बड़ी खबर : एचटी के 400 लोगों ने मुकदमा जीता, होंगे बहाल, मिलेगा बकाया

मीडिया इंडस्ट्री की बहुत बड़ी खबर आ रही है. हिंदुस्तान टाइम्स समूह के मैनेजमेंट से 400 मीडियाकर्मियों ने मुकदमा जीत लिया है. ये चार सौ लोग वर्ष 2004 में हिंदुस्तान टाइम्स मीडिया लिमिटेड से निकाल दिए गए थे. इन्हें एक झटके में प्रबंधन ने निकाल बाहर किया था. श्रम कानूनों से लेकर संविधान की मूल भावना तक की धज्जियां एचटी वालों ने उड़ाई. मजेदार ये कि एचटी मैनेजमेंट की तरफ से अरुण जेटली मुकदमा लड़ रहे थे. साथ ही दर्जनों बड़े वकीलों की फौज भी थी.

हालांकि मंत्री बनने के बाद अरुण जेटली ने वकालत का काम छोड़ दिया है. उधर, चार सौ मीडियाकर्मियों की तरफ से प्रशांत भूषण और उनकी टीम थी. वरिष्ठ पत्रकार अरविंद मोहन ने भी मीडियाकर्मियों की लड़ाई को पूरा सपोर्ट दिया और प्रशांत भूषण को कोर्ट जाकर मीडियाकर्मियों का पक्ष प्रमुखता से रखने को प्रेरित किया. अदालत में लगभग साढ़े ग्यारह – बारह साल तक मुकदमा चला और अब जाकर जो फैसला आया वह मीडियाकर्मियों को खुश करने वाली है.

अदालत ने सभी चार सौ लोगों को वापस काम पर रखने का आदेश एचटी मीडिया को दिया है. साथ ही इनका जो बकाया, ग्रेच्युटी, प्रमोशन ड्यू है, वह सब देने को कहा है. माना जा रहा है कि इस आदेश के बाद एचटी मीडिया पर सैकड़ों करोड़ रुपये की चपत पड़ने वाली है और इनके बड़े बड़े मैनेजरों की टाई सरकने वाली है. इस पूरी लड़ाई को सक्रिय तरीके से लड़ रहे मीडियाकर्मियों के साथी अखिलेश सिंह ने बताया कि कोर्ट के आदेश की कापी जल्द ही भड़ास4मीडिया को मेल कर दी जाएगी ताकि पूरे देश के मीडियाकर्मी जान सकें कि ये बड़े बड़े मीडिया घराने भले करोड़ों खर्च करके नामी गिरामी वकीलों के जरिए अन्याय की लड़ाई लड़ते हैं लेकिन आखिरकार जीत न्याय की ही होती है.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “बड़ी खबर : एचटी के 400 लोगों ने मुकदमा जीता, होंगे बहाल, मिलेगा बकाया

  • अरुण श्रीवास्तव says:

    आंदोलनकारी साथियों को लाल सलाम। सहारा मीडिया कर्मी इससे सबक लें।

    Reply
  • “Satya-Mev-Jayate”…. Ek na ek din to ye hona hi thha… Court-kachahari me waqt to zarur lagta hai, par Jeet “Nyay” ki hi hoti hai… Iss liye iss “Bhrasht Zamaaney” me Desh me Ek “COURT” hi bachaa hai, jo sahi Nyay deta hai… Hum sabhi “Majithia Wage Board” ko Lalayit Karmchariyon ka bhi Bharosa ab “Supreme Court” hi hai, warna ye Baniyon ki Party aur desh ke ye “Bhrasht aur Be-Imaan Akhbaar Malik/ Managers” ka wash chaley to ye Hamaari Aadhi Salary bhi Wapas le-lein…
    Thanks for Bhadas4media

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *