जिलाधिकारी ने लाठी चार्ज के दौरान पत्रकार का मोबाईल छीना, बोले- मीडियाकर्मी कराते है दंगा!

गोण्डा । क्या जिलाधिकारी को यह हक है कि वह लाठी चार्ज के दौरान घटना स्थल पर कवरेज कर रहे मीडिया कर्मी का मोबाईल छीन लें? प्रतिमा विर्सजन के दौरान हुए बवाल के दौरान घटना स्थल पर कवरेज करने गये गोण्डा लाइव न्यूज मीडिया के वरिष्ठ पत्रकार वेदप्रकाश श्रीवास्तव का मोबाईल डीएम आशुतोष निरंजन ने छीन लिया। बाद में साथी अधिकारियो के यह कहने पर कि कवरेज कर रहा व्यक्ति मीडिया कर्मी है तब वह झल्ला गये और पत्रकार का मोबाईल सड़क पर फेक दिया।

डीएम आशुतोष गुस्से से इस कदर आग बबूला थे कि वे मर्यादा को भूल कर पत्रकार से यह बोले कि मीडिया वाले ही दंगा कराते हैं। साथ ही यह लाठी चार्ज का वीडियो बना कर जिला प्रशासन को बदनाम करते हैं। अब बड़ा प्रश्न यह उठता है कि मीडिया कर्मी आखिर अपना काम कैसे करें? चुनाव को यदि छोड़ दें तो मीडिया कर्मियों को किसी भी कवरेज के दौरान सूचना विभाग द्वारा कोई पास नहीं जारी किया जाता है। प्रशासन की कमियों को उजागर करना यदि गलत है तो फिर मीडिया कर्मी क्या करे?

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Comments on “जिलाधिकारी ने लाठी चार्ज के दौरान पत्रकार का मोबाईल छीना, बोले- मीडियाकर्मी कराते है दंगा!

  • sawal to ye bhi hai ki adhikaari apna kaam kaise karen???? patrkaar kisi chhoti si ghatna ko poore zle me pahuncha dete hain… fauran kehte hain hindu-muslim ho gay… whats app group aur social media, sms ke zariye chhubhiye netaon tak jb aisee one sided jaankariyan pahunchti hain to ye jhund bana kar pahunch jaate hain aur prashasan ka kaam mushkil kar dete hain… prashasan sakhti na kare to dangaai apna kaam kar jaate hain, prashasan sakhti kare to chhote chhote patrkaar prashasan ko badnaam akrte hain..
    maryada dono ko samjhni chahiye.. akhir me desh qanoon ke mutabiq chalega.. patrkaaro ke nahi..

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *