जबरन रिटायर ईमानदार आईएएस को आईपीएस अमिताभ की बधाई

यूपी कैडर के आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने कथित रूप से भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई के परिणामस्वरूप रिटायरमेंट से तीन दिन पहले जबरिया सेवानिवृत्ति पर भेजे गए कर्नाटक कैडर आईएएस अफसर एम एन विजयकुमार से फोन पर बात की. ठाकुर ने विजयकुमार को निजी और प्रोफेशनल जीवन में तमाम मुश्किलात झेलने के बाद भी अपनी नैतिक और विधिक जिम्मेदारी मानते हुए लगातार भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज़ उठाने के लिए बधाई दी और उनसे कहा कि सेवा में रहते हुए अपनी बात कह पाने का साहस रखने के कारण तमाम लोग उन्हें अपना आदर्श मानते हैं.

विजय कुमार ने ठाकुर से कहा कि उन पर कुल 7 आरोप लगाए गए जिनमे सरकार से अनुमति लिए बिना मीडिया में जा कर भ्रष्टाचार उजागर करना और उनकी पत्नी जयश्री द्वारा लोकायुक्त के समक्ष वरिष्ठ अधिकारियों के भ्रष्टाचार की शिकायत करना शामिल है. विजय कुमार ने कहा कि अपने ऊपर हुए तमाम हमलों के मद्देनज़र वे इस बात से ही बहुत प्रसन्न हैं कि वे कम से कम जीवित रिटायर हो गए. 

समाचार अंग्रेजी में पढ़ें – 

UP Cadre IPS officer Amitabh Thakur today talked to Karnataka cadre IAS officer M N Vijaykumar, who was given compulsory retirement just three days before his actual date of retirement, allegedly  for his tirade against corruption. 

Thakur congratulated Sri Vijay Kumar for this honour of getting compulsorily retired for what he thought was his duty of raising voice against corruption while facing all the adversities on personal and professional front and told him that many persons treat him as a rare breed who could dare to speak while still in service.  

Vijay Kumar told Thakur that a total of 7 charges were leveled against him, which included charge of going to media to expose corruption without taking permission from the Government and the charge of his wife Ms Jayashree going to Lokayukta regarding charges of corruption by senior officers.

Vijaykumar said he was more than happy that he retired while being still alive because he had to face many direct attempts on his life during his crusade against corruption.

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *