भ्रष्ट पुलिस की पोल खोलने वाले डिजिटल जर्नलिस्ट जितेंद्र जायसवाल फर्जी मुकदमों में हुए गिरफ्तार

पत्रकार जितेंद्र जायसवाल

लगातार सच्चाई लिखने और पुलिस की हरकतों को अपने वेब पोर्टल के माध्यम से उजागर करने वाले ‘भारत सम्मान’ के पत्रकार जितेंद्र जायसवाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। क्राइम ब्रांच की टीम ने जितेंद्र जायसवाल को अगवा कर लिया था। लगातार खोजबीन करने के बाद यह बात निकलकर सामने आई कि रात में मनीष यादव और अमृत सिंह नाम के दो पुलिस कर्मचारी जो कि क्राइम ब्रांच अंबिकापुर में पदस्थ हैं, ने जितेंद्र जायसवाल को गिरफ्तार कर लिया है। किस प्रकरण में और किसलिए गिरफ्तारी की गई, इस तरह की कोई भी जानकारी नहीं बताई गई।

प्रदेश के कई पत्रकारों द्वारा जब पुलिस अधीक्षक सरगुजा सदानंद कुमार को फोन किया गया और मामले की जानकारी ली जाने लगी तब आनन-फानन में इन्होंने यह बात सामने रखी कि जितेंद्र जायसवाल को कई धाराओं के तहत अपराध पंजीबद्ध कर बीती रात ही गिरफ्तार कर लिया गया है और उसे कोर्ट में ले जाया गया था।

परिजनों का आरोप है कि एक तो पुलिस बिना बताए बिना किसी सूचना के रात में ही जितेंद्र को थाने ले गई। ऊपर से किसी भी प्रकार की सूचना भी नहीं दी गई। आरोप है कि जितेंद्र के साथ काफी मारपीट की गई है। जितेंद्र की पत्नी और परिजनों ने आईजी सरगुजा रेंज हिमांशु गुप्ता और एसपी सरगुजा सदानंद के कार्यालय में जाकर जितेंद्र के गुम होने की लिखित शिकायत की थी। अब पुलिस ने अपनी मोटी चमड़ी बचाने के लिए पत्रकारों के ग्रुप में जितेंद्र को फर्जी पत्रकार कहकर उसकी गिरफ्तारी के बाबत एक प्रेस विज्ञप्ति जारी किया है।

देखने वाली बात यह होगी कि सरगुजा के पत्रकार अपनी-अपनी बारी का इंतजार करेंगे या इस मामले में एकजुट होकर पुलिसिया अत्याचार के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेंगे। इससे पहले भी पुलिस अधीक्षक सदानंद ने बलरामपुर में कई ऐसे फर्जी प्रकरण दर्ज करवाए थे जिसके कारण कई लोग आज भी बेगुनाह होने के बाद भी जेल में हैं।

जितेंद्र जायसवाल ने अपने वेब पोर्टल पर एसपीओ अभय सिंह मार्को उर्फ बंटी की फर्जी गिरफ्तारी के संबंध में पुलिस अधीक्षक सदानंद के खिलाफ खबर लगाई थी। कोतवाली थाने में दिवाली के समय पटाखा व्यापारियों से भयादोहन कर पुलिस कर्मियों द्वारा पटाखा लाकर थाने में रखने को लेकर भी न्यूज अपने ‘भारत सम्मान’ पोर्टल में छापी थी। इसकी खीज में पुलिस वालों ने जितेंद्र जायसवाल पर फर्जी मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया।

संबंधित खबर….

थाने में पड़े ढेरों दिवाली गिफ्ट की सचित्र खबर छापने पर थानेदार ने भेजा धमकी भरा नोटिस



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

One comment on “भ्रष्ट पुलिस की पोल खोलने वाले डिजिटल जर्नलिस्ट जितेंद्र जायसवाल फर्जी मुकदमों में हुए गिरफ्तार”

  • Tanveer Ansari says:

    पुलिस वाले अपनी मन मानी करने लगे हैं इसे रोकने में जितेंद्र कुमार जायसवाल जी बहुत प्रयास कर रहें हैं।
    सभी आम जनता से निवेदन है की उनका साथ दे

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code