अंबानी चला चुके मीडिया हाउस, टाइम्स वालों को बेचकर पिंड छुड़ाएंगे!

मुकेश अंबानी अपने मीडिया बिजनेस को टाइम्स ग्रुप को बेचने के लिए बातचीत कर रहे हैं. अंबानी घाटे में चल रहे कारोबारों से बाहर निकलना चाह रहे हैं. वार्ता अभी शुरुआती स्तर पर चल रही है. सूत्र के मुताबिक टाइम्स ऑफ इंडिया की प्रकाशक कंपनी बेनेट कोलमैन की तरफ से इस डील के लिए एक सलाहकार की तैनाती कर दी गई है. यह सलाहकार अंबानी की नेटवर्क 18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड के बिजनेस की तहकीकात करेगा. ये भी हो सकता है कि अंबानी पूरा बेचने की जगह मीडिया कंपनी की कुछ हिस्सेदारी बेच दें. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक अंबानी अपने नेटवर्क 18 के एंटरटेनमेंट बिजनेस सेग्मेंट की पूर्ण या कुछ हिस्सेदारी सोनी कॉर्प को बेचने के लिए उसके साथ पहले से ही बात कर रहे हैं.

बाप नहीं चला पाए थे मीडिया हाउस. बेटे ने कोई सबक नहीं लिया और चैनल से लेकर वेबसाइट्स तक खरीद लिए. मीडिया का धंधा फैला लिया. पर बेटा भी फेल हो गया. मीडिया में मुनाफा नहीं कमा पा रहा. मीडिया से मुनाफा तो नहीं ही हो रहा, दुश्मन अलग से बन रहे.

जितने पैसे में मीडिया हाउस चल रहा है अंबानी का, उतने से कम पैसे में वह सारा मीडिया ‘खरीद’ सकता है, गुप्त रूप में. सो, ऐसे हाथ जलाने वाले खुद के मीडिया के धंधे से फायदा क्या. यही सोचकर मुकेश अंबानी ने अब अपने मीडिया हाउस से तौबा करने का इरादा कर लिया है और टाइम्स आफ इंडिया वालों को सब कुछ बेचबाच कर पिंड छुड़ाने की तरफ बढ़ चले हैं.

अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपनी मीडिया कंपनी नेटवर्क18 को 2014 में खरीदा था. नेटवर्क18 के पास सीएनएन न्यूज18, सीएनबीसी टीवी18 और न्यूज18 इंडिया जैसे न्यूज चैनलों व रीजनल न्यूज चैनलों समेत कुल 56 चैनल हैं. विदेशों में रह रहे भारतीयों के लिए 16 अंतरराष्ट्रीय चैनल्स हैं.

इसके अलावा फर्स्टपोस्ट और क्रिकेटनेक्सट जैसी कई वेबसाइट हैं. अंबानी की इस मीडिया कंपनी को 178 करोड़ का नुकसान हुआ है. नेटवर्क18 को मार्च में समाप्त हुए वित्त वर्ष में 178 करोड़ रुपये के नुकसान से अंबानी और उनके मैनेजर परेशान हैं. इस कंपनी की कुल देनदारी 2800 करोड़ रुपये है.

बताया जा रहा है कि मुकेश अंबानी नेटवर्क18 को टाइम्स ग्रुप को बेचने जा रहे हैं. वहीं यह भी चर्चा है कि नेटवर्क 18 के मनोरंजन चैनल जापान की कंपनी सोनी द्वारा खरीदा जा सकता है.

यह भी चर्चा है कि सोनी के भारतीय कारोबार का नेटवर्क18 में विलय किया जा सकता है. इस पूरे घटनाक्रम को लेकर ब्लूमबर्ग ने एक लंबी चौड़ी रिपोर्ट प्रकाशित की है. इस रिपोर्ट के अनुसार सोनी द्वारा नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट्स में हिस्सेदारी खरीदने की योजना के लिए दोनों कंपनियों की बातचीत शुरुआती चरण में है. जल्द डील साइन होने की संभावना है. यह डील होने से सोनी का भारत में आधार मजबूत होगा. सोनी को नेटफ्लिक्स से बढ़त लेने में मदद मिलेगी.

इस पूरे घटनाक्रम पर रिलायंस इंडस्ट्रीज, सोनी और टाइम्स ग्रुप के प्रवक्ताओं ने कुछ भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है.

‘भड़ास ग्रुप’ से जुड़ें, मोबाइल फोन में Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *