‘पत्रिका’ अखबार के मालिक गुलाब कोठारी हुए मोदी स्तुति में लीन, राजकुमार सोनी की टिप्पणी पढ़ें

रायपुर। छत्तीसगढ़ के तेजतर्रार पत्रकार कहे जाने वाले राजकुमार सोनी कभी पत्रिका अखबार लांच होने पर रायपुर में पत्रिका के झंडाबरदार पत्रकार हुआ करते थे। तत्कालीन भाजपा सरकार, मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह के खिलाफ लिखने में वे कोई कोर कसर नहीं छोड़ते थे। पत्रिका ने उन्हें एक बड़ा मंच दिया। वे रायपुर से लेकर बस्तर तक अपनी कलम से रिपोर्टिंग करते और खूब प्रशंसा पाते रहे।

पत्रिका अखबार भी छत्तीसगढ़ में आते ही निष्पक्ष पत्रकारिता का एक मानक बन गया था और डॉक्टर रमन सिंह के खिलाफ हर एक समाचार और हर एक मुद्दे को उछालता-प्रकाशित करता रहा। धीरे धीरे पत्रिका के स्वर मद्धम पड़ने लगे। राजकुमार सोनी की कलम को रोका जाने लगा।

पत्रिका के मालिकानों की जाने क्या डील हो गई कि 2018 के विधानसभा चुनाव से कुछ समय पहले छत्तीसगढ़ से सोनी का तबादला कर दिया गया ताकि मुख्यमंत्री के रूप में डॉ रमन सिंह खुश रहें। डॉ रमन सिंह की वक्र दृष्टि के कारण अंततः राजकुमार सोनी को पत्रिका अखबार छोड़ना पड़ा। सोनी अब छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में ‘अपना मोर्चा’ वेब पोर्टल संचालित कर रहे हैं। उन्होंने पत्रिका के मालिक और मुख्य संपादक गुलाब कोठारी पर एक तंज कसा है। ऐसा इसलिए क्योंकि गुलाब कोठारी अब मोदी की स्तुति में लग गए हैं। सोनी ने गुलाब कोठारी द्वारा नरेंद्र दामोदरदास मोदी की स्तुति गान पर सवाल खड़ा किया है। राजकुमार सोनी की यह टिप्पणी मीडिया जगत में वायरल हो गयी है। आप भी देखिए-

”देश के अत्यंत ही निष्पक्ष अखबार राजस्थान पत्रिका के मालिक गुलाब कोठारी ने स्तुत्य संकल्प मतलब तारीफ-ए-काबिल शीर्षक से नरेन्द्र मोदी को भाई मानते हुए एक टिप्पणी लिखी है. इस टिप्पणी में उन्होंने साफ लिखा है कि उनके अखबार के अब सभी एडिशन नरेन्द्र मोदी भाई की भावी योजनाओं के लिए समर्पित रहेंगे. गुलाब कोठारी जी को शत-शत प्रणाम. शत-शत नमन. देश के विकास में उनका यह जबरदस्त योगदान. याद रखेगा हिन्दुस्तान. जब तक सूरज-चांद रहेगा कोठारी जी नाम रहेगा. बोलो… भारत माता की….. जय”

रायपुर से सुरेशचंद रोहरा की रिपोर्ट

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “‘पत्रिका’ अखबार के मालिक गुलाब कोठारी हुए मोदी स्तुति में लीन, राजकुमार सोनी की टिप्पणी पढ़ें

  • कुंवर कमलसिंह यदुवंशी says:

    पत्रकारिता पूंजीवाद की गिरफ्त में है। विज्ञापन के लालची अखबार अब चाटूकारिता पर उतर आए है। नेता अब अख़बार पर भारी पड़ने लगे गए।

    जय लोकतंत्र, जय पत्रकारिता, जय भारत।

    Reply
  • Usse bhi badi baat ki chunav ke results se purv isi kothari ne desh ko hara diya.
    Dal bhi haare or desh bhi haara is heading se samachar lagaya. Bharat n kabhi hara or n haregaa. Samjhe kothari
    Dogla he patrika
    Kesargarh par kabja rakhne ke liye aisa Ho raha he

    Reply
  • जिया says:

    में भी यह गुलाब कोठारी जी पत्र देख कर स्तम्भ हो गया। में पत्रिका का पाठक हु में उसको इसलिए पसंद करता था क्यों कि वह एक बेवाक अन्तिम व्यक्ति की लडाई लड़ते थे विपक्ष की भूमिका पत्रिका निभता था

    Reply
  • Ek samay Rajasthan me bhi patrika ye kar Chuka hai uske bad Rajasthane patrika ki saakh gir gai hai. In logo ka iman Mar gaya hai aur samaj bhi so Chuka hai. Tabhi is tarah ka tamasha ho Raha hai

    Reply
  • joshi pawan says:

    bar hi khet na khay ki kahawat ko ujagar karata hai. chatukaro ke giroh me ghira gulab kothari ab patrika ke dubte jahaj ka captain ho gaya hai. god bless him.

    Reply
  • Naresh Malakar says:

    ye sab paiso ki maya hai, jab essi akhbar ko rajasthan ki BJP sarkar ne advertisement dena band kar diya tha tab ye hi gulab kothari sarkar ke khilaf ek campion shuru kiya tha jiska naam tha jab tak kala tab tak tala. inhone to apne akhbar mai to mukhyamantri ka naam tak na chapane ka aadesh diya tha, aaj jab modi ne chunav phir se jeet liya to ye chatukarita per utar aaya hai

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *