पत्रकार को पीटने एवं जेल भिजवाने के मामले में एडीएम वीरेंद्र सिंह निलंबित

भोपाल। श्योपुर के पत्रकार को अपर कलेक्टर द्वारा अपने रीडर व गनमैन से पिटवाने और जेल भिजवाने के मामले को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गंभीरता से लिया। पत्रकारों ने चौहान से स्टेट हैंगर में मिलकर अपर कलेक्टर वीरेंद्र सिंह के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। इसके बाद मुख्यमंत्री के निर्देश पर सामान्य प्रशासन विभाग ने बुधवार शाम को श्योपुर के अपर कलेक्टर वीरेंद्र सिंह को निलंबित कर दिया।

एडीएम का आचरण सिविल सेवा नियम के खिलाफ पाया गया है। निलंबन के दौरान सिंह ग्वालियर कमिश्नर कार्यालय में अटैच (संलग्न) रहेंगे।

भूदान की जमीन बेचने को लेकर दिए आदेश पर प्रकाशित खबर से नाराज श्योपुर के अपर कलेक्टर वीरेंद्र सिंह ने पत्रकार के साथ न सिर्फ मारपीट करवाई, बल्कि जेल भी भिजवा दिया। पत्रकारों ने मुख्यमंत्री से स्टेट हैंगर में मुलाकात कर प्रदेश में बढ़ रही इस तरह की घटनाओं पर चिंता जताई।

मालूम हो कि कुछ दिनों पहले नवदुनिया के फोटोग्राफर निर्मल व्यास के साथ भी एक कवरेज के दौरान प्रशिक्षु आईपीएस धर्मराज मीणा ने दुर्व्यवहार किया था। उन्होंने व्यास का कैमरा छीनकर तोड़ दिया था। सीएम ने श्योपुर के घटनाक्रम की प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एसके मिश्रा और आयुक्त जनसंपर्क अनुपम राजन से जानकारी ली। इसके बाद मुख्यमंत्री ने श्योपुर अपर कलेक्टर को निलंबित करने के निर्देश दिए।

एसपी पांडे की भूमिका पर भी सवाल

पत्रकार के खिलाफ हुई कार्रवाई को लेकर श्योपुर के पुलिस अधीक्षक साकेत पांडे की भूमिका पर भी सवाल उठ रहे हैं। दरअसल, पत्रकार के खिलाफ जिस तरह कार्रवाई हुई है, वो पूरी तरह से गलत है। ऐसे किसी भी मामले में पहले पुलिस को तहकीकात करनी चाहिए थी।

संबंधित टेप सुनने के लिए नीचे क्लिक करें…

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *