अमर उजाला में दैनिक जागरण के हवाले से खबर छपने के मामले में तीन पत्रकार सस्पेंड

अमर उजाला में पिछले दिनों एक खबर छपी थी जो मूलत: दैनिक जागरण में छपी खबर को चोरी करके लगाया गया था. इस खबर में साफ साफ लिखा था कि ”दैनिक जागरण से बातचीत में जानकारी दी” यानि खबर तो चोरी कर ली गई लेकिन उसे एडिट करना, कम से कम दैनिक जागरण का नाम हटाना रह गया था. ऐसी गंभीर गलती पर अमर उजाला प्रबंधन ने तीन पत्रकारों को सस्पेंड कर दिया है.

सूत्रों का कहना है कि अमर उजाला के गुरुग्राम एडिशन में दैनिक जागरण के हवाले में खबर छपने के मामले में अमर उजाला संस्थान ने जिन तीन लोगों को सस्पेंड कर दिया है, उनके नाम हैं- गुरुग्राम के रिपोर्टर गौरव चौधरी, ब्यूरो चीफ मयंक तिवारी और डेस्क की दीपा त्रिपाठी. इन तीनों को अगले आदेश तक के लिए निलंबित कर दिया गया है.

संबंधित खबर…



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “अमर उजाला में दैनिक जागरण के हवाले से खबर छपने के मामले में तीन पत्रकार सस्पेंड

  • Rita semwal says:

    उदय कुमार और भूपेंद्र सिंह ने अपने चमचे मयंक तिवारी को बचाने के लिए जिस निर्दोष रिपोर्टर को निशाना बनाया गया वह पहले ही इन तीनों की राजनीति समझकर इस्तीफा दे चुका है

    Reply
  • गौरव चौधुरी ने इस्तीफा दे दिया था पहले ही। अब उदय कुमार और भूपेन्द्र ने अपनी नौकरी बचाने को तीनों की बलि चढ़ा दी। मयंक और उदय और भूपेंद्र कुमार की पैसा कमाऊ योजना अब लोगो के सामने आ गए है। मयंक जैसे लोगो को कोई फर्क नही पड़ता ससपेंड का। क्योकि वो सेलरी से कई गुना ज्यादा कमा चुका है। अभी मयंक का एक और चेला शाहनवाज आलम कमाने के लिए gurgaon में बैठा है। भूपेन्द्र कुमार अब उसे ब्यूरो चीफ बनाने की फेर में हैं। ताकि अपनी दुकान चलती रहे। चूतिया संपादक भूपेन्द्र कुमार के कारण आज ये दिन देखना पर रहा है। कंपनी को सबसे पहले ऐसे संपादक को बाहर का रास्ता दिखाने चाहिए। जिसने अखबार की छवि अपने व्यक्तिगत रिस्तो और व्यवसाय के लिए खराब की। जब छोटे कर्मचारी को सजा मिली है तो ऐसे बड़े संपादक को भी मिलनी चाहिए। जिनकी नौकरी जाएगी क्या उनका घर मयंक उदय या भूपेंद्र या फिर कम्पनी चलाएगी।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code