दैनिक ‘नव ज्योति’ के अखबारकर्मी भारी दबाव में

जयपुर। दीनबंधु चौधरी की ओर से शुरू किया गया दैनिक नव ज्योति का जयपुर संस्करण बंद होने की कगार पर है। बताया गया है कि प्रबंधन की नीतियों से क्षुब्ध कई पत्रकार नौकरी छोड़ने के मूड में हैं।

सूत्रों के मुताबिक मजीठिया आयोग की सिफारिशों पर अमल फरमाने को लेकर प्रबंधन घबराया हुआ है। उल्लेखनीय है कि अखबार के जो पत्रकार ग्रेड पर हैं, उनको मजीठिया आयोग की सिफारिशों के नाम पर कुछ आर्थिक राहत दी गई है, जबकि अधिकतर पत्रकारों को कागजों में फ्री लांसर ही दिखाया जा रखा है। इन फ्री लांसर की सालाना वेतन वृद्धी भी अधिकतम पांच सौ रुपये तक ही की जाती है।

जयपुर संस्करण में कार्यरत अखबार कर्मियों के तरह तरह से प्रताड़ित किए जाने की भी सूचनाएं हैं। रिपोर्टरों को रोजाना मीटिंग के नाम पर कई कई घंटे खड़ा रखा जाता है। इंटरनेट यूज़ करने पर वेतन कटौती की चेतावनी दी जाती है। वेतन लेने से पूर्व रिपोर्टर्स से शहर के दो-दो गणमान्य लोगों का रेफरेंस लिखित में मांगा जाता है। पत्रकारों पर इस तरह का दवाब बनाया जा रहा है कि वे खुद ही नौकरी छोड़ जाएं।

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *