पत्रकार बनाने के नाम पर सत्तर हजार लिए और थमा दिया पचास विजिटिंड कार्ड!

जनसंदेश का 70 हजार रुपये वाला विजिटिंग कार्ड… मामला कानपुर का है जहाँ जनसंदेश टाइम्स का यूनिट हेड विजय श्रीवास्तव ने कानपुर दक्षिण में एक युवा व नये-नये बने पत्रकार को ब्यूरो प्रमुख बनाने के नाम पर 70 हजार रुपये की धन उगाही कर ली और बदले में सिर्फ 50 विजिटिंग कार्ड दिये… समीर गोयल निवासी कानपुर जो कि अभी नये-नये पत्रकार बने हैं, के सिर पर जुनून भी था, दलदल में फंसने का बुखार भी चरम पर था, बिचवानी बने आकाश अस्थाना ने इन्हें जाकर जनसंदेश टाइम्स कानपुर के यूनिट हेड विजय श्रीवास्तव से मिलवाया.

काफी देर की मान-मनौव्वल के बाद विजय ने अपना रंग दिखाना शुरू किया और मामला आकर अटका रुपयों पर. विजय ने अपना मुँह खोलते हुए समीर गोयल से 2,50,000/- रुपये की डिमाण्ड रखी तथा साथ ही पत्रकारिता का लब्बो-लुआब समीर गोयल नामक न्यूकमर पत्रकार को दिखाया गया. तमाम झाम-ताम के बाद विजय श्रीवास्तव ने सौदा पटता न देख अपनी डिमाण्ड घटायी जिसके एवज में उसने एक लाख रुपये कम कर दिये तथा 1,50,000/- रुपये में मामला टिका. समीर ने इसके बावजूद अपनी माली हालत ठीक नहीं होने का हवाला दिया. काफी जद्दोजहद तथा तोड़-मरोड़ के बाद समीर ने पहली किस्त अदायगी 40,000/- रुपये की की तथा बाद में 30,000/- रुपये और दिये, यह रकम कैश दी गयी और कुल 70,000/- रुपये में विजय श्रीवास्तव ने बकरा हलाल किया.

डाक्यूमेन्ट मांगने के नाम पर समीर को विज्ञापन का रेट कार्ड तथा 50 विजिटिंग कार्ड दिये गये. इसके बाद इन्हें मार्केट में रंगबाजी के साथ काम करने की हिदायत दी गयी. कई सारे डायलागों के बाद जेब गरम होने का फल समीर की पीठ ठोंककर दिया गया. जब समीर ने पूछा कि सर, खबर कैसे कलेक्ट करनी है तो विजय श्रीवास्तव ने बताया कि अभी आप खबर नहीं सिर्फ मार्केट से विज्ञापन लाइये और जिसके मेहनताने में आपको 50 प्रतिशत की भागीदारी प्राप्त होगी. दूसरे बुद्धिजीवियों से सम्पर्क के बाद समीर को अपने साथ फर्जीवाड़ा होने का अहसास हुआ. जब समीर गोयल ने इस बावत विजय श्रीवास्तव से बात की तो वह भड़क गया. समीर ने जब अपने रुपये मांगे तब विजय श्रीवास्तव ने मीडिया के अन्य छुटभैये पत्रकारों को भेजकर समीर पर दबाव बनवाने की जुगत भिड़ायी.  समीर को धमकियां दिलवायी जा रही हैं. समीर से सम्पर्क 09305766600 नम्बर पर किया जा सकता है.

भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code