जो ले लीजिए, जिसपर विश्वास कीजिए या आपको जो मिल जाए। सब संभव है। आप चाहें तो केंद्र सरकार की भक्ति वाली खबरें देख सुन पढ़ सकते हैं, थोड़ी मेहनत करें तो अधिकृत खबर पा सकते हैं, थोड़ा और मेहनत-खर्च करें तो वास्तविक स्थिति जान सकते हैं। कहने का मतलब कि अधिकृत बताई जाने वाली खबर भी आधी-अधूरी, एक पक्षीय या जैसा कल मैंने लिखा था, विचार घुसेड़ी हुई हो सकती है।

उदाहरण के लिए, परसों दिन भर खबर उड़ती रही कि आमिर खान इनक्रेडिबल इंडिया के ब्रांड एम्बैसडर नहीं रहे। उन्हें हटा दिया गया, उनका कार्यकाल पूरा हो गया, इस संबंध में ठेका किसी और कंपनी से था उन्हें सरकार ने रखा ही नहीं था, हटाया इसलिए गया कि उन्होंने देश में बढ़ती असहिष्णुता की बात की थी। संचार क्रांति के कारण अब एक ही समय भिन्न स्रोतों से सूचनाएं उपलब्ध हो सकती हैं और सूचना देने-लेने का कोई अधिकृत कायदा या तो है नहीं, या उसका पालन नहीं किया जा रहा है या जान बूझकर ऐसी स्थिति बना दी गई है कि खबरें अब मनोरंजन का रूप लेती जा रही हैं।

आमीर खान का मामला काफी पुराना हो चुका है लेकिन करीब आज करीब 12:50 बजे मुझे गूगल ने इन शीर्षकों वाली खबरें दीं। पहली दो आईबीएन लाइव और इंडियन एक्सप्रेस की – परस्पर विरोधी है। जबकि इन्हें पोस्ट किए जाने का समय लगभग एक बताया जा रहा है। सात मिनट पहले पोस्ट की गई खबर ज्यादा नई लग रही है। यह सब इसलिए कि ब्रेकिंग न्यूज में खबरें जल्दी और पहले पेश करने के लिए भारी मारा-मारी और अंधेरगर्दी चल रही है। 

इन दो खबरों को पढ़ने का बाद मैं आपको एक और जानकारी देता हूं जो शायद आपको ना हो और मैंने थोड़ा समय व श्रम लगाकर प्राप्त किया है। अंग्रेजी दैनिक हिन्दुस्तान टाइम्स के मुताबिक विवाद की शुरुआत तब हुई जब भारतीय जनता पार्टी के लिए आईटी, वेबसाइट और सोशल मीडिया मैनेजमेंट सेल देखने वाले अमित मालवीय ने ट्वीट किया, “Aamir Khan removed as brand ambassador of Incredible # India.” ट्वीटर की अलग दुनिया है पर इस गलत खबर को (क्योंकि एक जिम्मेदार व्यक्ति ने दी थी) सेल्फी पत्रकारों ने बिना जांचे-परखे परोस दिया। चूंकि अमित मालवीय खबर के अधिकृत स्रोत नहीं हैं, इसलिए अखबारों और चैनलों को (जो साइट पर और वैसे खबरें दे रहे थे) बताना चाहिए था कि खबर अधिकृत नहीं है और कायदे से अधिकृत स्रोत से इसकी पुष्टि की जानी चाहिए थी।

यह सब नहीं किया गया क्योंकि अब खबरें अधिकृत तौर पर जारी भी नहीं की जाती हैं। इसी तरह ‘छोड़’ दी जाती हैं। भक्त लपक लेते हैं, अपनी सरकार की बहादुरी मान लेते हैं। सरकार थोड़ी देर में खंडन-मंडन करके स्थिति ऐसी बना देती है कि दोनों खबरें बनी रहती हैं। सरकार ने तो कुछ किया ही नहीं। हमने तो स्पष्टीकरण जारी किया था आदि। और काम भी हो गया। एक उपभोक्ता के रूप में आप पैसे देकर ऐसी ही खबरें खरीद रहे हैं। जो सूचना तो नहीं ही है, दिमाग भी खराब करती है।

कायदे से आज यह खबर होनी चाहिए थी कि आमिर मामले में विवाद की शुरुआत कैसे शुरू हुई, क्यों हुई, कौन सेल्फी पत्रकार भाजपा के झांसे में फंसे और सरकार ने कब क्या कहा। पर अब ऐसी पत्रकारिता नहीं होती। दोष पाठकों का भी है। उन्हें जो परोस दिया जाए वही पसंद आता है।

******

http://www.ibnlive.com/news/movies/aamir-khan-still-the-brand-ambassador-of-incredible-india-government-1186324.html
IBNLIVE » MOVIES
Aamir Khan still the brand ambassador of Incredible India: Government
Posted on: 07:52 AM IST Jan 07, 2016, IANS
New Delhi: Bollywood superstar Aamir Khan is still the brand ambassador of Incredible India, the government said on Wednesday.
The tourism ministry issued the clarification following reports in a section of the media that Aamir had been removed as the ambassador of the campaign aimed at promoting tourism in the country.

******

http://indianexpress.com/article/india/cultural-ministry-denies-reports-of-removing-aamir-khan-from-ad-campaign/
Incredible India campaign: Contract over, govt did not remove Aamir Khan, says Mahesh Sharma
The Ministry of Tourism denied reports that Aamir Khan was removed as the brand ambassador for its Incredible India campaign.
By: Express News Service   
New Delhi
Updated: Jan 7, 2016, 7:43
A controversy surrounding actor Aamir Khan erupted on Wednesday after a section of media reported that the Centre had removed him as the brand ambassador of the Incredible India campaign under Tourism Ministry.
Comments on Twitter were fueled by speculation that the move was in response to the actor’s remarks on “growing intolerance” during the Ramnath Goenka Excellence in Journalism Award function last November.
However, clarifying his ministry’s stand, MoS, Tourism, Mahesh Sharma told The Indian Express that it was purely a contractual matter with advertising agency McCann Worldgroup. The Rs 2.96-crore contract with the agency, which featured Khan in a film for the ministry, recently ended.
“Our agreement was with a media agency namely McCann. That was for a particular work. That work they have delivered to us. They have completed that project. Hence, that contract is now over,” Sharma said.

******

लेखक संजय कुमार सिंह वरिष्ठ पत्रकार और मीडिया विश्लेषक हैं. उनसे संपर्कanuvaadmail@gmail.comके जरिए किया जा सकता है.

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें-

https://chat.whatsapp.com/CMIPU0AMloEDMzg3kaUkhs

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *