मोदी सरकार ने फिर एक नया झूठ पेश किया!

दीपांकर डीपी-

ऑक्सीजन की कमी से एक भी भारतीय भारत की सीमा के भीतर नहीं मरा है. ये भारत सरकार ने जवाब दिया है.

कर्नाटक कांग्रेस के केसी वेनुगोपाल ने राज्य सभा में सवाल पूछा। बस सवाल ये था कि क्या ये बात सही है कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान आक्सीजन की कमी से लोगों की मौत हुई है?

ज़वाब में केन्द्र सरकार की तरफ से कहा गया कि एक भी आदमी की मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई है.

ये स्टेटमेंट मैं लेमिनेशन करके अपने कमरे में लगाने जा रहा हूं.


शीतल पी सिंह-

“NO deaths due to LACK of OXYGEN were specifically reported by states and union territories during second COVID-19 wave: Govt in Rajya Sabha”

ये सरकार का राज्य सभा में जवाब है कि आक्सीजन की कमी से कोरोना की दूसरी लहर में कोई कहीं नहीं मरा ।

इसी सरकार के बयान पर आप विश्वास कर सकते हैं कि इसने नागरिकों की जासूसी के लिए Pegasus के स्पाईवेयर का स्तेमाल नहीं किया ?!


सौमित्र रॉय-

वो अप्रैल-मई की बेहद सर्द रात थी, जब घड़ी 13 बजा रही थी।

जॉर्ज ओरवेल ने शायद बीजेपी की झुठल्ली सरकार के लिए ही ये शब्द कहे होंगे- ‘जो सरकार संसद में भी झूठ बोले, उससे लोकतंत्र की नहीं, तानाशाही की उम्मीद कीजिए।’

अब दुनिया भी मान रही है कि नरेंद्र मोदी एक तानाशाह है।




भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code