मुद्दा बने कुमार : केजरीवाल मीडिया पर बरसे, महिला आयोग कांफ्रेंस में बवाल, जूही का इस्तीफा

नई दिल्ली : मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि मीडिया आप पार्टी के नेताओं की पत्नियों एवं बच्चों को निशाना बना रहा है। फिलहाल, हमने खामोश रहने का फैसला किया है। हम सरकार के कामकाज से जुड़े सवालों का जवाब देंगे, इस विवाद पर कोई प्रतिक्रिया नहीं देंगे। उन्होंने कहा -खबरें चलाई जा रही हैं कि कुमार विश्वास के किसी के साथ अवैध संबंध थे। कुमार विश्वास इस बात से इनकार कर रहे हैं। यहां तक कि वह लड़की भी अवैध संबंध की बात से इंकार कर रही है। कुमार का पूरा परिवार अवसाद में है। इस बारे में विश्वास के पुत्र से स्कूल में सवाल पूछे जा रहे हैं। मीडिया आप पार्टी की राजनीति के बारे में रिपोर्ट देने के लिए स्वतंत्र है लेकिन उसे आप नेताओं के परिवार को छोड़ देना चाहिए। आप पार्टी कुछ मीडिया हाउसों के साथ बातचीत करने से परहेज करेगी।

इस बीच भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की महिला शाखा की कार्यकर्ताओं ने विश्वास के मुद्दे को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के निवास के बाहर प्रदर्शन किया। हाथों में बैनर लिए कार्यकताओं ने विश्वास के खिलाफ जम कर नारेबाजी की। पुलिस ने बेरीकेड्स तोड़कर मुख्यमंत्री के निवास के पास पहुंचने की कोशिश कर रही महिला प्रदर्शनकारियों को आगे बढ़ने से रोक दिया।

उधर, कुमार विश्वास प्रकरण पर आज दिल्ली महिला आयोग की प्रेस कांफ्रेंस में आयोग की अध्यक्ष बरखा सिंह और सदस्य जूही खान आपस में भिड़ गईं। जूही खान ने कहा कि कुमार विश्वास बेकसूर हैं। उनके खिलाफ साजिश की जा रही है। इस बात पर अध्यक्ष बरखा सिंह भी भड़क गईं। कहा कि जूही आम आदमी पार्टी की सदस्य हैं।

महिला आयोग ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास को आयोग के समक्ष पेश होने के लिए कहा था। आयोग अध्यक्ष बरखा सिंह ने कहा कि कुमार विश्वास झूठ बोल रहे हैं। उन्हें आयोग का नोटिस मिल चुका है, लेकिन वो पेश नहीं हुए। विश्वास के वसुंधरा स्थित घर में समन प्राप्त हो चुका है। डाकघर से समन मिलने की पुष्टि हो चुकी है। विश्वास की वजह से एक महिला का घर टूट रहा है और वह अमेरिका जाना जरूरी समझ रहे हैं।

दिल्ली महिला आयोग की  अध्यक्ष बरखा सिंह ने कहा कि विश्वास को बुधवार दोपहर 12 बजे तक आयोग के समक्ष पेश होने के लिए एक और समन भेजा गया है। इसके बाद भी अगर विश्वास आयोग के समक्ष पेश नहीं होते हैं तो आयोग पुलिस में शिकायत करेगा। पीड़ित महिला के पति राजू खान, विश्वास और उनकी पत्नी को समन भेजा गया है। महिला आयोग ने तीन अन्य समन भेजे हैं। अगर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और विश्वास इस मामले को सुलझा लेते और महिला की मदद करते तो वो आयोग के समक्ष नहीं आती। 

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान महिला आयोग की सदस्य आपस में उलझ गईं। बरखा सिंह के बगल में बैठी आयोग की सदस्य जूही खान ने आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास का समर्थन किया। उन्होंने इसे विश्वास के खिलाफ राजनीतिक साजिश बताया। वहीं, बरखा सिंह ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने जानबूझकर जूही खान को भेजा है। जूही खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि कुमार विश्वास के खिलाफ राजनीतिक साजिश की जा रही है। विवाद के बाद जूही खान ने दिल्ली महिला आयोग की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। 

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *