अलविदा राकेश, हम तुम्हें बचा न सके

बीते कुछ बरसों पहले रायपुर से शुरू हुए एक केबल टीवी चैनल में मुझे भी राकेश चौहान के साथ काम करने, उसके कैमरा चलाने के दौरान पीटीसी करने का मौका मिला था. तब से अब तक राकेश सबके लिए छोटा भाई था, एक कुशल कैमरामैन, एक जुझारू कर्मचारी.

 इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में महज़ बाईस बरस की उम्र एक पुराने संस्थान में परिपक्व कैमरामैन बनने के लिए भला होती ही कितनी है. इसके साथ ही दफ्तर आते ही ब्यूरो, रिपोर्टर्स, स्टाफ़ से हँसते, मुस्कुराते मिलना, अन्य संस्थानों के कर्मियों से बड़ी आत्मीयता से मिलकर उनके दिल में घर बनाने का हुनर इस उम्र में भला कितनों को आता है? पर ईटीवी के कैमरामैन रहे राकेश ने अपनी छोटी सी ज़िंदगी में वो तमाम मिसाल कायम कर ली थी, जो एक कुशल कैमरामैन किसी मीडिया संस्थान में काम करते हुए हासिल करना चाहता है.

बुधवार को ईटीवी के कैमरामैन अपने साप्ताहिक अवकाश के दौरान अपनी माँ को लेकर बाइक से अपने गृहग्राम जा रहे थे. तभी सिमगा के पास किसी अज्ञात वाहन ने राकेश को टक्कर मारी. टक्कर इतनी खतरनाक थी कि राकेश की माँ ने मौके पर दम तोड़ दिया और राकेश दो से ढाई घंटे तक मौके पर तड़पता रहा. आख़िरकार रायपुर पहुंचते पहुंचते राकेश मीडिया और अपनी दुनिया को अलविदा कह चुका था.

ये दुखद इत्तेफ़ाक़ नहीं तो भला क्या है, कि जिस संजीवनी सेवा के हड़ताली कर्मियों की खबर को अपने रिपोर्टर के साथ बीते दिनों रायपुर के धरनास्थल से लाईव कराया था, उन्हीं कर्मियों का घटनास्थल समय पर न पहुंचना राकेश के लिए मौत का सबब बन गया. इस घटना की जानकारी के बाद धरनारत कर्मियों ने धरनास्थल पर राकेश को श्रद्धांजलि दी.

महज़ बाईस बरस, इतनी छोटी सी उम्र में ईटीवी जैसे संस्थान में अपने आप को राकेश ने बड़ी मेहनत से कायम कर रखा था. आज राकेश के गुजर जाने से तेलीबांधा स्थित ईटीवी का दफ्तर वीरान सा लग रहा है. संस्थान के रिपोर्टर्स, जिन्हे राकेश ने अपनी कुशल मेहनत से टिक टैक, पीटीसी कराया, वो रिपोर्टर्स आज उदास हो गए हैं. सच कहें, इस युवा और उत्साही मीडियाकर्मी को खोने से समूचे छत्तीसगढ़ की मीडिया में शोक की लहर है. चूँकि छत्तीसगढ़ में निजी ठेका कम्पनी के विरोध में आपातकालीन संजीवनी सेवा के कर्मी बीते कई दिनों से धरने पर बैठे हैं, लिहाज़ा राकेश को घटनास्थल पर उचित समय में इलाज़ नहीं मिल सका और राकेश ने दुनिया को अलविदा कह दिया.

सीएम ने जताया दुःख

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज सिमगा के पास सड़क हादसे में टेलीविजन चैनल ई.टी.व्ही. के कैमरामेन श्री राकेश चौहान और उनकी माता के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। डॉ. सिंह ने दिंवगतों के शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना प्रकट की है.

कांग्रेस ने की मुआवज़े की मांग

ई.टी.वी. के कैमरामेन राकेशचौहान के सड़क दुर्घटना में घायल होने और अधिक रक्त स्राव होने तथा समय पर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध नहीं हो पाने के कारण मौत होने की घटना पर प्रदेष कांग्रेस अध्यक्ष भूपेष बघेल ने कहा है कि मुख्यमंत्री को इस घटना की नैतिक जिम्मेदारी लेनी चाहिए तथा मृतक कैमरामेन के परिवार को 10 लाख रूपये तत्काल सहायता दिये जाने की कांग्रेस मांग करती है।

योगेश मिश्रा,

रायपुर का एक पत्रकार

स्टेट हेड, न्यूज़ फ्लैश 

प्रदेश अध्यक्ष, पत्रकार प्रेस परिषद, छग 

88271 030000

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें-

https://chat.whatsapp.com/CMIPU0AMloEDMzg3kaUkhs

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *