यूपी सरकार ने मुज़फ्फरनगर दंगों की जांच के लिए बनाया सहाय कमीशन

उत्तर प्रदेश सरकार ने एक आरटीआई के उत्तर में आधिकारिक रूप से स्वीकार किया है कि मुज़फ्फरनगर में हुए साम्प्रदायिक तनाव और हिंसात्मक वारदातों, जिसमें कई लोगों की मौत हुई और अनेक घायल हुए, की जांच करने के लिए उसे जांच आयोग बनाना पड़ा.

आरटीआई कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर द्वारा मांगी सूचना पर गृह विभाग के सीएल गुप्ता, उपसचिव ने 04 जुलाई 2014 के पत्र द्वारा बताया है कि 27 अगस्त से 09 सितम्बर 2013 तक “जनपद मुज़फ्फरनगर में अनेक स्थान पर साम्प्रदायिक तनाव पैदा हुआ और हिंसात्मक वारदातें हुईं जिसमे अनेक व्यक्तियों की मृत्यु हो गयी और बहुत से व्यक्ति घायल हुए, जिसकी जांच हेतु” एक सदस्यीय विष्णु सहाय आयोग का गठन किया गया.

Muzaffarnagar Riots1 640x480Muzaffarnagar Riots2 640x480

आरटीआई उत्तर में यह भी बताया गया कि जांच पूरी नहीं कर पाने के कारण आयोग द्वारा कार्यकाल बढ़ाने की मांग पर अब तक दो बार 14 नवम्बर 2013 और 19 मई 2014 को आयोग का कार्यकाल बढ़ाया गया है.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *