इस वरिष्ठ पत्रकार को मुंह का कैंसर डायग्नोज हुआ

सत्येंद्र पीएस-

जिंदगी भी कैसे कैसे दिन दिखाती है। हम सबके प्रिय वरिष्ठ पत्रकार महेंद्र यादव कैंसर की चपेट में आ गए हैं। पिछले करीब 15 दिन से टेस्ट की विभिन्न प्रक्रिया चल रही थी। उन्होंने सबसे पहले मुझे ही इसकी जानकारी दी। मेरे माध्यम से हमारे कुछ साझा मित्रों को इसकी जानकारी हुई। अब यह दुखद खबर भी सबसे पहले मुझे ही मिली है कि बायोप्सी का टेस्ट पॉजिटिव आया है। अब उनकी आगे की इलाज की प्रक्रिया चलेगी।

सोशल मीडिया के माध्यम से मेरे तमाम साझा मित्र महेंद्र जी से वाकिफ हैं। पत्रकारिता में उनका लम्बा संघर्ष और सामाजिक जीवन रहा है और वह अपने जनवादी तेवरों के कारण कभी इस फील्ड में इस कदर स्थापित नहीं हो पाए कि सामान्य तरीके से खर्च निकल सके।

हम कवायद में लगे हैं कि उनका बेहतर से बेहतर इलाज हो सके। आगे उनका एक बड़ा ऑपरेशन होना है। उसके बाद का इलाज डॉक्टरों को तय करना है। कैंसर के इलाज के भारी भरकम खर्चे होते हैं। हम लोग उनके बेहतर स्वास्थ्य की कामना कर सकते हैं, उनके इलाज पर आने वाले खर्च को साझा कर सकते हैं। उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना कर सकते हैं। बाकी काम तो चिकित्सक और प्रकृति को करना है।

महेंद्र जी निहायत संकोची व्यक्ति हैं। दुनिया जहान के दर्द और तकलीफों के लिए फेसबुक रंगते हैं। टेलीविजन चैनलों पर बहस करते हैं। द प्रिंट सहित कई पोर्टलों पर लिखते हैं, आकाशवाणी में बोलते हैं। बस अपना दर्द किसी से नहीं कहते। इस हालात में भी उनका रोज आकाशवाणी जाना जारी है, जो मामूली सा आर्थिक सहारा है।

महेंद्र यादव

हम सबके प्रिय भाई महेंद्र यादव जी कैंसर से जूझ रहे हैं। जीभ पर दाईं ओर अंदर की तरफ इंफेक्शन है। सामान्य शब्दों में कैंसर को लोग स्टेज के रूप में जानते हैं, जिसे फर्स्ट, सेकंड, थर्ड और फोर्थ स्टेज कहा जाता है। चिकित्सको का अनुमान है कि उन्हें थर्ड स्टेज का कैंसर है। मेडिकल साइंस इतना डेवलप है कि ईएनटी कैंसर में थर्ड स्टेज के 70% मामलों का उपचार हो जाता है, यह अच्छी बात है। बुरी बात यह है कि इसके इलाज के खर्च का पूर्वानुमान नहीं लग पाता है।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, दिल्ली यानी एम्स का डॉक्टर भीम राव अम्बेडकर रोटरी कैंसर हॉस्पिटल महेंद्र जी का नया ठिकाना है।

महेंद्र जी हम लोगों की सामूहिक जिम्मेदारी हैं। तमाम साथियों ने सहयोग की इच्छा जताई थी। अब वक्त है, मौका भी है। रिश्तेदारों, घर के लोगों, परिचितों, सहकर्मियों,मित्रों सभी के लिए।

जिन साथियों को मिलना हो, यहाँ अस्पताल के नियमों के मुताबिक मिल सकते हैं। कोरोना काल में भौतिक रूप अभी मिलना भी थोड़ा मुश्किल है।

यह रहा बैंक का ब्यौरा…

Mahendra Narayan Singh Yadav
ICICI bank- sector-18, Noida
Saving bank
ac/no. 003101512600.
IFSC code-ICIC0000031

(उन्हें कतई फोन न करें और मैसेज करके रुदाली भी न बनें कि भाई साहब मदद की कोई जरूरत हो तो बताइएगा। मदद तत्काल मोबाइल पर मैसेज से फ्लैश हो जाती है, अब बैंकों में तकनीक बहुत शानदार है।)

बिजनेस स्टैंडर्ड में कार्यरत पत्रकार सत्येंद्र पीएस की एफबी वॉल से.

ज्ञात हो कि सत्येंद्र भी मुंह के कैंसर से लंबी लड़ाई लड़कर जीते हैं.

  • भड़ास तक अपनी बात पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *